आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था में रिब पेन की समस्या से इस प्रकार निपटें!

गर्भावस्था में रिब पेन की समस्या से इस प्रकार निपटें!

अगर आप प्रेग्नेंट हैं और रिब पेन का अनुभव कर रही हैं तो आपका यह सोचना जायज है कि गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) होना नॉर्मल है या नहीं? तो सवाल का जवाब हम आपको इस आर्टिकल में देने जा रहे हैं। बता दें कि गर्भावस्था में रिब पेन होना सामान्य है। खासतौर पर तीसरे ट्राइमेस्टर में जब बेबी का विकास होता है, लेकिन दर्द प्रेग्नेंसी की शुरुआत में भी हो सकता है। प्रेग्नेंसी रिब पेन बेबी के रिब्स को किक करने के कारण, रिब्स के स्ट्रेच होने के कारण या रिब्स में बेबी के मूव होने के कारण भी हो सकता है। मसल्स का स्ट्रेच का होना भी इसका कारण हो सकता है। कुछ मामलों में मेडिकल कॉम्प्लिकेशन भी इसका कारण हो सकता है। इस आर्टिकल में गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) के कारण, लक्षण और इससे निपटने के उपायों के बारे में बताया जा रहा है।

गर्भावस्था में रिब पेन होने के क्या कारण हैं? (Causes of rib pain during pregnancy)

गर्भावस्था में रिब पेन होने के संभावित कारण निम्न हो सकते हैं।

मस्कुलोस्केलेटल बदलाव (Musculoskeletal changes)

प्रेग्नेंसी में होने वाले बदलाव गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) का कारण बन सकते हैं। बॉडी के एक्सपांड होने पर विभिन्न प्रकार के रेंज ऑफ मोशन सीमित हो जाते हैं। आगे की ओर झुकना मुश्किल हो जाता है क्योंकि आपका पेट बड़ा हो जाता है। यह लिमिटेशन रिब पेन का कारण बन सकता है।

और पढ़ें: निकाल कर थोड़ा ‘मी टाइम’, पोस्टपार्टम पीरियड के दौरान मेंटल हेल्थ को रखें दुरुस्त

गालस्टोन्स (Gallstones)

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं में गालस्टोन्स का रिस्क बढ़ जाता है। इसका कारण इस्ट्रोजन के लेवल का हाय होना और गालब्लैडर और बायलरी डक्ट्स के धीमी गति से खाली होने के कारण होता है। इन दोनों की वजह से गालस्टोन्स हो सकता है। कई बार गालस्टोन्स किसी प्रकार के लक्षण का कारण नहीं बनते, लेकिन कई बार यह इतनी गंभीर होती है कि दर्द का कारण बन सकती है। पोस्टपार्टम के बाद महिलाएं सर्जरी के जरिए इसे निकाल सकती हैं।

हॉमोन (Hormone)

रिलेक्सिन (Relaxin) प्रेग्नेंसी के दौरान प्रोड्यूस होता है। यह मसल्स और लिगामेंट्स को रिलैक्स करने और चाइल्ड बर्थ के लिए तैयार करने में मदद करता है। रिलेक्सिन भी गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) का कारण बन सकता है। यह पेन पेल्विस के साथ ही रिब्स में महसूस किया जा सकता है क्योंकि बॉडी बेबी के लिए जगह बना रही होती है। यह हॉर्मोन हार्ट बर्न का कारण भी बनता है

गर्भावस्था में रिब पेन के अन्य कारण (Other causes of rib pain during pregnancy)

  • रिब्स से अटैच रहने वाले कार्टिलेज प्रेग्नेंसी के दौरान लूज और बढ़ जाते हैं जो रिब पेन या इंफ्लामेशन का कारण बन सकता है।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान यूटरस और ब्रेस्ट साइज बढ़ने से रिब पर प्रेशर बढ़ सकता है जो गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) का कारण बन सकता है।
  • बच्चे के किक मारने के कारण भी रिब पेन हो सकता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज कर रही हैं तो इनको करें अवॉइड

गर्भावस्था में रिब पेन से जुड़े दूसरे कॉम्प्लिकेशन (Rib pain and other complications)

गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) होने महिलाओं को नॉर्मल डिसकंफर्ट या हल्का दर्द हो सकता है, लेकिन कुछ महिलाओं में यह अंडरलाइन कारणों का कारण भी बन सकता है। उदाहरण के लिए अपर राइट एब्डोमिन में होने वाला दर्द लिवर डिजीज का कारण हो सकता है। इसके साथ ही यह प्रीक्लेम्प्सिया (Preeclampsia) का संकेत भी हो सकता है। यदि आप अचानक, गंभीर पसली में दर्द का अनुभव कर रहे हैं और निम्न में से कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो तत्काल चिकित्सा की तलाश करें:

  • सिर चकराना
  • अपनी आंखों में धब्बे या फ्लोटर्स
  • ब्लीडिंग
  • सिर दर्द
  • मतली और उल्टी

गर्भावस्था के पड़ाव और रिब पेन (Pregnancy stages and rib pain)

कुछ महिलाएं प्रेग्नेंसी की अर्ली स्टेज में रिब पेन का अनुभव करती हैं तो कुछ प्रेग्नेंसी की बाद की स्टेज में जब बेबी स्ट्रेच होना शुरू कर देता है। जानिए प्रेग्नेंसी की स्टेज में रिब पेन किस तरह प्रभावित करत है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज और योग किस हद तक है सही?

फर्स्ट ट्राइमेस्टर (First trimester)

क्योंकि पसली का दर्द या रिब पेन अक्सर एक लगातार बढ़ते शरीर के कारण होता है – विशेष रूप से एक गर्भाशय जो बढ़ते बच्चे को समायोजित करने के लिए खिंचता रहता है – यह पहली तिमाही में नहीं होता है। पहली तिमाही के अंत तक, आपके शिशु का वजन केवल एक औंस या उससे कम होने की संभावना है। इसके अलावा, कई महिलाओं का गर्भधारण के पहले कुछ महीनों में बहुत अधिक वजन नहीं होता है। जिन लोगों को मॉर्निंग सिकनेस होती है, उनका वजन कुछ पाउंड भी कम हो सकता है।

सेकेंड ट्राइमेस्टर (Second trimester)

जैसे-जैसे आपका शिशु बढ़ना जारी रखता है, आपको पसलियों में दर्द और सांस लेने में तकलीफ का अनुभव हो सकता है, जो आपके बढ़ते हुए गर्भाशय को आपके डायाफ्राम के खिलाफ धकेलने और आपके फेफड़ों को संकुचित करने के रूप में सामने आता है।

थर्ड ट्राइमेस्टर (Third trimester)

रिब पेन गर्भावस्था के तीसरे ट्राइमेस्टर में भी जारी रहता है। क्योंकि इस समय गर्भाशय बढ़ रहा है और पसलियों पर अधिक दबाव डाल रहा है। आपका बच्चा भी बड़ा हो रहा है – और संभवत: आपकी पसलियों किक भी कर रहा है। अच्छी खबर ये है कि आपके प्रसव से पहले के हफ्तों में, आपका शिशु अक्सर पेल्विस में जाकर जन्म के लिए तैयार हो जाता है, जो आपकी पसलियों से दबाव को हटा देता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान 3डी और 4डी अल्ट्रासाउंड में क्या अंतर है और इसकी जरूरत कब पड़ती है?

गर्भावास्था में रिब पेन से कैसे बचें? (How to avoid rib pain in pregnancy?)

अगर बेबी के पैर आपके बॉडी पार्ट्स में कहीं स्टक हो गए हैं जिसकी वजह से रिब पेन हो रहा है तो राहत मिलना मुश्किल है, लेकिन आप एक्टिव रहकर और प्रेग्नेंसी के दौरान थोड़ी एक्सरसाइज करके रिब पेन से राहत प्राप्त कर सकते हैं। यह दोनों आपको कंफर्टेबल रखने के साथ ही वेट को कंट्रोल करने में मदद करेंगे। जो पेन में योगदान देते हैं। गालस्टोन के फॉर्मेशन से बचने के लिए आप हेल्दी ईटिंग पर फोकस कर सकते हैं। हाय फैट डायट गालस्टोन का कारण बनती है।

इसके अलावा आप निम्न टिप्स को अपनाकर गर्भावस्था में रिब पेन से राहत प्राप्त कर सकते हैं।

  • ओवरसाइज्ड बॉल प्रेग्नेंसी के दौरान लाइफसेवर्स का काम करती हैं। खासतौर पर रिब पेन क लिए। अपने बैक को इन पर टिका दें और कुछ रो आउट्स करें। प्रेग्नेंसी के समय ऐसा लग सकता है कि यह आखिरी काम है जो आप करना चाहते हैं, लेकिन बहुत अधिक स्ट्रेचिंग के साथ योग जैसे हल्के व्यायाम करने से आपकी मांसपेशियों को ढीला रखने में मदद मिलेगी। यह आपको और बच्चे दोनों को यथासंभव स्वस्थ रखने में भी मदद करेगा।
  • ढीले कपड़े पहनें। एक बहुत तंग शर्ट या पोशाक आपकी पहले से दर्द कर रही पसलियों पर अधिक दबाव डाल सकती है। मेटेरनिटी ड्रेस, ढीले स्वेटर और अतिरिक्त लंबे टैंक और टी-शर्ट पहनें।
  • नहाना। एक गर्म स्नान गर्भावस्था के कई दर्द को कम कर सकता है, लेकिन यह सुनिश्चित नहीं हैं कि आप सुरक्षित रूप से बाथटब से बाहर निकल सकती हैं? इसलिए इसके बजाय हीटिंग पैड आजमाएं।
  • एक अलग स्थिति खोजें। यदि आपका शिशु ठीक है, पसलियों में दर्द है, तो अपनी स्थिति बदलकर उसकी स्थिति बदलने का प्रयास करें।
  • बेली-सपोर्ट बैंड पहनें। बेली-सपोर्ट बैंड आपके बढ़े हुए पेट को सपोर्ट करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। जबकि वे मुख्य रूप से राउंड लिगामेंट दर्द को कम करने के लिए उपयोग किए जाते हैं। ये आपके तनावपूर्ण स्टमक से दबाव को दूर करने में भी मदद कर सकते हैं, जो आपकी पसलियों को खींच सकता है और दर्द पैदा कर सकता है।

उम्मीद करते हैं कि आपको गर्भावस्था में रिब पेन (Rib pain during pregnancy) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

गर्भावस्था में वजन बढ़ना

यह टूल विशेष रूप से उन महिलाओं के लिए तैयार किया गया है, जो यह जानना चाहती हैं कि गर्भावस्था के दौरान उनका स्वस्थ रूप से कितना वजन बढ़ना चाहिए, साथ ही उनके वजन के अनुरूप प्रेग्नेंसी के दौरान कितना वजन होना उचित है।

28

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/12/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड