home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए बेस्ट हैं स्क्वैट्स, जानिए कैसे

पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए बेस्ट हैं स्क्वैट्स, जानिए कैसे

स्वस्थ रहने के लिए आजकल लोग जिम और एक्सरसाइज आदि का सहारा लेते हैं। सेहतमंद और फिट रहने के लिए व्यायामों में से स्क्वैट्स को सबसे बेहतर माना जाता है। अपनी दिनचर्या में से कुछ समय निकाल कर इस एक्सरसाइज से आप बेहतरीन परिणाम पा सकते हैं। केवल पुरुषों ही नहीं, बल्कि महिलाओं के लिए भी यह व्यायाम उचित और प्रभावी माना जाता है। जानिए महिलाओं और पुरुषों के लिए स्क्वैट्स के फायदे क्या-क्या हैं।

यह भी पढ़ें:पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए हैं स्क्वैट्स के लाभ, जानिए कैसे

जानिए महिलाओं और पुरुषों के लिए स्क्वैट्स के फायदे

मसल्स बनाने में मददगार

स्क्वैट्स को टांगों के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज माना जाता है। यानी, इसे करने से टांगों के आसपास के मसल्स जैसे कल्वेस, हम्सटररिंग्स और क्वाड्रिसेप्स आदि को लाभ होता है। यही नहीं, महिलाओं और पुरुषों दोनों के शरीर के मसल्स को बनाने में यह लाभदायक है। अगर इस व्यायाम को सही से किया जाए, तो यह आपके शरीर को एक नया लुक देने में फायदेमंद हो सकता है।

शरीर के पॉश्चर को सुधारता है

महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए स्क्वैट्स के लिए सबसे बड़ा फायदा यही है कि यह एक्सरसाइज शरीर का सही पॉश्चर बनाने मदद करती है। स्क्वैट्स से पूरे शरीर का अच्छे से व्यायाम होता है और इससे शरीर का सही पॉश्चर बनने और गलत पॉश्चर को सुधारने में भी मदद मिलती है। शरीर के साथ-साथ इसे करने से शरीर और दिमाग दोनों अनुशासित रहते हैं।

यह भी पढ़ें: महिलाओं के लिए 5 बेस्ट स्‍क्वैट एक्सरसाइज

शरीर को टोन करने में मदद करता है

कूल्हों की चर्बी दूर करने और टांगों के मसल्स को बनाने में स्क्वैट्स के फायदे बहुत हैं। नियमित रूप से स्क्वैट्स करने से टांगे, कूल्हे और पूरा शरीर शेप में आता है। यही नहीं, इससे पैरों की भी अच्छी एक्सरसाइज होती है, यानी पूरा शरीर सुडौल बनता है।

चर्बी को कम करता है

वजन और चर्बी को कम करने के लिए भी यह एक्सरसाइज फायदेमंद है। पुरुष और महिला दोनों के शरीर की चर्बी को कम करने में यह एक्सरसाइज लाभदायक है। इसके साथ ही शरीर के मसल्स बनाने में भी यह एक्सरसाइज फायदेमंद है।

शरीर का संतुलन बनाए रखने में मददगार

उम्र के बढ़ने के साथ-साथ शरीर का संतुलन बनाए रखने में मुश्किल होती है। इसके लिए टांगों का मजबूत होना बहुत आवश्यक है। स्क्वैट्स करने से टांगे मजबूत होती है, बॉडी मसल्स स्थिर होते हैं और इससे शरीर का संतुलन बनाने में भी मदद मिलती है। स्क्वैट्स करने से मसल्स और दिमाग के बीच अच्छी कम्युनिकेशन भी स्थापित होती है।

एब्स को बनाए मजबूत

स्क्वैट्स के फायदे जान कर आप भी हैरान हो गए होंगे। केवल कुछ ही ऐसी एक्सरसाइजेज होती है, जिनसे शरीर के कई भागों को फायदा होता है। टांगों को मजबूत बनाने के साथ-साथ यह एब्स को टोन और मजबूत बनाने में सहायक है।

यह भी पढ़ें:इस तरह स्क्वैट्स (squats) पैर टोन करने में करते हैं मदद

एनर्जी को बढ़ाता है

अन्य एक्सरसाइज की तरह स्क्वैट से शरीर के हैप्पी हार्मोन बढ़ते हैं, जिससे शरीर में एनर्जी का लेवल बढ़ता है। सबसे अच्छी बात यह है कि स्क्वैट करने के लिए आपको अधिक समय नहीं चाहिए होता, बल्कि इसे आप अपने रोजाना के जीवन में से थोड़ा समय निकल कर भी कर सकते हैं।

स्क्तसंचार बढ़ाए

स्क्वैट्स के फायदे यहीं कम नहीं होते। इस एक्सरसाइज को करने से शरीर का रक्त संचार सही से होता है, कोलेस्ट्रॉल लेवल संतुलित रहता है और मेटाबॉलिज्म सुधरता है। यानी, इस एक्सरसाइज को करने से डायबिटीज, ब्लड प्रेशर आदि बीमारियों से राहत मिलती है।

चोट लगने का खतरा नहीं होता

स्क्वैट करने के लिए किसी भी तरह के उपकरण या मशीन की आवश्यकता नहीं पड़ती। यानी, इससे कोई दुर्घटना होने की संभावना बिल्कुल कम होती है, जिससे चोट करने का खतरा नहीं रहता।

यह भी पढ़ें:इन 7 कारणों से आपको रोज करने चाहिए स्क्वैट

जोड़ों को मजबूत बनाने में मददगार

अपने जोड़ों को मजबूत बनाने के लिए भी यह एक्सरसाइज लाभदायक है। यानी पुरुष हो या महिला, दोनों की टांगों, बाजू, कोहनी आदि के जोड़ों के लिए यह बेहतरीन एक्सरसाइज है।

कैसे करें स्क्वैट्स एक्सरसाइज?

  • स्क्वैट्स के फायदे आपको तभी होंगे जब आप इसे ठीक तरह से करेंगे। स्क्वैट करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं। आपकी टांगों के बीच में कुछ अंतर होना चाहिए और आपके कंधे बिल्कुल सीधे होने चाहिए।
  • अपनी भुजाओं को कंधों की सीध में सीधा रख लें। इसके साथ ही आपकी कमर भी बिल्कुल सीधी होनी चाहिए।
  • अब अपने घुटनों को मोड़ लें और कूल्हों को नीचे की तरफ ले जाएं, जैसे आप किसी कुर्सी पर बैठ रहे हों।
  • कुछ देर ऐसी की स्थिति में रहे और उसके बाद अपनी पहली स्थिति में आ जाएं।

महिलाओं और पुरुषों के लिए स्क्वैट्स के फायदे और भी हैं जैसे यह एक्सरसाइज बहुत ही आसान और आरामदायक है। आप इसे खुद कर सकते हैं और इसके लिए आपको किसी ट्रेनर की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसे आप घर, पार्क या अन्य किसी भी अन्य जगह पर कर सकते हैं। इसलिए यह बहुत ही सस्ती पड़ती है। इसे रोजाना करने से आपके पूरे शरीर को भी लाभ होता और आपको फिट व स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

स्क्वैट्स एक्सरसाइज करते समय न करें ये गलतियां

1. बहुत ज्यादा नीचे न जाएं
बहुत सारे लोग स्क्वैट्स करते समय बहुत ज्यादा नीचे होते हैं। जबकि इसे करते समय अपनी जांघों को जमीन के सामांतर रखना जरूरी है। इसे करते समय कभी भी अपने निचले हिस्से पर जोर नहीं डालना चाहिए। ऐसा करने से रीढ़ की हड्डी में दर्द होने का खतरा होता है।

2. पंजों पर वजन न डालें
कई लोग स्क्वैट्स करते समय अपने शरीर का पूरा वजन पंजों पर डालते हैं। इसका बुरा असर घुटनों पर पड़ सकता है। ध्यान रखें स्क्वैट्स करते समय पूरा वजन एड़ी पर होना चाहिए।

3. जूतों के बिना स्क्वैट्स न करें
कुछ लोग स्क्वैट्स करते समय जूते पहनना जरूरी नहीं समझते हैं। लेकिन स्क्वैट्स करते समय पतले और कठोर जूते पहनने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा स्क्वैट्स करते समय बहुत सारे कुशनिंग वाले जूते पहनने से बचें।

इस लेख में हमने आपको पुरुषों और महिलाओं को होने वाले स्क्वैट्स के फायदे के बारे में बताया है। साथ ही इस दौरान किन गलतियों को नहीं करना चाहिए यह भी जानकारी दी है। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो आप कमेंट सेक्शन में अपना सवाल पूछ सकते हैं। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा।

और पढ़ें:

एयर स्‍क्‍वैट (Air squat) क्या है, जानिए इसके लाभ

कुछ इस तरह करें फुल बॉडी वर्कआउट

क्या आप जानते हैं क्रैब डायट के बारे में?

ऑटोइम्यून प्रोटोकॉल डायट क्या है?

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/12/2019 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड