home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लक्षण, कारण और क्या हैं उपाय?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लक्षण, कारण और क्या हैं उपाय?

सीने में जलन, खाने की इच्छा ना होना या सांस लेने में परेशानी महसूस होना… इन परेशानियों को हम तो बयां कर देते हैं, लेकिन जरा बच्चों का सोचिए! क्या हुआ नहीं समझें? … सीने में जलन, खाने की इच्छा ना होना या सांस लेने में परेशानी एसिड रिफ्लक्स की ओर इशारा करते हैं। हमें यह परेशानी हो, तो हम बता सकते हैं कि क्या तकलीफ है, लेकिन शिशुओं को अगर सीने में जलन, खाने की इच्छा ना होना या सांस लेने में परेशानी हो, तो वे बता नहीं सकते हैं। वो कहावत हैं ना ‘बीमारी तो ना उम्र देखती है और ना ठिकाना! एसिड रिफ्लक्स का भी यही कुछ हाल है। यह समस्या बड़ों में होने के साथ-साथ शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) की समस्या भी होती है। अब समस्या है, तो इसका समाधान भी ढुंढ लेंगे, क्योंकि ये आपके लाडले या लाडली के सेहत की बात जो है।

और पढ़ें : Digestive Health Issues : जानिए क्या है पाचन संबंधी विकार और इससे जुड़ी खास बातें

आज इस आर्टिकल में शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स से जुड़ी पूरी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे।

  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स क्या है?
  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लक्षण क्या हैं?
  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के कारण क्या हैं?
  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स का निदान कैसे किया जाता है?
  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स का इलाज कैसे किया जाता है?
  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लिए घरेलू उपाय क्या हैं?

चलिए आर्टिकल में आगे बच्चों में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) से जुड़े इन ऊपर बताये सवालों का जवाब जानने की कोशिश करते हैं। इस आर्टिकल में नवजात शिशुओं और बच्चों दोनों के एसिड रिफ्लक्स से जुड़ी जानकरी आपसे शेयर करें।

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) क्या है?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants)

बड़ों में एसिड रिफ्लक्स की समस्या या हो शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स को गैस्ट्रोइसोफेगल रिफलक्स की समस्या दोनों को ही गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal Reflux Disease [GERD]) के नाम से जाना जाता है। बच्चों में एसिड रिफ्लक्स होने पर पेट में मौजूद पदार्थ फूड पाइप की मदद से ऊपर की ओर आने लगती है। ऐसी स्थिति होने पर जलन (Burning), उल्टी (Vomiting) या कोई अन्य परेशानी शिशुओं को परेशान करने लगती हैं, जिसे गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal Reflux Disease [GERD]) कहते हैं, जो शिशु के शारीरिक स्वास्थ्य (Baby’s health) खराब करने में और पेरेंट्स की टेंशन (Parent’s tension) बढ़ाने के लिए काफी है। हालांकि अगर पेरेंट्स लक्षणों पर ध्यान दें, तो शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) को आसानी से समझा जा सकता है।

और पढ़ें : लौंग से केले तक, ये 10 चीजें हाइपर एसिडिटी (Hyperacidity) में दे सकती हैं राहत

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Acid Reflux in Infants)

बच्चों में एसिड रिफ्लक्स के लक्षण इस प्रकार हैं-

  • शिशु के सीने में जलन (Burning) होना।
  • खाने की नली में जलन होना।
  • शिशु को बार-बार खांसी (Coughing) आना।
  • शिशु का खाना ठीक तरह से ना निगल पाना।
  • बच्चे का चिड़चिड़ा होना।
  • शिशु को बार-बार उल्टी (Vomiting) होना।
  • शिशु का दूध ना पीना।
  • शिशु के सांस लेने के दौरान घरघराहट सुनाई देना।
  • शिशु का वजन कम होना।
  • खाने-पीने के दौरान बच्चे का पीठ मोड़ना।
  • शिशु का अत्यधिक रोना

ये लक्षण शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स की ओर इशारा करते हैं। अगर आपके शिशु को इनमें से कोई भी परेशानी हो रही है, तो इग्नोर ना करें और डॉक्टर को इसकी जानकारी दें। बच्चों में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in babies) होने की कई वजह भी हो सकती है, जिसे जानना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें : गट से जुड़ी हैं ऐसी-ऐसी बीमारियां, जो आपके दरवाजे पर कभी भी दस्तक दे सकती है!

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के कारण क्या हैं? (Cause of Acid Reflux in Infants)

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बच्चों में लोअर एसोफेगल स्फिंक्टर मांसपेशी पूरी तरह से डेवलप नहीं होती है और यही शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) का मुख्य कारण माना जाता है। इसके अलावा बच्चों में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं-

  • बच्चे के वजन जरूरत से ज्यादा होना।
  • शिशु को जन्म से ही हार्ट डिजीज (Heart disease) होना
  • गेस्ट्रोइन्टस्टाइनल ट्रेक्ट (Gastrointestinal tract) से जुड़ी समस्या।
  • शिशु को जन्म से ही डायाफ्रेग्मेटिक (Diaphragmatic) की समस्या होना (पेट की ऊपरी भाग की मांसपेशियां सामान्य से कम पतली होना)।
  • बच्चे का पेट के बल ज्यादा सोना या लेटना।
  • बच्चे को एसिडिक फूड (Acidic foods) खिलाना।
  • बच्चे को ऑयली फूड्स (Oily foods) देना।
  • बच्चे को कैफीनेटेड (Caffeinated) ड्रिंक्स देना।

ये कारण भी बच्चों में शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के हो सकते हैं। हालांकि ऐसा नहीं है कि बच्चे में एसिड रिफ्लक्स की तकलीफ को दूर नहीं किया जा सकता। अगर बच्चों में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) के लक्षण समझ आते हैं, तो डॉक्टर टेस्ट करवाने (Body checkup) की सलाह देते हैं और फिर बच्चे की हेल्थ कंडिशन (Health condition) को ध्यान में रखते हुए इलाज भी शुरू की जाती है।

और पढ़ें : शिशुओं में रेस्पिरेटरी सिंसिशल वायरस (RSV) : सामान्य सर्दी-जुकाम समझने की न करें गलती!

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Acid Reflux in Infants)

बच्चों में गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज का निदान निम्नलिखित तरह से किया जाता है-

  • शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के निदान के लिए डॉक्टर सबसे पहले बच्चे की हेल्थ कंडिशन (Health condition), मेडिकल हिस्ट्री (Medical history) और लक्षणों के बारे में पेरेंट्स से बात करते हैं। इस दौरान बच्चे के खान-पान, सोने का तरीका और उनकी एक्टिविटी से जुड़ी सभी बातों को बारीकी से समझते हैं और फिर शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स को कैसे कम किया जाए यह सलाह देते हैं।

आवश्यकता पड़ने पर शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लिए टेस्ट की सलाह दी जाती है, जो इस प्रकार हैं-

  • अपर जीआई सीरिज (Upper GI series)- इस टेस्ट के दौरान बच्चे को कुछ खिलाया जाता है, जिसमें लिक्विड फॉर्म में बेरियम भी दी जाती है। इस दौरान बेरियम को एक्स-रे (X-Ray) की मदद से ट्रैक किया जाता है।
  • एसोफेगल पीएच और इम्पीडेन्स मॉनिटरिंग (Esophageal pH and impedance monitoring)- इस टेस्ट की मदद से बच्चे के पेट में बनने वाले एसिड की जांच की जाती है। इस टेस्ट के दौरान एक फ्लैक्सिबल ट्यूब को शिशु की नाक से फूड पाइप में डाली जाती है।
  • अपर गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (जीआई) एंडोस्कोपी और बायोप्सी (Upper gastrointestinal (GI) endoscopy and biopsy)- एंडोस्कोप की मदद से यह टेस्ट किया जाता है। इस टेस्ट के दौरान भी एक फ्लैक्सिबल ट्यूब की मदद ली जाती है और इस ट्यूब के एक छोर पर एक छोटा टॉर्च और कैमरा लगा होता है, बच्चे के एसोफेगल, पेट और स्मॉल इंटेस्टाइन (Small intestine) में मौजूद एसिड की जानकारी ली जाती है। अगर जरूरत पड़ी, तो बायोप्सी भी की जा सकती है।

बच्चों में गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GERD) के डायग्नोसिस के लिए ये अलग-अलग टेस्ट किये जा सकते हैं।

और पढ़ें : क्यों नवजात शिशुओं को ज्यादा परेशान करती है हायपरविस्कोसिटी सिंड्रोम की समस्या?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Acid Reflux in Infants)

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स होने पर निम्नलिखित तरह से इलाज किया जाता है। जैसे:

  • एच2 (H2) ब्लॉकर्स- यह दवा तब प्रिस्क्राइब की जा सकती है, जब बच्चे के पेट में एसिड ज्यादा बनने लगता है। एच2 (H2) ब्लॉकर्स एसिड ना बनने में मददगार होते हैं।
  • प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर (PPIs)- अगर बच्चे के पेट में एसिड का फॉर्मेशन ज्यादा होता है, तो प्रोटॉन पंप इन्हिबिटर प्रिस्क्राइब की जा सकती है।

नोट: इन दवाओं की जानकारी सिर्फ समझने के लिए दी गई हैं। आप अपनी मर्जी से बच्चों को इन दवाओं का सेवन ना करवाएं। इससे बच्चे की साइड इफेक्ट्स हो सकती है। प्रिस्क्रिप्शन में बताये अनुसार ही दवा की डोज शिशु में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Babies) को कम कर सकती हैं। अगर आप चाहें, तो बच्चे में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Babies) के लिउए घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

और पढ़ें : बच्चे के शरीर में प्रोटीन की कमी पर सकती है भारी, ना करें इन संकेतों को अनदेखा

आप शिशु की देखभाल कैसे करते हैं? नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और जानिए बेबीज हेल्थ केयर आप ठीक तरह से करते हैं या नहीं, क्योंकि बच्चे यह बच्चे की सेहत की बात है।

और पढ़ें : Premature Baby Weight: आखिर कितना होता है प्रीमैच्योर बेबी का वजन? क्या जानते हैं आप?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लिए घरेलू उपाय क्या हैं? (Home remedies to avoid Acid Reflux in Babies)

बच्चों में एसिड रिफ्लक्स की समस्या ना हो, इसलिए निम्नलिखित घरेलू उपाय किये जा सकते हैं। जैसे:

  • बच्चों को दूध पिलाने के बाद बच्चे को सीधा खड़ा करें।
  • जरूरत से ज्यादा ब्रेस्टफीडिंग या फॉर्मूला फीडिंग ना करें।
  • शिशु को एक बार में दूध पिलाने से बेहतर होगा कि आप थोड़ी-थोड़ी देर पर दूध पिलाएं।
  • दूध पिलाने के दौरान बच्चे के सिर को उनकी बॉडी से थोड़ा ऊपर रखें।
  • दूध पिलाने के बाद बच्चे को तुरंत डकार (Burping) आये ऐसी कोशिश करें।

ये घरेलू उपाय बच्चे को एसिडिटी से बचाने में मदद करेंगी।

फीडिंग (Feeding) से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

और पढ़ें : न्यू मॉम के लिए 7 स्मार्ट बेबी एप्लाइंसेज (Baby Appliances), जो लाइफ को कर देंगे और आसान

कौन-कौन से खाद्य पदार्थ बच्चों के लिए एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Babies) का कारण बन सकते हैं?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स का कारण कुछ खाद्य पदार्थ भी हो सकते हैं। जैसे:

  • पुदीना (Mint), सॉस और टमाटर भी एसिड रिफ्लक्स की समस्या पैदा कर सकते हैं।
  • लहसुन (Garlic) और प्याज (Onion) ज्यादा खिलाना।
  • बच्चे को स्पाइसी और ऑयली खाना खिलाना।
  • कैफीनेटेड ड्रिंक या फूड देना।
  • चॉकलेट (Chocolate) खिलाना।
  • बच्चे को बहुत ज्यादा खट्टे फल खिलाना।

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) की तकलीफ को कम करने के लिए घरेलू उपायों के साथ-साथ इन ऊपर बताये खाद्य पदार्थों का सेवन भी नहीं करवाना चाहिए।

और पढ़ें : पाचन तंत्र को करना है मजबूत तो अपनाइए आयुर्वेद के ये सरल नियम

डॉक्टर से कंसल्टेशन कब जरूर करें?

शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) की समस्या होने पर बच्चे अपनी परेशानी आपको बता नहीं सकते हैं। इसलिए निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से जरूर मिलें। जैसे:

  • शिशु का बार-बार उल्टी करना।
  • बच्चे का अत्यधिक रोना।
  • बच्चे का खाना या दूध नहीं पीना।
  • बच्चे का चिड़चिड़ा होना।

इन स्थितियों में डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

बच्चों में एसिड रिफ्लक्स के कारण होने वाली अन्य परेशानी क्या हो सकती हैं? (Risk factor of Acid Reflux in babies)

बच्चों में एसिड रिफ्लक्स की समस्या को अगर इग्नोर किया जाए या ठीक तरह इलाज ना करवाया जाए, तो निम्नलिखित शारीरिक परेशानी हो सकती है। जैसे:

बच्चों में इन बिमारियों का खतरा बढ़ सकता है अगर गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज का इलाज ना करवाया जाए तो।

अगर आप बच्चों में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in babies) या शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लिए घरेलू उपाय से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux in Infants) की समस्या से पीड़ित है, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हेल्थ एक्सपर्ट आपके शिशु के हेल्थ को ध्यान में रखकर आवश्यक दवा प्रिस्क्राइब कर सकते हैं और शिशुओं में एसिड रिफ्लक्स के लिए घरेलू उपाय की भी जानकारी आपसे शेयर कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x