home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

यह हेल्दी स्नैक्स आपके बच्चों को पोषण के साथ देंगे एनर्जी भी!

यह हेल्दी स्नैक्स आपके बच्चों को पोषण के साथ देंगे एनर्जी भी!

बच्चे के खाने पीने में कितने नखरे होते हैं, यह बात बस एक पेरेंट्स ही अच्छे से समझ सकते हैं। अक्सर माओं की सबसे बड़ी चिंता यही होती है कि वह अपने बच्चे को खिलाएं क्या?, जिससे उसे हेल्दी रहने के लिए सभी जरूरी पोषक तत्व मिल सके। बच्चों के विकास के लिए उनका अच्छा खानपान बहुत जरूरी है, लेकिन अक्सर बच्चे हेल्दी फूड की जगह जंक फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं। जिसका असर उनके विकास और स्वास्थ्य दोनों पर ही पड़ता है। तो माओं कि इसी चिंता को दूर करने के लिए आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे ही हेल्दी टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) के बारे में, जो कि सब्जियों, ड्राय फ्रूट्स और कई पोषक तत्वों से बने हैं। जिन्हें आप स्नैक्स के रूप में बच्चे को आसानी से दिया जा दिया जा सकता है। आइए जानते हैं हम कुछ ऐसे ही टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) के बारे में:

और पढ़ें:जानिए टॉडलर्स और प्रीस्कूलर्स बच्चों के स्वास्थ्य और देखभाल के बारे में

14 हेल्दी टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) – जो न्यूट्रिशन से भरपूर हैं!

अगर आपका बच्चा रोज खाने में करता है परेशान और उसकी है जंक फ़ूड की डिमांड, तो आप उनकी डायट में इस तरह के हेल्दी सैक्स शामिल हैं। इनकी खास बात ये है की यह टेस्टी के साथ हेल्दी भी है। इनकी सबसे खास बात ये है कि इसमें इस्तेमाल की जाने वाली सभी सामग्री कई पोषक तत्वों से भरपूर है। जानिए टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) बारे में:

दही (Yogurt)

किड्स न्यूट्रिशन की बात करें तो दही बच्चों के लिए काफी फायदेमंद होता है, क्योंकि यह कैल्शियम का अच्छा सोर्स है। कैल्शियम बच्चों की हड्डी के लिए बहुत जरूरी होता है। इसमें प्रोबायोटिक बैक्टीरिया पाया जाता है, जोकि पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। बच्चों के स्वादानुसार बाजार में कई फ्लेवर कर्ड भी उपलब्ध हैं, जैसे अलग-अलग फ्रूट फ्लेवर : बनाना फ्लेवर, मैंगो फ्लेवर, ब्लूबेरी और हनी फ्लेवर आदि। जिसे वो आसानी से खा लेते हैंl लेकिन 12 महीने से कम उम्र वाले शिशुओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। नहीं तो इससे उनको कई प्रकार के कई सीरियस इंफेक्शन हो सकते हैं। उनके लिए सादी दही ज्यादा फायदेमंद होती है।

और पढ़ें:जानें इस इंटरव्यू में कि ऑटिस्टिक बच्चे की पेरेटिंग में क्या-क्या चैलेंजस होते हैं

ओट्स (Oats)

ओट्स से बने स्नैक्स बच्चे के लिए बहुत हेल्दी रहते हैं। यह पाचन में तो आसान होता ही है, साथ ही इसमें कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बच्चे की ग्रोथ में मदद करते हैं, जैसे कि फाइबर की उच्च मात्रा। ओट्स, आप बच्चे को कई रूपों में दे सकते हैं, जैसे कि बिस्कुट, चीला और ओट्स से बनी पापड़ी चाट और और से बना उपमा आदि। इसके अलावा आप टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) में ओट्स को मिक्सी में पीसकर उससे उपमा बना सकते हैं। इस तरह के स्नैक्स बच्चे को बेहद ही पसंद आते हैं। ओट्स मैं कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है, जो बच्चे के विकास में मददगार है।

और पढ़ें:स्मार्ट पेरेंटिंग के ये टिप्स अपनाकर बन जाएं सुपर पेरेंट

चीज (Cheese)

चीज़ बच्चों को खाने में कितनी पसंद होती है, यह बात सभी जानते हैं। पर अक्सर पेरेंट्स इसे जंक फूड समझकर, बच्चों को खाने के लिए मना करते हैं। पर क्या आपको पता है कि चीज में कई हेल्थ बेनिफिट्स छुपे होते हैं, जैसे कि इसमें प्रोटीन, कैल्शियम के अलावा कुछ गुड फैट भी पाए जाते हैं। यह डेयरी मिल्क प्रोडक्ट्स बच्चों के विकास में लाभकारी हैं। इसके अलावा इसमें मैग्नीशियम, विटामिन ए और विटामिन बी 12 की भी मात्रा पाई जाती है। आप बच्चे को चीज़ से बने कई स्नैक्स दे सकते हैं, जैसे कि चीज़ से बने सैंडविच या रोल आदिl जिसके लिए आप रोटी का बेस लेकर उसके अंदर सब्जियों की स्टफिंग और चीज़ ग्रेट करके यह रोल तैयार कर सकते हैं। यह बच्चे के लिए अच्छा और हेल्दी स्नैक्स है ।

और पढ़ें:बच्चों में यह लक्षण हो सकते हैं टाइप 2 डायबिटीज का संकेत, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी!

वेजी पीठा पॉकेट (Veggie Petha Pocket)

अक्सर बच्चे सब्जियां खाने में नाटक करते हैं। तो ऐसे में माओ की सबसे बड़ी टेंशन यही होती है कि उनके खाने में यह सब्जियां शामिल कैसे की जाए। तो इसके लिए आप वेजी पीटा पॉकेट बनाकर के भी उन्हें सकते हैं। जोकि सभी प्रकार की हल्दी सब्जियों (Green Vegetables)से बना होता है। इसमें इस्तेमाल की जाने वाली सब्जियां गाजर, खीरा, लेट्यूस और शिमला मिर्च आदि शामिल है। इसमें आप बच्चे की पसंद की और भी कई सब्जियों को शामिल कर सकते हैं। इसमें स्वाद के लिए आप टोमेटो सॉस, ब्लैक पेपर और चीज़ आदि भी शामिल कर सकते हैं। इन सब्जियों में सभी जरूरी विटामिन शामिल होते हैं, जो बच्चों के विकास के लिए बेहद मददगार है। इन सब्जियों के स्टफिंग को आप समोसे की तरह फिल करके या ब्राउन ब्रेड पर पिज़्ज़ा की तरह बना कर दे सकते हैं।

फ्रूट स्मूदी (Fruit Smoothie)

वैसे तो बच्चे फल खाने से दूर भागते हैं, पर इसे स्मूदी के रुप में ड्रिंक की तरह बनाकर दे सकते हैंl ये बच्चों को पसंद भी आता है । तो आप फलों से बनी विभिन्न प्रकार की स्मूदी या शेक भी तैयार कर सकते हैं, जैसे कि मैंगो शेक बनाना शेक या मिक्स फ्रूट शेक बनाकर दे सकते हैं । लेकिन, ध्यान रखें की इस मिक्स फ्रूट शेक में चीनी का इस्तेमाल करें । ताकि यह बच्चों के लिए हेल्दी बना रहे। इसमें डेकोरेशन के लिए आप नाट्स और चेरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह सभी इनग्रेडिएंट्स बच्चे के हेल्थ बेनिफिट से जुड़े हुए हैं।

टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks)

और पढ़ें: पेरेंटिंग का तरीका बच्चे पर क्या प्रभाव डालता है? जानें अपने पेरेंटिंग स्टाइल के बारे में

बॉयल्ड एग टोस्ट (Boiled Eggs Toast)

हम सभी को पता है कि अंडे में कितने जरूरी न्यूट्रिशन होते हैं। इसमें प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा, इसमें ओमेगा फैटी एसिड, विटामिन B12 (vitamin b12), सेलेनियम (Selenium) और कई जरूरी मिनरल्स भी मौजूद होते हैं, जो बच्चे के विकास में काफी मददगार है। तो बच्चे की खानपान में, खास तौर पर उसकी दिमागी विकास के लिए अंडे जरूर शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप बॉयल एग को थोड़ा सा डेकोरेट कर के और टोस्ट को फेस शेप में कट और डेकोरेट कर के सर्व करें।

बनाना ओट कुकीज (Banana oat cookies)

टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) में में घर पर ही बच्चों के लिए बनाना ओट कुकीज तैयार किया जा सकता है । इसके लिए लिए आप ओट्स का पाउडर (oats Powder) बनाकर, उसमें लास्ट थोड़ा सा शहद, मक्खन, ड्राय फ्रूट और मैश्ड केला डालकर मिश्रण तैयार केर लें और फिर उसकी कुकीज तैयार कर लें । यह काफी हेल्दी है और बच्चे के शरीर में एनर्जी बनाए रखने में भी मददगार है। इसमें चीनी का इस्तेमाल ना करें, क्योंकि इससे बच्चे के लिए हेल्थ रिस्क बढ़ सकते हैं। खासतौर पर डायबिटीज या ओबेसिटी के शिकार बच्चों के लिएl इसमें कई तरह विटामिन पाए जाते हैं, जो बच्चे की ग्रोथ के लिए बहुत जरूरी है।

बेक्ड स्वीट पोटैटो फ्रॉइज (Baked sweet potato fries)

अगर हम बच्चों के टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) की बात केर रहे हैं हैं तो उसमें बेक्ड स्वीट पोटैटो भी शामिल कर सकते हैं। यह खाने में जितना टेस्टी होता है,उतना ही न्यूट्रिशन से भरा भी होता है। इसमें विटामिन ए (Vitamin a) की अच्छी मात्रा पाई जाती है और इसे घर पर आसानी से तैयार भी किया जा सकता है।

केल चिप्स (Kale chips)

जैसा कि केल को एक सुपरफूड माना जाता है और इसमें विटामिन-ए (Vitamin A), विटामिन सी (Vitamin C), शामिल होता है। जो कि एक बच्चे के लिए बहुत ही जरूरी न्यूट्रिशन है, तो केल के डिफरेंट स्नैक्स बनाकर भी उन्हें दे सकती हैं, जैसे कि केल का चिप्स। यह बनाने में भी काफी आसान है और कई हेल्थी गुणों से भरपूर भी है।
और पढ़ें:पेरेंटिंग के बारे में क्या जानते हैं आप? जानिए अपने बच्चों की परवरिश का सही तरीका

कैरट स्टिक विद हम्मस (Carrot sticks and hummus)

वैसे बच्चों को अगर सैलेड खाने के लिए कहा जाए, खासतौर पर गाजर के लिए, तो जल्दी तैयार नहीं होंगे। तो ऐसे में आप उन्हें गाजर खिलाने के लिए, गाजर की स्टिक को हम्मस के साथ सर्व कर सकती हैं। क्रीम फ्लेवर वाला हम्मस को घर पर भी मूंगफली के दानों से भी तैयार किया जा सकता है। जिसमें फाइबर, फोलेट और एंटीऑक्सीडेंट शामिल हैं।

सूजी का चीला (Sooji Cheela)

टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) में सूजी बच्चे के लिए सबसे ज्यादा हेल्दी माना जाता है। यह खाने में हेल्दी, पचाने में आसान और कई पोषक तत्वों से भरपूर है। आप सूजी के मिश्रण में कई तरह की चॉप्ड सब्जियों डालकर उसका चीला भी बना सकते हैं। इसके अलावा, सूजी और सब्जियों की इडली भी बना कर दे सकते हैं। इस तरह के टॉडलर स्नैक्स बच्चों को खाने में पसंद भी आते हैं और हल्दी भी होते हैं।

स्टीम ढोकला (Steam Dhokla)

स्टीम ढोकला अधिकतर लोग पसंद करते हैं और यह बच्चों को भी पसंद आता है। जैसा कि ढोकला बेसन से बना होता है, इसमें प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है । इसी के साथ इसमें मैग्नीशियम (Magnesium), पोटेशियम और फास्फोरस जैसे गुण भी होते हैं। तो कभी-कभी आप बेसन का ढोकला भी बनाकर दे सकते हैं।

चाइनीज कैबेज रोल (Chinese cabbage roll)

जैसा कि चाइनीज के अधिकतर बच्चे दीवाने होते हैं। लेकिन यह बच्चों को नुकसान करता है। इसलिए आप इसे ट्विस्ट केर के कुछ हल्दी रूप में बना सकते हैं। इस में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्रियों की बात करें, तो इसमें आप स्प्रिंग अनियन, शिमला मिर्च, गाजर, सोया सॉस और अदरक इन सब चीजों का इस्तेमाल करके स्टफिंग बना लें। फिर इसे पत्ता गोभी के पत्ते में रैप कर के बना लें । इसमें आप अजीनोमोटो का इस्तेमाल ना करें। इसमें पोटैशियम सोडियम और पोती की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसमें आप चिकन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कॉर्न टार्ट (Corn Tart)

टॉडलर स्नैक्स

वैसे कॉर्न टार्ट बनाने के लिए मैदे का इस्तेमाल किया जाता है, पर बच्चों को हेल्दी स्नैक्स (Healthy Snacks) के रूप में देने के लिए आप इसमें मैदे की जगह कॉर्न यानी कि मक्के के आटे का इस्तेमाल करें। जोकि फाइबर के गुणों से भरपूर होता है और पाचन में भी आसान होता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है ।

आपने यहां पर विभिन्न प्रकार के टॉडलर स्नैक्स (Toddler Snacks) के बारे में जाना। इसे घर पर तैयार पूरे हायजीन के साथ तैयार कर सकते हैं। लेकिन यह ये बच्चों के लिए तभी तक हेल्दी है, जबतक कि इसमें अधिक ऑयल या शुगर का इस्तेमाल ना करें। अगर बच्चा ओबेसिटी शिकार या डायबिटीज पेशेंट है, तो आप इसे डॉक्टर की सलाह पैर हे दे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 08/07/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड