आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Morning Bloating: जानिए मॉर्निंग ब्लोटिंग के 13 कारण!

    Morning Bloating: जानिए मॉर्निंग ब्लोटिंग के 13 कारण!

    पेट की छोटी सी छोटी तकलीफ परेशान कर देती है। ऐसे में जरा सोचिये अगर सुबह उठते ही ब्लोटिंग की समस्या शुरू हो जाए तो क्या होगा? मॉर्निंग ब्लोटिंग के कारण अलग-अलग हो सकते हैं और उन कारणों को समझकर सुबह-सुबह पेट फूलने या गैस की समस्या को दूर भी किया जा सकता है। इसलिए आज इस आर्टिकल में मॉर्निंग ब्लोटिंग (Morning Bloating) से जुड़े सवालों का जवाब जानेंगे।

    • ब्लोटिंग या मॉर्निंग ब्लोटिंग क्या है?
    • मॉर्निंग ब्लोटिंग के कारण क्या हैं?
    • ब्लोटिंग की समस्या हमेशा महसूस होने के कारण क्या हो सकते हैं?
    • मॉर्निंग ब्लोटिंग की समस्या को कैसे दूर करें?
    • डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है?

    चलिए अब ब्लोटिंग एवं मॉर्निंग ब्लोटिंग से जुड़े इन सवालों का जवाब जानेंगे।

    और पढ़ें : पेट दर्द और जी मिचलाना (Stomach Pain and Nausea): जानिए इसके 9 सामान्य एवं 4 गंभीर कारणों को!

    ब्लोटिंग या मॉर्निंग ब्लोटिंग (Bloating or Morning Bloating) क्या है?

    जानिए मॉर्निंग ब्लोटिंग (Morning Bloating)

    अनहेल्दी लाइफस्टाइल, अनहेल्दी डायट, टेंशन एवं किसी-किसी दवाओं के नियमित सेवन से ब्लोटिंग की समस्या शुरू हो सकती है। ब्लोटिंग को पेट फूलना या पेट में सूजन की समस्या के नाम से भी जाना जाता है। अब ब्लोटिंग को अगर सामान्य शब्दों में समझा जाए, तो जब खाना खाने के बाद स्मॉल इंटेस्टाइन यानी छोटी आंत में गैस भर जाए तब ब्लोटिंग की स्थिति शुरू हो सकती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ब्लोटिंग का संबंध डायजेस्टिव सिस्टम (Digestive system) से होता है। इसलिए अगर पेट से जुड़ी इस समस्या को इग्नोर किया जाए तो अन्य गंभीर बीमारियों का रास्ता साफ हो सकता है और आपकी शारीरिक तकलीफ बढ़ सकती है। वहीं मॉर्निंग ब्लोटिंग (Morning Bloating) की समस्या विशेष रूप से रात के वक्त ज्यादा खाने एवं अन्य वजहों से हो सकती है। आर्टिकल में आगे मॉर्निंग ब्लोटिंग (Morning Bloating) के कारणों को समझेंगे।

    और पढ़ें : Nervous Stomach: कहीं नर्वस स्टमक का कारण तनाव तो नहीं? क्यों हो सकता स्टमक नर्वस?

    मॉर्निंग ब्लोटिंग के कारण क्या हैं? (Cause of Morning Bloating)

    मॉर्निंग ब्लोटिंग के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    1. जरूरत से ज्यादा खाना खाना (Eating a large meal)।
    2. सोने से ठीक पहले ज्यादा खाना खाना (eating Right before bedtime)।
    3. तेजी से खाने के कारण पेट में हवा (Swallowing air from eating too fast) जाना।
    4. खाने के बाद तुरंत लेट (Lying down soon after eating) जाना।
    5. सोडा (Soda) या अन्य कार्बोनेटेड बेवरेज (Carbonated beverages) का सेवन करना।
    6. एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन ज्यादा करना।
    7. फाइबर (Fiber) का सेवन ज्यादा करना या फाइबर सप्लिमेंट्स (Fiber supplements) का सेवन करना।
    8. वैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना जिनके सेवन से गैस (Gas-causing foods) की समस्या होना।
    9. नमक (Salt) या ज्यादा सोडियम वाले फूड (Sodium-rich foods) का सेवन करना।
    10. चीनी (Sugar) का सेवन करना।
    11. आर्टिफिशियल स्वीटनर (Artificial sweeteners) का सेवन करना।
    12. पानी (Water) का सेवन कम करना।
    13. मेंस्ट्रुएशन (Menstruation) होना।

    ये ऊपर बताई गई कारण या स्थितियां मॉर्निंग ब्लोटिंग के कारण में शामिल है। वहीं कुछ लोगों में सुबह उठते ही ब्लोटिंग की समस्या पूरे दिन बनी रहती है।

    ब्लोटिंग की समस्या हमेशा महसूस होने के कारण क्या हो सकते हैं? (Cause of Bloating)

    ब्लोटिंग की समस्या अगर हमेशा महसूस हो, तो ऐसी स्थिति किसी बीमारी की दावत दे सकती है या किसी बीमारी के कारण भी ऐसा हो सकता है। यू.एस. डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड ह्यूमन सर्विसेस (U.S. Department of Health and Human Services) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार पेट फूलने की समस्या अगर हमेशा महसूस हो, तो ऐसा असाइटिस एवं ट्यूमर (Ascites and tumors), सीलिएक डिजीज (Celiac disease), डम्पिंग सिंड्रोम (Dumping syndrome), ओवेरियन कैंसर (Ovarian cancer) या कोई अन्य गंभीर बीमारी भी हो सकती है। इसलिए पेट फूलने की समस्या को इग्नोर ना करें और डॉक्टर से सलाह लें।

    मॉर्निंग ब्लोटिंग की समस्या को कैसे दूर करें? (Tips to reduce Morning Bloating)

    सुबह-सुबह पेट फूलने या गैस की समस्या अगर बदलते डायट पैटर्न एवं अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण है, तो ऐसी स्थिति में कुछ बातों को ध्यान में रखकर मॉर्निंग ब्लोटिंग की समस्या से बचने में मदद मिल सकती है। जैसे:

    • खान-पान में बदलाव (Dietary changes)- सुबह उठते ही ब्लोटिंग की समस्या को दूर करने के लिए हेल्दी डायट फॉलो करना जरूरी है। इसलिए अगर बीन्स (Beans), क्रूसिफेरस वाली सब्जियां (Cruciferous vegetables) और फलियां (Legumes) को आहार में शामिल ना करें। कुछ केसेस में डेयरी प्रॉडक्ट्स (Diary products) भी सुबह पेट फूलने का कारण माना गया है। इसलिए डेयरी प्रॉडक्ट्स का सेवन ना करें। वहीं नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार नमक या ज्यादा सोडियम वाले खाद्य पदार्थों का सेवन भी नहीं करना चाहिए।
    • हर्बल टी (Herbal tea) का सेवन- मॉर्निंग ब्लोटिंग की समस्या को दूर करने के लिए हर्बल टी जैसे सौंफ (Fennel), कैमोमाइल (Chamomile), धनिया (Coriander), पुदीना (Peppermint) एवं हल्दी (Turmeric) वाली चाय का सेवन किया जा सकता है।
    • नियमित एक्सरसाइज (Regular exercise) करना- रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार डायजेस्टिव सिस्टम (Digestive system) को स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए एवं ब्लोटिंग की समस्या को कम करने के लिए रोजाना एक्सरसाइज करना जरूरी है। वहीं खाना खाने के बाद 10 से 15 मिनट तक वॉक (Walk) करने से भी लाभ मिल सकता है।
    • डायजेस्टिव इन्जाइम्स (Digestive enzymes)- कुछ लोगों में जीआई ट्रैक्ट (GI Tract) में एन्जाइम्स की कमी होती है। ये वो एन्जाइम्स होते हैं, जो खाने के ब्रेक कर उससे नुट्रिएंट्स को निकालने में सक्षम होते हैं। इसलिए जिन लोगों में नैचुरली एन्जाइम्स की कमी होती है उनमें मालन्यूट्रिशन (Malnutrition), पेट फूलने की समस्या (Bloating) या अन्य डायजेस्टिव प्रॉब्लेम देखे जा सकते हैं। इसलिए ऐसी स्थिति में डॉक्टर डायजेस्टिव इन्जाइम्स सप्लिमेंट्स (Digestive enzyme supplements) के सेवन की सलाह दे सकते हैं।

    इन बातों को ध्यान में रखकर और इन्हें फॉलो कर सुबह उठते ही ब्लोटिंग की समस्या को दूर करने में मदद मिल सकती है। हालांकि अगर इन उपायों से ब्लोटिंग की समस्या दूर ना हो तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।

    और पढ़ें : Leaky Gut: जानिए लीकी गट डायट प्लान में किन 13 चीजों को शामिल करना चाहिए और किन 9 चीजों से दूरी बनानी चाहिए!

    डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है? (Consult Doctor if-)

    निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है। जैसे:

    • जी मिचलाने (Nausea) की समस्या होना।
    • उल्टी (Vomiting) होना।
    • क्रोनिक डायरिया (Chronic diarrhea) की समस्या होना।
    • स्टूल से ब्लड (Bloody stool) की समस्या होना।
    • बिना कारण वजायना से ब्लीडिंग (Unusual vaginal bleeding) की समस्या होना।
    • सीने में जलन (Heartburn) की समस्या अत्यधिक होना।
    • तेज बुखार (High fever) होना।
    • बिना कारण वजन कम (Weight loss) होना।

    अगर ऐसी स्थिति बन रही है या इनमें से कोई भी परेशानी आप महसूस करते हैं तो डॉक्टर से जल्द से जल्द कंसल्ट करना चाहिए।

    अगर आप ब्लोटिंग और गैस से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे। अगर आप पेट की सूजन या ब्लोटिंग एवं गैस की समस्या (Bloating And Gas problem) से पीड़ित हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

    कॉन्स्टिपेशन (Constipation) कई बीमारियों को दावत देने में सक्षम है। इसलिए स्वस्थ रहने का राज छिपा है नियमित योगासन में। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और योग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों को समझें और अपने दिनचर्या में इसे शामिल करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Abdominal bloating/https://medlineplus.gov/ency/article/003123.htm/Accessed on 18/05/2022

    Causes and signs of edema/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK279409/Accessed on 18/05/2022

    Your Digestive System & How it Works/https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/digestive-system-how-it-works/Accessed on 18/05/2022

    Management of Chronic Abdominal Distension and Bloating/https://www.cghjournal.org/article/S1542-3565(20)30433-X/fulltext/Accessed on 18/05/2022

    Effect of cumin powder on body composition and lipid profile in overweight and obese women/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/25456022/Accessed on 18/05/2022

    Cumin Extract for Symptom Control in Patients with Irritable Bowel Syndrome: A Case Series/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3990147/Accessed on 18/05/2022

    Fiber and Prebiotics: Mechanisms and Health Benefits/
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3705355/Accessed on 18/05/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: