home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्वास्थ्य के लिए कैसे उपयोगी है राइस ब्रान ऑयल?

स्वास्थ्य के लिए कैसे उपयोगी है राइस ब्रान ऑयल?

राइस ब्रान ऑयल को हिंदी में जौ के तेल भी कहते हैं। राइस ब्रान ऑयल यह चावल के बाहरी लेप से निकाला गया यह प्राकृतिक तेल पोषक तत्वों से भरा होता है, जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक है। राइस ब्रान ऑइल विटामिन-ई और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध होता है, जो इसे अन्य खाना पकाने के तेलों की तुलना में स्वस्थ विकल्प है। इसके अलावा, यह आमतौर पर जापान और चीन जैसे कई एशियाई देशों में उपयोग किया जाता है। राइस ब्राउन ऑयल शरीर को अंदर से स्वस्थ रखने के साथ-साथ बाहरी त्वचा पर भी निखार ला सकता है। इसलिए राइस ब्रान ऑयल का प्रयोग फिटनेस के साथ-साथ ब्यूटी के लिए भी किया जाता है।

राइस ब्रान ऑयल के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? (Rice bran oil health benefits)

राइस ब्रान ऑयल पोषक तत्वों से भरा होता है, जो कई बीमारियों को प्रभावी रूप से ठीक कर सकता है और रोक सकता है। वास्तव में, राइस ब्रान ऑयल के नियमित उपयोग कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है, वजन निंयत्रण करने में मदद कर सकता है और एलर्जी को कम कर सकता है। यहां राइस ब्रान ऑयल के तेल के अविश्वसनीय स्वास्थ्य लाभों के बारे में बताया गया है।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) को लेवल में रखने के लिए इस डायट को कर सकते हैं फॉलो

राइस ब्रान ऑयल निनलिखित तरह से सेहत के लिए लाभदायक है। जैसे-

दिल की सेहत में सुधार (Improve heart health)

राइस ब्रान ऑयल का फैटी एसिड के एक स्वस्थ संतुलन को बढ़ावा देता है, जो आगे कोलेस्ट्रॉल के स्वस्थ संतुलन को बनाए रखता है । यह एक स्वस्थ हृदय स्थिति की ओर जाता है और कई रोगों को रोकता है। दिल के स्वास्थ्य में स्वाभाविक रूप से सुधार ने के लिए, आप अपने आहार में फ्लैक्ससीड्स, लाल चावल और नोनी का रस को शामिल कर सकते हैं।

कैंसर से बचाता है (Prevents cancer)

राइस ब्रान ऑयल में एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होता है। इस तेल के रोगाणुरोधी गुण कैंसर को रोक सकते हैं।

सूजन को ठीक करने में मदद करता है (Helps to cure inflammation)

राइस ब्रान ऑयल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर में गर्म चमक और अन्य सूजन को दूर कर सकते हैं।

हॉर्मोन संतुलित रहता है (Hormone remains balance)

राइस ब्रान ऑयल के नियमित सेवन से हॉर्मोन को संतुलित रखा जा सकता है। हॉर्मोन संतुलन से महिलाओं में होने वाले अनियमित पीरियड्स (मासिक धर्म), पुरुष या महिलाओं में बढ़ता मोटापा, कजोरी की परेशानी, भूख ठीक से न लगना या डायजेशन की समस्या कम हो सकती है। इसलिए खाने में राइस ब्रान ऑयल का इस्तेमाल करना लाभदायक हो सकता है।

इम्यून पावर होता है स्ट्रॉन्ग (Strengthen Immune power)

राइस ब्रान ऑयल में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल से लड़ने में कारगर है। इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बार-बार बीमार या लगातार होने वाले सर्दी-जुकाम से छुटकारा मिल सकता है

वजन कम करने में है सहायक (Helful in weight loss)

राइस ब्रान ऑयल में ट्रांस फैटी एसिड जैसे हानिकारक तत्व मौजूद नहीं होते हैं। राइस ब्राउन ऑयल शरीर के फैट को कम करने में सहायक होता है। अगर आप वजन कम करने की सोच रहें हैं, तो इस ऑयल से बना खाना खाएं।

लिवर को रखता है स्वस्थ्य (Keeps liver healthy)

राइस ब्रान ऑयल बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम कर सकता है। एक रिसर्च के अनुसार इससे बना खाना खाने से लिवर हेल्दी रह सकता है।

डायबिटीज रहता है कंट्रोल (Control Diabetes)

डायबिटीज की परेशानी में भी यह ऑयल के सेवन से कम हो सकती है। दरअसल इस ऑयल के सेवन से बैड कोलेस्ट्रॉल की परेशानी कम हो सकती है और डायबिटीज कंट्रोल रहता है।

और पढ़ें: गर्भधारण से पहले डायबिटीज होने पर क्या करें?

स्वस्थ बालों और त्वचा के लिए राइस ब्रान ऑयल (Rice bran oil for skin and hair)

त्वचा को रखता है सॉफ्ट (Keep skin soft)

इस तेल को नियमित चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करना करना चाहिए। इस तेल में मौजूद विटामिन-ई और फैटी एसिड जैसे तत्व त्वचा पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। यह ऑयल एक बेहतर मॉइश्चराइजर के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके इस्तेमाल से मुंहासे की समस्या भी खत्म हो सकती है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार स्किन एलर्जी या एग्जिमा की भी समस्या इसके इस्तेमाल से कम हो सकती है। राइस ब्रान ऑयल का उम्र बढ़ने के संकेतों को प्रभावी ढंग से रोक सकता है और यह विटामिन-ई में एक घटक टोकोफेरॉल की उपस्थिति के कारण होता है, जो त्वचा को युवा रखने में मदद कर सकता है और बालों को पर्याप्त पोषण प्रदान करता है। प्रदूषण और मुक्त कण अक्सर उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षणों को जन्म देते हैं, इस में विटामिन ई पुनर्जनन में मदद करता है और उम्र बढ़ने के प्रभाव को कम करता है। हालांकि, विटामिन ई बालों और त्वचा के लिए अच्छा है, आप ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त भोजन भी शामिल कर सकते हैं, जो त्वचा की युवावस्था को वापस ला सकता है।

चेहरे से डार्क स्पॉट कम हो सकते हैं (Reduce dark spots)

राइस ब्रान ऑयल में मौजूद विटामिन-ई सेहत के साथ-साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। इसे चेहरे पर लगाने से डार्क स्पॉट की परेशानी भी धीरे-धीरे कम हो सकती है।

और पढ़ें: डार्क सर्कल दूर करने के 6 घरेलू उपाए

खुजली की परेशानी होती है (Relieves itching problem)

इस ऑयल में गमा-ओरिजनोल (gamma-oryzanol) और एंटी-एजिंग जैसे तत्व मौजूद होने के कारण खुजली की परेशानी कम हो सकती है। इस ऑयल का इस्तेमाल ठंड के मौसम में किया जा सकता है। आप चाहें तो इसे चेहरे के साथ-साथ बालों पर भी लगा सकते हैं।

बालों का झड़ना होगा कम (Beneficial for hair fall)

अगर आपके बाल पतले और कमजोर हो गये हैं तो इस ऑयल से बालों की मसाज करें। इस ऑयल में मौजूद अल्फा टोकोफेरॉल बालों को मजबूती प्रदान करता है। इस तेल के मालिस से बाल मजबूत होते हैं और बाल झड़ने की समस्या धीरे-धीरे कम होती है। इसके मसाज से बाल घने होते हैं और डैंड्रफ की समस्या भी दूर होती है। प्रायः सर्दियों के मौसम में डैंड्रफ की परेशानी ज्यादा होती है। इसलिए इसका प्रयोग ठंड में किया जा सकता है।

और पढ़ें: खाना तो आप हर रोज पकाते हैं, लेकिन क्या बेस्ट कुकिंग ऑयल के बारे में जानते हैं?

इस तेल के इस्तेमाल से पहले किन-किन बातों का रखें ख्याल?

इस ऑयल के इस्तेमाल से पहले निम्नलिखित बातों को ध्यान रखें। जैसे-

  1. इसको इस्तेमाल या प्रयोग करने वाले अल्सर के पेशेंट न हों
  2. सब्जियों में इसका ज्यादा प्रयोग न करें। ज्यादा प्रयोग से कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो सकती है।
  3. इस तेल का सेवन कच्चा न करें। हमेशा पके हुए तेल का इस्तेमाल करें। कच्चे तेल के सेवन से डायजेशन की समस्या हो सकती है।
  4. हार्ट पेशेंट को इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य सलाह लेनी चाहिए।

अगर आप राइस ब्रान ऑयल से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Rice bran oil and human health./https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/8886338/Accessed on 25/12/2019

Chemopreventive Properties of Dietary Rice Bran: Current Status and Future Prospects/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3648746/Accessed on 25/12/2019

Palm And Rice Bran Oil Study (PARBO)/https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02969057/Accessed on 25/12/2019

Chemopreventive Properties of Dietary Rice Bran: Current Status and Future Prospects/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3648746/Accessed on 25/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shilpa Khopade द्वारा लिखित
अपडेटेड 28/08/2019
x