बच्चों के साथ ट्रैवल करते हुए भूल कर भी न करें ये गलतियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

बच्चों के साथ ट्रैवल करना हर मां-बाप को पसंद तो होता है। लेकिन, यह भी जान लें कि सिंगल ट्रैवलिंग से बिल्कुल अगल अनुभव होता है। अकेले ट्रैवल करने में आप जितना फ्री महसूस करते हैं उतनी ही ज्यादा तैयारियां आपको बच्चों के साथ ट्रैवल करते समय करनी पड़ती हैं। बिना किसी तैयारी के बच्चों के साथ ट्रैवल करना न केवल बच्चों के लिए बल्कि पेरेंट्स के लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है। जब एक बच्चा आपका ट्रैवल पार्टनर होता है, तो आपके सामान की लिस्ट एक हजार गुना तक बढ़ सकती हैं। आपको हर छोटी चीज महत्वपूर्ण लगने लगती है और इससे पहले कि आपको पता चलें आपके पास सामान का ढ़ेर इकट्ठा हो चुका होता है।

और पढ़ें- ट्विन्स मतलब दोगुनी खुशी! पर कैसे करें जुड़वा बच्चों की देखभाल

ऐसे समय में आपके पास जरूरी सामान की एक ऐसी लिस्ट होनी चाहिए:

बच्चों के साथ ट्रैवल करते हुए डायपर रखना है जरुरी

डायपर को आपकी लिस्ट में सबसे जरूरी आइटम होना चाहिए। जितना लंबा सफर है उसके हिसाब से हर एक घंटे के लिए एक डायपर ले जाएं। इसके अलावा थोड़े एक्सट्रा डायपर रखें क्योंकि सफर के दौरान आपको हर कंडिशन के लिए तैयार रहना पड़ेगा। बच्चों के साथ ट्रैवल करते हुए आपके पास एक्सट्रा डायपर होना जरूरी है क्योंकि कई बार सफर के दौरान बच्चे का पेट खराब हो सकता है या और कोई परेशानी हो सकती है।

कॉम्पैक्ट डायपर चेंजिंग स्टेशन भी है जरूरी

यात्रा करते समय अपने बच्चे के डायपर को बदलने की कोशिश करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। डायपर बदलने के लिए चेंजिंग स्टेशन जिस पर बच्चे को रख कर डायपर बदला जा सके जो आपके और बच्चे के लिए आरामदायक साबित हो सकता है। डायपर चेंजिंग स्टेशन को आप मोड़ कर अपने बैग में रख सकते हैं। फ्लाईट या गाड़ी में सफर के दौरान बच्चों का डायपर बदलने के लिए डायपर चेंजिंग स्टेशन होने से आपको डायपर बदलने में आसानी होती है।

और पढ़ें: बच्चों के अंदर पनप रही नेगेटिविटी को कैसें करें हैंडल

बच्चों के साथ ट्रैवल करते हुए कंबल भी साथ रखें

बच्चों के साथ ट्रैवलिंग के दौरान कंबल ले जाना आपके लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। यह कंबल आपके बच्चे को लेटने में और अपने बच्चे को कवर करने के लिए या धूप लगने पर उसे ढ़कने के काम आ सकता है। ट्रेवल करते हुए कंबल रखना ना भूलें। कभी-कभार बच्चों को सफर के दौरान ज्यादा ठंड लगती है ऐसे में एक्सट्रा कंबल होना पेरेंट्स के लिए बेहतर विकल्प होता है।

फर्स्ट-एड किट भी न भूलें

अगर आपके बच्चे को ट्रैवलिंग के दौरान दर्द की शिकायत रहती है, तो लोशन, क्रीम और पेन कीलर साथ रखें। पहले से इन चीजों के लिए तैयार होने से आप किसी भी अप्रिय परेशानी के लिए तैयार होंगे। इसके अलावा अपने बच्चे के लिए सामान्य खांसी की दवाइयां लें (आम बीमारियों जैसे खांसी, जुकाम, दस्त आदि)। बच्चों के साथ ट्रेवल करते हुए अपना फर्स्ट-एड किट जरूर लेकर चलें। कई बार सफर के दौरान बच्चे अपने आप को घायल कर लेते हैं ऐसे में अपने पास प्रारंभिक इलाज होना जरूरी है।

और पढ़ें: बच्चों को खुश रखने के लिए फॉलो करें ये पेरेंटिंग टिप्स, बनेंगे जिम्मेदार इंसान

फ्रंट स्लिंग बच्चों के साथ ट्रैवल करते हुए जरुरी है

जब आप एक स्टेशन या टर्मिनल से दूसरे में यात्रा कर रहे हों तो फ्रंट स्लिंग का इस्तेमाल सबसे अच्छा और आसान तरीका है । यह आपके बच्चे को आपके करीब और सुरक्षित रखता है। बच्चे को ऐसे ले जाने में आपका हाथ खाली रहता है जिससे आप दूसरा सामान उठा सकते हैं। साथ ही सामने देखने में भी आपको आसानी होती है।

बच्चों के साथ ट्रैवलिंग में साथ रखें बेबी वाइप्स

आपको हर कंडीशन की तैयारी पहले से करनी होगी। ट्रैवल के दौरान कभी भी आपको किसी भी चीज की जरुरत हो सकती है। सफर के दौरान चाहें जो भी हो चीजों को हाइजीनिक रखना हमेशा आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए। इसलिए सफर में बेबी वाइप्स रखना आपके लिए मददगार साबित हो सकता है।

और पढ़ें: बच्चों को सताते हैं डरावने सपने, तो अपनाएं ये टिप्स

ट्रैवलिंग में बच्चे को खिलौने रखते हैं बिजी

कई बार सफर के शुरुआत से ही आपको नींद आने लगती है। लेकिन बच्चों के साथ ऐसा नहीं है। बच्चों के साथ ट्रैवल में ज्यादातर बच्चों को नींद नहीं आती उस समय बच्चों के खिलौने काम आते हैं। सफर के दौरान बच्चों के पसंदीदा सॉफ्ट फैदर खिलौने जरूर रखें।

बच्चों के साथ ट्रैवल कर रहे हैं तो इन बातों का भी रखें ध्यान

  • यात्रा से कुछ दिन पहले पैक करने की तैयारी शुरू करें। उन चीजों के बारे में सोचें, जो आप उनके बारे में सोचते हैं या टेबल या ड्रेसर पर रख सकते हैं।
  • एक वॉटर प्रूफ और कंधे का पट्टा के साथ डायपर बैग का उपयोग करें।
  • हवाई जहाज पर लिकी डायपर और बच्चे के थूक के लिए तैयार रहें। अपने बच्चे के लिए एक से दो अतिरिक्त कपड़े रखें। इसके अलावा अपने लिए भी एक्सट्रा टी-शर्ट रखें।
  • रि-यूजेबल प्लास्टिक बैग में दवाओं और टॉयलेटरीज को पैक करके लीक को रोकें।
  • अपने बच्चे के आउटफिट में से सभी को अलग-अलग के जिप किए गए प्लास्टिक बैग में पैक करें ताकि आपको छोटे मोजे, शर्ट और दूसरे कपड़े ढ़ूढ़ने के लिए परेशान ना होना पड़े।
  • अपना कैमरा, बैटरी चार्जर और एक अतिरिक्त मेमोरी कार्ड लें।
  • एक क्लिप-ऑन रीडिंग लाइट लें ताकि आप अपने बच्चे को परेशान किए बिना पढ़ सकें। सफर के दौरान डॉक्टर का नंबर हमेशा अपने पास रखें।

और पढ़ें: 3 साल के बच्चे का डाइट प्लान फॉलो करते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान

बच्चों के साथ ट्रैवल करते समय आपको कपड़ों और दूसरे जरूरी सामान के साथ उनके खाने-पीने का सामान भी पैक करना जरूरी है। बच्चों के साथ ट्रैवल करते वक्त बच्चों को कभी भी भूख लग सकती है। ऐसे में अगर आप टॉडलर्स के साथ सफर कर रही हैं तो आपके पास प्यूरी और दूसरे फूड आयटम होने चाहिए। कई बार बच्चे सफर के दौरान ज्यादा परेशान करते हैं और थोड़ी-थोड़ी देर में खाने की डिमांड करते हैं। ऐसे में आपके पास फूड आइटम होना जरूरी है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या बच्चों को ब्राउन राइस खिलाना चाहिए?

बच्चों को ब्राउन राइस खिलाने के क्या फायदे हो सकते हैं? क्या ब्राउन राइस और वाइट राइस में कोई समानता है? Brown rice in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग मई 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए घी : कब और कैसे दें, जानें बच्चों को घी खिलाने के फायदे

बच्चे के लिए घी आहार में शामिल करने से उसे कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। शिशु के आहार में घी का कैसे उपयोग करें। Desi ghee for children in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग मई 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

बच्चे का टूथब्रश खरीदते समय किन जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए?

बच्चे का टूथब्रश खरीदने से पहले आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ब्रिसल्स सॉफ्ट होने चाहिए और बच्चे के ब्रश का सिरा छोटा होना चाहिए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग मई 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान पेरेंट्स को डिसिप्लिन का तरीका बदलने की है जरूरत

लॉकडाउन में पेरेंटिंग टिप्स: लॉकडाउन को 42 दिन हो चुके हैं। घर में कैद बच्चे मानसिक रोग के शिकार हो रहे हैं। एक्सपर्ट्स ने बताया बच्चों का कैसे रखें ख्याल?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona narang
कोविड-19, कोरोना वायरस मई 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

गर्भावस्था के दौरान चीज खाना चाहिए या नहीं जानिए

क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स कौन से हैं जानिए

बच्चों में जिद्दीपन: क्या हैं इसके कारण और उन्हें सुधारने के टिप्स?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर व पेरेंटिंग हैक्स और बॉडी इमेज - Parenting Hacks, Self Care for New Moms, Body Image

न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर व पेरेंटिंग हैक्स और बॉडी इमेज

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
बच्चों के लिए पिता का प्यार-pita ka pyar father's day

Father’s Day: बच्चों के लिए पिता का प्यार भी है जरूरी, इस तरह बच्चे के साथ बनाएं अच्छे संबंध

के द्वारा लिखा गया Bhawana Sharma
प्रकाशित हुआ जून 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें