home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

ये योग आपके डायजेशन को बेहतर बनाने निभा सकते हैं अहम रोल

ये योग आपके डायजेशन को बेहतर बनाने निभा सकते हैं अहम रोल

योग के लाभ के बारे में हम सभी ने सुना होगा। योग न केवल हमें शारीरिक रूप से स्वस्थ रखते हैं बल्कि ये मानसिक रूप (Mental form) से भी हमें मजबूत बनाते हैं। आजकल लोगों को डायजेस्टिव हेल्थ (Digestive health) से संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा लाइफस्टाइल (Lifestyle) ठीक न होने के कारण, खाने का निश्चित समय न होने पर, पौष्टिक आहार (Nutritious food) की कम मात्रा लेने पर पाचन तंत्र से संबंधित समस्याओं (Problems related to digestive system) का सामना करना पड़ता है। डायजेस्टिव हेल्थ खराब होने के कारण शरीर को अन्य समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। कई बार स्ट्रेस (Stress) और अनहेल्दी लाइफस्टाइल (Unhealthy lifestyle) ही डायजेस्टिव हेल्थ के खराब होने का मुख्य कारण हो सकता है। अगर आप डायजेस्टिव हेल्थ को सुधारने के लिए अक्सर लेक्जेटिव्स (laxatives) का सहारा लेते हैं, तो ये आपकी हेल्थ को नुकसान भी पहुंचा सकता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग (Yoga for digestive health) के बारे में जानकारी देंगे, तो पाचन तंत्र को मजबूत बनाने का काम करेगा। आपको दिए गए योग को जरूर अपनाना चाहिए, ताकि आप भी हेल्दी डायजेस्टिव हेल्थ पा सकें। जानिए योग से कैसे डायजेस्टिव हेल्थ को सुधार सकते हैं।

और पढ़ें: क्या है पाचन से जुड़ी बीमारी GERD का आयुर्वेदिक उपचार?

डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग (Yoga for digestive health)

अगर आपको किसी बीमारी को दूर करना है, तो पहले आपको ये जानना जरूरी है कि आखिर उस बीमारी की असल वजह क्या है। खराब डायजेस्टिव हेल्थ के बारे में भी आपको यही तरीका अपनाना चाहिए। सही डायट और स्ट्रेस फ्री लाइफ आपके पाचन तंत्र को दुरस्त बनाने में मदद करती है। अगर आप इसके साथ ही योग भी करते हैं, तो ये सोने पे सुहागा जैसी बात हो जाएगी। जी हां! अच्छे पाचन तंत्र के लिए आपको योग का सहारा भी लेना चाहिए। आपको कुछ समय बाद इसका असर नजर आने लगेगा। योग की सहायता से मसल्स और बोन्स को ताकत मिलती है और अतिरिक्त वजन भी घटता है। बॉडी टोनिंग (body toning) और स्ट्रेस को दूर भगाने में भी योग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जानिए कुछ ऐसे ही डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग, जो आपकी परेशानी को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग: चाइल्ड पोज (Child’s Pose)

Child's Pose

आपको योग के लिए एकांत की जरूरत होती है। आप ऐसे स्थान का चुनाव करें, जहां आपको रिलेक्स फील हो। आप चाइल्ड पोज कभी भी कर सकते हैं। इससे आपके माइंड (Mind), नर्वस सिस्टम को रिलेक्स फील होगा।

  • अपनी एड़ी के और घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाएं।
  • अब अपनी बैली को थाई के पास लाएं और नीचे की ओर झुकाएं।
  • अब माथे को जमीन पर टच कराने की कोशिश करें।
  • अब अपने दोनों हाथों को सीध में आगे बढ़ाएं और जमीन में टच कराएं।
  • आप इस पुजिशन में कुछ समय तक रहें और फिर अपनी पहले वाली पुजिशन में आएं।
  • आप इसे दिन में दो बार कर सकते हैं।

और पढ़ें: गॉल्स्टोन के लिए घरेलू नुस्खे में शामिल करें 5 🥣 चीजें और ये🧘🏻‍♀️ योगासन!

बो पोज (Bow Pose)

बो पोज

बो पोज की हेल्प से इंटरनल ऑर्गन्स में एनर्जी फ्लो बढ़ जाता है। जिन लोगों को गैस की अधिक समस्या रहती है, उनके लिए इस योग का अभ्यास बेहतर रहेगा। इसमें पेट के बल लेटकर हाथों से पैरों को पकड़कर धनुष की आकृति बनाती होती है।

  • सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।
  • अब एंकल को बाहर की तरफ से हाथों की सहायता से पकड़ने की कोशिश करें।
  • ऐसा करने के लिए आपको अपने चेस्ट को ऊपर की ओर उठाना पड़ेगा।
  • आप इस पोज में शुरुआत में दो से तीन सेकेंड रह सकते हैं। धीरे-धीरे सेकेंड बढ़ाते जाएं।
  • पहले की मुद्रा में वापस आने के लिए अचानक से हाथों से पैरों को न छोड़ें।

और पढ़ें: मल्टीपल स्क्लेरोसिस (Multiple Sclerosis) के लक्षणों को कम करने के लिए अपनाएं योग

कैमल पोज (Camel Pose)

Camel Pose

कैमल मुद्रा को उष्ट्रासन (Ustrasana) कहते हैं।ये पोज पूरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने का काम करता है और डायजेशन को बेहतर बनाता है। योग के दौरान गर्दन को पीछे की ओर करते समय आपको अधिक बैलेंस करना पड़ेगा। जानिए कैसे करते हैं इस योग को।

  • सबसे पहले अपनी नी यानी घुटनों के बल सीध में खड़े हों जाएं।
  • अब अपनी जांघों को पूरी तरह से सीधा में रखते हुए पीछे की तरफ झुकें।
  • अब लेफ्ट एड़ी को लेफ्ट हाथ से, और अपनी राइट एड़ी को राइट हाथ से छुएं।
  • आपको शुरुआत में परेशानी हो सकती है लेकिन कुछ समय तक प्रयास करने पर दिक्कत नहीं होगी।
  • आप पीठ की मांसपेशियों को कुछ समय आराम देने के बाद इसे दोबारा शुरू कर सकते हैं।

और पढ़ें: थायरॉइड से हो चुके हैं परेशान, तो ये योग आ सकते हैं आपके काम!

शोल्डर स्टैंड (Shoulder Stand)

Shoulder Stand

अगर आपके पाचन में किसी प्रकार की समस्या पैदा हो रही है, तो शोल्डर स्टैंड पोज आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इस योग में आपको कंधों के बल शरीर के निजले हिस्से को ऊपर की ओर उठाना होता है।

  • अपनी पीठ के बल लेट जाएं।
  • अब अपनी नी को मोड़े और पैरों को ऊपर की ओर उठाएं।
  • अपने हाथों की सहायता से कमर के हिस्से को पकड़कर ऊपर की ओर उठाएं।
  • इस दौरान अपने नेक यानी गर्दन पर अधिक प्रेशर देने की भूल न करें।
  • ये योग करने के दौरान आप किसी की हेल्प ले सकते हैं ताकि आपकी बॉडी का बैलेंस बना रहे।
  • कुछ समय बाद आप अपने आप ही इस योग को आसानी से करने लगेंगे।

और पढ़ें: स्मोकिंग की लत को छुड़ाने के योगासन में शामिल करें ये 5 योगा

शवासना (Savasana)

डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग

जिन लोगों को स्ट्रेस की समस्या रहती है और उन्हें रिलेक्स नहीं मिल पाता है, उनके लिए शवासन बेहतर विकल्प हो सकता है। इस आसन में शरीर को पूरा रिलेक्स मिलता है और साथ ही नर्वस सिस्टम (Nervous system) को भी कुछ समय के लिए आराम मिलता है।

  • आप मैट में आराम से पीठ के बल लेटना है।
  • इस दौरान आपको शरीर के किसी भी अंग को टाइट नहीं करना है।
  • हाथों को साइड में रखें और चेहरे से ऊपर की देखें।
  • शरीर को पूरी तरह से ढीला छोड़ दें और रिलेक्स करें।
  • अब डीप ब्रीथ लें आराम महसूस करें।
  • आप इस योग करने के लिए पांच से दस मिनट का समय ले सकते हैं।
  • आप योग के आखिरी में भी इसका अभ्यास कर सकते हैं। ऐसा करने से आपके शरीर को बहुत आराम मिलेगा।

और पढ़ें: जानिए सूर्य नमस्कार के 12 चरण और उनके लाभ

यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको किसी प्रकार की हेल्थ कंडीशन हो या फिर शरीर के किसी हिस्से में दर्द की समस्या हो, तो बेहतर होगा कि एक डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही योग की शुरुआत करें। योग का गलत अभ्यास करने से आपको शरीर के विभिन्न हिस्सों में दर्द की समस्या हो सकती है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से डायजेस्टिव हेल्थ के लिए योग (Yoga for digestive health) के बारे में जानकारी मिल गई होगी। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड