हाथ धोना कितना है जरूरी, बच्चों को सिखाएं हाथ धोने के टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

अक्सर ही पेरेंट्स बच्चों को हाथ धोने (हैंड वॉश) के लिए कहते हैं। बच्‍चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता व्‍यस्‍कों के मुकाबले कमजोर होती है, इसलिए उनको खास देखभाल की जरुरत होती है। हाथ धोने के फायदे बहुत से हैं लेकिन बच्चे इस बात को नहीं समझते हैं। कभी-कभार यह उनकी आदत में शामिल हो जाता है लेकिन कई बार वह इसके आदी नहीं होते हैं। हाथ धोने के फायदे केवल बच्चों के लिए नहीं है बल्कि ये करना हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है। हाथ धोने के फायदे के बारे में लोग केवल बच्चों को बताते हैं लेकिन, जान लिजिए हाथ धोना बच्चों के लिए ही नहीं बल्कि हर उम्र के लोगों के लिए बेहद जरूरी है। आपको बता दें कि हाथ धोना बीमारियों और खासकर संक्रमण से फैलने वाली बीमारियों से बचने का एक अच्छा तरीका है।

यूं सिखाएं बच्चों को हाथ धोने के फायदे

  • पेरेंट्स बच्चों को बार-बार हाथ धोने के लिए प्रोत्साहित करके उन्हें स्वस्थ रहने में मदद कर सकते हैं।
  • पेरेंट्स बच्चों के साथ अपने हाथ धोकर उनको सीखा सकते हैं कि हाथ कैसे धोने चाहिए।
  • वहीं बच्चों को जल्दबाजी करने से रोकने के लिए उन्हें कहें कि वे हाथ धोते वक्त अपनी पसंदीदा राइम (कविता) गाएं।
  • अगर आपका बच्चा खुद सिंक तक नहीं पहुंचता है, तो एक स्टूल को सिंक के पास रखें ताकि वह आसानी से खुद ही सिंक तक पहुंच सके और हाथ धो सके।
  • इसके अलावा पेरेंट्स बच्चों के एलकोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते वक्त निगरानी जरूर रखें। गलती से सैनिटाइजर को निगलना काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

और पढ़ें : डेंगू और स्वाइन फ्लू के लक्षणों को ऐसे समझें

हाथ धोने के फायदे में कब और कैसे हाथ धोना है सही जानिएः

कब धोने चाहिए हाथ

हम लोग दिन भर की दिनचर्या के दौरान कई लोगों से हाथ मिलाते हैं और यहां-वहां कई चीजों को छूते हैं। ऐसे में हम अपने हाथों पर कीटाणु को जमा करते हैं। ये कीटाणु आपकी आंखों, नाक या मुंह के संपर्क में आने पर आपको बीमार कर सकते हैं। हालांकि, अपने हाथों को कीटाणु मुक्त रखना भी नामुमकिन है। लेकिन, आप अपने हाथों को बार-बार धोकर बैक्टीरिया, वायरस और अन्य रोगाणुओं को सीमित कर सकते हैं और बीमार होने के जोखिम को कम कर सकते हैं। हाथ धोने के फायदे के बारे में जानने के लिए आपको पता होना चाहिए कि कब हाथ धोना है। साथ ही हाथ धोने का फायदा इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस चीज से हाथ धोते हैं।

हाथ धोने के फायदे में किन कामों को करने से पहले हाथ धोएं?

  • खाना बनाने या खाने से पहले
  • किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल करने से पहले
  • कॉन्टेक्ट लेंस लगाने या हटाने से पहले

किन कामों के बाद हाथ धोना जरूरी?

– टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद
बच्चों के डायपर बदलने के बाद
– किसी जानवर को छुने या उसे खाना खिलाने के बाद
-अपनी नाक साफ करने, खांसने या छींकने के बाद
– किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल के बाद
– कचरा फेंकने या इकट्ठा करने के बाद
– इसके अलावा जब आपके हाथ गंदे दिखे तब भी धोलें।

और पढ़ें : इस तरह नवजात शिशु को बचा सकते हैं इंफेक्शन से, फॉलो करें ये टिप्स

हाथ धोने के फायदे और इसका सही तरीका

आमतौर पर हाथों को साबुन या हैंड वॉश और पानी से धोना सबसे अच्छा होता है। सबसे पहले अपने हाथों को साफ और बहते पानी से गीला कर लें। इसके बाद हाथों पर साबुन या हैंड वॉश से झाग बना लें। दोनों हाथों को लगभग 20 सेकंड तक ठीक से रगड़ें। अपने हाथों की कलाई, अपनी उंगलियों के बीच और अपने नाखूनों के नीचे भी झाग को रगड़ना न भूलें। इसके बाद साबुन को पानी से अच्छे से धो लें। कई बार लोग सूखे हाथ पर साबुन लगा लेते हैं जो गलत होता है। हाथ धोने के लिए पानी और साबुन का सही माप होना चाहिए।

एल्कोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर भी है ऑप्शन

एलकोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर आज काफी प्रचलित हो रहे हैं। इनसे हाथ साफ करने के लिए आपको पानी की जरुरत नहीं होती। अगर आप हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते हैं, तो ध्यान रखें कि सैनिटाइजर में कम से कम 60% एलकोहॉल हो। हाथ धोने के फायदे आप कई बार हाथ धोए बगैर भी ले सकते हैं। जैसे अगर आपके पास साबुन और पानी का विकल्प नहीं है तो आप सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। सैनिटाइजर बिना पानी आपके हाथ के कीटाणु को साफ कर सकता है।

इस तरह करें सैनिटाइजर का इस्तेमाल

सबसे पहले सैनिटाइजर जेल को एक हाथ की हथेली पर निकाल लें। इसके बाद अपने हाथों को आपस में रगड़ें। अपने हाथों और उंगलियों की सभी सतहों पर इसे तब तक रगड़ें जब तक कि आपके हाथ सूख न जाएं।

हाथ धोने के फायदे में से एक है स्वस्थ रहना

बीमारियों को रोकने के लिहाज से हाथ धोना अहम भूमिका निभाता है। नियमित रूप से हाथ धोने की आदत को अपनाना आपको स्वस्थ जीवन जीने में मदद करता है।

और पढ़ें : बच्चों को सर्दी- जुकाम से बचाने के लिए अपनाएं ये 5 डेली हेल्थ केयर टिप्स

हाथों को साफ न रखने से फैलने वाली बीमारियां

डायरिया या दस्त
गैस्ट्रोएंट्राइटिस
हैजा
टाइफॉइड
हेपेटाइटिस ए और ई
पीलिया
एच 1 एन 1 (H1N1)

रोगाणु कैसे फैलते हैं?

रोगाणु कई तरह से फैल सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • गंदे हाथों को छूना
  • गंदे डायपर बदलना
  • दूषित पानी और भोजन के माध्यम से
  • खांसी या छींक के दौरान निकलने वाली हवा में बूंदों के माध्यम से
  • दूषित सतहों पर
  • बीमार व्यक्ति के शरीर के तरल पदार्थ के संपर्क में आने से
  • जब बच्चे कीटाणुओं के संपर्क में आते हैं, तो वे अपनी आँखों, नाक या मुंह को छूने से संक्रमित हो सकते हैं। और एक बार जब वे संक्रमित हो जाते हैं, तो आमतौर पर यह एक ही बीमारी के साथ पूरे परिवार के आने से पहले का समय होता है।

तो हाथ धोने की पावर को कम मत समझे, हाथ धोने के फायदे बहुत है। जितना समय आप अपने सिंक में बिताते है उतना ही समय आप खुद को डॉक्टर के क्लिनिक जाने से बचाते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जब घट जाती है सुनने की क्षमता तब काम आती है कान की मशीन, जानें इसके प्रकार

कान की मशीन कैसे लगाते हैं, Hearing Aids in hindi, कान की मशीन साफ कैसे करें, World Hearing Day 2020 i, कान में लगाने वाली मशीन कहां से लें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

अचानक दूसरों से ज्यादा ठंड लगना अक्सर सामान्य नहीं होता, ये है हाइपोथर्मिया का लक्षण

हाइपोथर्मिया क्या है, hypothermia in hindi, हाइपोथर्मिया का इलाज क्या है, ज्यादा ठंड लगने पर क्या करें, jyada thand lagne par kya karein, mujhe bahut thand lagti hai kya karun, ठंड कैसे भगाएं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal

Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

बच्चों के नखरे का कारण कुछ भी हो सकता है। वे किसी भी वजह से जिद और नखरे दिखा सकते हैं। ऐसा मानिसक और शारीरिक स्थिति दोनों की वजह से हो सकता है। इस आर्टिकल में जानें बच्चों के नखरे दिखाने का कारण और इससे निपटने के आसान टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग जनवरी 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

बच्चों में फूड एलर्जी के कारण, बच्चों में फूड एलर्जी क्यों होता है, फूड एलर्जी के लिए क्या करें, कैसे पहचाने फूड एलर्जी kids Food Allergy, जानें और

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग दिसम्बर 13, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Online Education- बच्चों के लिए ऑनलाइन एज्युकेशन

कोविड-19 के दौरान ऑनलाइन एज्युकेशन का बच्चों की सेहत पर क्या असर हो रहा है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
स्ट्रॉबेरी लेग्स

आपकी खूबसूरती को बिगाड़ सकते हैं स्ट्रॉबेरी लेग्स, जानें इसे दूर करने के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
ट्रगस पियर्सिंग

ट्रगस पियर्सिंग या तुंगिका छिदवाना सेहत के लिए सही है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अप्रैल 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
नोज पियर्सिंग

जान लें नोज पियर्सिंग बंप से राहत दिलाने के उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अप्रैल 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें