home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कमरख के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Carambola (Star Fruit)

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
कमरख के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Carambola (Star Fruit)

परिचय

कमरख क्या है?

कमरख (Kamrakh) एक प्रकार का फल है, जो अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। इसे स्टार फ्रूट (Star fruit) के नाम से भी जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम एवररहो कारंबोला (Averrhoa carambola) है और यह ऑक्जैलिडेसी (Oxalidaceae) कुल का पौधा होता है। वनस्पति विज्ञान में इसे ऐवेरोआ एक्युटेंगुला स्टोक्स (Averrhoa acutangula Stokes) भी कहते हैं। वहीं, कमरख को अंग्रेजी में स्टार फ्रूट के अलावा कैरम्बोला एप्पल (Carambola apple) और चाईनीज गूसबैरी (Chinese gooseberry) भी कहा जाता है। कमरख का इस्तेमाल एक औषधी के तौर पर कफ, वात और पित्त विकार के उपचार के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, अगर आपको या आपके बच्चे को भूख न लगने या कम भूख लगने की समस्या है, तो भी आप इसका सेवन कर सकते हैं। कैरेम्बोला या स्टार फ्रूट का आकार पांच कोण के जैसा होता है, जो एक तरह से तारे की आकृति जैसा दिखाई देता है। और शायद इसके आकार के नाम से ही इसे स्टार फ्रूट के नाम से भी जाना जाता है। कमरख या स्टार फ्रूट स्वाद में खट्टा और हल्का मीठा हो सकता है और इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से चटनी और अचार बनाने के लिए किया जा सकता है। स्टार फ्रूट भारत, बंगलादेश, श्रीलंका, मलेशिया, इंडोनेशिया और फिलीपींस जैसे देशों में मुख्य रूप से पाया जा सकता है। इसके अलावा पेरू, कोलम्बिया, त्रिनिदाद, इक्वेडोर, गुयाना, ब्राजील और संयुक्त राज्य अमेरिका में भी इसकी काफी पैदावार देखी जा सकती है। कमरख की तासीर गर्म होती है।

कमरख के फलों के खट्टे और मीठे स्वाद के तौर पर इसके दो किस्म पाए जा सकते हैं। दोनों किस्मों का इस्तेमाल औषधी के तौर पर किया जा सकता है। इसका फल खुशबूदार और गूदेदार होता है यानी इसके फल में पल्प भरा होता है। कमरख का पेड़ 5 से 10 मीटर ऊंचा हो सकता है। इसका पेड़ काफी घना होता है और साल भर यह हरा-भरा बना रहता है। वहीं, कमरख के फल 7.5 से 10 सेंटी मीटर तक लम्बे हो सकते हैं। कच्चे रहने पर फल का रंग हरा और पकने पर इसके फल का रंग पीला हो जाता हैं।

और पढ़ेंः पुष्करमूल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Pushkarmool (Inula racemosa)

कमरख का उपयोग किस लिए किया जाता है?

कमरख के फल में विटामिन बी और फाइबर जैसे पोषक तत्वों की उच्च मात्रा पाई जा सकती है। जिससे यह आपके पाचन स्वास्थ्य और दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। इसके सेवन से पाचन से जुड़ी समस्या, स्ट्रोक और हृदय रोग से बचाव किया जा सकता है। कमरख के फल के साथ-साथ स्टार फ्रूट की पत्तियों का भी इस्तेमाल एक औषधी के तौर पर किया जा सकता है। इसकी पत्तियों के इस्तेमाल से पेट के अल्सर का उपचार किया जा सकता है। साथ ही, कमरख के पत्तों का रस बढ़े हुए रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) को कम करने में मदद प्रदान कर सकता है।

साथ ही, निम्न स्वास्थ्य स्थितियों को बेहतर बनाने या उनके उपचार के लिए कमरख का इस्तेमाल एक औषधी के तौर पर किया जा सकता है, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

वजन घटाने में मदद करे

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, स्टार फ्रूट के जरिए बढ़ते वजन को काफी आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है। शोध के जरिए यह पाया गया है कि कमरख के फल में फाइबर की उच्च मात्रा और कैलोरी की काफी कम मात्रा पाई जाती है। इसलिए, कमरख के सेवन से काफी आसानी से वजन घटाया जा सकता है। हालांकि, आपको इसके उचित मात्रा के सेवन के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए

शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी कमरख का इ्तेमाल किया जा सकता है। स्टार फ्रूट में बीटा-कैरोटीन की उच्च मात्रा पाई जाती है और हमारा मानव शरीर बीटा-कैरोटीन को विटामिन ए में बदल देता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। साथ ही, इसका यह गुण आंखों की सेहत के लिए भी मददगार हो सकता है।

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए

कमरख में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है जो हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए

कमरख में पोटैशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है जो शरीर में ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है।

कोलेस्ट्रोल लेवल को नियंत्रित रखने के लिए

कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर की सभी कोशिकाओं में पाया जाता है। अगर इसका लेवल बढ़ जाए, तो हृदय रोगों का जोखिम बढ़ सकता है। वहीं, कमरख फल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।

इसके अलावा, निम्न स्वास्थ्य स्थितियों में भी स्टार फ्रूट का इस्तेमाल किया जा सकता हैः

  • श्वास संबंधी समस्याओं में
  • हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए
  • पाचन को स्वस्थ बनाए रखने के लिए
  • डायबिटीज के जोखिम को कम करने के लिए
  • कैंसर होने के जोखिम को कम करने के लिए
  • मुंहासों को ठीक करने के लिए
  • बालों के विकास के लिए

और पढ़ेंः गोखरू के फायदे एवं नुकसान; Health Benefits of Gokhru (Gokshura)

कमरख कैसे काम करता है?

कमरख के फल, पत्तियों में विभिन्न मात्रा में पोषक तत्व और मिनरल्स पाएं जाते हैं, जिसमें शामिल हैंः

प्रति 100 ग्राम कमरख के फल में पोषक तत्वों की मात्रा

  • कैलोरी – 35.7
  • प्रोटीन – 5.00 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट – 9.38 ग्राम
  • फाइबर, कुल डाइटरी – 0.80-0.90 ग्राम
  • शुगर – 65.00 ग्राम
  • फैट – 0.08 ग्राम
और पढ़ेंः कदम्ब के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kadamba Tree (Neolamarckia cadamba)

प्रति 100 ग्राम कमरख के फल में मिनरल्स की मात्रा

  • कैल्शियम – 4.4-6.0 मिग्रा
  • फास्फोरस – 15.5-21.0 मिग्रा
  • आयरन – 0.32-1.65 मिग्रा
  • सोडियम – 12 मिग्रा
  • कैरोटीन – 0.003-0.552 मिग्रा
  • थायमिन – 0.03-0.038 मिग्रा
  • राइबोफ्लेविन – 0.019-0.03 मिग्रा
  • नियासिन – 0.294-0.38 मिग्रा
  • एस्कॉर्बिक एसिड – 26.0-53.1 मिग्रा

कमरख के फल में पाए जाने वाले विटामिन्स की मात्रा

  • विटामिन ए – 2500IU
  • विटामिन बी5 – RDI का 4 %
  • विटामिन सी – RDI का 52 %

और पढ़ेंः परवल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Parwal (Pointed Guard)

उपयोग

कमरख का उपयोग करना कितना सुरक्षित है?

रिसर्च के मुताबिक, कमरख में हाइपोकोलेस्टेरोलएमिक, विटामिन्स और कैल्शियम जैसे तत्वों की मात्रा पाई जाती हैं, जो हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने, बालों को मजबूती प्रदान करने और हड्डियों को भी मजबूत रखने में मदद कर सकती है। साथ ही, एक औषधी के तौर पर कमरख का इस्तेमाल करना पूरी तरह से लाभकारी माना जा सकता है। अगर आपकी किसी स्वास्थ्य स्थिति के उपचार के लिए आपके डॉक्टर इसके सेवन की सलाह देते हैं, तो हमेशा अपने डॉक्टर द्वारा दिए गए सलाह और निर्देश के अनुसार ही इसकी खुराक का सेवन करें। और आपको कमरख के अधिक खुराक के सेवन से भी बचना चाहिए।

और पढ़ेंः साल ट्री के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Sal Tree

साइड इफेक्ट्स

कमरख से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कमरख के सेवन करने के दौरान किसी तरह का साइड इफेक्ट होना काफी दुर्लभ हो सकता है, हालांकि, इसके सेवन अधिक करने से निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

ध्यान रखें कि, इसके सेवन से होने वाले सभी साइड इफेक्ट यहां नहीं बताए गए हैं। अगर स्टार फ्रूट के खुराक के सेवन के बाद आपको किसी तरह के साइड इफेक्ट्स दिखाई देते हैं, तो तुरंत इसका सेवन करना बंद कर दें और अपने डॉक्टर से परामर्श करें। साथ ही, इसका सेवन करने से पहले निम्न स्थितियों के बारे में भी अपने डॉक्टर से बात करें अगरः

  • आप मौजूदा समय किसी भी प्रकार की दवा, जैसे- विटामिन्स की गोलियों या मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली सामान्य दवाएं, जिनके सेवन के लिए आमतौर पर डॉक्टर की पर्ची की आवश्यकता नहीं होती हैं का नियमित सेवन कर रहे हैं
  • आपको किसी भी दवा या खाद्य पदार्थ से किसी तरह की एलर्जी है या स्टार फ्रूट में पाए जाने वाले किसी भी रसायन से आपको एलर्जी होने की संभावना है
  • आप प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही हैं या प्रेग्नेंट हैं
  • आप शिशु को स्तनपान करा रही हैं
  • आपको कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या है, जिसका आप उपचार करवाने वाले हैं या उपचार करवा रहे हैं, जैसे- कैंसर या कोई रेयर डिजीज
  • आपने हाल ही में कोई सर्जरी करवाई हो
  • आपको कोई आनुवांशिक बीमारी हो
  • डायबिटीज की समस्या है
  • फेफड़ों से जुड़ी कोई शारीरिक स्थिति हो
  • दिल से जुड़ी कोई गंभीर बीमारी हो
और पढ़ेंः सिंघाड़ा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Singhara (Water chestnut)

डोसेज

कमरख को लेने की सही खुराक क्या है?

एक औषधी के तौर पर मुख्य रूप से आपके डॉक्टर आपको कमरख के फल, स्टार फ्रूट की पत्तियों और तनों के सेवन करने की सलाह दे सकते हैं। जो आपको विभिन्न रूपों में मिल सकते हैं। इसकी मात्रा आपकी स्वास्थ्य स्थिति, उम्र और लिंग के आधार पर आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जा सकती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

एक दिन में कमरख के सेवन करने की अधिकतम खुराक हो सकती हैः

  • कमरख के बीज चूर्ण – 1 से 2 ग्राम
  • कमरख के पत्तों का काढ़ा – 10 से 20 मिली
  • कमरख के फल का रस – 5 से 10 मिली
  • कमरख का फल – 1 या 2 फल प्रतिदिन अधिकतम खुराक
और पढ़ेंः केवांच के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kaunch Beej

उपलब्ध

यह किन रूपों में उपलब्ध है?

आप कमरख के विभिन्न रूपों का सेवन कर सकते है, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

  • जड़
  • पत्तियां
  • फल
  • फूल
  • बीज
  • तने के ऊपर की लताएं

अगर आपका इससे जुड़ा किसी तरह का कोई सवाल है, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Carambola. https://gardeningsolutions.ifas.ufl.edu/plants/edibles/fruits/star-fruit.html. Accessed on 15 June, 2020.
Carambola. https://www.growables.org/information/TropicalFruit/CarambolaJuliaMorton.htm. Accessed on 15 June, 2020.
Carambola. https://hort.purdue.edu/newcrop/morton/carambola.html. Accessed on 15 June, 2020.
Carambola – Averrhoa carambola. https://www.growables.org/information/TropicalFruit/carambola.htm. Accessed on 15 June, 2020.
Carambola. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ingredientsprofiles/Carambola. Accessed on 15 June, 2020.
Averrhoa carambola. https://www.cabi.org/isc/datasheet/8082. Accessed on 15 June, 2020.
CARAMBOLA STAR FRUIT. https://www.daleysfruit.com.au/fruit%20pages/carambola.htm. Accessed on 15 June, 2020.
Nutritional, Medicinal and Toxicological Attributes of Star-Fruits (Averrhoa carambola L.): A Review. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5357571/. Accessed on 15 June, 2020.
CARAMBOLA. https://www.crfg.org/pubs/ff/carambola.html. Accessed on 15 June, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/06/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x