कितना गंभीर हो सकता है स्टेज 4 थ्रोट कैंसर? जानिए कैसे करें इसके रिस्क को कम?

    कितना गंभीर हो सकता है स्टेज 4 थ्रोट कैंसर? जानिए कैसे करें इसके रिस्क को कम?

    थ्रोट कैंसर (Throat cancer), हेड और नैक कैंसर का एक प्रकार है। इसके अलग-अलग नाम हैं, जो इस पर निर्भर करते हैं कि थ्रोट का कौन सा भाग प्रभावित है। इसके विभिन्न भागों को ऑरोफेरिंक्स (Oropharynx), हायपोफेरिंक्स (Hypopharynx), नेसोफेरिंक्स (Nasopharynx) और लैरिंक्स (Larynx) यानी वॉइस बॉक्स कहा जाता है। गले के कैंसर की कई स्टेजेज होती हैं। इन स्टेजेज से पता चलता है कि रोगी के शरीर में कैंसर कितना फैल चुका है और इसके साथ ही डॉक्टर को उपचार के बारे में निर्धारित करने में भी मदद मिलती है। आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के बारे में। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के विषय में जानने से पहले थ्रोट कैंसर के बारे में जान लेते हैं।

    क्या है थ्रोट कैंसर(Throat cancer)?

    जैसे कि पहले ही बताया गया है कि थ्रोट कैंसर सिर और गर्दन का एक प्रकार है। इस कैंसर की शुरुआत सिर और गर्दन से होती है। थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के मुख्य रिस्क फैक्टर्स में हैवी ड्रिंकिंग और तंबाकू का सेवन शामिल है। इस कैंसर के लक्षणों में यह सब शामिल है:

    • गले में खराश, जो दूर नहीं होती है
    • गर्दन में लम्प
    • कानों में दर्द
    • निगलने में समस्या होना

    थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के निदान के लिए डॉक्टर रोगी की फिजिकल जांच करते हैं और उसकी फैमिली हिस्ट्री के बारे में जाना जाता है। इसके साथ ही अन्य टेस्ट्स की सलाह भी दी जा सकती है। इस कैंसर के उपचार में सर्जरी, रेडिएशन थेरेपी और कीमोथेरेपी आदि शामिल है। कई तरह के थ्रोट कैंसर के मामले में टार्गेटेड थेरेपी का इस्तेमाल किया जा सकता है। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के बारे में जानने से पहले यह जान लेते हैं कि थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के स्टेजेज को कैसे निर्धारित किया जा सकता है?

    स्टेज 4 थ्रोट कैंसर , Stage 4 throat cancer

    और पढ़ें: क्या स्मोकिंग, सिर और गर्दन के कैंसर का मुख्य कारण हैं, जानिए इस बारे में विस्तार से

    स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer): थ्रोट कैंसर (Throat cancer) की स्टेजेज को कैसे जांचे?

    थ्रोट कैंसर (Throat cancer), ओरल कैविटी और फेरिक्स कैंसर (Pharynx cancer) का एक प्रकार है। इसमें फेरिक्स, टॉन्सिल्स, जीभ, मुंह और होंठ का कैंसर शामिल है। फेरिक्स एक मस्कुलर ट्यूब है, जो अन्नप्रणाली से नाक के पीछे तक जाती है। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer), गर्दन के कैंसर की सबसे अडवांस्ड स्टेज है। इसके अर्थ यह है कि कैंसर नियरबाय टिश्यूज, गर्दन में एक या एक से अधिक लिम्फ नोड्स या गर्दन के पीछे शरीर के हिस्सों तक फैल गया है।

    इस कैंसर के निदान के बाद डॉक्टर कैंसर की स्टेज को निर्धारित करते हैं। इससे कैंसर की लोकेशन, यह कितना बड़ा है और कितनी दूर तक फैला है, यह सब पता चल सकता है। कैंसर की स्टेज के बाद डॉक्टर ट्रीटमेंट ऑप्शंस को निर्धारित करते हैं। स्टेजिंग प्रक्रिया के पार्ट के रूप में, डॉक्टर इन सामान्य विकल्पों में से किसी एक का उपयोग कर सकते हैं:

    और पढ़ें: स्टमक कैंसर कीमोथेरिपी (Stomach cancer chemotherapy): कब जरूरत पड़ती है पेट के कैंसर में कीमोथेरिपी!

    टीेएनएम सिस्टम (TNM system)

    टीेएनएम सिस्टम में टीेएनएम का अर्थ है ट्यूमर, नोड्स और मेटास्टेसिस।

    • टी (T) का अर्थ है ट्यूमर का साइज
    • एन (N)= यानी, क्या कैंसर लिम्फ नोड्स तक फैल गया है और यह कितना फैला है।
    • एम (M) = क्या कैंसर शरीर के अन्य अंगों तक फैल गया है जिसे मेटास्टेसिस कहा जाता है।

    थ्रोट कैंसर की सबसे अडवांस्ड टीएनएम स्टेज, स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) है। इस एडवांस स्टेज में ट्यूमर किसी भी साइज का हो सकता है

    और पढ़ें: ALK positive lung cancer: एएलके पॉसिटिव लंग कैंसर क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज!

    एसइइआर (SEER)

    एसइइआर (SEER) का अर्थ है सर्विलांस (Surveillance), एपिडेमियोलॉजी (Epidemiology) और एंड रिजल्ट्स (End Results)। एसइइआर प्रोग्राम (SEER Program) में सभी तरह के कैंसर से डाटा कलेक्ट किया जाता है। इस इंफॉर्मेशन को तीन स्टेजेज में विभाजित किया जाता है:

    • लोकेलाइज्ड (Localized): गले के कैंसर के लिए, यह चरण यह बताता है कि इस बात का कोई संकेत नहीं है कि कैंसर गले के उस क्षेत्र से आगे फैल गया है, जहां से यह शुरू हुआ था।
    • रीजनल (Regional): थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के लिए, यह चरण यह बताता है कि कैंसर पास के लिम्फ नोड्स में फैल गया है या ओरिजनल टिश्यू के बाहर और आसपास के अन्य ऊतकों या स्ट्रक्चर में विकसित हो गया है।
    • डिस्टेंट (Distant): थ्रोट कैंसर के लिए, यह चरण बताता है कि कैंसर दूर के हिस्सों में फैल गया है, जैसे कि लिवर।

    यह तो थी जानकारी स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के बारे में। अब जानते हैं कि थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के जोखिम को कैसे कम किया जा सकता है?

    और पढ़ें: टेलबोन कैंसर (Tailbone Cancer): क्या कारण हो सकते हैं इस स्पाइनल कैंसर के, जानिए

    थ्रोट कैंसर (Throat cancer) के रिस्क को कैसे करें कम?

    ऐसा माना जाता है कि ओरल कैविटी और फेरिक्स कैंसर नए कैंसर के मामलों को रिपेरजेंट करते हैं। ऐसा भी माना गया है कि पिछले कुछ सालों में इन कैंसरस का जोखिम बहुत अधिक बढ़ गया है। थ्रोट कैंसर (Throat cancer) को अक्सर हेड और नैक कैंसर की श्रेणी में रखा जाता है। हेड और नैक कैंसर ऐसे कैंसर हैं, जो हेड और नैक में शुरू होते हैं, लेकिन इसमें आई या ब्रेन के कैंसर शामिल नहीं होते हैं। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) बहुत ही एडवांस्ड स्टेज है। हेड और नैक कैंसर के रिस्क को कम करने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाएं जा सकते हैं:

    • तंबाकू का सेवन करने से बचें। इसमें सिगरेट,पाइप और सिगार आदि शामिल हैं। अगर आप स्मोकिंग करते हैं, तो उसे छोड़ने के बारे में सोचें और इसके लिए आप डॉक्टर की मदद भी ले सकते हैं।
    • एल्कोहॉलिक पेय पदार्थों का सेवन करने से बचें या उनका कम मात्रा में सेवन करें। आपको कितनी मात्रा में एल्कोहॉल लेनी चाहिए, इस बारे में डॉक्टर से अवश्य बात करें।
    • ह्यूमन पेपिलोमावायरस (Human papillomavirus) से खुद को बचाएं। अगर आप छब्बीस साल से कम उम्र के हैं तो इसकी वैक्सीनेशन करवाएं।
    • गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) का उपचार कराएं।
    • सही आहार का सेवन करें। अपने आहार में फल, सब्जियों और साबुत अनाज आदि का सेवन करें।
    • हेल्दी हैबिट्स को अपनाएं, जैसे नियमित व्यायाम करें, तनाव से बचें, अपने वजन को सही रखें आदि।

    और पढ़ें: Fitzpatrick Skin Types : स्किन कैंसर के बारे में जानने का आसान तरीका है फिट्जपैट्रिक स्किन टाइप्स!

    यह तो थी जानकारी स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के बारे में। अगर आपने इस समस्या का निदान हुआ है, तो डॉक्टर आपको यह बताएंगे कि आपकी लाइफ एक्सपेक्टेंसी, रिलेटिव सर्वाइवल रेट्स (Relative survival rates) से अलग हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ये रेट्स अलग-अलग कारकों के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, जैसे कि आपकी:

    • संपूर्ण हेल्थ
    • उम्र
    • लिंग
    • ट्रीटमेंट के प्रति रोगी का रिस्पांस जैसे कीमोथेरेपी

    इसके अलावा, रिलेटिव सर्वाइवल रेट्स उपचार में रीसेंट इम्प्रूवमेंट को नहीं दर्शाते हैं। हो सकता है कि किसी मरीज में थ्रोट कैंसर (Throat cancer) का निदान स्टेज 4 में हो। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer), रिकरंट थ्रोट कैंसर भी हो सकता है यानी वो कैंसर जो उपचार के बाद फिर से हो रहा हो। कैंसर शरीर के उस हिस्से में वापस आ सकता है, जहां यह मूल रूप से विकसित हुआ था या यह लिम्फ नोड्स (Lymph nodes), या शरीर के किसी अन्य भाग में भी फिर से हो सकता है। स्टेज 3 और स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के अर्ली-स्टेज कैंसर की तुलना में इनिशियल ट्रीटमेंट के बाद वापस आने की अधिक संभावना है।

    स्टेज 4 थ्रोट कैंसर , Stage 4 throat cancer

    और पढ़ें: महिलाओं में कोलोन कैंसर के लक्षण हो सकते हैं मासिक धर्म के लक्षणों से मिलते हुए, ना करें लापरवाही

    यह तो थी जानकारी स्टेज 4 थ्रोट कैंसर (Stage 4 throat cancer) के बारे में। स्टेज 4 थ्रोट कैंसर का निदान होना बेहद चिंता का विषय हो सकता है। लेकिन, इसके उपचार से इस समस्या के लक्षणों से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है। अगर इस बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो अपने डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानेंआप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड