home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Insulin Glargine: इंसुलिन ग्लारजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्टस|रिएक्शन|डोसेज
Insulin Glargine: इंसुलिन ग्लारजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) क्या है?

इंसुलिन ग्लारजीन का इस्तेमाल मधुमेह से ग्रसित लोगों में उच्च रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए उचित आहार और व्यायाम के साथ प्रयोग किया जाता है। ये हाई ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित कर किडनी डैमेज, अंधापन, नर्व्स प्रॉब्लम्स और यौन समस्याओं से बचाता है। ये डायबिटीज को सही तरीके से कंट्रोल करके स्ट्रोक और हार्ट अटैक से भी बचा जा सकता है।

इंसुलिन ग्लारजीन इंसुलिन की जगह लेता है, जो सामान्य रूप से शरीर द्वारा निर्मित होता है। ये ब्लड से शर्करा को शरीर के अन्य टिश्यू में स्थानांतरित करने में मदद करता है। इसके अलावा यह अत्यधिक शुगर के उत्पादन से जिगर को भी रोकता है।

मुझे इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • सबसे पहले दवा के लेबल पर लिखे सभी तैयारी और जरूरी निर्देशों को पढ़ें। अगर किसी बात को लेकर कोई कंफ्यूजन है तो डॉक्टर या फार्मिस्ट से कंसल्ट करें। इंजेक्शन लेने से पहले एक बार ये जरूर चेक कर लें कि आप सही दवा ले रहे हैं।
  • दवा को इस्तेमाल करने से पहले एक बार अच्छे से जांच करें कि इसमें कोई कण तो नहीं दिखाई दे रहा। अगर कुछ नजर आता है तो उस इंसुलिन का प्रयोग न करें। इसके अलावा यह ट्रांसपेरेंट होना चाहिए। अगर इसमें कोई रंग नजर आता है तो भी इसका इस्तेमाल न करें।
  • हर बार इंजेक्शन लगाने की जगह में बदलाव करें। इससे स्किन के अंदर होने वाली परेशानी को एवॉइड किया जा सकता है।
  • इंसुलिन ग्लारजीन को पेट, थाई और बाजू पे लगाया जा सकता है। इसे नस और मसल्स में नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से ब्लड शुगर बहुत ज्यादा कम हो सकती है। इंजेक्शन को लगाने के बाद उस जगह को रब नहीं करना चाहिए।
  • कभी भी इंजेक्शन ऐसी जगह न लगाएं जहां लाली, सूजन या खुजली हो। कभी भी ठंडा इंसुलिन न लगाएं क्योंकि ये दर्दनाक हो सकता है।
  • आमतौर पर यह इंजेक्शन रोजाना एक दिया जाता है। हर बार नई सुई का इस्तेमाल करें। इसे दूसरे किसी इन्सुलिन के साथ न मिलाएं।
  • इसकी खुराक आपकी मेडिकल कंडिशन और ट्रीटमेंट पर निर्भर करती है। हर डोज को बहुत सावधानी से मापें, क्योंकि इंसुलिन की मात्रा में छोटा सा परिवर्तन भी आपके रक्त शर्करा पर एक बड़ा प्रभाव डाल सकता है।
  • दवा के अच्छे परिणामों के लिए दवा को नियमित रूप से लें। रोजाना एक ही समय पर इसका सेवन करें। यदि दवा को लेने के बाद आप ठीक महसूस नहीं कर रहे हैं तो हो रही परेशानी को डॉक्टर संग साझा करें।

मुझे इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) को कैसे स्टोर करना चाहिए?

  • इस दवा को उसके मूल कंटेनर में स्टोर करके ऐसी जगह रखें जहां धूप और नमी से दूर रखें। जब तक आप इंजेक्शन लेने के लिए तैयार नहीं है तब तक इन्सुलिन को सिरिंज में न डालें।
  • इन्सुलिन को फ्रीज न करें। जमे हुए इन्सुलिन का इस्तेमाल न करें।
  • अगर दवा का रंग बदल गया है या उसमें कोई कण दिखाई दे रहा है तो उसका इस्तेमाल न करें। फार्मिस्ट से नई दवा लेकर उसका उपयोग करें।

और पढ़ें – Ebastine: इबैस्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

[mc4wp_form id=”183492″]

सावधानियां और चेतावनी

इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इंसुलिन ग्लारजीन को लेने से पहले निम्न बाते अपने डॉक्टर को जरूर बताएं:

  • यदि आपको इंसुलिन ग्लारजीन या अन्य किसी दवा से एलर्जी है तो इस बात की जानकारी अपने डॉक्टर को दें।
  • इस दवा में कुछ ऐसे इंग्रीडिएंट हो सकते हैं जिससे आपको एलर्जी हो। इसलिए इसके बारे में एक बार डॉक्टर से चर्चा करें।
  • अगर आपका ब्लड शुगर लो रहता है तो इसका प्रयोग न करें।
  • इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपनी मेडिकल हिस्टरी के बारे में अपने डॉक्टर को बताएं खासतौर पर किडनी और लिवर रोग।
  • इस दवा को लेने के बाद लो और हाई ब्लड शुगर की वजह से आपको चक्कर और सुस्ती महसूस हो सकती है। इसलिए दवा को लेने के बाद ड्राइविंग या किसी तरह की कोई मशीन न चलाएं।
  • अगर आप प्रेग्नेंट है या प्रेग्नेंट होने का प्लान कर रही हैं या ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं तो अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।
  • अगर आपको दवा से अलग भी किसी चीज से एलर्जी है, तो इसकी जानकारी भी अपने डॉक्टर को जरूर दें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इन्सुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) को लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इंसुलिन ग्लारजीन लेना कितना सुरक्षित है, इसको लेकर अभी तक पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। इंसुलिन ग्लारजीन को लेने से पहले इसके संभावित फायदों और नुकसान का आंकलन करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, इंसुलिन ग्लारजीन प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी में ‘C’ में है।

FDA प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • A=No risk (कोई खतरा नहीं)
  • B=No risk in some studies (कुछ अध्ययनों में खतरा पाया गया)
  • C=There may be some risk, (कुछ खतरे हो सकते हैं)
  • D=Positive evidence of risk, (खतरे के पॉजिटिव एविडेंस मौजूद हैं)
  • X=Contraindicated, (कॉन्ट्रेनडिकेटेड)
  • N=Unknown (पता नहीं)

और पढ़ें – Nexpro Rd: नेक्सप्रो आरडी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्टस

इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) के क्या साइड इफेक्ट क्या हो सकते हैं?

  • इंसुलिन ग्लारजीन को लेने के बाद दर्द, स्किन पर लाली या जलन हो सकती है। अगर इनमें से कोई प्रभाव लंबे समय तक रहता है या पहले से ज्यादा हो जाता है तो तुरंत डॉक्टर या फार्मिस्ट से कंसल्ट करें।
  • इस बात का ख्याल रखें आपका डॉक्टर इस दवा को प्रिस्क्राइब करता है क्योंकि वह जानता है कि इस दवा के नुकसान की तुलना में फायदे ज्यादा हैं। बहुत सारे लोग जो इस दवा का इस्तेमाल करते हैं, उनमें कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं।
  • अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं अगर आपको ये सारे गंभीर साइड इफेक्ट्स महसूस हों जैसे ब्लड में पोटैशियम लेवल लो होने के लक्षण (मसल्स क्रैम्पस, कमजोरी, अनियमित दिल की धड़कन)।
  • इस दवा को लेने से आपकी बल्ड शुगर कम हो सकती है। ऐसा तब हो सकता है जब आप भोजन से पर्याप्त कैलोरी का उपभोग नहीं करते हैं या यदि आप असामान्य रूप से भारी व्यायाम करते हैं। लो ब्लड शुगर के लक्षणों में अचानक पसीना आना, कंपकपी, तेज धड़कन, भूख लगना, साफ दिखाई न देना या चक्कर शामिल हैं।

इंसुलिन ग्लारजीन से गंभीर एलर्जी होना बहुत रेयर है। हालांकि यदि आपको गंभीर साइड इफेक्ट्स (चेहरे, जीभ और गले पर दाने, खुजली, सूजन) नजर आ रहे हैं तो तुरंत चिकित्सा सहायता प्राप्त करें। हालांकि सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर किसी तरह की चिंता है तो इस बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें – Diclofenac sodium : डिक्लोफिनेक सोडियम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रिएक्शन

कौन-सी दवाएं इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) के साथ इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए?

निम्नलिखित दवाओं में से किसी के साथ इस दवा का उपयोग करने से आपको कुछ साइड इफेक्ट्स का खतरा हो सकता है:

  • बीटा ब्लॉकर मेडिटेशन जैसे मेटोप्रोलोल, ग्लूकोमा आई ड्रॉप टिमोलोल आपके शरीर में शुगर लेवल कम होने पर तेज दिल की धड़कन को रोक सकते हैं।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी दवा को शुरू, बंद और डोज में परिवर्तन न करें। अगर आप ठीक महसूस भी कर रहे हैं जब तक डॉक्टर इसकी सलाह न दे खुराक में किसी तरह का कोई बदलाव न करें।
  • कई दवा आपके ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित कर सकता है। इसलिए शुगर की नियमित जांच कराते रहे। अगर आपको हाई ब्लड शुगर के लक्षण नजर आते हैं तो इस बारे में अपने चिकित्सक को बताएं। इससे वो आपकी डायबिटीज की दवा, एक्सरसाइज और डायट को उस हिसाब से एडजस्ट करेगा।
  • आपकी मौजूदा ली जा रही दवाओं के साथ इन्सुलिन ग्लारजीन रिएक्शन कर सकती है। इससे गंभीर दुष्परिणाम होने की संभावना बढ़ सकती है। इसके साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए आपको उन सभी दवाइयों की लिस्ट बनानी हैं, जिनका सेवन आप कर रहे हैं। इनमें डॉक्टर की लिखी हुई, गैर लिखी हुई और मार्केट में खरीद के लिए बिना डॉक्टर की सलाह के उपलब्ध हर्बल प्रोडक्ट को भी शामिल करिए। इस लिस्ट को अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट के साथ साझा कीजिए।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

किसी खास डायट और एल्कोहॉल के साथ इंसुलिन ग्लारजीन के कार्य करने के तरीके में बदलाव या गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसका इस्तेमाल करने से पहले डायट और एल्कोहॉल से जुड़ी जानकारी और उसके रिएक्शन के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

इन्सुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

इंसुलिन ग्लारजीन आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। शरीर में इसके गंभीर रिएक्शन हो सकते हैं या दवा के कार्य करने के तरीके में बदलाव आ सकता है। इस स्थिति में यह बेहद ही जरूरी है कि आप अपनी मौजूदा मेडिकल कंडिशन की जानकारी अपने चिकित्सक को जरूर दें।

और पढ़ें – Ibuprofen + Paracetamol/Acetaminophen : इबूप्रोफेन + पेरासिटामोल/एसिटामिनोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) की वयस्कों के लिए क्या डोज है?

डायबिटीज टाइप 1

शुरुआती डोज: एक तिहाई या आधा इंसुलिन सबकंटेनियसदिन में एक बार रोजाना

मेंटेनेंस डोज: खुराक को मेटाबॉलिक जरूरत, रक्त शर्करा के माप और ग्लाइसेमिक लक्ष्यों के अनुसार समायोजित किया जाना चाहिए

अधिकतम डोज: 80 यूनिट

इंसुलिन ग्लारजीन (Insulin glargine) की बच्चों के लिए क्या डोज है?

डायबिटीज टाइप 1

6 साल और उससे ज्यादा उम्र के बच्चे: U-100 only:

शुरुआती डोज: एक तिहाई इन्सुलिन सबकटेनियस दिन में एक बार रोजाना

मेंटेनेंस डोज: खुराक को मेटाबॉलिक जरूरत, रक्त शर्करा के माप और ग्लाइसेमिक लक्ष्यों के अनुसार समायोजित किया जाना चाहिए

इन्सुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) कैसे उपलब्ध है?

इन्सुलिन ग्लारजीन निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • सबकंटेनियस सॉल्यूशन (Subcutaneous solution)

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करूं?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

इन्सुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

अगर इन्सुलिन ग्लारजीन (Insulin Glargine) की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Insulin Glargine Dosage. https://www.drugs.com/dosage/insulin-glargine.html. Accessed December 23, 2019.

Insulin glargine/https://www.drugbank.ca/drugs/DB00047  Accessed December 23, 2019.
Insulin Glargine (rDNA origin) Injection/https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a600027.html// Accessed July 14, 2020

LANTUS®/https://www.accessdata.fda.gov/drugsatfda_docs/label/2007/021081s024lbl.pdf/ Accessed July 14, 202

 

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड