home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पुरानी एक्सरसाइज से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें केलेस्थेनिक्स वर्कआउट

पुरानी एक्सरसाइज से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें केलेस्थेनिक्स वर्कआउट

यदि आप महीनों से एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आप केलेस्थेनिक्स वर्कआउट ट्राई कर सकते हैं। केलेस्थेनिक वर्कआउट को बिगनर्स भी कर सकते हैं। केलेस्थेनिक्स वर्कआउट काफी कठिन एक्सरसाइज मानी जाती है। इसमें सामान्य एक्सरसाइज के मुकाबले अलग बॉडी पॉश्चर बनाना पड़ता है। केलेस्थेनिक वर्कआउट में स्ट्रेंथ, स्टेमिना और अधिक पावर की जरूरत पड़ती है। यदि आपका वजन ज्यादा है तो इस वर्कआउट ट्राई करने में काफी सावधानी बरतें।

केलेस्थेनिक्स वर्कआउट को करने से पहले इसके लिए आपको अपनी बॉडी को तैयार करना है। केलेस्थेनिक्स वर्कआउट में आपको ज्यादातर अपनी हथेलियों का सहारा लेना पड़ेगा। हथेलियों से ग्रिप बनाकर ही आप इस एक्सरसाइज पैटर्न को फॉलो कर पाएंगे। केलेस्थेनिक्स वर्कआउट से पहले आपको निम्नलिखित चीजों का ध्यान रखना है।

और पढ़ें : 25 की होते ही बढ़ गया वजन? अपनाएं ये महिलाओं के लिए डायट चार्ट और हो जाएं फिट

अच्छे स्पोर्ट्स शूज

केलेस्थेनिक्स वर्कआउट करने से पहले आपको बढ़िया स्पोर्ट्स शूज लेने है। स्पोर्ट्स शूज किसी भी इंटेंस वर्कआउट को सही ढंग से परफॉर्म करने के लिए जरूरी होते हैं। यह आपकी बॉडी को संतुलन बनाए रखने में मददगार होते हैं। केलेस्थेनिक्स वर्कआउट में आपको कुछ ऐसे मूवमेंट करने पड़ते हैं, जिसमें आपको स्पोर्ट्स शूज की जरूरत पड़ेगी।

प्री वर्कआउट

प्री वर्कआउट

जैसा कि पहले ही बता दिया गया है कि केलेस्थेनिक्स वर्कआउट एक कठिन एक्सरसाइज पैटर्न है। इसे करने के लिए आपकी बॉडी में काफी एनर्जी चाहिए। केलेस्थेनिक्स वर्कआउट करने से पहले आप प्री वर्कआउट या क्रेटिन पी सकते हैं। यह एक्सरसाइज के दौरान आपकी बॉडी में एनर्जी लेवल को बनाए रखेंगे।

केलेस्थेनिक्स वर्कआउट की तीन बॉडी वेट एक्सरसाइज

1. मसल्स अप्स

मसल्स अप्स

मसल्स अप्स बॉडी वेट पर की जाने वाली एक कठिन एक्सरसाइज है। इसमें आपकी लेट्स, बाइसेप्स, शोल्डर्स और ट्राइसेप्स की मसल्स इंगेज होती हैं।

सेट्स/ रेपेटेशन

मसल्स अप्स के आप दो सेट्स या छह रेपेटेशन ले सकते हैं। मसल्स अप्स एक्सरसाइज को करने में काफी कठिन है। इसे करने के लिए आपको चिन अप्स की बार्बल या किसी अन्य बार्बल को यूज करना है। यह एक्सरसाइज पुल्स अप्स और पुश अप्स का कॉम्बिनेशन है। इसे करते वक्त आपकी बैक, बाइसेप्स और ट्राइसेप्स की मसल्स इंगेज होती हैं। इसे करने के लिए एक बार पर लटकें। दोनों हथेलियों को कंधों से थोड़ा हल्का खोल लें। इसके बाद कंधों और कोर को टाइट करते हुए बॉडी को ऊपर ले जाएं। ऐसा करते वक्त आपको अपनी बॉडी को ऊपर की तरफ पुश करना है।

और पढ़ें : जिम जाते हैं तो, जिम किट में जरूर रखें ये खास चीजें

2. हेंगिंग लेग रेजेस

हेंगिंग लेग रेजेस

कोर को मजबूत करने के लिए हेंगिंग लेग रेजेस एक बढ़िया एक्सरसाइज है। इसमें आपके कोर/ पेट की मसल्स इंगेज होती हैं। यह एक्सरसाइज पेट के निचले हिस्से या लोअर अब्डॉमिनल की मसल्स को मजबूत करती हैं।

सेट्स/ रेपेटेशन

हेंगिंग लेग रेजेस का आप दो सेट्स या 10-10 के रेपेटेशन ले सकते हैं। हालांकि, करने में यह एक्सरसाइज आपको थोड़ी मुश्किल लगेगी। इसे करने के लिए आपको बार पर सीधे लटकना है। इसके बाद अपने दोनों पैरों को एक साथ ऊपर की तरफ उठाना है। इसके बाद इन्हें धीरे-धीरे नीचे की तरफ लेकर जाएं। ऐसा करते वक्त आपकी बॉडी में बाउंस नहीं आना चाहिए। हेंगिंग लेग रेजेस करते वक्त स्पाइन को 90 डिग्री की सीध में रखें। पैरों को धीरे-धीरे नीचे की तरफ लेकर जाएं। जैसे ही आपके लोअर अब्डॉमिनल (पेट का निचला हिस्सा) की मसल्स आपस में कॉन्ट्रैक्ट होती हैं, उस वक्त सांस छोड़ें।

और पढ़ें : मांसपेशियां बनाने के दौरान महिलाएं करती हैं यह गलतियां

डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स

डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स

केलेस्थेनिक्स वर्कआउट में डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स एक अच्छी एक्सरसाइज है। इसे बॉडी वेट पर किया जाता है। सामान्य और डीक्लाइन पुश अप्स में छोटा सा अंतर है। डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स में आपके पैर कंधों के मुकाबले ऊंचाई पर होते हैं। इसका मतलब यह हुआ कि आपकी अपर बॉडी नीचे की तरफ होती है।

सेट्स/ रेपेटेशन

डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स के आप दो सेट्स या 12 रेपेटेशन्स ले सकते हैं। इसमें आपके चेस्ट और ट्राइसेप्स की मसल्स इंगेज होती हैं। डीक्लाइन डायमंड पुश अप्स में दोनों हथेलियों को नजदीक रखा जाता है। इससे आपकी कोहनी बाहर की तरफ निकलकर एक डायमंड का आकार बनाती हैं। फ्लोर पर आपका अंगूठा और इंडेक्स फिंगर एक डायमंड का आकार बनाते हैं। इसलिए इसे डायमंड पुश अप्स कहा जाता है। इस एक्सरसाइज में आपको बॉडी को ऊपर ले जाते वक्त सांस छोड़नी है।

और पढ़ें : पोस्ट वर्कआउट ड्रिंक: वॉटर मेलन जूस से पूरा करें अपना फिटनेस गोल

बर्पी (Burpees) एक्सरसाइज

बर्पी एक्सरसाइज एक महत्वपूर्ण एक्सरसाइज है, शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए ये एक्सरसाइज काफी प्रभावकारी है। बर्पी एक्सरसाइज को स्क्वाट थ्रस्ट्स (squat thrusts) के नाम से भी जाना जाता है। इस एक्सरसाइज को करने के लिए किसी भी उपकरण की आवश्यकता नहीं होती है। बर्पी एक्सरसाइज पूरे शरीर पर काम करती है और कार्डियोवस्कुलर (cardiovascular) एक्सरसाइज जैसा लाभ देती है। नियमित रूप से वर्कआउट करते हैं तो शारीरिक मजबूती और एरोबिक फिटनेस को बढ़ाने के लिए बर्पी एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए।

जंपिंग जैक्स (Jumping Jacks)

जंपिंग जैक्स एक्सरसाइज सबसे आसान एक्सरसाइज में से एक है। इसे खड़े हो कर कूद कर किया जा सकता है।

प्रिजनर स्क्वाट जंप (Prisoner Squat Jumps)

यह एक्सरसाइज बड़े ही आसानी से किया जा सकता है। इसे करने के लिए स्ट्रेट खड़े होकर दोनों पैरों के बीच थोड़ा गैप रखना चाहिए। फिर दोनों हांथों को कंधे पर गर्दन के पास रखना है और इसी पॉजीशन में धीरे से ऊपर की ओर जंप करना है। फिर सावधानी पूर्वक धीरे से नीचे आना है। ध्यान रहे कि बहुत ज्यादा ऊपर नहीं जंप करना है।

और पढ़ें : वेट लॉस से लेकर जॉइंट पेन तक, जानिए क्रैब वॉकिंग के फायदे

बाइसाइकिल क्रंचेज (Bicycle Crunches)

बाइसकिल क्रंचेज सबसे प्रभावकारी एक्सरसाइज में से एक है। इसे करने के लिए मैट पर लेट कर दोनों पैरों को ठीक वैसे ही चलाएं जैसे कि साइकिल चलाई जाती है।

सुपरमैन (Superman)एक्सरसाइज

सुपरमैन नाम से ही समझा जा सकता है कि ये एक्सरसाइज क्या है। इस एक्सरसाइज में भाग-दौड़ नहीं करना है बल्कि आराम से पेट के बल लेट कर दोनों हाथों और दोनों पैरों को ऊपर की ओर धीरे से उठाना है और फिर आराम से नीचे लाना है।

अंत में हम यही कहेंगे कि यदि आप पहली बार जिम ज्वॉइन कर रहे हैं तो यह एक्सरसाइज आपके लिए बेहतर विकल्प नहीं है। जिम में थोड़ा अनुभव रखने वाले लोगों के लिए केलेस्थेनिक्स वर्कआउट एक दमदार विकल्प है। हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How to get stronger: fat burning is guaranteed with this workout… but it’ll hurt https://www.t3.com/features/the-hardest-calisthenics-workout-ever-5-full-body-exercises-thatll-burn-fat-and-make-you-strong-fast?fwa Accessed 17/1/2020

Calisthenics Workout/https://www.sportskeeda.com/health-and-fitness/calisthenics-workout/Accessed on 11/12/2019

The Beginner’s Guide to Calisthenics/https://www.mensjournal.com/health-fitness/beginners-guide-calisthenics//Accessed on 11/12/2019

The complete guide to calisthenics/https://www.menshealth.com/uk/building-muscle/a759641/complete-guide-to-calisthenics-everything-you-need-to-know//Accessed on 11/12/2019

Calisthenics For Beginners: The Ultimate Guide/https://athleticmuscle.net/calisthenics-for-beginners//Accessed on 11/12/2019

What Is The Best Calisthenics Workout?/https://www.bodybuilding.com/content/what-is-the-best-calisthenics-workout.html/Accessed on 11/12/2019

BEGINNER CALISTHENIC/https://www.free-ebooks.net/fitness/Calisthenics-Beginner-Program/pdf?dl&preview/Accessed on 11/12/2019

लेखक की तस्वीर
Sunil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 07/10/2019
x