home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Vagal maneuvers: वेगल मेन्यूवर्स क्या हार्ट बीट को कंट्रोल करने में निभाता है अहम भूमिका?

Vagal maneuvers: वेगल मेन्यूवर्स क्या हार्ट बीट को कंट्रोल करने में निभाता है अहम भूमिका?

अचानक से हार्ट बीट बढ़ने की समस्या किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। दिल की धड़कन का तेजी से बढ़ना किसी एक नहीं बल्कि कई कारणों से हो सकता है। ऐसे में वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) एक एक्शन के तौर पर काम करता है। वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) की जरूरत तब पड़ सकती है, जब किसी व्यक्ति की हार्ट बीट एक मिनट में सौ से अधिक बार हो जाती है। डॉक्टर इस प्रकार के दिल की धड़कन को सुप्रावेंट्रिकुलर टैकीकार्डिया (Supraventricular tachycardia) या एसवीटी (SVT) भी कहते हैं। जानिए हार्ट बीट को कंट्रोल करने में वेगल मेन्यूवर्स एक्शन किस तरह से काम करता है और ये कितना सुरक्षित होता है।

और पढ़ें: एट्रियल प्रीमेच्योर कॉम्पलेक्स : एब्नॉर्मल हार्टबीट्स को पहचानें, क्योंकि यह हैं इस बीमारी का संकेत!

वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) क्या है?

वेगल मेन्यूवर्सवेगल मेन्यूवर्स ( Vagal maneuvers) के बारे में जानने से पहले आपको वेगस नर्व के बारे में जानना चाहिए। वेगस नर्व लंबी नर्व होती है। वेगस नर्व सेंसरी नर्व बॉडीज के दो गुच्छे के रूप में होती है। यह मस्तिष्क को शरीर से जोड़ता है। यह मस्तिष्क को शरीर के विभिन्न कार्यों के बारे में निगरानी रखने और जानकारी प्राप्त करने की परमिशन देता है। हमारे शरीर में नर्वस सिस्टम से संबंधित विभिन्न कार्यों में वेगस नर्व का काम अहम बोता है। ये नर्व ऑटोनॉमिक नर्वस सिस्टम के लिए काम करती है। ये नर्व कुछ सेंसरी एक्टिविटी के लिए भी जिम्मेदार होती है। ये नर्व नेक यानी गर्दन, हार्ट, लंग्स और ब्रेन से जुड़ी हुई होती है।

वेगल मेन्यूवर्स ( Vagal maneuvers) कई प्रकार के होते हैं, जो वेगस नर्व को ट्रिगर करने का काम करते हैं और दिल की तेज धड़कन सामान्य हो जाती है। हार्ट में दो नैचुरल पेसमेकर (Pacemaker) होते हैं, जिन्हें एट्रियोवेंट्रिकुलर (Atrioventricular) नोड और सिनोट्रियल (Sinoatrial) नोड कहते हैं। नोड्स स्मॉल मसल्स टिशू होते हैं, जो इलेक्ट्रिकल एनर्जी को कंट्रोल करने में हेल्प करते हैं। एवी नोड में समस्या होने के कारण सुप्रावेंट्रिक्यूलर टैकीकार्डिया (Supraventricular tachycardia) कंडीशन पैदा हो जाती है। सुप्रावेंट्रिक्यूलर टैकीकार्डिया तेजी से दिल की धड़कन बढ़ा देता है, जो दिल के ऊपरी चैंबर में शुरू होता है। इसे एट्रिया (Atria) कहा जाता है। जब एवी नोड (AV node) स्टिमुलेट होता है, तो ऐसे में वेगल मेन्यूवर्स ( Vagal maneuvers) काम आते हैं और ये व्यक्ति की हार्ट बीट को सामान्य करने में मदद करता है। आपको डॉक्टर से इस बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

और पढ़ें: जरूरत के हिसाब के किया जाता है पेसमेकर का चुनाव, कैसे? जानिए!

वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) कैसे काम करता है?

वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) के कारण शरीर का ऑटोनॉमिक नर्वस सिस्टम काम करता है। नर्वस सिस्टम का ये पार्ट आपके शरीर के कुछ कार्यों जैसे कि हार्ट रेट, डायजेशन (Digestion), रेस्पिरेटरी रेट के साथ ही अन्य कार्यों में भी मदद करता है। टैकीकार्डिया के केस में वेगल मेन्यूवर्स की हेल्प से ऑटोनॉमिक नर्वस सिस्टम (Autonomic nervous system) एवी नोड की मदद से इलेक्ट्रिक कंडक्शन को कम कर देता है।

और पढ़ें: Ventricular fibrillation (V-fib): वेंट्रिक्युलर फाइब्रिलेशन क्या है?

कैसे किया जाता है वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers)?

आपको अपनी नाक बंद कर लेनी है और अपना मुंह भी बंद कर लेना है। फिर लगभग 20 सेकंड के लिए सांस को बाहर की ओर छोड़े। इससे चेस्ट के अंदर ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है और चेस्ट से ब्लड आर्म्स की ओर जाने लगता है। आपका ब्लड प्रेशर जैसे ही बढ़ता है, धमनियां और नसें टाइट हो जाती हैं। नैरोड वेंस के माध्यम से कम ब्लड हार्ट में वापस आ पाता है। इसका मतलब है कि नैरोड आर्टरीज के माध्यम से कम रक्त पंप किया जा सकता है। इसी कारण से ब्लड प्रेशर गिरना शुरू हो जाता है। कम ब्लड प्रेशर का मतलब है कि हार्ट में कम मात्रा में ब्लड पहुंचता है और आप जब सामान्य यानी रिलेक्स स्थिति में आते हैं, तो बेहतर महसूस होता है।

वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) की अन्य प्रोसेस में आप सांस को कुछ देर तक रोककर रखते हैं। सांस रोकते हुए आपको नीचे की ओर झुकना है, जैसा कि आप स्टूल पास करते समय पुजिशन में बैठते हैं। ऐसे ही 20 सेकंड के लिए रहें और फिर रिलेक्स करें। अगर आप घर पर वेगल मेन्यूवर्स करना चाहते हैं, तो आपको इस संबंध से डॉक्टर से जानकारी जरूर लेनी चाहिए और साथ ही जरूरी सावधानी के बारे में भी पूछें। आप गैग भी कर सकते हैं। आप इसे एक उंगली की हेल्प से ट्राय कर सकते हैं। आपका डॉक्टर टंग डिप्रेसर (Tongue depressor) का उपयोग कर सकता है। अपने घुटनों को अपनी छाती के अगेंस्ट पकड़ें, इसे एक मिनट के लिए करें। यह शिशुओं और बच्चों के लिए सबसे बेहतर रहता है। कोल्ड वॉटर ट्रीटमेंट में आपको अपने चेहरे पर 15 सेकंड के लिए बर्फ की प्लास्टिक की थैली रखनी चाहिए।

और पढ़ें: हार्ट एरिदमिया को मैनेज कर सकते हैं इन एक्सरसाइजेज से, लेकिन रखना होगा कुछ बातों का ध्यान

हार्ट अटैक के बारे में जानना चाहते हैं, तो देखें ये बायोडिजिटल वीडियो –

और पढ़ें: एक्टोपिक रिदम : ऐसी स्थिति, जब स्किप हो जाए दिल की धड़कन!

अगर दिखें ये लक्षण, तो हो जाएं सावधान!

अगर आपको लंबे समय से हार्ट बीट बढ़ने की समस्या महसूस हो रही है और साथ ही चक्कर आना, चेस्ट पेन या फिर सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है, तो ऐसे में आपको वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) की जरूरत नहीं है। ये हार्ट अटैक (Heart attack) के लक्षण भी हो सकते हैं। आपको बिना देरी किए डॉक्टर से सलाह करनी चाहिए और ट्रीटमेंट लेना चाहिए। अगर आपका हार्ट रेट ज्यादा है, तो साथ ही सिरदर्द, शरीर के एक हिस्से में सुन्न होना, बैलेंस करने में समस्या, बोलने में समस्या या फिर देखने में दिक्कत हो रही है, तो आपको स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है।

बिना देरी किए दिखाएं डॉक्टर को

एक्सरसाइज (Excercise) करने के बाद सभी लोगों की हार्ट बीट बढ़ जाती है, जो कुछ समय बाद सामान्य भी हो जाती है। अगर आपको लगता है कि आप एक्सरसाइज के बाद भी आपकी दिल की धड़कन तेज है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। अगर आपको आराम से बैठने के दौरान भी हार्ट बीट तेज होने का एहसास होता है, तो ये किसी बीमारी का संकेत हो सकता है। अगर आपको किसी भी तरह की हार्ट डिजीज (Heart disease) डायग्नोज नहीं हुई है, तो ऐसे में आप वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) की मदद ले सकते हैं लेकिन बेहतर होगा कि इस संबंध में डॉक्टर से अधिक जानकारी लें

टैकीकार्डिया के कुछ मामलों में मेडिकल इंटरवेंनशन की जरूरत नहीं होती है। जिन लोगों को हार्ट रिदम डिसऑर्डर की समस्या होती है, उनके लिए प्रिस्क्रिप्शन ड्रग एडीनोसिन के साथ ही वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) का इस्तेमाल किया जा सकता है।आपको इस बारे में डॉक्टर से राय जरूर लेनी चाहिए।

हार्ट से संबंधित किसी भी बीमारी के दौरान अगर आप घर पर कोई भी ट्रीटमेंट लेने जा रहे हैं, तो डॉक्टर से जानकारी ले कर ही अपनाएं। साथ ही दवाओं का सही समय पर सेवन भी बहुत जरूरी होता है। आप डॉक्टर से डायट और एक्सरसाइज के संबंध में भी जानकारी ले सकते हैं और ली जाने वाली सावधानियों के बारे में भी अच्छे से समझ लें। अपने घर में भी लोगों को इस संबंध में जानकारी दें और पूरा ट्रीटमेंट जरूर लें। हैलो स्वास्थ्य किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह प्रदान नहीं करता है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वेगल मेन्यूवर्स (Vagal maneuvers) या फिर हार्ट बीट को सामान्य करने के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/07/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x