आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Stent: स्टेंट कितनी देर तक काम कर सकता है? पाएं इस बारे में पूरी जानकारी

    Stent: स्टेंट कितनी देर तक काम कर सकता है? पाएं इस बारे में पूरी जानकारी

    हार्ट डिजीज गंभीर बीमारियों में से एक हैं। यह समस्या न केवल बुर्जुगों बल्कि युवाओं में भी सामान्य होती जा रही है। हार्ट प्रॉब्लम्स की जब बात आती है, तो आपने स्टेंट (Stent) का नाम भी अवश्य सुना होगा। यह एक ट्यूब के आकार का छोटा सा डिवाइस होता है, जिसे डॉक्टर रोगी के ब्लॉक्ड पैसेजवे को ओपन रखने के लिए इंसर्ट करते हैं। स्टेंट (Stent) ब्लड फ्लो और अन्य फ्लूइड को रिस्टोर करने में भी मदद करता है। आज हम बात करने वाले हैं स्टेंट के बारे में और जानेंगे कि यह कितने समय तक काम करता है? लेकिन, सबसे पहले स्टेंट के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

    स्टेंट (Stent) क्या है?

    यह डिवाइस मेटल या प्लास्टिक किसी भी तरह का ट्यूब के आकार का होता है। जबकि, स्टेंट ग्राफ्ट्स वो सबसे बड़े स्टेंट्स हैं, जिनका इस्तेमाल बड़ी आर्टरीज के लिए किया जाता है। यह स्टेंट खास तरह के फैब्रिक्स से बना होता है। यही नहीं, यह मेडिकेशन्स से कोटेड भी हो सकते हैं, ताकि ब्लॉक्ड आर्टरी को बंद होने से बचाने में मदद मिल सके। आमतौर पर स्टेंट (Stent) की जरूरत तब पड़ती है, जब प्लाक किसी ब्लड वेसल को ब्लॉक कर देता है। प्लाक कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों से बना होता है, जो एक वेसल की वॉल्स से अटैच हो जाते हैं।

    इसकी जरूरत रोगी को एमर्जेन्सी प्रोसीजर के दौरान पड़ती है। एमर्जेन्सी प्रोसीजर तब अधिक सामान्य है, अगर हार्ट की एक आर्टरी ब्लॉक हो, जिसे कोरोनरी आर्टरी कहा जाता है। डॉक्टर सबसे पहले कैथेटर को ब्लॉक्ड कोरोनरी आर्टरी में प्लेस करते हैं। इससे वे ब्लॉकेज को खोलने के लिए बैलून एंजियोप्लास्टी (Balloon angioplasty) कर सकते हैं। फिर वे वेसल को खुला रखने के लिए आर्टरी में एक स्टेंट (Stent) लगाते हैं।

    और पढ़ें: स्टेंट क्या है और इसके क्या हैं फायदे?

    ब्रेन, एओर्टा, या अन्य ब्लड वेसल्स में एन्यूरिज्म (Aneurysms) को रेप्चरिंग (Rupturing) से रोकने के लिए भी स्टेंट (Stent) उपयोगी हो सकते हैं। जैसा की आप जानते ही हैं कि स्टेंट नैरो आर्टरीज को ओपन करता है। जब स्टेंट को प्लेस किया जाता है, तो इसका अर्थ है कि यह परमानेंट है। स्टेंट समय के साथ ब्रेक डाउन हुए बिना आपके शरीर में रह सकते हैं। हालांकि, स्टेंट केवल उसी एरिया का इलाज करते हैं, जहां रोगी की आर्टरी नैरो या क्लोज हो गई हों। इनसे वैस्कुलर डिजीज (Vascular disease) की अंडरलायिंग कंडिशन का इलाज नहीं होता है। स्टेंट (Stent) को लेकर इन चीजों के बारे में जानकारी होना भी जरूरी है:

    • आपकी आर्टरी फिर से नैरो हो सकती है, चाहें आपने स्टेंट (Stent) लगाया हो
    • नई ब्लॉकेज हो सकती है
    • स्टेंट के रिएक्शन के रूप में स्टेंट में ब्लॉकेज हो सकती हैं। अब जानिए कि स्टेंट (Stent) कितने समय तक काम करता है?

    स्टेंट, stent

    और पढ़ें: हार्ट एंजियोप्लास्टी और स्टेंट प्लेसमेंट: ये है दिल का मामला, ना बरतें लापरवाही!

    स्टेंट (Stent) कितने समय तक काम करता है?

    जैसा कि आप जानते ही हैं कि यह स्मॉल ट्यूब नेरौ आर्टरी को रीओपन करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। इन्हें परमानेंट इस्तेमाल के लिए प्रयोग किया जाता है यानी एक बार इसे प्लेस कर दिया जाता है, तो यह वहीं रहता है। लेकिन, सही दवा और लाइफस्टाइल चेंजेज के बिना भी आपकी अन्य आर्टरीज नैरो हो सकती है, जिन्हें एक स्टेंट (Stent) की आवश्यकता पड़ सकती है। स्टेंट की रिप्लेसमेंट ट्रीटमेंट का एक भाग है। आर्टरीज तंग या ब्लॉक न हों, इसके लिए रोगी को इन चीजों का भी ध्यान रखने की जरूरत हो सकती है:

    • स्मोकिंग छोड़ें
    • हार्ट हेल्दी डायट का सेवन करें
    • अपनी डेली रूटीन में एक्सरसाइज को शामिल करें
    • कोलेस्ट्रॉल लेवल को लो करने के लिए डॉक्टर से बात करें
    • ब्लड प्रेशर को लो करने और डायबिटीज को मैनेज करने के बारे में विचार करें

    अपने गोल तक पहुंचने के लिए मेडिकल प्रोफेशनल से बात करें। किसी भी अन्य अंडरलायिंग कंडिशंस के इलाज के लिए दवाओं के अलावा, रोगी के खून को स्टेंट (Stent) के आसपास जमने से रोकने में मदद करने के लिए भी एक मेडिसिन की सलाह दी जा सकती है। इसके साथ ही रोगी को खास डायट को फॉलो करने की भी जरूरत होगी। डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवाईयां लेने और सही डायट व अन्य जीवनशैली में बदलाव के बारे में भी डॉक्टर से सलाह लें।

    एक बार जब स्टेंट (Stent) को इंस्टॉल कर दिया जाता है, तो उसे तब तक रिमूव नहीं किया जाता, जब तक कोई कॉम्प्लिकेशन न हो। इनकी कंस्ट्रक्शन अच्छे से होती है और फेलियर रेट्स लो होते हैं। केवल दो या तीन परसेंट चान्सेस होते हैं कि रोगी में स्टेंट (Stents) के इस्तेमाल के बाद नेरोइंग फिर से हो। अब जानते हैं स्टेंट्स के रिस्क्स (Stent risks) के बारे में।

    और पढ़ें: जानिए कोरोनरी आर्टरी डिजीज से बचाने में कैसे मदद करते हैं कार्डिएक स्टेंट

    स्टेंट्स के रिस्क्स (Stent risks) क्या हैं?

    जब इस ट्यूब को शरीर में इंसर्ट किया जाता है, तो थोड़ा नील आना सामान्य है। किंतु, यह समस्या कुछ ही हफ्तों में ठीक हो जाती है। इस दौरान ब्लीडिंग होना सामान्य नहीं है। किंतु, अगर ऐसा हो तो साइट में प्रेशर अप्लाई कर के यह समस्या आसानी से ठीक हो जाती है। ब्लीडिंग को जल्दी से रोकने के लिए साइट पर दबाव डालना अधिक प्रभावी साबित होता है।

    स्टेंट (Stent) के इस्तेमाल के बाद मेजर कॉम्प्लीकेशन्स की संभावना सौ में से एक मामले में हो सकती है। एक प्रोसीजर जिसे डिसेक्शन के रूप में जाना जाता है, इसे भविष्य में स्टेंट (Stent) के साथ जल्दी इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। स्टेंट के कारण होने वाली किसी बड़ी जटिलता का जोखिम 500 में से एक मामले में हो सकता है – दूसरे शब्दों में, यह अत्यंत दुर्लभ है। अब जानते हैं स्टेंट (Stent) के बाद रिकवरी के बारे में।

    और पढ़ें: एंटीबायोटिक्स बन सकती हैं हार्ट प्रॉब्लम्स की वजह, इस बारे में यह जानकारी है जरूरी!

    स्टेंट (Stent) के बाद रिकवरी कैसे संभव है , जानिए

    प्लांड एंजियोप्लास्टी (Planned angioplasty) की स्थिति में हार्ट पूरी तरह से रिकवर हो जाता है। इस प्रोसीजर में यदि कलाई का उपयोग किया जाता है, तो आप प्रोसीजर के बाद तुरंत ठीक हो सकते हैं। लेकिन, यदि इसमें ग्रोइन का उपयोग किया जाता है, तो आपको कुछ घंटों तक आराम करना होगा और देखना होगा कि इंसर्शन साइट से ब्लीडिंग तो नहीं हो रही। इसमें कुछ घंटों तक का समय लग सकता है। इसके बाद अगर रोगी ठीक महसूस कर रहा हो, तो भी उसे इसके बाद कुछ दिनों के लिए भारी सामान उठाने में सावधानी बरतने की जरूरत हो सकती है। यदि हार्ट अटैक (Heart attack) के इलाज के लिए आपका स्टेंट (Stent) लगाया गया है, तो हार्ट अटैक (Heart attack) की गंभीरता के आधार पर ठीक होने में थोड़ा अधिक समय लग सकता है।

    और पढ़ें: Acid reflux and Heart palpitations: क्या एसिड रिफ्लक्स बन सकता है हार्ट पल्पिटेशन्स का कारण?

    यह तो थी जानकारी स्टेंट (Stent) के बारे में। याद रखें कि इसे परमानेंट इंसर्ट करने के लिए बनाया जाता है और एक बार जब इसे प्लेस कर दिया जाता है, तो इससे आर्टरी को ओपन रखने में मदद मिल सकती है। हालांकि, स्टेंट (Stent) के प्रयोग से उस अंडरलायिंग कंडिशंस में लाभ नहीं होता है, जो आपकी आर्टरीज (एथेरोस्क्लेरोसिस) में बिल्डअप के कारण हुई है। इस स्थिति में रोगी को फ्यूचर आर्टरी को तंग होने से बचने के लिए ट्रीटमेंट की जरूरत होगी। अपने स्टेंट(Stent) के सही काम करने के लिए आप जो सबसे महत्वपूर्ण काम कर सकते हैं, वह यह है कि डॉक्टर द्वारा निर्धारित सभी दवाएं लें और स्वस्थ जीवनशैली को अपनाएं। अगर इस बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य बात करें।

    आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: