home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या होंठो के रंग से सेहत का अंदाजा लगाया जा सकता है ?

क्या होंठो के रंग से सेहत का अंदाजा लगाया जा सकता है ?

साल 2016 के कांस फिल्म फेस्टिवल में भारतीय अभिनेत्री और विश्व सुंदरी ऐश्वर्या राय अपनी जिस पर्पल लिपस्टिक की वजह से आकर्षण का केंद्र बनीं उसी लिपस्टिक की वजह से भी वो जमकर ट्रोल हुई थीं। कुछ लोगों ने उनकी पर्पल लिपस्टिक का मजाक उड़ाते हुए ये तक कह दिया था कि ऐसा लग रहा था कि एश्वर्या खूब सारा जामुन खाकर आई हों। तो क्या हम इस उदाहरण से ये मान सकते हैं कि लिपस्टिक के रंग से जिस तरह लोग आपको जज कर सकते हैं, ठीक उसी तरह होंठो के रंग से आपकी सेहत का अंदाजा लगाया जा सकता है? जानए यहां…

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार आपके होंठ का रंग आपके शरीर के अंदर चल रही गतिविधि जैसे ब्लड लेवल, बॉडी फंक्शन और यहां तक ​​कि आपके शरीर का तापमान भी बता सकता है। अगर आपके होंठो के रंग में अचानक बदलाव नजर आए, तो इसे भूलकर भी नजरअंदाज नहीं कना चाहिए।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें : किसिंग से जुड़े मजेदार फैक्ट्स

क्या कहते हैं होंठो के रंग?

यूं तो हर व्यक्ति के होंठो के रंग जन्म से अलग-अलग होता है। लेकिन अगर सामान्य रंग के अलावा होंठो के रंग में बदलाव नजर आने लगे तो भूलकर भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। क्योंकि ये आपकी सेहत से जुड़े कई तरह के संकेत देता है।

हल्के गुलाबी, सफेद होंठ

अगर होंठ पेल पिंक, वाइट या ग्रे हो जाएं तो आपको इसे नजअंदाज नहीं करना चाहिए। ऐसा होने पर आप हाथ और पैर दोनों में ठंडापन महसूस कर सकते हैं । पेल पिंक, व्हाइट या ग्रे लिप्स एनीमिया के लक्षण हो सकते हैं। आपको अपने आहार में आयरन से भरपूर जैसे हरी सब्जी, खजूर या मीट का सेवन करना चाहिए।

त्वचा और बालों की समस्या से निजात पाने के लिए वीडियो देख लें एक्सपर्ट के टिप्स

गहरा लाल रंग या काले होंठ

प्रायः स्मोकिंग की वजह से होंठो का रंग अगर गहरा लाल या काला हो जाता है। लेकिन, अगर आप स्मोकिंग नहीं करते हैं और ऐसी स्थिति में भी आपके होंठ गहरे लाल रंग या काले हैं, तो आपको ऐसा पाचन तंत्र के ठीक से काम नहीं करने की वजह से भी होता है। आप डायरिया एसिडिटी या कब्ज की परेशानी महसूस कर सकते हैं। इस परेशानी से उबरने के लिए आपको प्रोटीन से भरपूर आहार जैसे चिकेन, दूध, अंडा या दही अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। हालांकि, कुछ लोगों में जन्म से ही ऐसा रंग होता है।

और पढ़ें : लाफ लाइंस से छुटकारा दिलाएंगी ये एक्सरसाइज

होंठो के रंग का लाल होना

होंठो का रेड (लाल) होना अच्छा माना जाता है। लेकिन, अचानक हाेंठ लाल होना कई बार ये लिवर की समस्या को भी दर्शाता है। ऐसी स्थिति में आपको बार-बार खाने की भी इच्छा हो सकती है। बार-बार खाने की वजह से शरीर का वजन भी बढ़ सकता है। इसलिए परेशानी के शुरुआत में ही डॉक्टर से संपर्क करना बेहतर होगा।

और पढ़े:जानिए साबूदाना क्यों है सबसे अच्छा नाश्ता !

होंठो के रंग का बैंगनी या हरे रंग का होना

ऐसा ठंड की वजह से होता है। लेकिन, ठंड के बाद भी होंठ का रंग ऐसा ही रहता है, तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए। होंठ के रंग में बदलाव होना और बैंगनी होना दिल या सांस से जुड़ी परेशानी को दर्शाता है। इसलिए होंठ का विशेष ख्याल रखें।

होंठ ड्राई (सूखे) होना

होंठो का सूखना डिहाइड्रेशन का संकेत होता है। ड्राई होंठ अगर लंबे वक्त से हैं, तो हाइपोथायरॉइड की समस्या हो सकती है। हाइपोथायरॉइड के लक्षणों में कमजोरी, खांसी, वजन बढ़ना जैसी कई अन्य परेशानी हो सकती है। इसलिए ज्यादा वक्त से अगर होंठ ड्राई हैं, तो इसका इलाज करवाना बेहतर होगा।

होंठो के रंग का नेचुरल या नेचुरल गुलाबी (Natural Pink) होना

नेचुरल या नेचुरल पिंक होंठ आपकी फिटनेस का संकेत है। नेचुरल पिंक अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है।

होंठो को स्वस्थ कैसे बनाएं जिससे आप भी फिट रहें

निम्नलिखित घरेलू उपाए से अपने होंठो को बनाएं स्वस्थ:

  • एक दिन में 2 से 3 लीटर पानी पिएं। ऐसा रोजाना करें और जहां कहीं भी जायें अपने साथ पानी की बोतल जरूर रखें।
  • नारियल पानी पिएं। दरअसल मिनरल्स और न्यूट्रिएंट्स से भरपूर नारियल पानी प्राकृतिक रूप से शुद्ध और मीठा होता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में लिपिड मेटाबॉलिज्म का लेवल कंट्रोल में रहता है, जिससे हार्ट अटैक होने की आशंका कम होती है। इसके साथ ही डिहाइड्रेशन की समस्या भी नहीं होती है।
  • आहार में सलाद और विटामिन-सी युक्त फलों जैसे कीवी, संतरा या स्ट्रॉबेरी का सेवन करें।
  • लिपस्टिक लगाने के पहले पेट्रोलियम जेली लगाएं। अगर पेट्रोलियम जेली नहीं है तो आप नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल रोजाना करना चाहिए।
  • घी, दूध की मलाई, आलमंड ऑयल और नारियल तेल का इस्तेमाल नियमित करने से होंठ अच्छे होते हैं।
  • रात को सोने से पहले होंठो पर लगा लिपस्टिक मेकअप रिमूवर से अच्छी तरह निकालें और फिर ताजे पाने से फेस के साथ-साथ होंठो को भी साफ करें। सोने से पहले आप पेट्रोलियम जेली, नरियल तेल या लिप बाम का इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • अगर आप स्मोकिंग करती हैं तो ऐसा न करें। क्योंकि स्मोकिंग की वजह कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का खतरा तो रहता है साथ ही स्मोकिंग की वजह से होंठ के रंग भी बदल जाती हैं।
  • अगर आपको कब्ज की समस्या रहती है, तो इसका ठीक से इलाज करवायें। कब्ज की वजह से भी होंठ ड्राई होते हैं।
  • कई बार होंठ के आसपास झुर्रियां (रिंकल) हो जाती हैं, जो आपकी सुंदरता को कम कर सकता है। दरअसल होंठ के आसपास झुड्डियां बढ़ते प्रदूषण, बढ़ती उम्र या फिर स्मोकिंग के कारण आती है। इसलिए होंठ की देखभाल हमेशा करें और विटामिन-सी युक्त फलों का सेवन करें।
  • अगर आप लिपस्टिक का इस्तेमाल करती हैं, तो इसकी क्वॉलिटी पर ध्यान दें। कई बार लिपस्टिक की क्वॉलिटी अच्छी नहीं होने पर इसका नकारात्मक प्रभाव होंठ पर पड़ते हैं और होंठो के रंग में बदलाव के साथ-साथ होंठ बेजान भी हो जाते हैं।

होंठों का रंग बदलने का ट्रीटमेंट

होंठों का रंग बदलने के लिए या फिर बदले हुए होंठों का रंग को ठीक करने के लिए मौजूदा समय में मेडिकल ट्रीटमेंट उपलब्ध है। इस ट्रीटमेंट को आजमाकर समस्या से निजात पा सकते हैं। यदि होंठों का रंग दवा का सेवन करने की वजह से बदले तो ऐसे में आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। स्किन डिकलरेशन के लिए इन ट्रीटमेंट का किया जाता है इस्तेमाल, जैसे

  • लेजर थेरेपी
  • इंटेंस पल्स लाइट
  • क्रायोथेरेपी
  • फोटोडायनेमिक थेरेपी
  • सर्जरी
  • टॉपिकल मेडिकेटेड एजेंट

इन उपाय को आजमाकर कर सकते हैं बचाव

कारणों का पता करके होठों के बदले रंग को ठीक किया जा सकता है। इसके लिए आप चाहें तो होम स्किन सॉल्यूशन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप चाहें तो इन तरीकों को आजमा सकते हैं, जैसे

  • स्मोकिंग को छोड़कर : कई लोगों के लिए स्मोकिंग छोड़ना मुश्किन हो सकता है, लेकिन इसे छोड़कर आप होठों के रंग बदलने की समस्या से निजात पा सकते हैं। इसके लिए चाहें तो डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं।
  • सू्य की रौशनी में कम से कम संपर्क में आएं : होठों का रंग सूर्य की रौशनी में ज्यादा समय बिताने की वजह से भी हो सकता है, ऐसे में लोगों की कोशिश होनी चाहिए कि वो सूर्य की रौशनी के संपर्क में कम से कम आए। इसके लिए आपको होठों व चेहरे को सूर्य की रौशनी से बचाकर रखना चाहिए।

एक्सपर्ट की लें सलाह

यदि आपके होठों का रंग बदले तो बेहतर यही होगा कि आप डॉक्टर के साथ डेंटिस्ट की सलाह लें। यदि होठों का रंग बदलने की वजह से आपको सांस लेने में परेशानी हो रही है तो ऐसे में इमरजेंसी को संपर्क करना चाहिए और तत्काल डॉक्टरी परामर्श लेना चाहिए, क्योंकि यह कंडीशन जानलेवा भी हो सकता है।

चेहरे और शरीर के साथ-साथ होंठो को भी मॉश्चराइज करने की जरूरत पड़ती है। इसलिए ग्लिसरीन, विटामिन-ई और आलमंड ऑयल से आप अपने लिप्स को मॉश्चराइज कर सकती हैं और होंठो की नमी को बनाये रख सकती हैं। कभी-कभी किसी दवाओं के सेवन से भी होंठो के रंग में बदलाव आता है लेकिन, ये सिर्फ कुछ दिनों के लिए होता है। अगर आप परफेक्ट बर्थ पार्टनर बनने से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

What Causes Lip Discoloration and How Do You Treat It?/https://www.healthline.com/health/discolored-lips/ Accessed on 09/12/2019

Lip and Oral Cavity Cancer Treatment (Adult) (PDQ®)–Patient Version/https://www.cancer.gov/Accessed on 31/01/2020

6 Tips to Protect Your Lips from the Cold/https://health.clevelandclinic.org/Accessed on 31/01/2020

Blue skin and lips (cyanosis)/https://www.nidirect.gov.uk/Accessed on 31/01/2020

7 Tips for Beautiful Lips/https://www.shape.com/lifestyle/beauty-style/7-tips-beautiful-lips/Accessed on 31/01/2020

लेखक की तस्वीर
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/10/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड