backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

Tight Foreskin: टाइट फोरस्किन की तकलीफ क्यों हो सकती है? जानिए इससे बचाव का तरीका और इलाज!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 10/03/2022

Tight Foreskin: टाइट फोरस्किन की तकलीफ क्यों हो सकती है? जानिए इससे बचाव का तरीका और इलाज!

सिरदर्द की समस्या हो या थकावट महसूस हो … ऐसी किसी भी परेशानी को एक दूसरे के साथ आसानी से शेयर कर लेते हैं, लेकिन कुछ ऐसी भी शारीरिक परेशानी है जिनके बारे में डिस्कस करना आसान नहीं होता है, लेकिन आप इससे परेशान जरूर रह सकते हैं। इसलिए आज इस आर्टिकल में पुरुषों के प्राइवेट ऑर्गन की समस्या यानी टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) से जुड़ी जानकारी शेयर करेंगे।  

  • टाइट फोरस्किन क्या है?
  • टाइट फोरस्किन के लक्षण क्या हो सकते हैं? 
  • टाइट फोरस्किन के कारण क्या हैं?
  • टाइट फोरस्किन का इलाज कैसे किया जाता है?
  • टाइट फोरस्किन से बचाव कैसे संभव है? 

चलिए अब टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) से जुड़े इन सवालों का तकलीफों को दूर करने का तरीका जानते हैं।   

और पढ़ें : पीनस पेन के बड़े कारण क्या हो सकते हैं? दर्द के इन कारणों को जरूर समझिए

टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) क्या है?

टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन को अगर आसान शब्दों में समझें, तो पीनस की स्किन टाइट होना है। इस समस्या के होने पर पीनस का ऊपरी सिरा सख्त हो जाता है और यह ऊपर की ओर नहीं खींच पाता है। टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) होने पर पीनस की त्वचा रबर बैंड की तरह नजर आ सकती है। टाइट फोरस्किन की समस्या दो अलग-अलग तरह की होती है। जैसे:  

फिमोसिस (Phimosis)- फोरस्किन का टाइट होना कम उम्र के बच्चों में सामान्य माना जाता है, लेकिन यही समस्या अगर बढ़ते उम्र के पुरुषों में देखी जाए यह चिंता का विषय माना जाता है।  

पैराफिमोसिस (Paraphimosis)- फोरस्किन में सूजन (Swelling), लालिमा (Redness) और पानी जैसे तरल पदार्थ जमा होने वाली स्थिति पैराफिमोसिस कहलाती है। 

टाइट फोरस्किन की समस्या को इग्नोर नहीं करना चाहिए, क्योंकि कई बार यह गंभीर  पैदा कर सकती है। इसलिए टाइट फोरस्किन के लक्षण (Tight Foreskin symptoms) को समझें और फिर डॉक्टर से  कंसल्ट करें।

और पढ़ें : Enlarged Prostate: प्रोस्टेट का बढ़ना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

टाइट फोरस्किन के लक्षण क्या हो सकते हैं? (Symptoms of Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे: 

  • टॉयलेट (Toilet) करने के दौरान दर्द महसूस होना। 
  • पीनस में सूजन (Swelling) आना। 
  • अत्यधिक खुजली (Itching) होना। 
  • गाढ़ा तरल पदार्थ का जमा होना। 
  • इंटरकोर्स (Intercourse) के दौरान दर्द महसूस होना। 
  • पेनिस में दर्द होना।
  • पेनिस से आने वाले डिस्चार्ज से दुर्गंध (Smell) आती है।
  • पेनिस की स्किन पर रैश होना।

इन लक्षणों को इग्नोर नहीं करना चाहिए और डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए। कभी-कभी इन लक्षणों को इग्नोर सिर्फ इसलिए कर दिया जाता है, क्योंकि इस विषय पर लोग एक दूसरे से बात करना उचित नहीं समझते हैं। ऐसा करना अनजाने में किसी गंभीर समस्या को दावत देने जैसे है।

और पढ़ें : Testicular Torsion: टेस्टिकुलर टॉर्सन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

टाइट फोरस्किन के कारण क्या हैं? (Cause of Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे: 

  • बैलेनाइटिस (Balanitis)- बैलेनाइटिस पेनिस के सबसे ऊपरी हिस्से में होने वाली परेशानी है, जिसे फोरस्किन कहते हैं। फोरस्किन में सूजन, जलन, लाल और दर्द होने की समस्या को कहते हैं। फोरस्किन में इंफेक्शन (Infection) की समस्या शुरू हो जाती है। बैलेनाइटिस पुरुषों में होने वाली समस्या है और यह किसी भी उम्र में हो सकती है। 
  • बालनोपोस्टहाइटिस (Balanoposthitis)- फोरस्किन के गलैण्ड में सूजन होना और सूजन की वजह से फोरस्किन टाइट होना बालनोपोस्टहाइटिस की समस्या शुरू हो जाती है। इसके अलावा यीस्ट इंफेक्शन (Yeast infection) या बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial infection) के कारण भी हो सकती है। 
  • सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (Sexually Transmitted Infections)- टाइट फोरस्किन की समस्या सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STIs) के कारण भी हो सकती है। 

इन तीन कारणों के अलावा अन्य स्किन कंडिशन (Skin conditions) भी टाइट फोरस्किन की समस्या को दावत दे सकती है। इसलिए अगर ऐसी कोई परेशानी महसूस हो रही है या टाइट फोरस्किन के लक्षण (Tight Foreskin symptoms) नजर आ रहें हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें। 

और पढ़ें : पीनस के बीच में दर्द (Pain in middle of Penis) कहीं इन कारणों से तो नहीं!

टाइट फोरस्किन का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन का इलाज निम्नलिखित तरह से किया जा सकता है। जैसे:

ओवर-द-काउंटर दवाएं (OTC)- टाइट फोरस्किन के इलाज के लिए ओवर-द-काउंटर मिलने वाली क्रीम या ऑइंटमेंट के इस्तेमाल से ठीक हो सकती है। ओवर-द-काउंटर मिलने वाली क्रीम या ऑइंटमेंट का इस्तेमाल फोरस्किन (Foreskin) पर एक दिन में दो बार किया जा सकता है। वहीं अगर दर्द (Pain) की समस्या ज्यादा है, तो आइब्रुफेन (Ibuprofen) के सेवन की भी सलाह दी जा सकती है। इन दवाओं का सेवन या इस्तेमाल फार्मासिस्ट के बताये अनुसार ही करें। 

प्रिस्क्राइब्ड ड्रग्स (Prescribed Drugs)- टाइट फोरस्किन के इलाज के लिए बीटामेथेसोन (Betamethasone), ट्रायमसिनोलोन (Triamcinolone) एवं एंटी-फंगल मेडिकेशन (Anti fungal infection) दिए जा सकते हैं। ट्रीटमेंट के दौरान यह ध्यान रखें कि ये दवाएं प्रिस्क्राइब्ड हैं और डॉक्टर जिस तरह से इनके सेवन या इस्तेमाल की सलाह देते हैं ठीक वैसे ही करना आवश्यक है। 

अगर ओवर-द-काउंटर (OTC) मिलने वाली दवा या प्रिस्क्राइब्ड ड्रग्स (Prescribed Drugs) के सेवन से लाभ नहीं मिलता है और टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) की समस्या बढ़ती जाती है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर बीमारी की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए सर्जरी की भी सलाह दे सकते हैं।    

नोट: यहां हमने टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) के इलाज के लिए कुछ दवाओं के नाम और उनके सेवन से जुड़ी जानकारी शेयर की है, लेकिन आप अपनी मर्जी से इन दवाओं (Medicine) का सेवन ना करें और डॉक्टर से सलाह लें।  

और पढ़ें : लिंग के साइज को बड़ा करवाना क्या सच में फायदेमंद है?

टाइट फोरस्किन से बचाव कैसे संभव है? (Tips for Tight Foreskin)

टाइट फोरस्किन से बचाव के लिए निम्नलिखित टिप्स फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

  • पीनस के साथ बॉडी के प्राइवेट ऑर्गन की साफ-सफाई (Clean) का ध्यान रखें। 
  • बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial Infection) से बचने के लिए सेक्सुअल एक्टिविटी के बाद प्राइवेट ऑर्गन की सफाई करें। 
  • किसी भी स्किन कंडिशन (Skin Condition) को इग्नोर ना करें। 
  • इंटरकोर्स (Intercourse) के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करें। 
  • सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करें।
  • गुप्तांगों में पसीना न हो और हवा मिलती रहे, इसके लिए हमेशा कॉटन के कपड़े पहनें। ऐसे कपड़े या अंडरगार्मेंट्स न पहनें, जिनसे पसीना जमा होता हो।
  • फोरस्किन या पीनस (Penis) से जुड़ी किसी भी परेशानी को इग्नोर ना करें। 
  • डायट में हेल्दी न्यूट्रिशन को शामिल करें।

इन टिप्स को फॉलो कर टाइट फोरस्किन की समस्या (Tight Foreskin problem) से बचाव में मदद मिल सकती है।  

और पढ़ें : Testicular Torsion: टेस्टिकुलर टॉर्सन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

नोट: अगर परेशानी ठीक नहीं होती तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं कि क्या लिंग की खुजली या पीनस में दर्द की समस्या ज्यादा है या इसमें सुधार नहीं हुआ है या पीनस के पास डिस्चार्ज, फफोले, दर्द, पीनस फोरस्किन इंफेक्शन या पीनस पर सफेद दाने जैसे लक्षण हैं।

उम्मीद है आपको टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) से जुड़ी जरूरी जानकारियां हमारे इस आर्टिकल में मिल गई होंगी। अगर आपके मन में टाइट फोरस्किन (Tight Foreskin) से जुड़े सवाल हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। आपको आपके सवालों के जवाब हमारे मेडिकल एक्सपर्ट्स से दिलाने की पूरी कोशिश की जाएगी। इसके साथ ही इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करना न भूलें।

स्वस्थ रहने के लिए अपने डेली रूटीन में योगासन शामिल करें। योग से जुड़े कई महत्वपूर्ण सवालों का जवाब है नीचे दिए इस वीडियो लिंक में। वीडियो लिंक पर क्लिक कर योगासन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को समझें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 10/03/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement