आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Lunges workout for heart health: हार्ट हेल्थ को बनाए रखें के लिए लंजेस वर्कआउट कैसे करना चाहिए?

    Lunges workout for heart health: हार्ट हेल्थ को बनाए रखें के लिए लंजेस वर्कआउट कैसे करना चाहिए?

    फिजिकली एक्टिव रहना अच्छी हार्ट हेल्थ के लिए जरूरी है। यह हार्ट मसल्स को मजबूत करने, वजन को कंट्रोल में रखने और हाय कोलेस्ट्रॉल, हाय ब्लड शुगर और हाय ब्लड प्रेशर से आर्टरीज को डैमेज से बचाने का बेहतरीन तरीका है। यह समस्याएं हार्ट अटैक या स्ट्रोक का कारण बन सकती हैं। हार्ट हेल्थ को सही रखने के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout) को भी लाभदायक माना जाता है। आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के बारे में। हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के बारे में जानने से पहले लंजेस किसे कहा जाता है यह जान लेते हैं।

    किसे कहा जाता है लंजेस वर्कआउट (Lunges workout)?

    लंजेस खासतौर पर लेग एक्सरसाइज नहीं है। लेकिन, यह लोअर बॉडी से जुड़ा वर्कआउट है। यह एक पावरफुल एक्सरसाइज है, जिससे आप न केवल शेप में रह सकते हैं बल्कि इससे लोअर बॉडी के अधिकतर मसल्स मजबूत होते हैं जैसे हिप्स, ग्लूट्स, हेमस्ट्रिंग आदि। इससे लोअर बॉडी मजबूत होती है, कोर स्ट्रेंग्थ बढ़ेगी और आप शेप में रहेंगे। लंजेस का सबसे बेहतरीन पार्ट यह है कि इसके लिए किसी भी तरह के इक्विपमेंट की जरूरत नहीं होती है। इसे करना बेहद आसान है। आपके लेफ्ट और राइट साइड के बीच की किसी भी मांसपेशी असंतुलन को पहचानने और ठीक करने के लिए लंज सबसे बेहतरीन है। अब जानते हैं हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के फायदों के बारे में।

    और पढ़ें: पैरों के लिए लंजेस (lunges) एक्सरसाइज है सबसे बेस्ट !

    हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के फायदे क्या हैं?

    लंजेस एक फुल-बॉडी एक्सरसाइज है, जो शरीर की स्ट्रेंग्थ को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है खासतौर पर लेग्स और कोर। इन्हें करने से आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी। इस एक्सरसाइज की सबसे बेस्ट बात यह है कि इसके लिए आपको किसी भी इक्विपमेंट की जरूरत नहीं पड़ती है और इसे आप आसानी से कहीं भी कर सकते हैं। हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) को सबसे बेहरीन माना जाता है और इसे करने से हार्ट रेट बढ़ती है। हार्ट रेट के बढ़ने से हार्ट हेल्थ में सुधार होता है। इसके साथ ही यह वर्कआउट शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को इम्प्रूव करने में मदद करता है। इस प्रोसेस में न केवल कोर मजबूत होते हैं बल्कि घुटने और बॉडी एक्विलिब्रियम की सेन्स में भी सुधार होता है। इस वर्कआउट के अन्य लाभ इस प्रकार हैं:

    यह तो थी जानकारी हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के बारे में। अब जानते हैं कि यह वर्कआउट कैसे किया जाता है?

    और पढ़ें: Home Cardio Exercises: जानिए होम कार्डियो एक्सरसाइज में किये जाने वाले आसान 11 एक्सरसाइज!

    कैसे करें लंजेस?

    लंजेस हमारी थाइज की सभी मसल्स पर काम करता है। इसके साथ ही इसे करने से कोर मसल्स को भी लाभ होता है। अपने वर्कआउट में इस व्यायाम को शामिल करने से आपको बहुत से लाभ होंगे और इससे लोअर बैक मसल्स और टांगों को भी मजबूती मिलेगी। अब जानते हैं कि यह एक्सरसाइज कैसे की जा सकती है? यह है इसे करने का आसान तरीका:

    • इस वर्कआउट को करने के लिए किसी शांत जगह पर इस तरह से खड़े हो जाएं कि आपके दोनों पैरों के बीच में कुछ अंतर हो।
    • अपने हाथों को अपने हिप्स पर रखें और अपने धड़ में मसल्स को एंगेज करें।
    • अब अपनी एक टांग को आगे की तरफ कर के एक बड़ा स्टेप लें।
    • अपने घुटने को मोड़कर अपनी दूसरी टांग को नीचे ले जाएं। आपकी थाई ग्राउंड के पैरेलल होनी चाहिए। आपका अगला घुटना आपके सामने वाले पैर के सामने मूव नहीं होना चाहिए। अपनी बैक नी को जमीन से न छुएं।
    • इसी स्थिति में कुछ देर रहें।
    • इसके बाद धीरे धीरे अपनी पहली पोजीशन में आ जाएं।
    • अब दूसरी साइड से इस एक्सरसाइज को दोहराएं।

    हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट,Lunges workout for heart health

    हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के साथ ही आपको लंजेस को कैसे किया जाता है, यह जानना भी जरूरी है। अब जानिए कि लंजेस के प्रकारों के बारे में।

    और पढ़ें: Types of Cardio Exercises: रहना है फिट तो जानिए कितने प्रकार की होती हैं कार्डियो एक्सरसाइजेज

    लंजेस वर्कआउट (Lunges workout) के प्रकार

    आप लंजेस वर्कआउट (Lunges workout) के प्रकारों को भी ट्राय कर सकते हैं। यह भी हार्ट और संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं।. इसके प्रकार इस तरह से हैं:

    • रिवर्स लंज (Reverse lunge): इस प्रकार में आपको आगे की तरफ स्टेप करने की जगह लंज पोजीशन में बैकवर्ड स्टेप ले कर जाना है
    • लेटरल लंज (Lateral lunge): इसमें शरीर को नीचे बेंड कर के एक टांग को बाहर की तरफ निकालना होता है। इसमें घुटना मुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए, जबकि दूसरी टांग का घुटना मुड़ा होना चाहिए
    • वाकिंग लंज (Walking lunge): सामान्य लंग करें। लेकिन उठते ही अपने पिछले पैर को अपने सामने के पैर से मिलने के लिए आगे लाएं – जैसे आपने एक बड़ा कदम उठाया है। दूसरी तरफ से दोहराएं।
    • वेट के साथ लंज (Lunge with weight): आप इस वर्कआउट की डिफिकल्टी को वजन के साथ बढ़ा सकते हैं। डंबल्स को एक साइड से पकड़ें और फिर सामान्य रूप से लंज करे। अब जानते हैं कि इस व्यायाम को करते हुए किन चीजों का खास ख्याल रखना चाहिए?

    और पढ़ें: Blood Pressure and Heart Rate: क्या ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट दोनों का लेवल एक साथ बढ़ सकता है?

    लंजेस वर्कआउट (Lunges workout) करते हुए इन चीजों का रखें ध्यान

    इसमें कोई संदेह नहीं है कि हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) फायदेमंद है। इसके और भी कई लाभ हैं। किंतु, इन्हें करते हुए कुछ चीजों का खास ख्याल रखना चाहिए और इन स्थितियों में इन्हें करने से बचना चाहिए:

    • अगर आपको घुटनों में दर्द है, तो इस व्यायाम को न करें।
    • बीमार होने पर भी इसे करने से बचें।
    • अगर आप गर्भवती हैं, तो भी इस व्यायाम को न करें या डॉक्टर व किसी एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही इसे करें। इस एक्सरसाइज को किसी फिटनेस ट्रेनर में मार्गदर्शन में ही करना चाहिए।

    और पढ़ें: Left Arm Numbness: लेफ्ट आर्म में नंबनेस यानी सुन्नता हो सकता है हार्ट अटैक का सिम्प्टम, ऐसे में यह जानकारी है जरूरी!

    उम्मीद है कि हार्ट हेल्थ के लिए लंजेस वर्कआउट (Lunges workout for heart health) के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। लंज व्यायाम एक कंप्लीट वर्कआउट है। जिसे आप रोजाना कर सकते हैं। लेकिन इसकी शुरुआत किसी ट्रेनर या एक्सपर्ट के मार्गदर्शन में ही करें। अगर आपके मन में इस बारे में कोई भी सवाल है, तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानेंआप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    What Exercise is Right for Me?..https://www.heart.org/en/healthy-living/go-red-get-fit/michelle-williams-lunges-workout . Accessed on 16/6/22

    Physical Activity.Prevents Chronic Disease.https://www.cdc.gov/chronicdisease/resources/infographic/physical-activity.htm . Accessed on 16/6/22

    Being active when you have heart disease.https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000094.htm . Accessed on 16/6/22

    Strength training: Get stronger, leaner, healthier.https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/fitness/in-depth/strength-training/art-20046670 . Accessed on 16/6/22

    3 Kinds of Exercise That Boost Heart Health.https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/3-kinds-of-exercise-that-boost-heart-health . Accessed on 16/6/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: