home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

इस बेहद आसान योगासन से घट सकता है वजन, सिर्फ ध्यान रखें कुछ बातें

इस बेहद आसान योगासन से घट सकता है वजन, सिर्फ ध्यान रखें कुछ बातें

वजन घटाने के लिए लोग पैसे खर्च कर के जिम में जाते हैं, जिसका कुछ खास फायदा नहीं होता, लेकिन फिर भी योग को लोग भूल जाते हैं। योग एक प्राचीन कला है, जिसे शरीर और मन दोनों को स्वस्थ्य रखने के लिए सबसे अच्छा माना गया है। ऐसा ही एक योगासन है, वज्रासन (Thunderbolt pose)। वज्रासन एक बहुत ही आसान और फायदेमंद आसन है जो वजन घटाने में काफी कारगर है। इस आर्टिकल में आप वज्रासन से जुड़े सभी पहलुओं के बारे में जानेंगे।

वज्रासन (Thunderbolt Pose) क्या है?

वज्रासन संस्कृत के दो शब्दों से मिल कर बना है – वज्र और आसन। इसे अंग्रेजी में थंडरबोल्ट (thunderbolt) कहा जाता है। इसका सीधा अर्थ है – इंद्रदेव का अस्त्र वज्र, जिसे दूसरे शब्द आसन के साथ जोड़ा गया है। दूसरे शब्दों में ये कहा जा सकता है कि वज्र के समान स्थिति में बैठना ही वज्रासन है। इस योगासन में बैठकर प्राणायाम, कपालभाति व अनुलोम-विलोम किया जा सकता है।

व्रजासन (Thunderbolt Pose) करने का तरीका क्या है?

  • सबसे पहले जमीन पर घुटनों के बल बैठ जाएं
  • दोनों पैरो के अंगूठे जोडे़ं और एड़ियों को अलग रखें
  • अब एडियों के बीच की खाली जगह में बैठ जाएं
  • सिर, गर्दन और रीढ़ की हड्डी को एक सीध में कर के ही बैठें
  • ध्यान दें कि पीठ भी सीधी रहे
  • सामान्य रूप से सांस लेते हुए आंखों को बंद करें
  • 10-15 मिनट इसी अवस्था में रहें या अपनी सुविधा के अनुसार समय को कम या ज्यादा किया जा सकता है।
  • [mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें : वृक्षासन योग से बढ़ाएं एकाग्रता, जानें कैसे करें इस आसन को और क्या हैं इसके फायदे

वज्रासन (Thunderbolt Pose) कब नहीं करना चाहिए?

वज्रासन

व्रजासन हर तरह से सुरक्षित है और इसे कोई भी कर सकता है, लेकिन कुछ परिस्थितियों में वज्रासन नुकसान पहुंचा सकता है, जैसे :

  • अगर आपको घुटनों की समस्या हो या किसी प्रकार की घुटनों की सर्जरी हुई हो तो ऐसी स्थिति में व्रजासन नहीं करना चाहिए। अगर फिर भी आप ये आसन करना चाहते हैं तो पहले अपने ओर्थोपैडीशियन से जरूर सलाह ले लें।
  • गर्भवती महिलाओं को ये आसन करते समय अपने घुटनों को पेट से दूर रखना चाहिए, ताकि पेट पर दबाव ना पड़े।
  • जो लोग हर्निया और आंतो के अल्सर से परेशान हो, उन्हें ये आसन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा अगर किसी को छोटी आंत या बड़ी आंत में कोई शिकायत हो तो उन्हें भी ये आसन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपको रीढ़ की हड्डी से संबंधित कोई समस्या है तो व्रजासन को ना करें।
  • अगर आपको निचली पसलियों से संबंधित कोई समस्या हो तो भी वज्रासन नहीं करना चाहिए।

बेहतर परिणाम के लिए क्या करें?

जब भी आप योग का अभ्यास करना शुरू करेंगे तो हो सकता है कि आपके पैरों में तकलीफ या दर्द की शिकायत हो। ऐसे समय पर आसन की मुद्रा से निकल कर पैरों को आगे की तरफ करें। साथ ही आप पैर की एड़ी और घुटनों पर हाथ से हल्की मालिश करें। इसके बाद धीरे-धीरे आप वज्रासन में बैठने के समय बढ़ा सकेंगे। लेकिन बिल्कुल भी जबरदस्ती ना करें और धैर्य के साथ इसका अभ्यास करते रहे।

अनुभा रमन से जानें कि सूर्य नमस्कार क्यों और कैसे करें: देखें ये वीडियो

वज्रासन (Thunderbolt Pose) के पहले ये आसन जरूर करें

  • अर्ध शलभासन
  • शलभासन

वज्रासन(Thunderbolt Pose) के बाद ये आसन जरूर करें

और पढ़ें : रीढ़ की हड्डी के लिए फायदेमंद ऊर्ध्व मुख श्वानासन को कैसे करें, क्या हैं इसे करने के फायदे जानें

वज्रासन के लाभ क्या हैं? (Thunderbolt Pose benefits)

वज्रासन के लाभ निम्न हैं।

व्रजासन पेट संबंधित तकलीफों को दूर करता है (Thunderbolt Pose for digestive Health)

ज्यादातर ये कहा जाता है कि योग या व्यायाम सुबह उठते ही करना चाहिए या फिर खाने के 4 घंटे के बाद करना चाहिए। लेकिन वज्रासन एक ऐसा आसन है, जिसे आप खाना खाने के 10-15 मिनट के बाद भी कर सकते हैं। अगर आपको खाना खाने के बाद टेलीविजन देखने की आदत है तो वज्रासन के साथ आप टेलीविजन भी देख सकते हैं। ये आसन पेट से संबंधित समस्या को दूर कर के पाचन क्रिया को ठीक करता है। वज्रासन में बैठने पर ब्लड सर्कुलेशन काफी तेजी से डायजेस्टिव ऑर्गन्स में जाते हैं और डायजेस्टिव ऑर्गन्स के कार्य क्षमता को बढ़ाते हैं। इस योगासन से गैस, कब्ज और अपाचन की शिकायत दूर होती है।

वज्रासन (Thunderbolt Pose) से मन को केंद्रित करने में मदद मिलती है

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ बायोलॉजिकल एंड मेडिकल रिसर्च (International Journal of Biological & Medical Research) ने 2011 में वज्रासन से संबंधित एक लेख प्रकाशित किया था। इस लेख के अनुसार नियमित रूप से वज्रासन करने से मानसिक बीमारियों, हाइपरटेंशन और तनाव से दूर रहा जा सकता है। वज्रासन ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है और डिप्रेशनएंग्जायटी के लिए भी काफी असरदार है। वज्रासन के लाभ और भी कई हैं।

पीठ के निचले भाग को बनाता है मजबूत (Thunderbolt Pose for strong mussels)

सही तरीके से वज्रासन में बैठने से पीठ की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इसके लिए ये बहुत जरूरी है कि वज्रासन में बैठने के दौरान आपकी पीठ या मांसपेशियों पर दबाव ना पड़े। इसके अलावा ये नितंबों और जांघो को भी मजबूत बनता है।

और पढ़ें: ये 7 योगासन बच्चों को बनाएंगे फिट एंड इंटेलिजेंट!

पेट की चर्बी घटाने के साथ वजन भी करता है कम (Thunderbolt Pose benefits)

भागदौड़ वाली ज़िंदगी में खुद के लिए समय निकलना बहुत मुश्किल होता है। ऐसे में बढ़ा हुआ वजन और चर्बी बहुत ज्यादा परेशान करती है। ऐसे में पूरे दिन में आपके सिर्फ 10-15 मिनट आपके स्वास्थ्य में सुधार ला सकते हैं। ये योगासन आपके पेट की चर्बी कम कर के आपको स्फूर्ति देता है।

पीरियड्स के दर्द (Periods cramp) और प्रसव पीड़ा में मिलता है आराम

प्रसव के समय होने वाले दर्द का हर महिला को सामना करना पड़ता है। अगर गर्भवती महिला नियमित रूप से डॉक्टर के निगरानी में वज्रासन करें तो प्रसव में ज्यादा तकलीफ नहीं होती है। इसके अलावा माहवारी के दौरान होने वाली तकलीफ से भी आराम मिलता है।

ब्लड फ्लो (Blood Flow) को कंट्रोल करता है

वज्रासन शरीर में ब्लड फ्लो को नियमित करता है, जिससे ब्लड प्रेशर के ज्यादा या कम होने का रिस्क कम हो जाता है। इससे ब्लड प्रेशर के मरीजों की सेहत नियंत्रित रहती है। वहीं, अगर किसी को हाइपरटेंशन की शिकायत है तो उसमें राहत मिलती है।

और पढ़ें : पढ़ाई में नहीं लगता दिल तो ट्राई करें मरीच्यासन और जानें इसके फायदे और नुकसान

चक्र पर वज्रासन का प्रभाव

मानव शरीर में 7 चक्र होते हैं, जो मनुष्य की शक्तियों का स्त्रोत हैं। ये चक्र निम्न प्रकार हैं-

  • मूलाधार चक्र
  • स्वाधिष्ठान चक्र
  • मणिपुर चक्र
  • अनाहत चक्र
  • विशुद्ध चक्र
  • आज्ञा चक्र
  • सहस्त्रार चक्र

जब कोई भी मनुष्य वज्रासन की अवस्था में बैठता है तो उसके सारे चक्र एक सीध में आ जाते हैं। ये वो समय होता है, जब योग तथा ध्यान करने वाली कुंडलिनी शक्ति को जागृत करते हैं। यूं तो ये काम इतना आसन नहीं होता, लेकिन नियमित रूप से वज्रासन करने से शरीर की ऊर्जा मनुष्य को बलिष्ठ बना देती है। वज्रासन एक ऐसा आसन है जो स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करता है। लेकिन किसी भी योग को करने से पहले किसी अच्छे योग टीचर से सीखें, उसके बाद ही अभ्यास शुरू करें। तभी आपको वज्रासन के लाभ मिल सकेंगे। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से संपर्क करें।

अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

vajrasana benefits https://www.artofliving.org/in-en/yoga/yoga-poses/vajrasna-adamintine-pose Accessed on 11th August 2020

study on vajrasan https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3215373/ Accessed on 11th August 2020

how to do thunderbolt pose https://mea.gov.in/yoga-postures-16.htm Accessed on 11th August 2020

Benefits of thunderbolt pose https://mea.gov.in Accessed on 11th August 2020

लेखक की तस्वीर badge
Mishita sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 08/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड