आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् और इसके इस्तेमाल की इंफॉर्मेशन है यहां

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् और इसके इस्तेमाल की इंफॉर्मेशन है यहां

बढ़ते वजन और जेनेटिक कारणों की वजह से देश में डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और डायबिटीज पेशेंट्स के लिए जरूरी हो जाता है इंसुलिन। दरअसल इंसुलिन इसलिए जरूरी हो जाता है, क्योंकि इसकी मदद से ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस रहने में सहायक होता है। ऐसा नहीं है कि हर व्यक्ति को इंसुलिन की आवश्यकता पड़ती ही है, बल्कि डायबिटीज जब दवाओं से कंट्रोल नहीं हो पाता है, तो इंसुलिन की जरूरत पड़ती है। मधुमेह (Diabetes) की मरीजों को इंसुलिन लेने में परेशानी ना हो, इसलिए इंसुलिन पेन् की भी मदद ली जा रही है। आज इस आर्टिकल में इंसुलिन पेन् और भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी आपसे शेयर करेंगे।

  • भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् कौन-कौन से हैं?
  • इंसुलिन पेन् का इस्तेमाल कैसे करें?

चलिए अब इन ऊपर बताये सवालों का जवाब जानते हैं।

और पढ़ें : डायबिटीज की वजह से हो सकती है हियरिंग लॉस की समस्या, यकीन नहीं होता तो पढ़िए यह लेख!

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् कौन-कौन से हैं? (Top 10 Insulin pens in India)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् की लिस्ट इस प्रकार है-

1. ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक (Tresiba Insulin Degludec)

इंसुलिन पेन् की लिस्ट में सबसे पहले बात करते हैं ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक (Tresiba Insulin Degludec)। ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक ओवर-द-काउंटर मिलने वाला इंसुलिन पेन् है। ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक इंसुलिन पेन् इंजेक्शन लेने के साथ-साथ डायबिटीज मरीजों को बैलेंस डायट लेने के साथ-साथ एक्सरसाइज करने की भी सलाह दी जाती है। ऐसा माना जाता है कि ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक (Tresiba Insulin Degludec) इंसुलिन पेन् की मदद से हाय शुगर लेवल (High blood sugar) को कंट्रोल करने के साथ-साथ किडनी (Kidney damage) को हेल्दी रखने में सहायक है। वहीं डायबिटीज की वजह से कई लोगों में ब्लाइंडनेस (Blindness), नर्व से जुड़ी समस्या या फिर सेक्शुअल फंक्शन (Sexual function) जैसी परेशानियों से बचा जा सकता है। इसलिए भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् की लिस्ट में ट्रेसिबा इंसुलिन डीग्लडेक (Tresiba Insulin Degludec) को शामिल किया गया है।

2. हमापेन् एर्गो 2 (Humapen Ergo 2)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिस्ट में शामिल है हमापेन् एर्गो 2 (Humapen Ergo 2)। डायबिटीज के मरीजों के लिए डिजाइन किया गया हमापेन् एर्गो 2 (Humapen Ergo 2) इंसुलिन पेन् बेहद सहायक माना जाता है। इस इंसुलिन पेन् की मदद से डायबिटीज पेशेंट आसानी से इंसुलिन ले सकते हैं और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रख सकते हैं और हेल्दी लाइफ स्टाइल मेंटेन रख सकते हैं।

और पढ़ें : क्या डायबिटीज पेशेंट के पास है मील रिप्लेसमेंट ऑप्शन?

3. सनोफी लेन्टस इंसुलिन पेन् (Sanofi Lantus Insulin Pen)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) में शामिल सनोफी लेन्टस इंसुलिन पेन् (Sanofi Lantus Insulin Pen) का इस्तेमाल भी किया जाता है। सनोफी लेन्टस इंसुलिन पेन् (Sanofi Lantus Insulin Pen) एडल्ट एवं 6 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों को भी दिया जा सकता है, जिन्हें टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) की समस्या होती है। वहीं जिन लोगों को टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) की समस्या होती है, उनके लिए सनोफी लेन्टस इंसुलिन पेन् (Insulin pen) लाभकारी माना जाता है।

4. नोवोपेन् इंसुलिन पेन् (Novopen Insulin Pen)

डायबिटीज के पेशेंट, जिन्हें खासकर इंसुलिन की जरूरत पड़ती है, उनके लिए इंसुलिन पेन् की लिस्ट में और भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिटस में नोवोपेन् इंसुलिन पेन् (Novopen Insulin Pen) एक और ऑप्शन है। इस इंसुलिन पेन् की मदद से एकबार में 3 mL इंसुलिन डायबिटीज (Diabetes) पेशेंट ले सकते हैं। हालांकि ध्यान रखें नोवोपेन् इंसुलिन पेन् (Novopen Insulin Pen) में इंसुलिन की डोज डालनी पड़ती है, क्योंकि इस पेन् में इंसुलिन नहीं होता है।

5. बोनमैक्स पीटीएच ऑटोपेन् (BONMAX PTH AUTOPEN)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् की लिस्ट में शामिल बोनमैक्स पीटीएच ऑटोपेन् (BONMAX PTH AUTOPEN) भी डायबिटीज मरीजों के लिए लाभकारी माना जाता है। ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने के लिए बोनमैक्स पीटीएच ऑटोपेन् (BONMAX PTH AUTOPEN) का भी इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन बोनमैक्स पीटीएच ऑटोपेन् (BONMAX PTH AUTOPEN) के बॉक्स या पैकेट पर दिए गए निर्देश के अनुसार इस इंसुलिन पेन् में सिर्फ बोनमैक्स पीटीएच (टेरिपैराइड) कार्ट्रिज (BONMAX PTH [Teriparatide] Cartridge) के इस्तेमाल की ही सलाह दी गई है।

6. ल्यूपिसुलिन पेन् (Lupisulin Pen)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् में ल्यूपिसुलिन पेन् भी शामिल है। डायबिटीज मरीजों के लिए ल्यूपिसुलिन पेन् (Lupisulin Pen) 3ml इंसुलिन की डोज एक बार में लिया जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि यह इंसुलिन पेन् 12 साल से ज्यादा के उम्र के बच्चों के लिए भी लाभकारी है और इस इंसुलिन पेन् इंजेक्शन को लेना बेहद आसान है।

7. इन्सुपेन् प्रो (INSUPEN PRO)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिस्ट में शामिल इन्सुपेन् प्रो (INSUPEN PRO) डॉक्टर द्वारा प्रिस्क्राइब की जाती है। इन्सुपेन् प्रो (INSUPEN PRO) इंसुलिन पेन् जबतक डॉक्टर आपको लेने की सलाह ना दें, तबतक इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। डायबिटीज पेशेंट की हेल्थ कंडिशन (Health condition) को ध्यान में रखते हुए यह इंसुलिन (Insulin) डॉक्टर्स द्वारा प्रिस्क्राइब की जाती है।

8. तौजियो 300 U/mL सोलोस्टर (Toujeo 300 U/mL Solostar)

बच्चों या बड़ों में टाइप 1 डायबिटीज (Types 1 Diabetes) या टाइप 2 डायबिटीज (Types 2 Diabetes) होने की स्थिति में ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) कंट्रोल रखने के लिए तौजियो 3 300 U/mL सोलोस्टर (Toujeo 300 U/mL Solostar) लेने की सलाह दी जाती है। डॉक्टर्स द्वारा बताये अनुसार तौजियो 3 300 U/mL सोलोस्टर (Toujeo 300 U/mL Solostar) लेने से लाभ मिलता है।

और पढ़ें : जानें टाइप-2 डायबिटीज वालों के लिए एक्स्पर्ट द्वारा दिया गया विंटर गाइड

9. बेसुगीन पेन् (BASUGINE PEN)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिस्ट में बेसुगीन पेन् (BASUGINE PEN) भी शामिल है। वयस्कों, किशोरों और बच्चों में डायबिटीज मेलिटस (Diabetes mellitus) के इलाज के लिए बेसुगीन पेन् (BASUGINE PEN) इंसुलिन पेन् के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है। बेसुगीन पेन् का इस्तेमाल 2 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों के लिए किया जा सकता है।

10. जोटाइड पेन् (ZOTIDE Pen)

भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिस्ट में शामिल है जोटाइड पेन् (ZOTIDE Pen)। ब्लड शुगर लेवल बैलेंस रखने के लिए जोटाइड पेन् (ZOTIDE Pen) का इस्तेमाल किया जा सकता है।

नोट: ऊपर बताई गईं ये सभी इंसुलिन पेन् भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) की लिस्ट में शामिल है। इंसुलिन लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लें और उनके द्वारा प्रिस्क्राइब्ड की गई इंसुलिन पेन् का ही इस्तेमाल करें, क्योंकि डॉक्टर पेशेंट्स के हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखते हुए ही दवा लेने की सलाह देते हैं। ऐसा करने से दवाओं के साइड इफेक्ट्स से बचा जा सकता है।

अगर आप भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् (Top 10 Insulin pens in India) में शामिल या किसी अन्य इंसुलिन पेन् (Insulin pen) का इस्तेमाल करने पर विचार कर रहें, तो इसके इस्तेमाल करने का तरीका जरूर समझें

और पढ़ें : आप में होने वाले मेमोरी लॉस का कारण हो सकती है डायबिटीज की समस्या, जानें दोनों में क्या है संबंध!

टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) के बारे में अधिक जानकारी के लिए देखिए ये 3 D मॉडल

<br />

और पढ़ें : डायबिटीज टेस्ट स्ट्रिप्स का सुरक्षित तरीके से कैसे करें इस्तेमाल?

इंसुलिन पेन् का इस्तेमाल कैसे करें? (Tips to take Insulin Pen)

इंसुलिन पेन् को ठीक तरह से इस्तेमाल करने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • इंसुलिन पेन् (Insulin Pen) को नॉर्मल टेम्प्रेचर में 15 से 20 मिनट के लिए रहने दें।
  • अब दोनों हाथों की सहायता से इसे अच्छी तरह से मिक्स करें।
  • इंसुलिन पेन् पर निडिल लगाएं और इसे क्लॉक वाइस डायरेक्शन में घुमाएं।
  • जब सुई पेन् में ठीक तरह से फिक्स हो जाए, तो उसके कवर को हटाएं।
  • अब इंसुलिन के पेन् में इंसुलिन भरें और ध्यान रखें इंसुलिन कहीं से निकल ना रहा हो।
  • इंसुलिन पेन् पर डोज के लिए लाइन दी गई होती है, आप उतनी ही डोज लें जितना डॉक्टर ने आपको लेने के लिए कहा है।
  • स्किन की चर्बी वाली जगह जैसे नाभि, जांघ या बाजुओं पर इंसुलिन (Insulin) लें।
  • इंसुलिन पेन् को ठीक तरह से होल्ड कर इंजेक्शन लें।

नोट: इंसुलिन पेन् के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से अच्छी तरह से समझें और फिर खुद से या घर के किसी सदस्य से इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection) लें। इंजेक्शन के निडिल को सिर्फ एक बार ही यूज करें।

डायबिटीज के पेशेंट को इंसुलिन पेन् इस्तेमाल करना बेहद आसान होता है और इसे आप अपने साथ ट्रेवल के दौरान भी कैरी कर सकते हैं। अमेरिकन डायबिटीज असोसिएशन (American Diabetes Association) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डायबिटीज पेशेंट इंसुलिन पेन् का इस्तेमाल आसानी से करते हैं। वहीं नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 73 प्रतिशत डायबिटीज पेशेंट इंसुलिन पेन् का इस्तेमाल करते हैं।

डायबिटीज पेशेंट को अपने डायट का विशेष ख्याल रखना चाहिए। नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और जानिए क्या आप ठीक तरह से रखते हैं अपने डायट का ख्याल।

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ranking the best insulin pens of 2021/https://cpoe.org/insulin-pens/Accessed on 05/05/2021

Medicine Brands for Generic ‘Insulin Isophane NPH’/https://www.medicineindia.org/brands-for-generic/1634/insulin-isophane-nph/Accessed on 05/05/2021

Insulin Pens: The Modern Delivery Devices/https://www.japi.org/u2e45454/insulin-pens-the-modern-delivery-devices/Accessed on 05/05/2021

CDC Clinical Reminder: Insulin Pens Must Never Be Used for More than One Person/https://www.cdc.gov/injectionsafety/clinical-reminders/insulin-pens.html/Accessed on 05/05/2021

FDA advises health care professionals and patients about insulin pen packaging and dispensing/https://www.fda.gov/drugs/drug-safety-and-availability/fda-advises-health-care-professionals-and-patients-about-insulin-pen-packaging-and-dispensing/Accessed on 05/05/2021

Evolution of Diabetes Insulin Delivery Devices/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2901025/Accessed on 05/05/2021

Overview of Insulin and Non-Insulin Delivery Devices In the Treatment of Diabetes/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4264673/Accessed on 05/05/2021

Diabetes Technology: Standards of Medical Care in Diabetes—2019/https://care.diabetesjournals.org/content/42/Supplement_1/S71/Accessed on 05/05/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 05/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड