home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

False Unicorn Root: फाल्स यूनिकॉर्न रूट क्या है?

परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफ़ेक्ट|डोज|उपलब्ध
False Unicorn Root: फाल्स यूनिकॉर्न रूट क्या है?

परिचय

फाल्स यूनिकॉर्न रूट क्या है?

फाल्स यूनिकॉर्न रूट का वैज्ञानिक नाम चमेलीरियम ल्यूटियम है, जिसे पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका की देसी लिली के नाम से भी जाना जाता है। इस हर्ब के अन्य नाम हैं फेयरीवैंड, हेलियोनास डियोका, हेलोनिअस लुटिया, वैट्रम ल्यूटियम, चामेलिरियम कैरोलिनम, हेलियोनस रूट, ब्लाजिंग स्टार रूट आदि। यह एक हर्ब है, जिसकी जमीन के नीचे के तने और जड़ का प्रयोग दवाइयां बनाने के लिए किया जाता है।

इस हर्ब का इस्तेमाल महिलाओं के ओवेरियन सिस्ट, मासिक धर्म संबंधी रोगों, रजोनिवृत्ति के लक्षण, गर्भावस्था के कारण होने वाली उल्टी आदि के लिए किया जाता है। यही नहीं, फाल्स यूनिकॉर्न रूट को हाॅर्मोंस के असंतुलन को रोकने के लिए भी प्रयोग किया जाता है। पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए भी इसका इस्तेमाल फायदेमंद बताया जाता है। जानिए इस हर्ब के बारे में विस्तार से।

और पढ़ें: पर्पल नट सेज के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of purple nut sedge

उपयोग

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) का उपयोग किस लिएकिया जाता है?

फाल्स यूनिकॉर्न रूट नाम का पौधा नार्थ अमेरिका में पाया जाता है और 30 से 100 सेंटीमीटर ऊंचा होता है। यह पौधा चिकना, एकोणीय तने वाला और एकान्तर पत्तियों वाला होता हैं। यह पौधा नीचे से तंग होता है व इस पर छोटे ग्रीनिश-सफेद फूल खिलते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

फाल्स यूनिकॉर्न रूट निम्नलिखित रोगों या समस्यायों में राहत पहुंचाने के लिए प्रभावी है:

  • फाल्स यूनिकॉर्न के सेवन का महिला प्रजनन प्रणाली पर अच्छा असर पड़ता है, जिससे मासिक धर्म चक्र सामान्य रहता है। इसके साथ ही मासिक धर्म से संबंधित कई समस्याओं से राहत मिलती है।
  • फाल्स यूनिकॉर्न रूट प्रजनन क्षमता (खासतौर पर महिलाओं की) को बढ़ाने में मददगार है।
  • यह हर्ब रजोरोध (Amenorrhea) के उपचार के लिए भी प्रभावी है।
  • इस हर्ब का सेवन करने से प्रेगनेंसी में मॉर्निंग सिकनेस जैसी समस्या से छुटकारा पाने में सहायक है।
  • रजोनिवृत्ति के लक्षणों को दूर करने के लिए इस हर्ब को एक हर्बल औषधि माना जाता है।

निम्नलिखित समस्याओं में राहत दिलाने के लिए भी यह औषधि सहायक है। हालांकि, इसके प्रभावी होने का प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

और पढ़ें: Japanese Persimmon: जापानी परसीमन क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) का इस्तेमाल करते वक्त किन सावधानियों को बरतना जरूरी है?

  • फाल्स यूनिकॉर्न रूट का सेवन गर्भावस्था और स्तनपान की स्थिति में नहीं लेने की सलाह दी जाती है। हर्ब हमेशा सुरक्षित नहीं होती इसलिए सुरक्षित रहने के लिए इस स्थिति में कोई भी हर्ब या दवाई का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। उनकी दवाईयों का सेवन करें, जो अपने डॉक्टर ने बताई हों।
  • यह औषधि की अधिक डोज जी मिचलाना और उल्टी का कारण बन सकता है। इसलिए इसे लेने से पहले डोज का खास ख्याल रखें।
  • अगर किसी को पेट या आंतों से जुडी समस्याएं हैं तो इस हर्ब का सेवन करने से पेट और आंतों में जलन कि परेशानी हो सकती है। अगर आपको पेट या आंतों की कोई समस्या है तो इसका इस्तेमाल न करें।

और पढ़ें: कंटोला (कर्कोटकी) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kantola (Karkotaki)

यह कैसे काम करती है?

फाल्स यूनिकॉर्न रूट में केमिकल हो सकता है जो गर्भाशय को उत्तेजित करता है और आंतों के कीड़े को मारता है।

और पढ़ें: Ma huang: मा हुआंग क्या है?

साइड इफ़ेक्ट

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) का सेवन करने से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • ध्यान रखें कि हर्ब्स हमेशा सुरक्षित नहीं होती। हालांकि, इस बात का पूरा प्रमाण नहीं है कि फाल्स यूनिकॉर्न रूट को लेना सुरक्षित है। यही नहीं, फाल्स यूनिकॉर्न रूट लेने के दुष्प्रभावों का कोई प्रमाण नहीं मिलता है। लेकिन, ऐसा माना जाता है कि इसकी अधिक डोज लेने से जी मचलना और उल्टी आना जैसी समस्या हो सकती है।
  • जब फाल्स यूनिकॉर्न रूट को एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के साथ लिया जाएं,तो यह हर्ब हार्मोन्स के कार्य को प्रभावित कर सकती है जिससे गर्भाशय भी प्रभावित होता है। इसलिए, किसी भी दवाई, प्राकृतिक उत्पाद या जड़ी-बूटी का प्रयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह के बिना न लें।

इंटरैक्शन

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) का लिथियम के साथ इंटरैक्शन

फाल्स यूनिकॉर्न रूट “वाटर पिल” या डाइयुरेटिक (diuretic ) की तरह प्रभावी हो सकती है। इसे लेने से शरीर में लिथियम की मात्रा बढ़ सकती है जिससे गंभीर साइड इफेक्ट हो सकता है। कोई भी व्यक्ति जो लिथियम का सेवन कर रहा है उसे इस हर्ब का सेवन अपनी मर्जी से नहीं करना चाहिए। डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करें। डॉक्टर इसके लिए आपके द्वारा ली जा रहे लिथियम की डोज में बदलाव कर सकते है। ताकि, इस हर्ब को लेने से रोगी को कोई नुकसान न हो।

डोज

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) को लेने की सही खुराक क्या है?

फाल्स यूनिकॉर्न रूट की कितनी डोज लेनी चाहिए यह बात रोगी की उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करता है। इस समय ऐसी कोई वैज्ञानिक जानकारी उपलब्ध नहीं है जिससे इस बात का पता लगाया जा सके कि इस जड़ी-बूटी की कितनी डोज लेनी चाहिए। इस बात का ध्यान रखें कि हर प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं और इसकी डोज के बारे में जानकारी होना भी बहुत अधिक आवश्यक है। किसी भी दवाई या जड़ी-बूटी का सेवन करने से पहले उसके लेबल पर दिए निर्देशों का पालन करें और इसका प्रयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

  • अधिकतर यह औषधि को चाय के रूप में लिया जाता है। इसके लिए आप एक कप पानी में 1- 2 चम्मच इस हर्ब की रूट को डालें। इस चाय को उबलने के लिए रख दें और कम से कम 10-15 मिनटों तक इस चाय को उबालें। फायदे के लिए इस चाय को दिन में तीन बार पीने की सलाह दी जाती है।
  • अगर आप फाल्स यूनिकॉर्न रूट को चाय की जगह सूखे रूप में ले रहे हैं तो इस हर्ब का 1/4-1/2 चम्मच (1-2 ग्राम) दिन में तीन बार लें।

फाल्स यूनिकॉर्न रूट कैप्सूल के रूप में और विभिन्न स्ट्रेंथ में उपलब्ध है। इसके सेवन से पहले इस पर दिए निर्देशों का पालन करें और डॉक्टर की सलाह का पालन करना न भूलें।

और पढ़ें: छोटी दुद्धी (दूधी) के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Dudhi

उपलब्ध

फाल्स यूनिकॉर्न रूट (False unicorn root) किन रूपों में उपलब्ध होती है?

यह हर्ब निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध होती है:

  • रॉ रूट (Raw root)
  • कैप्सूल (Capsule)

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में इस हर्ब से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें।फाल्स से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

False Unicorn:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/21598325 Accessed July 30,2020

False Unicorn: https://www.drugs.com/npc/false-unicorn.html Accessed July 30,2020

False Unicorn: https://www.peacehealth.org/medical-topics/id/hn-2088005 Accessed July 30,2020

False Unicorn: https://www.drugs.com/npp/false-unicorn.html Accessed July 30,2020

FALSE UNICORN ROOT: https://www.rxlist.com/consumer_false_unicorn_root/drugs-condition.htm Accessed July 30,2020

Chamaelirium luteum (L): http://www.purplesage.org.uk/profiles/falseunicornroot.htm Accessed July 30,2020

False Unicorn Cultivation: https://unitedplantsavers.org/184-false-unicorn-cultivation/ Accessed July 30,2020

False Unicorn Root – Chamaelirium luteum: https://unitedplantsavers.org/false-unicorn-root-chamaelirium-luteum/ Accessed July 30,2020

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/08/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड