backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

स्तन की परेशानी की वजह से क्या हो सकता है कैंसर?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/11/2021

स्तन की परेशानी की वजह से क्या हो सकता है कैंसर?

शरीर से जुड़ी कई परेशानी हो सकती है, ठीक वैसे ही स्तन की परेशानी से भी महिलाओं की समस्या बढ़ सकती है। हालांकि स्तन की परेशानी कोई भी हो इसका यह अर्थ नहीं है की आप ब्रेस्ट कैंसर की समस्या से पीड़ित हैं। अक्सर महिलाओं को स्तन संबंधी समस्या होने पर कैंसर का डर सताने लगता है, जो कि गलत है। स्तन की परेशानी के कई कारण हो सकते हैं। जानिए स्तन की परेशानी (Breast problem) से कौन-सी समस्याएं जुड़ी हैं।

स्तन की परेशानी (Breast problem) से डरें नहीं

महिलाओं के सेहत से जुड़ी परेशानियों में से एक है स्तन (Breast) से जुड़ी परेशानी। कई बार बातचीत करते हुए हमसभी स्तन से जुड़ी परेशानियों के बारे में सुनते हैं। लेकिन, स्तन की बीमारी हमेशा कैंसर ही नहीं होती है। एमएनसी में काम करने वाली 35 वर्षीय शालिनी ठाकरे कहती हैं ‘उन्हें स्तन में सेंसेटिविटी (संवेदनशीलता) महसूस होती थी और उन्हें यह डर भी था की कहीं उन्हें कैंसर तो नहीं है। अपनी परेशानी जब उन्होंने डॉक्टर को बताई तो पता चला की सही ब्रा का इस्तेमाल नहीं करने की वजह से ऐसा हुआ था।’ शालिनी ने डॉक्टर द्वारा बताए गए जरूरी बातों को फॉलो किया और अब वो बेहतर महसूस कर रही हैं।

और पढ़ें: आई कैंसर (eye cancer) के लक्षण, कारण और इलाज, जिसे जानना है बेहद जरूरी

जानते हैं स्तन में होने वाली समस्या क्या-क्या हैं?

1. स्तन की परेशानी (Breast problem) में शामिल है स्तन में दर्द महसूस होना

स्तन में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। इन कारणों में शामिल हैं-

  • सही साइज के ब्रा (Bra) का चयन नहीं करना। दरअसल ब्रा सही साइज का नहीं पहने की वजह से भी ब्रेस्ट में दर्द की समस्या हो सटी है। इसलिए स्तन में दर्द होने पर ब्रा के साइज को चेक करें।
  • किसी कारण हॉर्मोन में बदलाव आना।
  • स्तन की परेशानी फैटी एसिड के कारण भी हो सकती है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार फैटी एसिड के लेवल में बदलाव आना (शरीर में मौजूद सेल्स में फैटी एसिड की कमी आने पर स्तन में दर्द हो सकती है ) स्तन से जुड़ी परेशानी पैदा कर सकता है।
  • किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी होने पर स्तन में दर्द महसूस हो सकता है।

ऐसे स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करना बेहतर होगा।

और पढ़ेंः ब्रेस्ट संक्रमण (Breast infection) को ब्रेस्ट कैंसर तो नहीं समझ रहीं आप? जानें दोनों में अंतर

2. स्तन की परेशानी (Breast problem) में शामिल है स्तन या निप्पल में इंफेक्शन होना 

ब्रेस्ट टिसू में इंफेक्शन को मैस्टायटिस (Mastitis) कहा जाता है। स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में मैस्टायटिस की समस्या सबसे आम है। लेकिन, यह किसी को भी हो सकता है।मैस्टायटिस आमतौर पर सिर्फ एक स्तन को प्रभावित करता है। इंफेक्शन होने पर निम्नलिखित लक्षण नजर आते हैं:

  • स्तन में सूजन होना
  • ब्रेस्ट में जलन महसूस होना
  • स्तन का लाल होना
  • बिना कारण शरीर का तापमान बढ़ना
  • इंफेक्शन होने पर कभी-कभी ठंड भी लग सकती है

स्तनों की शारीरिक रचना के लिए देखें ये वीडियो-

3. स्तन की परेशानी में शामिल है निप्पल कटना, घाव या खुजली होना

स्तनपान करवाने के कारण बच्चा कभी-कभी काट लेता है। इसके साथ ही स्तन के निप्पल में क्रैक आना या खुजली हो सकती है। निप्पल के आसपास की त्वचा शुष्क हो जाती है, जिससे दर्द हो सकता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर द्वारा दिये गये सलाह का पालन करें।

और पढ़ेंः रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, खाने से पहले इन बातों का ख्याल रखना जरूरी

4. निप्पल से तरल पदार्थों का निकलना

निप्पल से डिस्चार्ज होना सामान्य होता है। लेकिन, अगर इससे परेशानी महसूस हो या ज्यादा डिस्चार्ज हो तो डॉक्टर से संपर्क करें। इस दौरान पेशेंट को अपने हेल्थ एक्सपर्ट से यह समझना बेहद जरूरी है की उन्हें निप्पल से डिस्चार्ज क्यों ज्यादा हो रहा है।

5. लंप्स होना स्तन की परेशानी हो सकती है 

कभी-कभी ब्रेस्ट की खूबसूरती बढ़ाने के लिए सिलिकॉन का इस्तेमाल किया जाता है। इस वजह से भी लंप्स की शिकायत हो सकती है। लंप्स होने पर इसे नजरअंदाज न करें। जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना बेहतर होगा। लड़की की प्यूबर्टी में होने वाले शारीरिक बदलाव के दौरान भी लंप्स होने की संभावना हो सकती है।

और पढ़ें: मैमोग्राफी और थर्मोग्राफी में क्या अंतर है ?

6. हॉर्मोनल बदलाव 

हॉर्मोन में बदलाव किसी भी कारण हो सकते हैं। जिसका असर स्तन पर भी पड़ता है। लक्षण समझ आने पर डॉक्टर से संपर्क करें। ऐसी स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करना इसलिए बेहतर होता है क्योंकि हेल्थ एक्सपर्ट यह आसानी से और कुछ शारीरिक चेकअप से समझ सकते हैं की शरीर में हॉर्मोनल बदलाव क्यों हो रहे हैं। शरीर में अगर किसी सकारात्मक कारण की वजह से हॉर्मोन में बदलाव हो रहें हैं, तब तो कोई परेशानी नहीं है लेकिन, अगर किसी नेगेटिव कारण से हॉर्मोन में बदलाव हो रहें हैं तो इसका इलाज करवाना बेहतर होगा।

7. सिस्ट होना-

35 से 50 वर्ष की आयु की महिलाओं में सिस्ट की समस्या हो सकती है। दरअसल जब ब्रेस्ट में छोटी-छोटी पानी की थैलियों का निर्माण हो जाता है, तब सिस्ट की समस्या हो सकती है। सिस्ट की समस्या जरूरी नहीं कि है कि किसी परेशानी का कारण बने।

इन परेशानियों के साथ-साथ निम्नलिखित कारणों की वजह से भी हो सकती है स्तन की परेशानी हो सकती है। इनमें शामिल है:

8. पीरियड्स के दौरान ब्रेस्ट का ठोस होना –

स्तन की परेशानी पीरियड्स (मासिक धर्म) के दौरान भी महसूस की जा सकती है। ब्रेस्ट में सूजन या ब्रेस्ट का ठोस होना पीरियड्स के दौरान आम माना जाता है, इसे साइक्लिक ब्रेस्ट पेन (Cyclical Breast Pain) कहते हैं। लेकिन, समस्या अगर बढ़ती जा रही है, तो एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

9. प्रेग्नेंसी के शुरुआत में ब्रेस्ट का ठोस होना और सूजन आना-

ऐसा खासकर महिला जब पहली बार प्रेग्नेंट होती हैं तब महूसस करती हैं। ऐसा हॉर्मोन में हो रहे बदलाव की वजह से भी होता है। गर्भावस्था के दौरान शरीर में कई सारे बदलाव महसूस किये जाते हैं लेकिन, इन बदलाव की वजह से अगर परेशानी महसूस हो तो इसे नजरअंदाज न करें और जल्द से जल्द इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को दें। आपको इस कारण से अधिक परेशान होने की जरूरत नहीं है।

10. स्तनपान की वजह से दर्द होना

ज्यादातर महिलाओं की यह परेशानी होती है। ऐसे में खुद से या घरेलू उपचार न अपनाएं। एक्सपर्ट आपको सही सलाह देंगे जो स्तनपान करवाने वाली महिला के साथ-साथ स्तनपान करने वाले बच्चे के लिए बेहतर होगा। ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस परेशानी को भी स्तन की परेशानी से जोड़ कर देखा जाता है। इसलिए अगर आपको शिशु को स्तनपान करवाने से कोई परेशानी समझ आती है, तो अपनी इस परेशानी को छुपाये नहीं और जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें।

ऊपर बताए गए कारणों के अलावा अन्य कारण भी हो सकते हैं। इसलिए किसी भी शारीरिक समस्या होने पर परेशानी को नजरअंदाज न करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आप स्तन की परेशानी से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। आपको इस आर्टिकल के माध्यम से स्तन की परेशानी  के बारे में जानकारी मिल गई होगी। अगर मन में अधिक प्रश्न हैं, तो बेहतर होगा कि इस बारे में डॉक्टर से पूछें। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/11/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement