पार्टनर से सेक्स टॉक क्यों जरूरी है?

Medically reviewed by | By

Update Date जून 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

हम चाहे कितना भी मॉर्डन होने का दावा कर लें, लेकिन सच यह है कि आज भी कई कपल्स ऐसे हैं जो सेक्स के मुद्दे पर एक-दूसरे से खुलकर बात नहीं कर पातें, जबकि हेल्दी, हैप्पी और सैटिस्फाइड सेक्स लाइफ के लिए पार्टनर का एक दूसरे से सेक्स टॉक करना बेहद जरूरी है, लेकिन अधिकांश लोग इसकी अहमियत नहीं समझ पाते हैं। सेक्स टॉक में सिर्फ डर्टी टॉक ही नहीं, बल्कि सेक्सुअल हाइजीन से लेकर प्रेग्नेंसी प्लानिंग और सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज के बारे में बात करना भी शामिल है। सेक्स के दौरान पार्टनर से बाद करने से कपल्स की अंडरस्टैंडिग और नजदीकियां बढ़ती हैं और उनका रिश्ता भी मजबूत बनता है। पार्टनर से सेक्स टॉक करना क्यों जरूरी है जानिए इस आर्टिकल में।

सेक्स टॉक से बढ़ती है बॉन्डिंग

सेक्स के दौरान जब पार्टनर आपस में बात करते हैं तो इससे न सिर्फ प्लेजर, बल्कि उनकी बॉन्डिंग भी बढ़ती है। दरअसल, बातचीत से ही पार्टनर को एक-दूसरे की जरूरतों का पता चलता है जिससे वह अपने पार्टनर को ज्यादा संतुष्ट करने की कोशिश करते हैं।

सेक्स टॉक में शामिल होती हैं ये बातें

  • सेक्सुअल हेल्थ
  • बर्थ कंट्रोल
  • नए एक्पेरीमेंट्स
  • सेक्स के दौरान पार्टनर की पसंद/नापसंद
  • सेक्स की फ्रीक्वेंसी आदि

यह भी पढ़ें- ये 7 आरामदायक सेक्स पोजीशन (पुजिशन) जिसे महिलाएं करती हैं पसंद

महिलाओं की सेक्सुअल हेल्थ के लिए जरूरी है सेक्स टॉक

महिलाओं के लिए सेक्स सिर्फ एक फिजिकल एक्ट नहीं है, बल्कि उनके लिए यह भावनात्मक क्रिया भी है, ऐसे में यदि वह पार्टनर से इमोशनली कनेक्ट नहीं होती है तो उन्हें सेक्सुअल सैटिसफैक्शन नहीं मिलता है। महिलाएं आमतौर पर अपने सेक्स की जरूरतों के बारे में पार्टनर से बात करने से हिचकिचाती हैं, लेकिन उन्हें यह समझना चाहिए कि जब तक वह अपनी बात कहेंगी नहीं पार्टनर को उनकी जरूरतों या संतुष्टि के बारे में कैसे पता चलेगा, हर कोई उनके अनकहे शब्दों को नहीं पढ़ सकता। इसलिए बहुत जरूरी है कि महिलाएं सेक्स के दौरान होने वाली असहजता, पसंदीदा मूव्स आदि के बारे में पार्टनर से बात करें।

सेक्सुअली ट्रांसमीटेड डिसीज के बारे में बात

सेक्स टॉक का मतलब सिर्फ डर्टी टॉक नहीं है जो प्लेजर बढ़ाता है, बल्कि यदि कपल्स में से किसी एक को सेक्सुअली ट्रांसमीटेड डिसीज है और उसे इस बात का पता चलता है, तो तुरंत दूसरे पार्टनर को बताना चाहिए। कई बार रिश्ता टूटने के डर से पार्टनर यह बात दूसरे पार्टनर को नहीं बताता, लेकिन यह गलत है, क्योंकि इससे इंफेक्शन फैलने का डर रहता है। इसलिए बेहतर होगा कि समझदारी दिखाते हुए इस मुद्दे पर पार्टनर से बात करें।

प्रेग्नेंसी और बर्थ कंट्रोल

प्यार के उन खास पलों का आनंद लेने से पहले दोनों पार्टनर को बर्थ कंट्रोल का भी ध्यान रखना चाहिए और इस मुद्दे पर खुलकर बात करनी चाहिए। यदि फिलहाल वह फैमिली प्लानिंग नहीं करना चाहते तो बर्थ कंट्रोल का कौन-सा तरीका अपनाएंगे इस बारे में बात करें। कुछ पुरुषों को कंडोम पसंद नहीं आता, तो उन्हें इसके विकल्प के बारे में पार्टनर से बात जरूर करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें- सेक्स को एंजॉय करने के लिए ट्राई करें सेक्स लुब्रिकेंट्स (sex lubricants)

पसंद-नापसंद की बात

सेक्स टॉक करते समय पार्टनर से उनकी पसंद-नापसंद के बारे में भी बात करें। जैसे कौन सा मूव्स उन्हें अच्छा लगता है और कब उन्हें ज्यादा संतुष्टि मिलती है, किस एक्ट से उन्हें असहजता महसूस होती है और किस बॉडी पार्ट्स को टच करने पर उन्हें आनंद मिलता है जैसी बातें करने पर न सिर्फ सेक्सुअल प्लेजर बढ़ता है, बल्कि पार्टनर को सेक्सुअल सैटिसफैक्शन भी मिलता है और उनके बीच नज़दीकियां बढ़ती हैं।

नए एक्सपेरिमेंट्स की बात

यदि पुरुष पार्टनर कोई नई पोजिशन ट्राई करना चाहता है, लेकिन इस बारे में फीमेल पार्टनर से बात नहीं करता तो हो सकता है, सेक्सुअल एक्ट के दौरान उन्हें परेशानी हो और उन्हें संतुष्टि भी न मिले क्योंकि महिला पार्टनर इसके लिए फिजकली और मेंटली तैयार नहीं थी। ऐसे में बहुत जरूरी है कि कोई भी नई चीज ट्राई करन से पहले पार्टनर एक-दूसरे से इस बारे में बात करके उनकी राय जान लें। क्योंकि जरूरी नहीं कि हर सेक्स पोजीशन सबके लिए कंफर्टेबल हो।

सेक्सुअल लीमिटेशन के बारे बताएं

हो सकता है कुछ सेक्सुअल फैंटेसी और एक्ट आपको पसंद नहीं आए या आप उसका एक्सपीरिएंस न करना चाहे। आपको शरीर के किसी खास हिस्से पर टच किया जाना अच्छा न लगे, तो इस बारे में पार्टनर से पहले ही बात कर लें ताकि सेक्सुअल एक्ट के बीच में पार्टनर का मूड ऑफ न हो और न ही आपको परेशानी हो।

यह भी पढ़ें- क्या है फीमेल इजेकुलेशन (female ejaculation) का सच? जानें इससे जुड़ी सभी बातें

सेक्स टॉक रूल्स

पार्टनर से सेक्स टॉक करना चाहते हैं तो आपको इसके कुछ बेसिक नियमों की जानकारी होनी चाहिए, जो किसी किताब में नहीं लिखे, मगर एक्सपर्ट्स इसकी सलाह जरूर देते हैः

सीधे शुरू न हो जाए

सेक्स टॉक हर कपल के लिए आसान नहीं होता, ऐसे में जरूरी नहीं कि आप बेड पर ही इस बारे में बात करें। वीकेंड पर आप अकेले किसी शांत जगह पर जाकर भी अपनी सेक्स प्रॉब्लम्स के बारे में पार्टनर से डिस्कस कर सकते हैं। सीधे मुद्दे पर आने की बजाय पहले अपनी सेक्स लाइफ की अच्छी बातों के बारे में बात करें और फिर समस्या बताएं।

एक समय में एक मुद्दा

पार्टनर से सेक्स के बारे में बात करते समय एक साथ ही कई चीजों पर बात न करें, जैसे फैमिली प्लानिंग की बात कर रही हैं तो अपनी सेक्स की पंसद-नापसंद को बीच में न लाएं। बेहतर होगा कि एक समय पर दोनों एक ही मुद्दे पर बात करें।

शिकायत नहीं सुझाव दें

यदि पार्टनर आपसे सेक्स के मुद्दे पर बात करते समय अपनी कोई समस्या शेयर करता है जैसे सेक्स के दौरान किसी तरह की परेशानी होना या उन पलों से संतुष्ट न होना तो उनसे शिकायत करने की बजाय उन्हें सलाह दें और बेड पर उनकी अच्छी बातों के बारे में उन्हें बताय इससे पार्टनर का आत्मविश्वास बढ़ेगा।

सेक्स टॉक से पहले ध्यान रखें कुछ बातें-

  • यदि आप सेक्सुअल प्लेजर बढ़ाना चाहते हैं तो किसी रोमांटिक मूवी का कोई डायलॉग बोलकर अपनी बात शुरू कर सकते हैं।
  • पार्टनर की बातों को सिर्फ सुने ही नहीं, उनकी बात माने भीं।
  • यदि किसी बात के लिए पार्टनर राजी नहीं है, तो जबर्दस्ती न करें।
  • यदि फीमेल पार्टनर कुछ कहने से हिचक रही है, तो उसका हौसला बढ़ाएं।
  • दोनों पार्टनर को एक-दूसरे की भावनाओं की रिस्पेक्ट करनी चाहिए।

सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हॉर्नी होना क्या है? क्या यह कोई समस्या है?

आजकल हॉर्नी शब्द का प्रयोग काफी किया जाता है। लेकिन, इसका असली मतलब शायद ही कोई जानता होगा। आइए, जानते हैं हॉर्नी का असली मतलब।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal

क्या तीव्र कामेच्छा होना आपके लिए है खतरनाक? जानें इस बारे में सबकुछ

तीव्र कामेच्छा क्या है, तीव्र कामेच्छा होने के लक्षण क्या है, कामलिप्सा के नुकसान क्या है, हाई सेक्स ड्राइव क्या है, high libido in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

ओरल सेक्स क्या है? युवाओं को क्यों है पसंद?

ओरल सेक्स के बारे में सभी ने सुना है, लेकिन ओरल सेक्स क्या है? इसके दौरान आपको क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए? जानें सरल शब्दों में।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal

पावर प्ले में रखते हैं इंटरेस्ट तो ट्राई करें सबमिसिव सेक्स

सबमिसिव सेक्स क्या है, बीडीएसएम सेक्स क्या है, बॉन्डेज सेक्स कैसे करें, सेक्स के दौरान कौन सी सावधानियां बरतें, BDSM Sex Submissive sex

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
सेक्शुअल हेल्थ और रिलेशनशिप जून 30, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें