प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स क्यों अपनाना है जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट December 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

इंफेक्शन से बचने के लिए हाइजीन का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। देखा जाए तो महिलाओं के हाइजीन लिस्ट में वैक्सिंग भी शामिल है, लेकिन क्या प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स या वैक्सिंग करवाना चाहिए या नहीं? ऐसे ही कई अन्य सवालों का जवाब इस आर्टिकल में हम आपके लिए लेकर आएं हैं। इसके साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान हेयर रिमूवल टिप्स क्या-क्या हैं? ये भी आपसे शेयर करेंगे।

सबसे पहले हैलो स्वास्थ्य की टीम ने मुंबई की रहने वाली रीता कुलकर्णी से बात की। रीता 3 साल की एक बच्ची की मां हैं। रीता से जब हमने वैक्सिंग से जुड़े सवाल किए तो रीता कहती हैं कि “प्रेग्नेंसी से पहले मैं नियमित वैक्सिंग करवाती थी, लेकिन जब मुझे पता चला कि मैं प्रेग्नेंट हूं तो एक-दो महीने मुझे समझ नहीं आया कि मुझे वैक्स हेयर रिमूव करवाना चाहिए या नहीं तब मेरे गायनेकोलॉजिस्ट ने सलाह दी कि प्राइवेट बॉडी पार्ट और बॉडी के कुछ हिस्सों पर वैक्सिंग करवाना चाहिए और इस दौरान सिर्फ सावधानी बरतनी चाहिए।”

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स से पहले जानिए वैक्सिंग की क्यों पड़ती है जरूरत?

शरीर और प्यूबिक पार्ट पर आने वाले अनचाहे बालों को हटाने की प्रक्रिया को वैक्सिंग कहते हैं। इस प्रोसेस में जिस हिस्से से बाल को हटाया जाता है वहां हल्का गर्म वैक्स जो शहद, एलोवेरा या चॉकलेट से बना होता है को लगाकर स्ट्रिप्स की मदद से बालों को हटाया जाता है। वैक्सिंग करवाने से इंफेक्शन का खतरा भी कम होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर के कुछ भागों से बाल हटाने से इंफेक्शन का खतरा कम हो जाता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में चाय या कॉफी का सेवन हो सकता है नुकसानदायक

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 1- सेंसेटिव स्किन

गर्भावस्था के दौरान ज्यादतर गर्भवती महिलाओं को स्किन से जुड़ी परेशानी शुरू हो जाती हैं। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार तकरीबन 90 प्रतिशत गर्भवती महिलाएं त्वचा संबंधित परेशानियों का सामना करती हैं। इसलिए अगर आपकी स्किन प्रेग्नेंसी के दौरान सेंसेटिव हो गई है, तो वैक्स एक साथ पूरी बॉडी पर न करवाएं। पहले हाथ के छोटे हिस्से पर वैक्सिंग करवाएं और अगर कोई परेशानी नहीं होती है, तो फिर बॉडी पर वैक्स करवाएं। यह ध्यान रखें कि अगर आपको वैक्सिंग से कोई परेशानी नहीं हो रही है, तो ऐसी स्थिति में भी शरीर के अलग-अलग हिस्से की वैक्सिंग अलग-अलग दिन करवाएं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में ड्राई स्किन की समस्या हैं परेशान तो ये 7 घरेलू उपाय आ सकते हैं काम

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 2- एलर्जी होने पर वैक्सिंग न करें

गर्भावस्था में हेयर रिमूवल टिप्स अपनाना बेहद जरूरी है। कई बार वैक्स करवाने वाली जगहों पर एलर्जी या अन्य कोई परेशानी होने पर बिना देर किए तुरंत वैक्स करवाना बंद कर दें। प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकता है कि आपकी स्किन अधिक सेंसिटव हो गई हो। आप चाहे तो इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लें और उसके बाद ही एक्सपर्ट से वैक्सिंग करवाएं।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 3- स्किन से ब्लड आने पर न करवाएं वैक्सिंग

कई महिलाओं को वैक्सिंग के दौरान स्किन से ब्लड भी आ जाता है। ऐसी स्थिति होने पर वैक्सिंग न करवाएं और त्वचा पर बर्फ या ठंडे पानी का इस्तेमाल करें।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 4- कॉटन टॉवेल का इस्तेमाल करें

बॉडी वैक्सिंग के बाद हमेशा शरीर को साफ करने के लिए और बॉडी ड्राय करने के लिए कॉटन (सूती) कपड़े या टॉवेल का ही इस्तेमाल करें।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 5- रेजर का इस्तेमाल न करें

गर्भावस्था के दौरान शरीर पर आने वाले एक्स्ट्रा हेयर को हटाना सेफ है, लेकिन कई महिलाएं रेजर का इस्तेमाल करती हैं। गर्भधारण के पहले रेजर के इस्तेमाल से कोई परेशानी नहीं होती है ,लेकिन गर्भवती महिलाओं को रेजर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। दरअसल रेजर से स्किन को नुकसान पहुंचने की संभावना ज्यादा रहती है। गर्भावस्था की दूसरी तिमाही से या इसके बाद रेजर को इस्तेमाल करने में गर्भवती महिला को परेशानी होती है और बिकिनी वैक्सिंग करना संभव नहीं हो पाता है। इसलिए प्रेग्नेंसी की शुरुआत से ही रेजर का इस्तेमाल न करें, लेकिन अगर आप गर्भवस्था के दौरान वजायनल एरिया को शेव करना चाहती हैं, तो आप अपने लाइफ पार्टनर की मदद ले सकती हैं।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 6- वैक्सिंग से पहले पाउडर का इस्तेमाल करें

वैसे तो वैक्सिंग के पहले स्किन पर पाउडर लगाया जाता है, लेकिन अगर आप गर्भवती हैं तो इसका विशेष ख्याल रखें कि वैक्सिंग वाली त्वचा पर अच्छी तरह से पाउडर लगाने के बाद ही हेयर रिमूव करें। ऐसा करने से वैक्सिंग आसानी से होगी और आपको परेशानी भी नहीं होगी। यही नहीं वैक्सिंग के बाद मॉश्चराइजर का इस्तेमाल अवश्य करें। आप एक्सपर्ट से भी इस बारें में राय लें सकती हैं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में बाल कलर कराना कितना सुरक्षित?

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 7- हेयर रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल न करें

कुछ महिलाएं हेयर रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल करती हैं। गर्भावस्था के पहले हेयर रिमूव करने वाले क्रीम का इस्तेमाल किये जाने से कोई परेशानी नहीं होगी, लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार गर्भवती महिलाओं को ऐसे किसी भी तरह के हेयर रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनमें कैमिकल मिले होते हैं। ये कैमिकल्स स्किन की अंदरूनी त्वचा तक पहुंचते हैं, जो गर्भ में पल रहे शिशु के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 8- हेयर लेजर रिमूवल ट्रीटमेंट न करवाएं

बॉडी से अनचाहे बालों को हटाने के लिए लेजर ट्रीटमेंट भी आजकल काफी लोकप्रिय है, लेकिन क्या प्रेग्नेंसी में लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट करना चाहिए? ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट न करवाना सेफ माना जाता है। दरअसल इससे स्किन पिग्मेंटेशन पर असर पड़ता है। इसलिए शिशु के जन्म के बाद ही हेयर लेजर रिमूवल ट्रीटमेंट करवाना सही निर्णय होगा।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 9- ब्लीच का इस्तेमाल न करें

कई महिलाएं बॉडी और बिकिनी एरिया ब्लीच करवाती हैं। बॉडी या बिकिनी वैक्सिंग के पहले ऐसा करवाती हैं, लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी ब्लीच का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ब्लीच में कई तरह के कैमिकल्स मिले होते हैं, जो गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 10- आइब्रो थ्रेडिंग को कहें हां

प्रेग्नेंसी के दौरान हॉर्मोन में हो रहे बदलाव का असर बालों की ग्रोथ पर भी पड़ता है। इसी वजह से आइब्रो या चेहरे पर आने वाले बाल सामान्य दिनों की तुलना में ज्यादा सख्त हो जाते हैं। इससे परेशान न हों। प्रेग्नेंसी के दौरान आइब्रो थ्रेडिंग से कोई परेशानी नहीं हो सकती है। हालांकि इस दौरान खुद से थ्रेडिंग या प्लकर (Tweezing) का इस्तेमाल न कर एक्सपर्ट से ही आइब्रो बनवाएं।

और पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान बेटनेसोल इंजेक्शन क्यों दी जाती है? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट्स

प्रेग्नेंसी में हेयर रिमूवल टिप्स 11- इस्तेमाल की जाने वाली चीजें हों क्लीन

पार्लर में इस्तेमाल किये जाने वाले वैक्स नाइफ, टॉवेल और चेंजिंग ड्रेस क्लीन हो इसका अवश्य ध्यान रखें। क्योंकि प्रेग्नेंसी में इम्यून पावर कमजोर होने की वजह से गर्भावस्था के दौरान इंफेक्शन होने की संभावना ज्यादा होती है।

बेबी डिलिवरी के पहले नर्स या मिडवाइफ वजायनल एरिया को क्लीन करती हैं और इस दौरान प्यूबिक हेयर को भी रिमूव करती हैं। इसके साथ ही इन ऊपर बताए गए गर्भावस्था में हेयर रिमूवल टिप्स अवश्य फॉलो करें। प्रेग्नेंसी को एंजॉय करें क्योंकि ये 9 महीने की यादें आप दूसरी गर्भवती महिलों से साझा करेंगी और अपने बच्चों को भी बड़े होने पर आप उनसे इसे एक कहानी की तरह शेयर करेंगी।

अगर प्रेग्नेंसी के दौरान हेयर रिमूवल टिप्स अपनाने के बावजूद भी कोई परेशानी महसूस होती है या इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहती हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पीरियड सेक्स- क्या सेक्स के लिए सुरक्षित अवधि है?

फैमिली प्लानिंग नहीं कर ही हैं तो आपको ओव्यूलेशन पीरियड की जानकारी होनी चाहिए ताकि आप जान सके प्रेग्नेंसी से बचने के लिए सेक्स के लिए सुरक्षित अवधि क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh

Ovral L: ओवरल एल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ओवरल एल की जानकारी in hindi वहीं इस दवा के साइड इफेक्ट के साथ चेतावनी, डोज, किन बीमारी और दवाओं के साथ कर सकता है रिएक्शन, स्टोरेज कैसे करें के लिए पढें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Regestrone: रेजेस्ट्रोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

रेजेस्ट्रोन दवा की जानकारी in hindi, वहीं किन किन बीमारियों में होता है इस दवा का इस्तेमाल के साथ डोज, साइड इफेक्ट और सावधानियों को जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

क्यों प्लेसेंटा और प्लेसेंटा जीन्स को समझना है जरूरी?

प्लेसेंटा जीन्स का क्या पड़ता है बेबी बॉय या बेबी गर्ल पर असर? जन्म लेने वाले बेबी गर्ल या बेबी बॉय में कौन होता है ज्यादा स्ट्रॉन्ग?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha

Recommended for you

प्रेग्नेंसी में फोलिक एसिड क्विज

प्रेग्नेंसी में फोलिक एसिड का सेवन है जरूरी, अगर आपको है जानकारी तो खेलें क्विज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ October 28, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी में नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल

प्रेग्नेंसी के दौरान कितना होना चाहिए नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ August 26, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन

जानें ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन क्यों है बच्चे के जीवन के लिए जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ August 2, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
8 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट/8 month pregnancy diet chart

8 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट, जानें इस दौरान क्या खाएं और क्या नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ July 17, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें