आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Color of vomit: कहीं आप तो नहीं हैं किसी गंभीर समस्या का शिकार, वोमिट के रंग से चल सकता है इसका पता!

    Color of vomit: कहीं आप तो नहीं हैं किसी गंभीर समस्या का शिकार, वोमिट के रंग से चल सकता है इसका पता!

    उल्टी आना यानी वोमिटिंग कोई बीमारी नहीं है। लेकिन, यह कई कंडिशंस का लक्षण हो सकता है जैसे कोई इंफेक्शन या गंभीर बीमारी। किसी भी अंडरलायिंग कंडिशन के हर एक स्टेज में इसका रंग बदल सकता है। जैसे स्टमक फ्लू के परिणामस्वरूप उल्टी का रंग हरा या पीला हो सकता है और बीमारी के बढ़ने पर यह ऑरेंज हो सकता है। आमतौर पर यह समस्या एक या दो दिन तक रहती है और इसे गंभीर नहीं माना जाता है। अभी हम बात करने वाले हैं वोमिट के रंग (Color of vomit) के बारे में। आइए जानें कि वोमिट के रंग (Color of vomit) का क्या अर्थ होता है?

    क्या मतलब है वोमिट के रंग (Color of vomit) का?

    वोमिट का अर्थ है इन्वॉलन्टरी एक्शन, जो फूड को स्टमक से पुश करता है और मुंह के माध्यम से बॉवेल ऑउट होता है। उल्टी में, फूड पार्टिकल कम मात्रा में या पूरी तरह से डायजेस्ट हो सकते हैं। वे डायजेस्टिव फ्लूइड या ब्लड जैसे अन्य तत्वों के साथ मिल जाते हैं, जो उल्टी के रंग को प्रभावित कर सकते हैं। यदि कोई संक्रमण होता है, तो स्टमक कंटेंट पर जर्म्स का असर उसके रंग को भी प्रभावित कर सकता है। आइए, जानें क्या कहते है वोमिट के रंग (Color of vomit)?

    और पढ़ें: उल्टी रोकने के उपाय अपनाकर पाएं उल्टी से राहत

    क्लियर वोमिट (Clear vomit): पाए इस तरह की वोमिट के बारे में जानकारी

    क्लियर वोमिट आमतौर पर तब होती है, जब आप पहले ही कई बार उल्टी कर चुके होते हैं, जिससे आपके पेट का फूड कंटेंट प्रभावी ढंग से खाली हो चुके होता है। यह इन समस्याओं के कारण हो सकता है:

    • मॉर्निंग सिकनेस (Morning sickness)
    • स्टमक फ्लू (Stomach flu)
    • माइग्रेन (Migraine)
    • फूड पॉइजनिंग (Food poisoning)

    वोमिट का रंग क्लियर होने के कारण इस प्रकार हैं

    और पढ़ें: क्या सफर में होती है उल्टी? जानिए इससे बचने के उपाय

    वोमिट के रंग (Color of vomit) में सफेद या फॉमी वोमिट

    आपकी वोमिट सफेद लग सकती है, अगर आपने कुछ सफेद रंग का खाया हो जैसे आइस क्रीम या दूध आदि। इसके साथ ही फॉमी वोमिट की समस्या तब होती है जब पेट में अधिक गैस हो जाती है। लेकिन, अगर परेशानी यह एक या दो दिन तक रहे, तो डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है। अत्यधिक गैस इन कंडिशंस में हो सकती है, जैसे:

    और पढ़ें: सफर में उल्टी आना रोकने के असरदार उपाय, आ सकते हैं काम

    हरी या पीली वोमिट (Green or yellow vomit)

    हरी या पीली उल्टी यह संकेत दे सकती है कि आपके शरीर में बाइल (Bile) नामक तरल पदार्थ जमा हो रहा है। यह फ्लूइड लिवर द्वारा निर्मित होता है और गॉलब्लेडर में जमा हो जाता है। बाइल हमेशा चिंता का विषय नहीं होता है। आप इस परेशानी का अनुभव तब भी कर सकते हैं, जब आपका पेट खाली हो। ऐसा स्टमक फ्लू और मॉर्निंग सिकनेस के कारण भी हो सकता है।

    वोमिट के रंग, Color of vomit

    वोमिट के रंग (Color of vomit) में ऑरेंज वोमिट (Orange vomit)

    आप उल्टी का कारण बनने वाली बीमारी के पहले कई घंटों में ऑरेंज वोमिट महसूस कर सकते हैं। यदि आप उल्टी के एपिसोड के बीच खाना जारी रखते हैं, तो रंग बना रह सकता है, क्योंकि ऑरेंज आंशिक रूप से पचने वाले खाद्य पदार्थों का रंग है। अगर यह समस्या एक या दो दिन तक रहे, तो ऑरेंज वोमिट गंभीर समस्या का प्रतीक हो सकता है। ऑरेंज वोमिट के कारण इस प्रकार हैं:

    इसके साथ ही ऑरेंज वोमिट इन समस्याओं के कारण भी हो सकते हैं:

    • अपेंडिसाइटिस (Appendicitis)
    • मोशन सिकनेस (Motion sickness)
    • कीमोथेरेपी (Chemotherapy)
    • इनर ईयर इंफेक्शन (Inner ear infection)
    • कुछ दवाइयां (Certain medications)

    इन मामलों में, ऑरेंज वोमिट आमतौर पर टेम्पररी समस्या है। बाद में वोमिट के रंग (Color of vomit) बदल सकते हैं।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में उल्टी के उपचार के लिए अपनाएं ये 8 उपाय

    पिंक या रेड वोमिट (Pink or Red vomit)

    अधिक मात्रा में खून की उल्टी होने की समस्या को हेमाटेमेसिस (Hematemesis) कहा जाता है। हालांकि, इस दौरान वोमिट के रंग (Color of vomit) रंग पिंक और ब्राइट रेड होते हैं। लेकिन, यह ब्लैक या डार्क ब्राउन लग सकती है। अगर आपको पिंक, लाल या ब्लडी वोमिट हो, तो आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। बच्चों में ब्लडी वोमिट इस समस्या की निशानी हो सकती हैं:

    वयस्कों में पिंक और रेड वोमिट का कारण इस प्रकार है:

    और पढ़ें: क्या तीसरी तिमाही में उल्टी होना नॉर्मल है? जानें कारण और उपाय

    वोमिट के रंग (Color of vomit) में ब्राउन वोमिट (Brown vomit)

    ब्राउन वोमिट के दो पॉसिबल कारण हो सकते हैं। अधिकतर मामलों में यह रंग ब्लड का शेड होता है। अगर यह लाइट कॉफी रंग का हो, तो जल्दी ही डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। इसका कारण पेप्टिक अल्सर (Peptic ulcers). एमीलॉयडोसिस (Amyloidosis) या कोई गंभीर अंडरलायिंग कंडिशन हो सकता है। गंभीर कब्ज भी इस रंग की उल्टी का कारण हो सकती है। यह समस्या अपच के कारण होती है जिसके कारण वोमिट से तेज दुर्गन्ध आती है। इस समस्या के अन्य लक्षण हैं गंभीर पेट में दर्द।

    काली वोमिट (Black vomit)

    काली वोमिट भी खूनी उल्टी की शेड हो सकती है। यह भी डार्क कॉफी के रंग की लग सकती है। यदि आपके पेट में एसिड द्वारा ब्लड ऑक्सीडाइज हो गया है, तो आपकी उल्टी काली दिखाई दे सकती है। यही नहीं, खून में मौजूद आयरन समय के साथ ब्राउन से काला हो जाता है। अगर आपका ब्लड अब ब्राइट रेड नहीं है, इसका मतलब है कि ब्लीडिंग या तो बंद हो गया है या केवल थोड़ी मात्रा में हो रही है। ब्लैक वोमिट कई कंडिशंस के कारण हो सकती है, जो ब्लडी वोमिट का कारण बन सकती है। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है। दुर्लभ मामलों में, ब्लैक वोमिट किसी फंगल इंफेक्शन के कारण भी हो सकती है। यह इंफेक्शन ब्लैक मोल्ड कल्चर्स (Black mold cultures) के कांटेक्ट के बाद विकसित हो सकता है। यह कंडिशन बोन मैरो या ऑर्गन ट्रांसप्लांट के कारण हो सकती है।

    और पढ़ें: बच्चों में FPIES: बच्चों में बार-बार उल्टी और डायरिया होना, कहीं कोई सिंड्रोम तो नहीं!

    वोमिट के रंग (Color of vomit) में डॉक्टर की सलाह कब लें?

    अगर आपको वोमिट में अधिक मात्रा में ब्लड दिखाई दे, तो तुरंत मेडिकल अटेंशन लें। याद रखें, ब्लड का रंग लाल या ब्राउन से काला तक हो सकता है। यही नहीं, अगर आपको ब्लडी वोमिट के साथ ही चक्कर आना, रेपिड और शैलो ब्रीदिंग जैसी समस्याएं हो, तो यह गंभीर हो सकता है। वोमिट के रंग (Color of vomit) में हरी और पीली वोमिट भी सीरियस कंडीशन के लक्षण हो सकते हैं जैसे बाइल रिफ्लक्स bile reflux.। इन स्थितियों में भी तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है, जैसे:

    • अगर वोमिटिंग 48 घंटे से हो रही हो।
    • आपको डिहायड्रेशन के लक्षण नजर आएं जैसे चक्कर आना और सिरदर्द।
    • वोमिटिंग से आपका वजन कम हो रहा हो।
    • अगर आपको डायबिटीज है, तो लगातार वोमिटिंग से आपके ब्लड शुगर लेवल पर असर हो सकता है।
    • आपको छाती में गंभीर दर्द हो रहा हो, यह हार्ट अटैक का संकेत है।
    • लगातार वोमिटिंग, साइक्लिक वोमिटिंग डिसऑर्डर (Cyclic vomiting disorder), का संकेत हो सकता है, जो किसी खास न्यूरोलॉजिकल कंडिशंस (Neurological conditions) के कारण हो सकता है।

    और पढ़ें: दूध का पाचन होने में कितना समय लगता है? जानिए दूध के बारे में सबकुछ

    यह तो थी वोमिट के रंग (Color of vomit) के बारे में जानकारी। वोमिटिंग की समस्या परेशानी भरी होती है लेकिन यह जानलेवा नहीं है, बल्कि किसी बीमारी का एक हिस्सा है। वोमिट का लाल, ब्राउन या ब्लैक रंग होना किसी गंभीर या रेयर कंडिशंस के कारण होता है, जिसमें मेडिकल अटेंशन की जरूरत हो सकती है। अगर यह समस्या अधिक दिनों तक रहे या आपको इसका असामान्य रंग नजर आए, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। अगर वोमिट के रंग (Color of vomit) के बारे में आपके मन में कोई भी सवाल हो, तो तुरंत डॉक्टर से बात करें।

    आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: