Broken (Fractured) Finger: उंगली का फ्रैक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    Broken (Fractured) Finger: उंगली का फ्रैक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    परिचय

    उंगली का फ्रैक्चर क्या है?

    उंगलियों की हड्डियों को फालंजेस कहा जाता है। हर उंगली में तीन और अंगूठे में दो फालंजेस होती है। जब उंगली की दो या तीन हड्डियां टूट जाती है तो उन्हें फ्रैक्चर हुई या टूटी हुई उंगली कहा जाता है। उंगली का फ्रैक्चर हाथ में लगी किसी चोट के कारण होता है। फ्रैक्चर्स उंगली के पोर में भी हो सकता हैं, जो वह जोड़ होते है जहां उंगली की हड्डियां मिलती हैं। हालांकि हाथों की हड्डियां छोटी होती है लेकिन उंगली में फ्रैक्चर कोई छोटी चोट नहीं होती। उंगलियों के कारण हम कोई भी चीज़ को आसानी से पकड़ सकते हैं। जब उंगली की हड्डी फ्रैक्चर होती है, तो इसके कारण पूरे हाथ का एलाइनमेंट खराब हो जाता है। अगर इसका उपचार न कराया जाए तो, टूटी हुई उंगली कठोर हो जाती है और इसमें असहनीय दर्द होता है।

    और पढ़ें : Ankle Fracture Surgery : एंकल फ्रैक्चर सर्जरी क्या है?

    लक्षण

    उंगली का फ्रैक्चर होने के बाद जो लक्षण आपको सबसे पहले महसूस होगा वो है दर्द। लेकिन, इसके अन्य लक्षण इस प्रकार है:

    • फ्रैक्चर हुए हिस्से में सूजन
    • फ्रैक्चर हुए हिस्से का सख्त होना।
    • फ्रैक्चर हुए भाग में नील आना
    • टूटी उंगली को हिलाने या मोड़ने में मुश्किल होना।
    • टूटी हुई उंगली का विकृत होना।
    • प्रभावित हिस्से को छूने से दर्द होना।

    हालांकि उंगलियों में अगर कोई अन्य समस्या हो जैसे इंफेक्शन, डिस्लोकेशन आदि तो उनके लक्षण भी समान हो सकते है। इसलिए, अगर आपको कोई भी लक्षण नजर आये तो डॉक्टर से चेकअप कराना अनिवार्य है।

    कारण

    • हाथ को अन्य हिस्सों की तुलना में उंगलियों को चोट लगने की सबसे अधिक संभावना होती है। आप अपनी
    • उंगलियों को तब भी नुकसान पहुंचा सकते हैं या उनमें तब भी फ्रैक्चर हो सकता है, जब आप किसी टूल से काम कर रहे हों जैसे हथोड़ा।
    • आपकी उंगली तेज़ी से हाथों में लगने वाली हर चीज से फ्रैक्चर हो सकती है जैसे बेसबॉल। खेलते हुए भी उंगलियां टूट सकती है।
    • गलती से अगर हाथ दरवाजे में आ जाए तो भी उंगलियों को नुकसान होता है और उंगलियां फ्रैक्चर हो सकती है।
    • ऑस्टियोपोरोसिस और कुपोषण उंगलियों के टूटने की संभावना को और भी बढ़ा देती हैं।
    • एक्सीडेंट आदि से भी उंगलियां फ्रैक्चर हो सकती है या टूट सकती हैं।

    और पढ़ें : Malnutrition: कुपोषण क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

    जोखिम

    2.बेसबॉल

    3.वॉलीबॉल

    4.फुटबॉल

    5.हॉकी

    6.रग्बी

    7.बॉक्सिंग

    8.स्कीइंग

    9.रेसलिंग

    10.स्नोबोर्डिंग

  • एक्सीडेंट या कोई चीज तेजी से हाथ में लगने से भी इस समस्या का जोखिम बढ़ जाता है।
  • और पढ़ें : Trigger finger : ट्रिगर फिंगर क्या है ?

    उपचार

    शारीरिक जांच

    उंगली में फ्रैक्चर है या नहीं समस्या का निदान डॉक्टर शारीरिक जांच कर के करेंगे। रोगी से इस फ्रैक्चर का कारण भी पूछा जा सकता है। उंगली की हड्डी कई तरीकों से टूट सकती है जैसे सीधा हड्डी का टूटना, हड्डी का कई टुकड़ों में टूटना या पूरी तरह से चकनाचूर होना आदि।

    उंगली का फ्रैक्चर के उपचार के फ्रैक्चर के प्रकार और इस हड्डी पर निर्भर करता है जो प्रभावित है। अगर फ्रैक्चर सामान्य है तो साधारण बडी टापिंग की मदद से इसका उपचार किया जा सकता है। इसमें चार हफ़्तों तक बडी टापिंग के प्रयोग के साथ दो हफ़्तों तक उंगली को अधिक न हिलाने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा आपको x -ray कराने की सलाह भी दी जा सकती है ताकि टूटी हुई हड्डी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके।

    नॉन सर्जिकल उपचार

    डॉक्टर रोगी की टूटी हड्डी को वापस अपनी जगह पर बिना सर्जरी के जोड़ देंगे। इसके लिए उन्हें स्पलिंट या कास्ट दी जायेगी ताकि आपकी उंगली सीधी रहे और किसी अन्य चोट से वो बच सके। कई बार डॉक्टर प्रभावित उंगली के साथ वाली उंगली को भी स्पलिंट लगा देते हैं ताकि प्रभावित उंगली को अतिरिक्त सहारा मिले। फ्रैक्चर हुई उंगली पर तीन हफ़्तों तक स्पलिंट लगाने की सलाह दी जाती है। इस समय एक से अधिक एक्स-रे कराये जा सकते हैं ताकि डॉक्टर उंगली में कितना सुधार हुआ इस इस बारे में पता चल सके।

    सर्जिकल उपचार

    फ्रैक्चर के प्रकार और गंभीरता को देखते हुए हड्डी को एलाइनमेंट में रखने के लिए डॉक्टर सर्जरी भी कर सकते हैं। हड्डी को जोड़ने के लिए छोटा डिवाइस जैसे पिंस, स्क्रू, वायर आदि का प्रयोग किया जाता है। सर्जरी की हुई फिंगर फ्रैक्चर को संभालना मुश्किल हो सकता है क्योंकि सर्जरी के कारण उंगली कठोर हो जाती है। इसलिए, डॉक्टर अधिकतर नॉन सर्जिकल उपचार को ही प्राथमिकता देते हैं। लेकिन अगर हड्डी या उंगली का आकर ही विकृत हो गया हो उस स्थिति में सर्जरी की जाती है।

    घरेलू उपाय

    • उंगली का फ्रैक्चर होने के बाद दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए प्रभावित स्थान पर बर्फ लगाएं। सीधेतौर पर बर्फ लगाने से त्वचा को नुकसान हो सकता है। इसलिए, किसी कपड़े में इसे लपेट कर प्रभावित स्थान पर लगाने से आपको दर्द और सूजन से राहत मिलेगी।
    • दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप आइबूप्रोफेन या एसिटामिनोफेन आदि का प्रयोग कर सकते हैं, लेकिन इनका प्रयोग डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें।
    • चोट लगने के तुरंत बाद हाथों में पहनें गहनों को निकाल दें। क्योंकि, चोट लगने के बाद हाथों में सूजन आ जाती है। इसलिए इसके बाद यह गहने आप नहीं निकाल पाएंगे।
    • जब तक आपको डॉक्टरी मदद नहीं मिलती है तब तक आप एक अस्थायी स्पलिंट बनाएं। पॉपस्टिक की डंडी को टूटी हुई उंगली के आगे लगाएं और इसकी चारों तरह कुछ बांध लें। ताकि उंगली को सहारा मिले। लेकिन, इसे अधिक टाइट न बांधें।
    • डॉक्टर की सलाह का पूरी तरह से पालन करें ताकि आपकी चोट जल्दी ठीक हो सके। अपनी मर्जी से न तो उंगली को छेड़े न ही हड्डी को सीधा करने की कोशिश करें।

    अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

    डॉ. पूजा दाफळ

    · Hello Swasthya


    Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 10/10/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement