home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बरकरार रहे ननद भाभी में प्यार, इस तरह बनाएं रिश्ता मजबूत

बरकरार रहे ननद भाभी में प्यार, इस तरह बनाएं रिश्ता मजबूत

ननद-भाभी, सास-बहू, जेठानी-देवरानी जैसे भारतीय संस्कृति में ऐसे कई रिश्ते हैं, जो हर लड़की को निभाने होते हैं। ये ऐसे रिश्ते हैं जिन्हें लेकर माना जाता है कि हमेशा इनके बीच किसी न किसी बात पर खटपट होती रहती है। लेकिन, अगर करीब से इस रिश्ते को आंका जाए, तो ये रिश्ते सबसे खास रिश्ते हो सकते हैं।

कोई मानें या न मानें लेकिन, ननद-भाभी का रिश्ते दो बहनों और दो दोस्तों के रिश्तों से भी बढ़कर होते हैं। क्योंकि, ननद ऐसी होती है, जो किसी भी भाभी और भैया के बीच सबसे करीब हो सकती है। इस वजह से यह दोनों की बहन और ननद कम बेस्ट फ्रेंड ज्यादा हो सकती है।

और पढ़ें : पति पत्नी का रिश्ता क्यों जाता है बिगड़, जानें 7 कारण

बी-टाउन में ननद-भाभी की जोड़ी

बी-टाउन में ननद-भाभी की जोड़ियों की बात करें, तो करीना कपूर खान-सोहा अली खान, ऐश्वर्या राय बच्चन-श्वेता नंदा, दीपिका पादुकोण-रितिका भवनानी जैसे कई रिश्ते हैं। इनमें करीना और सोहा का रिश्ता काफी चर्चा में रहता है। ये दोनों ननद-भाभी अक्सर एक-दूसरे के साथ पार्टी करते, घूमते या शॉपिंग करते हुए देखे जाते हैं। दोनों एक-दूसरे की बहन और बेस्टफ्रेंड भी हैं। ननद भाभी का रिश्ता वैसे तो बहुत प्यार भरा होता है लेकिन इसको संभालने के लिए थोड़ा समय देना पड़ता है।

इसी तरह, हर ननद-भाभी का रिश्ता भी एक-दूसरे के बहुत करीब रहता है लेकिन, कैसे उस रिश्ते को खास बनाना है, यह ननद-भाभी के आपसी व्यवहार पर निर्भर करता है। इतना ध्यान रखिए कि सभी हर रिश्ते में प्यार और सम्मान की उम्मीद रखते हैं। अगर आप किसी रिश्ते को इज्जत की नजर से देखेंगे, तो वो रिश्ता भी आपको स्नेह करने में पीछे नहीं रहेगा। कैसे आप भी अपने ननद-भाभी के रिश्ते को खास बना सकती हैं, इसके लिए जानिए किन बातों का रखना चाहिए ख्यालः

1.एक-दूसरे के साथ अच्छा समय बिताएं

शादी से पहले जैसा आप अपनी बहन या सहेलियों के साथ समय गुजारा करती थीं, उसी तरह शादी के बाद आप अपनी ननद के साथ समय गुजार सकती हैं। एक-दूसरे के साथ समय गुजारने से आप किसी के भी जीवन में बहुत करीब आ सकती हैं। इस दौरान, आप उनकी पसंद-नापसंद के साथ-साथ अपने ससुराल वालों के बारे में भी बहुत-सी बातें जान सकती हैं, जिनकी मदद से आप ससुराल के दूसरे सदस्यों के भी बहुत करीब आ सकती हैं। ननद भाभी के रिश्ते में मिठास लाने के लिए साथ समय बिताना जरूरी है। अगर आप एक-दूसरे को पसंद करते हैं तो साथ समय बिताने से आप दोनों के बीच संबंध और मधुर होगा।

और पढ़ें : शादी से पहले या शादी के बाद, आखिर कब ज्यादा खुश रहती हैं महिलाएं?

2.दोस्त बनें

हर रिश्ते की तरह ननद-भाभी के रिश्ते में भी थोड़ी चीनी कम तो थोड़ा नमक ज्यादा हो सकता है लेकिन, अगर इस तरह के बहस को इग्नोर किया जाए, तो जितना प्यार दोनों के रिश्ते में हो सकता है, उतना प्यार किसी दूसरे रिश्ते में मुश्किल ही मिल सकता है। इसलिए, दोनों को चाहिए कि वो एक-दूसरे के दोस्त बनें। अगर दोनों घर में अकेली हैं, तो बोर होने या दुखी होने से बेहतर है कि एक-दूसरे की कंपनी में रहना पसंद करें। ननद भाभी के रिश्ते को किसी बोझ की तरह ना निभाएं बल्कि अपने रिश्ते को दोस्ती की तरह हैंडल करें।

3.चुगलीबाजी से दूर रहें

हो सकता है कि दोनों रिश्ते में चुगलीबाजी भी भरी हो, जिससे बचने का सबसे अच्छा रास्ता है, इसे पूरी तरह से इग्नोर करें। अगर ननद कभी आपके पति या परिवार के अन्य सदस्यों से आपकी कोई चुगली करती हैं, तो इस बारे में सबसे पहले अपनी ननद से बात करें। उनसे यह जानने की कोशिश करें कि उन्होंने ऐसा क्यों किया? अगर उन्हें आपकी कोई बात बुरी लगी है, तो उसके बारे में उससे पूछें। उन्हें यह विश्वास दिलाएं कि अगर उन्हें आपकी कोई बात बुरी लगती है, तो वो इसके बारे में सबसे पहले आपसे बात करें, ताकि आप अपनी गलती समझ सकें और उसे सुधार सकें। ननद भाभी के रिश्ते के बारे में जैसे टीवी में दिखाते हैं ऐसा ना करें बल्कि प्यार से अपने रिश्ते को हैंडल करे।

और पढ़ें : जानें सेक्स और हमारे दिल के बीच का रिश्ता?

4.गलतियों को छिपाएं

गलतियां किसी से भी हो सकती हैं। इसलिए, अगर आपकी ननद गलती करें, तो उसका हल्ला न बनाएं। बल्कि, अगर आप उस गलती को ठीक कर सकती हैं, तो उसे ठीक करने में उनकी मदद करें या फिर इसके लिए आप अपने पति की भी मदद लें सकती हैं। ननद भाभी के रिश्ते में छोटी-मोटी गलतियां चलती है, ऐसे में एक-दूसरे का साथ दें और गलतियां छिपाएं।

5.सीक्रेट शेयर करें

अगर आपको अपनी ननद के किसी बड़े सीक्रेट के बारे में पता चलता है, तो इसका ढिंढोरा न पीटें बल्कि, इसे अपने और उनके बीच में ही रहने दें। उन्हें इसका भरोसा भी दिलाएं कि आप उनके सीक्रेट किसी और से शेयर नहीं करेंगी। उनका भरोसा जीतने के लिए आप उन्हें अपना भी कोई सीक्रेट बता सकती हैं।

और पढ़ें : बच्चों के लिए सेंसरी एक्टिविटीज हैं जरूरी, सीखते हैं प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल

6.उनकी राय लें

जाहिर सी बात है कि नए घर के नियमों-कानून को बहुत जल्दी नहीं समझा जा सकता है। इसलिए, घर के नियम-काननू क्या कहते हैं, इस बारे में अपनी ननद से पूछ सकती हैं। घर में किसे क्या खाना पसंद है, इसके बारे में भी अपनी ननद की मदद ले सकती हैं।

7.पास आएं पर निजी संबंध दूर ही रखें

हर पति-पत्नी के बीच किसी न किसी बात को लकेर बहस होती रहती है। इसलिए, कभी भी ऐसे मामलों में अपनी ननद को न उलझाएं। जितना हो सके ऐसे मामले आप दोनों खुद से ही सुलझाने का प्रयास करें।

और पढ़ें : क्या ब्लड रिलेशन में शादी करना सही है? जानिए वैज्ञानिक कारण

8.फॉलो करें शेयरिंग इज केयरिंग

आप अपनी चीजों को एक-दूसरे के साथ शेयर कर सकती हैं। फिर चाहे वो कोई ड्रेस, जूलरी, जूता या खाने-पीने की ही चीज क्यों न हों।

एक बात का ध्यान रखें कि आपकी ननद आपके लिए आपकी बहन जैसी ही है। जिस तरह आप अपने घर की लाडली बेटी हैं, वैसे ही आपकी ननद भी आपके ससुराल की लाडली बेटी हो सकती हैं। इसलिए, आप भी उन्हें अपनी बहन जैसा ही प्यार दें। हर रिश्ते को एक-दूसरे के करीब आने में समय लग सकता है। इसलिए, दोनों के रिश्ते को करीब आने के लिए समय और मौका दोनों दें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

DEFINITIONS. https://www.in.gov/spd/files/funeralrandp.pdf. Accessed On 22 September, 2020.

Placement of Children With Relatives. https://www.childwelfare.gov/pubPDFs/placement.pdf. Accessed On 22 September, 2020.

Characteristics of Healthy & Unhealthy Relationships. https://youth.gov/youth-topics/teen-dating-violence/characteristics. Accessed On 22 September, 2020.

Building healthy relationships. https://www.healthdirect.gov.au/building-healthy-relationships. Accessed On 22 September, 2020.

Relationships and sex education (RSE) and health education. https://www.gov.uk/government/publications/relationships-education-relationships-and-sex-education-rse-and-health-education. Accessed On 22 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/09/2019
x