home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आधे लीवर के साथ जीवन संभव है?

क्या आधे लीवर के साथ जीवन संभव है?

लीवर किसी पावर हाउस से कम नहीं है। यह 500 से ज्यादा काम करता है। शरीर के आतंरिक अंगों में लीवर सबसे बड़ा होता है। लीवर का वजन करीब 3 पाउंड (लगभग 1.3 किलोग्राम) होता है। यह पेट के ऊपरी हिस्से में दाईं ओर स्थित होता है।

लीवर के कार्य इस प्रकार हैं:

  • ब्लड से टॉक्सिक एलिमेंट को फिल्टर करता है
  • पित्त नामक डाइजेस्टिव एंजाइम बनाता है।
  • विटामिन और मिनरल को स्टोर करता है
  • हार्मोन और इम्यून रिसपॉन्स को कंट्रोल करता है
  • ब्लड क्लॉटिंग में मदद करता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि शरीर में लीवर ही एक मात्र ऐसा अंग है कि यदि इसके एक हिस्से को हटाया जाए तो यह पुनः विकसित हो कर अपने पुराने आकर में आ जाता है। जिसमें कुछ ही महीने लगते हैं। जिससे यह तो समझ आता है कि आधे लीवर के साथ भी जीवन संभव है। इसे विस्तार से समझते हैं।

यह भी पढ़ें : Clonazepam : क्लोनाज़ेपाम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या लीवर के बिना रहना संभव है ?

लीवर शरीर के लिए इतना महत्वपूर्ण है कि इसके एक हिस्से के साथ तो रह सकते हैं पर बिना लीवर के रहना संभव नहीं है। लीवर के खराब होने या न होने की स्थिति में जीवन संभव नहीं है। ऐसे में –

  • ब्लड क्लॉटिंग नहीं होगी और अनियंत्रित रक्तस्त्राव होगा।
  • ब्लड में टॉक्सिक एलिमेंट्स और केमिकल की मात्रा बढ़ जाएगी।
  • बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन जल्दी होगा।
  • शरीर में काफी सूजन आ जाएगी जिसमें मस्तिष्क की सूजन भी शामिल है।
  • लीवर के बिना कुछ ही दिनों में स्थिति इतनी बिगड़ जाएगी कि इंसान की मृत्यु हो जाएगी।

यह भी पढ़ें : Vitamin O: विटामिन-ओ क्या है?

लीवर फेल होने के कारण :

लीवर फेल होने के लक्षण :

  • पीलिया, जिसके कारण त्वचा पीली पड़ने लगती है और आंखें सफेद होने लगती हैं।
  • पेट में दर्द और सूजन
  • जी मिचलाना
  • मानसिक भटकाव
  • खून की उल्टी
  • मसल्स लॉस

यह भी पढ़ें : Wasabi: वसाबी क्या है?

लीवर के एक हिस्से के साथ जीवन कैसे संभव है ?

अगर किसी का लीवर डैमेज या फेल हो गया है तो इसका यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है उसे बचाया नहीं जा सकता। अगर कोई मरीज को अपना आंशिक लीवर डोनेट कर दे तो उसे जीवनदान मिल सकता है। लीवर ट्रांसप्लांट दो तरीके से होता है। पहले तरीके को लीवर डिसीज्ड डॉनर ट्रांसप्लांट कहते हैं। जिसमें हाल ही में मृत हुए इंसान का लीवर ट्रांसप्लांट किया जाता है। दूसरा प्रॉसेस लिविंग डॉनर ट्रांसप्लांट होता है। इसमें मरीज का फैमिली मेंबर या दोस्त अपने हेल्दी लीवर का एक हिस्सा डोनेट करने के लिए तैयार हो जाता है।

ऐसे में डॉक्टर को सुनिश्चित करना जरूरी है कि जो लीवर प्राप्त हुआ है क्या वह सभी आवश्यक कार्य करने में सक्षम है? पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय में एक ट्रांसप्लांट के बाद यह अनुमान लगाया गया कि सामान्य कार्यों को सुचारू रूप से चलाए रखने के लिए लीवर के केवल 25 से 30 प्रतिशत हिस्से की आवश्यकता होती है। समय के साथ आंशिक लीवर अपने नॉर्मल साइज में आ जाता है। विशेषज्ञों को यह तो नहीं पता ही लीवर कैसे बढ़ता है पर उनका मानना है कि जब लीवर साइज में छोटा होता है तो सेलुलर रिस्पॉन्स एक्टिव होता है जो कि रिग्रोथ को शुरू करता है।

अब तक तो आप समझ ही गए होंगे कि कैसे कोई आधे लीवर के साथ भी रह सकता है। यह रोचक तथ्य अजीब तो लगता है पर पूरी तरह से सच है। अब आप इसके पीछे का कारण भी जानते हैं।

और पढ़ें : White Lily: व्हाइट लिली क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/07/2019
x