home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

शुगर लेवल जल्दी घटाना चाहते हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

शुगर लेवल जल्दी घटाना चाहते हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

जब ब्लड शुगर लेवल बहुत हाय हो जाता है तो इसे हायपरग्लायसेमिया (Hyperglycemia) या हाय ब्लड ग्लूकोज कहा जाता है। हाय ब्लड शुगर लेवल को कम करना या कहे कि शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly) है, तो इसका सबसे ईजी और क्विक तरीका फास्ट एक्टिंग इंसुलिन (Fast-acting insulin) का उपयोग है। इसके साथ ही एक्सरसाइज भी ब्लड शुगर लेवल को कम करने का प्रभावी तरीका है। हालांकि, कुछ मामलों में हाय ब्लड शुगर के मरीज को हॉस्पिटल जाने की जरूरत भी पड़ सकती है।

हाय ब्लड शुगर लेवल (High Blood Sugar level) के परिणाम

जब ब्लड शुगर लेवल बहुत हाय हो जाता है तो इसके निम्न परिणाम होते हैं।

हायपरग्लायसेमिया (Hyperglycemia)

जैसा कि हम ऊपर बता चुके हैं कि, जब ब्लड शुगर का लेवल बहुत हाय हो जाता है, तो इसे हायपरग्लायसेमिया कहा जाता है। डब्लयूएचओ (WHO) के अनुसार खाने के पहले ब्लड शुगर का लेवल 126 mg/dL और खाने के दो घंटे बाद 200 mg/dL होने पर इसको हायपरग्लायसेमिया कहा जाता है। ब्लड शुगर के इस नंबर पर पहुंचने पर शुगर लेवल जल्दी घटाना जरूरी है। ब्लड शुगर की नियमित जांच बेहद जरूरी है ताकि हायपरग्लायसेमिया के बारे में पता लगाया जा सके। हायपरग्लायसेमिक होने पर निम्न लक्षण दिखाई देते हैं।

  • थकान
  • बार-बार यूरिन (Urine) आना
  • प्यास का बढ़ना
  • भूख
  • सिर में दर्द (Headache)
  • ध्यान केन्द्रित करने में कठिनाई
  • धुंधला दिखाई (Blurred vision) देना

और पढ़ें : ओरल हायपोग्लाइसेमिक ड्रग्स: टाइप 2 डायबिटीज के ट्रीटमेंट में हैं उपयोगी, उपयोग का तरीका है आसान

शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly)

डायबिटिक कीटोएसिडोसिस (Diabetic Ketoacidosis)

शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly) इसलिए भी जरूरी है क्योंकि यह डायबिटिक कीटोएसिडोसिस का कारण बन सकता है। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार जब ब्लड शुगर का लेवल 250 mg/dL होता है, तो यह डायबिटिक कीटोएसिडोसिस का कारण बनता है।

कीटोएसिडोसिस इसलिए होता है क्योंकि बॉडी को फ्यूल की जरूरत होती है। हाय ब्लड शुगर के चलते बॉडी को ग्लूकोज के रूप में एनर्जी नहीं मिलती है। इसलिए बॉडी फैट को बर्न कर एनर्जी प्राप्त करने की कोशिश करती है, लेकिन इस प्रॉसेस में कीटोन्स (एसेंसिशल एसिड्स) ब्लडस्ट्रीम में बिल्ड होने लगते हैं। इसके लक्षण भी हायपरग्लेसेमिया की तरह ही होते हैं।

  • उल्टी और जी मिचलाना
  • भ्रम
  • सांस लेने में कठिनाई
  • मूंह सूखना
  • एब्डोमेन में दर्द होना

इन कंडिशन्स के बचने के लिए शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly) आवश्यक है। ब्लड शुगर लेवल बढ़ने पर अगर आपको समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें, तो डॉक्टर से बात करें और उनसे इंसुलिन के सही डोज के बारे में पूछें। इस आर्टिकल में शुगर लेवल जल्दी घटाने के तरीके बताए जा रहे हैं।

शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly)

शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly) चाहते हैं तो निम्न टिप्स को फॉलो कर सकते हैं।

सबसे पहले प्रिस्क्राइब किए गए इंसुलिन को लें (Take your insulin as prescribed)

ब्लड शुगर लेवल जल्दी घटाना चाहते हैं, तो सबसे पहले इंसुलिन की मदद लें। हाय ब्लड शुगर लेवल तब होता है जब बॉडी में इंसुलिन बहुत कम होता है या बॉडी इंसुलिन को उचित तरीके से यूज नहीं कर पाती। इंसुलिन ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकता है। इसके बारे में पहले से ही डॉक्टर से पूछकर रख लें कि हाय ब्लड शुगर लेवल होने पर कौनसा रेपिड एक्टिंग इंसुलिन (Rapid-acting insulin) लेना चाहिए।

इंसुलिन लेने के बाद मरीज को 15 से 30 मिनट बाद अपना ब्लड शुगर लेवल चेक करना चाहिए। जिससे पता लगाया जा सके कि ब्लड शुगर लेवल कम हो रहा है या नहीं।

और पढ़ें : Insulin Glargine: इंसुलिन ग्लारजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

एक्सरसाइज (Exercise) करें

ब्लड शुगर लेवल जल्दी घटाना है तो एक्सरसाइज एक प्रभावी तरीका है। एक्सरसाइज 24 घंटे तक के लिए ब्लड शुगर लेवल कम कर सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह आपके शरीर को इंसुलिन के प्रति अधिक संवेदनशील बनाती है। फिजिकल एक्टिविटी के कारण बॉडी एनर्जी के लिए ग्लूकोज की मांग करती है। इसके परिणामस्वरूप कोशिकाएं मांसपेशियों को ग्लूकोज पहुंचाती हैं जिससे ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है।

ब्लड शुगर लेवल को जल्दी घटाना है, तो एरोबिक एक्सरसारइज करना अच्छा ऑप्शन है। जिसमें जॉगिंग, वॉकिंग और रनिंग शामिल है। इन एक्सरसाइज को करते वक्त हार्ट रेट बढ़ जाती है। जिससे इंसुलिन सेंटिविटी (Insulin sensitivity) बढ़ती है जिससे ब्लड शुगर लेवल कम होता है।

एक्सरसाइज करते वक्त इस बात का रखें ध्यान

  • ब्लड शुगर लेवल को जल्दी घटाने के लिए इंटेंस एक्सरसाइज ना करें। इंटेंस एक्सरसाइज (Intense exercise) बॉडी के फैट बर्न का कारण बन सकती हैं। जिससे कीटोन्स प्रोड्यूस होते हैं। जब आप कोटीएसिडोसिस से बचना चाहते हैं तो इंटेंस एक्सरसाइज से बचना चाहिए।
  • इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि अगर मरीज का ब्लड शुगर लेवल 250 mg/dL या इससे ज्यादा है, तो एक्सरसाइज नहीं करना चाहिए।
  • ऐसे में एक्सरसाइज करना खतरनाक हो सकता है।

शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly)

पानी पिएं (Stay hydrated)

हायपरग्लेसेमिया या हाय ब्लड ग्लूकोज होने पर प्यास अधिक लगती है। ऐसे में आप अधिक मात्रा में पानी पीना चाहते हैं जो कि हाय ब्लड शुगर को कम करने में भी मदद करता है। क्योंकि अधिक पानी पीने से अतिरिक्त ग्लूकोज यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है। शुगर लेवल जल्दी घटाना (Reduce sugar level instantly) है, तो हायड्रेटेड रहना जरूरी है।

और पढ़ें: ब्लड शुगर लेवल इम्बैलेंस होने पर सोचने समझने की क्षमता पड़ कमजोर!

डायट (Diet) लें ऐसी

डाईटिंग भी हाय ब्लड शुगर लेवल का कारण बन सकती है, लेकिन क्योंकि आप अधिक पानी का उपयोग कर रहे तों ऐसे में यूरिन के जरिए न्यूट्रिंएट्स भी निकल रहे होंगे। ऐसे में जरूरी है कि अपने पोषण का ख्याल रखें और ऐसी चीजें खाएं जो ब्लड शुगर लेवल को जल्दी घटाने में मदद करें। इस दौरान मरीज ऐसे फ्लूइड का उपयोग करें जिसमें कार्ब ना हो, लेकिन इलेक्ट्रोलाइट्स (Electrolytes) हों।

प्रोटीन भी रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में मदद कर सकता है। यदि आप हायपरग्लायसेमिक हैं, तो आप प्रोटीन युक्त खाना खा सकते हैं, लेकिन बिना कार्ब्स के। एक उदाहरण के लिए, टर्की या चिकन में आमतौर पर कोई कार्ब्स नहीं होता है।

तनाव बिलकुल ना लें (Don’t take stress)

हाय ब्लड शुगर लेवल के बारे में पता चलने पर अक्सर मरीज तनाव में आ जाते हैं, लेकिन तनाव की वजह से ब्लड शुगर लेवल और बढ़ जाता है। इसलिए रिलैक्स करें और चिंता ना करें। तनाव को कम करने के लिए ध्यान, म्यूजिक, पेंटिंग, ब्रीदिंग एक्सरसाइज का सहारा लिया जा सकता है। शुगर लेवल जल्दी घटाना है तो तनाव से दूरी बनानी होगी।

और पढ़ें : टाइप 2 डायबिटीज और जंक फूड : यह स्वादिष्ट आहार कहीं बन ना जाए जी का जंजाल!

डायबिटीज टाइप 1 के बारे में अधिक जानने के लिए देखिए ये 3डी मॉडल:

हाय ब्लड शुगर लेवल के अन्य कॉम्प्लिकेशन (Other complications of high blood sugar level)

अपने रक्त शर्करा की जांच करना और फिर हायपरग्लायसेमिया का जल्दी इलाज करना किसी भी जटिलता को रोकने में मदद करेगा। स्वास्थ्य समस्याएं तब उत्पन्न हो सकती हैं जब किसी व्यक्ति का ब्लड शुगर लेवल लगातार हाय हो और इसका इलाज ना किया जाए। कॉम्प्लिकेशन्स में शामिल हैं:

  • नर्व डैमेज (Nerve damage), जिसे डायबिटिक न्यूरोपैथी (Diabetic neuropathy) कहा जाता है, जो पैरों और हाथों में संवेदनाओं को प्रभावित कर सकती है
  • डायबिटिक रेटिनोपैथी, या आंखों में रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाती है जिससे दृष्टि प्रभावित होती है
  • लिवर प्रॉब्लम्स का रिस्क बढ़ना
  • दिल की समस्याओं के लिए जोखिम बढ़ना

अपने रक्त शर्करा को लक्ष्य स्तर पर रखने के लिए कदम उठाने से इन जटिलताओं की संभावना को कम करने में मदद मिल सकती है।

उम्मीद करते हैं कि आपको शुगर लेवल जल्दी घटाना है (Reduce sugar level instantly) क्यों जरूरी है इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ घंटे पहले को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x