backup og meta

अगर आप रोजाना करते हैं वॉक तो आपका दिल रह सकता है हेल्दी, जानिए हार्ट एवं वॉकिंग से जुड़ी महत्वपूर्ण इंफॉर्मेशन यहां!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 14/06/2022

अगर आप रोजाना करते हैं वॉक तो आपका दिल रह सकता है हेल्दी, जानिए हार्ट एवं वॉकिंग से जुड़ी महत्वपूर्ण इंफॉर्मेशन यहां!

यह तो आप जानते ही होंगे कि रोजाना व्यायाम करने से हमें हेल्दी रहने में मदद मिलती है। दिन भर टीवी, कंप्यूटर के सामने बैठने या सिटींग जॉब करने से आपकी हेल्थ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। हमारे दिल के लिए भी नियमित व्यायाम या वॉकिंग जरूरी है। लेकिन, इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि आपको रोजाना कितना व्यायाम करना चाहिए या कितनी देर वॉक करनी चाहिए। आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे में। आइए जानें हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे में विस्तार से।

हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart): क्या कहती हैं स्टडीज?

हार्ट डिजीज के जोखिम से बचना तो संभव नहीं है लेकिन। इसके रिस्क को कम जरूर किया जा सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार लो-इंटेंसिटी एक्सरसाइज यानी वॉकिंग से शारीरिक और मानसिक कई लाभ होते हैं। जिसमें हार्ट बेनिफिट्स भी शामिल हैं। अमेरिकन हार्ट जर्नल ( American Heart Journal) में पब्लिश एक रिपोर्ट के मुताबिक नियमित रूप से अधिक व्यायाम और शारीरिक गतिविधियां (जैसे जॉगिंग, स्विमिंग और सीढ़ियां चढ़ना) आदि से हार्ट डिजीज के कारण होने वाले जोखिम को काफी कम किया जा सकता है।

ऐसा भी पाया गया है कि नियमित फिजिकल एक्टिविटी से अधिक समय तक हेल्दी रहने में भी मदद मिलती है। लेकिन, यह स्पष्ट नहीं है कि व्यायाम की कौन सी इंटेंसिटी सबसे कंसिस्टेंट हेल्थ बेनिफिट्स प्रदान करती है। ऐसा माना गया है कि मॉडरेट एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी जैसे कम से कम तीस मिनट्स ब्रिस्क वॉकिंग करने से हार्ट डिजीज के रिस्क को कम किया जा सकता है।

कुछ स्टडीज यह भी बताती हैं कि केवल अधिक इंटेंसिटी वाले व्यायाम से ही हार्ट रिलेटेड डैथ को रोकने में महत्वपूर्ण लाभ कर सकती है। जबकि, यह भी माना जाता है कि लाइट और मॉडरेट फिजिकल एक्टिविटीज, जैसे वॉकिंग से हृदय रोग और प्रीमेच्योर डेथ के जोखिम को  कम किया जा सकता है। अब हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे जानते हैं और अधिक।

और पढ़ें: जानें कैसे वॉकिंग (Walking) है एक बेहतरीन एक्सरसाइज?

हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे में पाएं जानकारी

जैसा पहले ही बताया गया है कि वॉक करने से किसी भी उम्र, हेल्दी या हार्ट डिजीज से पीड़ित लोगों को कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ संबंधी समस्याओं से राहत मिल सकती है। रेगुलर वॉकिंग से होने वाले हार्ट हेल्दी बेनिफिट्स इस प्रकार हैं:

ब्लड प्रेशर रहे लो (Lowers blood pressure)

ऐसा पाया गया है कि वॉक करने से हाय ब्लड प्रेशर को लो रखने में मदद मिलती है। जब हम वॉक या एक्सरसाइज करते हैं, तो इससे ब्लड फ्लो सुधरता है और वर्किंग मसल के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध कराना आसान हो जाता है। जिससे हार्ट के लिए शरीर के माध्यम से रक्त पंप करना आसान हो जाता है। इससे ब्लड प्रेशर को लो रहने में आसानी होती है।

और पढ़ें: Blood Pressure and Heart Rate: क्या ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट दोनों का लेवल एक साथ बढ़ सकता है?

हार्ट डिजीज का रिस्क कम हो (Reduces risk of heart disease)

ऐसा पाया गया है कि जो लोग फिटनेस का मॉडरेट लेवल मेंटेन रखते हैं, उनमें कोरोनरी हार्ट डिजीज का जोखिम कम होता है। फिर चाहे आप हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) या ओबेसिटी (Obesity) से पीड़ित हों या आपकी हार्ट डिजीज की फैमिली हिस्ट्री हो।

हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart): रिकवरी में मिले मदद (Help in recovery)

अगर आप हार्ट अटैक (Heart attack) या हार्ट बायपास सर्जरी (Heart bypass surgery) से रिकवर कर रहे हैं, तो रेगुलर एक्सरसाइज जैसे वॉकिंग से आपको मदद मिल सकती है। इससे सेकंड हार्ट अटैक (Second heart attack) का रिस्क कम हो सकता है। लेकिन, यह व्यायाम आपको डॉक्टर की सलाह के अनुसार और सलाह के बाद ही करने चाहिए।

और पढ़ें: डिप्रेशन से होने वाली इंफ्लेमेशन बन सकती है हार्ट अटैक की वजह, कैसे करें इसे मैनेज?

हार्ट के वर्कलोड कम करे (Reduces heart’s workload)

अगर आपने व्यायाम (जिसमें वॉक भी शामिल है) को अपने जीवन का रेगुलर पार्ट बना लिया है, तो आप रेस्टिंग हार्ट रेट में कमी महसूस कर सकते हैं। जिससे आपके हार्ट का वर्कलोड कम हो सकता है। कुछ स्टडीज यह भी बताती हैं कि एक्सरसाइज को अगर आप लो-फैट डायट और स्ट्रेस मैनेजमेंट के साथ कम्बाइन करते हैं, तो इससे प्लाक के चांसेस कम हो सकते हैं, जो ब्लड वेसल वॉल्स में जम जाता है। इससे भी कई हार्ट डिजीज की संभावना कम होती है।

हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart): कोलेस्ट्रॉल लेवल रहता है लो: (Lower cholesterol level)

हेल्दी डायट और लाइफस्टाइल से कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular disease) का जोखिम कम हो सकता है। नियमित वॉक करने से और लाइफस्टाइल को हेल्दी रखने से गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है, जबकि बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है। इससे ब्लड फ्लो आसानी से होता है, जिससे कोलेस्ट्रॉल लेवल के लो रहने में मदद मिलती है।

यह तो थे हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart)। अब जानते हैं वॉक और हेल्थ के बारे में और अधिक।

हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स, Walking benefits for heart

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं? वॉकिंग मेडिटेशन के ये फायदे

प्लान बनाएं और वॉक करें (Plan and walk)

आपको रोजाना वॉक करने या एक्सरसाइज करने के लिए मोटिवेशन की जरूरत होती है। इसलिए सबसे पहले प्लान बनाएं और फिर वॉक करें। इस शेड्यूल से आपको वॉकिंग रूटीन बनाने में मदद मिल सकती है। लेकिन, किसी भी तरह के वॉकिंग प्रोग्राम को बनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। खासतौर पर अगर आपकी उम्र चालीस में अधिक है और फिजिकली एक्टिव नहीं हैं। हालांकि, आप नियमित वॉक के साथ ही स्ट्रेंथ एक्सरसाइजेज को भी ऐड कर सकते हैं जैसे स्क्वाट्स, पुश, पुल, लिफ्ट आदि। हफ्ते में दो बार स्ट्रेंथ ट्रेनिंग (Strength training) करने से हड्डियां, मसल्स और कनेक्टिव टिश्यूज स्ट्रांग होते हैं। इसके साथ ही मसल्स बिल्ड होने में भी मदद मिलती है। यही नहीं, इससे ब्लड प्रेशर को लो रहने में भी सहायता मिल सकती है। हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बाद अब जानते हैं इसके अन्य फायदों के बारे में।

और पढ़ें: वॉकिंग मेडिटेशन से स्ट्रेस को कैसे कर सकते मैनेज

वॉकिंग के अन्य बेनिफिट्स क्या हैं? (Other Benefits of walking)

आप चाहे कोई भी फिजिकल एक्टिविटी करें, यह कॉम्प्लिकेटेड नहीं होनी चाहिए। सिंपल ब्रिस्क वॉक से हेल्दी रहने में मदद मिलती है। वॉकिंग के अन्य बेनिफिट्स इस प्रकार हैं:

  • हेल्दी वजन रहने में मदद मिलती है और बॉडी फैट लूज होता है।
  • हार्ट डिजीज (Heart disease), स्ट्रोक (Stroke), हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure), कैंसर (Cancer) और टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) आदि को मैनेज करने या इससे राहत पाने में मदद मिल सकती है।
  • कार्डियोवैस्कुलर फिटनेस सुधरती है।
  • बोन्स और मसल्स मजबूत होते हैं।
  • मसल एंड्यूरेंस इम्प्रूव होती है।
  • एनर्जी लेवल बढ़ता है।
  • मूड, मेमोरी, नींद आदि में सुधार होता है।
  • बैलेंस और कोऑर्डिनेशन इम्प्रूव होते हैं।
  • इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।
  • स्ट्रेस और टेंशन कम होती है।

यह तो थी जानकारी हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे में। याद रखें आप जितनी कांस्टेंट या फास्ट वॉक करते हैं, उससे उतने ही अधिक बेनिफिट्स होते हैं। यह एरोबिक एक्टिविटी का बेहतरीन प्रकार हो सकता है, इससे हार्ट हेल्थ सुधर सकती है और इससे आपकैलोरीज को बर्न करते हुए आपकी एंड्यूरेंस को बढ़ा सकता है।

और पढ़ें: क्या स्ट्रेस का पड़ सकता है आपकी हार्ट हेल्थ पर असर? जानिए कैसे करें स्ट्रेस को मैनेज?

उम्मीद है कि हार्ट के लिए वॉकिंग बेनिफिट्स (Walking Benefits for Heart) के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपने अभी-अभी फिजिकल एक्टिविटी या वॉकिंग करना शुरू किया है, तो इसकी शुरुआत धीरे से करे। इसके बाद इसकी इंटेंसिटी को बढ़ाएं। यह भी याद रखें कि वॉकिंग न केवल हार्ट बल्कि संपूर्ण हार्ट के लिए लाभदायक है। इसलिए, इसे अपनी दिनचर्या का अहम हिस्सा बना लें। अगर आपके मन में इस बारे में कोई भी सवाल है तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 14/06/2022

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement