home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन करना चाहिए या नहीं?

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन करना चाहिए या नहीं?

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन (Milk consumption in high cholesterol) करना चाहिए या नहीं? अगर आपके दिमाग में भी यह सवाल आता है या आप यह सोचते हैं कि दूध पीने से कोलेस्ट्रॉल लेवल तो नहीं बढ़ जाएगा? तो इस आर्टिकल में आपको इन सवालों के जवाब मिल जाएंगे। ऐसे कई फूड आइटम्स हैं जो कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को बढ़ाने का काम करते हैं। वहीं कुछ कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करते हैं। हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या होने पर डायट को मैनेज करना बेहद जरूरी हो जाता है। अगर डायट में थोड़ा बदलाव और एक्सरसाइज को अपना साथी बना लिया जाए तो कोलेस्ट्रॉल को आसानी से मैनेज किया जा सकता है। हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध पीना चाहिए या नहीं इसके बारे में जानने से पहले कोलेस्ट्रॉल होता क्या है ये जान लेते हैं।

कोलेस्ट्रॉल क्या है? (What is cholesterol?)

कोलेस्ट्रॉल को अक्सर बुरा माना जाता है, लेकिन सभी कोलेस्ट्रॉल बुरे नहीं होते हैं। दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल होते हैं जिसमें लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन (Low-density lipoprotein (LDL) और हाय डेंसिटी लिपोप्रोटीन (High-density lipoprotein (HDL) शामिल है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है। यह ब्लड से खतरनाक कोलेस्ट्रॉल को निकालने में मदद करता है ताकि यह बॉडी से बाहर निकल सके। एलडीएल को बुरा कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है। जब ब्लड में एलडीएल बहुत अधिक हो जाता है तो यह हार्ट और ब्रेन की आर्टियल वाल पर प्लाक (Plaque) के निमार्ण का कारण बनता है। अगर इसका इलाज ना किया जाए तो यह हार्ट डिजीज (Heart disease), स्ट्रोक और हार्ट अटैक का कारण बन सकता है।

और पढ़ें: मिक्सड हायपरलिपिडिमिया : कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने वाला जेनेटिक डिसऑर्डर

फूड और कोलेस्ट्रॉल (Food and cholesterol)

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध (High cholesterol and milk) का सेवन करना चाहिए या नहीं या जानने से पहले यह जान लेते हैं कि आखिर फूड और कोलेस्ट्रॉल का क्या संबंध है। बता दें कि कोलेस्ट्रॉल बॉडी में कई कार्यों को अंजाम देता है जिसमें कोशिकाओं पर आउटर कोटिंग बनाना फूड को डायजेस्ट करने के लिए बाइल एसिड का निमार्ण करना, विटामिन डी और हॉर्मोन्स का निमार्ण करना आदि शामिल हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार आपको जितने कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है वह सभी लिवर के द्वारा प्रोड्यूस होते हैं। शरीर में शेष कोलेस्ट्रॉल खाए जाने वाले भोजन से प्राप्त होता है। कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा रक्त में मौजूद होने पर स्वास्थ्य के लिए खतरा बन जाती है।

कुछ लोगों के लिए, उनके जेनेटिक्स लिवर को बहुत अधिक एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन करने का कारण बनते हैं। इसके अलावा हाय कोलेस्ट्रॉल का बढ़ाने का कारण सैचुरेटेड फैट, ट्रांस फैट, कोलेस्ट्रॉल युक्त फूड्स का सेवन भी बनता है। अब बात कर ली जाए हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध (High cholesterol and milk) का सेवन करने के नुकसान हैं या नहीं।

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन (Milk consumption in high cholesterol)

तो आपको बता दें कि इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ओबेसिटी में छपी स्टडी के अनुसार मिल्क का सेवन कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का कारण नहीं बनता। साथ ही दूध का सेवनहार्ट डिजीज के रिस्क को कम करने में मदद करता है। स्टडी में यह बात सामने आई कि जो लोग नियमित रूप से उच्च मात्रा में दूध पीते थे उनमें अच्छे और बुरे दोनों कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम था, हालांकि उनका बीएमआई स्तर गैर-दूध पीने वालों की तुलना में अधिक था। दूध पीने वाले लोगों में बीएमआई और शरीर में वसा में थोड़ी वृद्धि होने के बावजूद, दूध हृदय रोग के जोखिम का कारण नहीं है। अन्य बड़े अध्ययनों के आगे के विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि नियमित रूप से दूध का सेवन करने वालों में कोरोनरी हृदय रोग का जोखिम 14% कम था।

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्रॉल और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन : एक-दूसरे से जुड़ी हुई हैं ये दोनों समस्याएं!

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन (Milk consumption in high cholesterol) क्यों नहीं करता नुकसान

शोधकर्ताओं की टीम ने लैक्टोज नामक दूध शर्करा के पाचन से जुड़े लैक्टेज जीन में भिन्नता को देखते हुए मिल्क कंजप्शन के लिए आनुवंशिक दृष्टिकोण लिया। विमल करणी, न्यूट्रीजेनेटिक्स और न्यूट्रीजेनोमिक्स के प्रोफेसर कहते हैं कि,”हमने पाया कि आनुवंशिक भिन्नता वाले प्रतिभागियों में से, जो हम उच्च दूध के सेवन से जुड़े थे, उनका बीएमआई, शरीर में वसा अधिक था, लेकिन महत्वपूर्ण रूप से अच्छे और बुरे कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर थे। हमने यह भी पाया कि आनुवंशिक भिन्नता वाले लोगों में कोरोनरी हृदय रोग का खतरा काफी कम था। यह सब बताता है कि हृदय रोगों को रोकने के लिए दूध का सेवन कम करना आवश्यक नहीं हो सकता है।”

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध (High cholesterol and milk) का उपयोग मरीज की स्थिति के अनुसार अलग प्रभाव भी दिखा सकता है इसलिए अगर आपको हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो डॉक्टर की सलाह के बाद ही किसी प्रोडक्ट को अपनी डायट का हिस्सा बनाएं। आप चाहे तो लो फैट मिल्क का ऑप्शन भी ट्राय कर सकते हैं या नीचे बताए जा रहे दूसरे ऑप्शन भी डॉक्टर की सलाह से ट्राय कर सकते हैं।

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध: सोय मिल्क (Soya milk)

सोय मिल्क उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प है जो अपना कोलेस्ट्रॉल को मॉनिटर रहे हैं या डेयरी मिल्क में पाए जाने वाले लैक्टोज को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। चूंकि, सोय दूध का स्रोत एक पौधा है, इसमें कोई कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है और केवल नगण्य मात्रा में संतृप्त वसा (saturated fat) होता है। सोया दूध में प्रोटीन भी होता है, जो हेल्दी हार्ट के लिए बहुत अच्छा है।

और पढ़ें: मक्खन और कोलेस्ट्रॉल के बीच तालमेल बिठाना हैं, तो पढ़ें ये लेख!

हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन करना चाहते हैं तो ट्राय करें आल्मंड मिल्क (Almond milk)

बादाम दिल के लिए अच्छे होते हैं। बिना मीठे बादाम के दूध में कैलोरी होती है और इसमें कोई संतृप्त वसा नहीं होती है। और क्योंकि यह पौधे पर आधारित दूध है, इसमें कोलेस्ट्रॉल भी नहीं होता है। इसमें स्किम गाय के दूध के समान मात्रा में विटामिन डी होता है, और कुछ ब्रांड्स में 50 प्रतिशत अधिक कैल्शियम भी होता है। बादाम के दूध में पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड भी होता है, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है, सूजन को कम कर सकता है।

और पढ़ें: हायपरलिपोप्रोटीनेमिया : हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल की इस कंडिशन के बारे में क्या यह सब जानते हैं आप?

कोलेस्ट्रॉल में कम करने में मदद कर सकते हैं ये टिप्स (Tips for reducing cholesterol level)

उम्मीद करते हैं कि आपको हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध का सेवन (High cholesterol and milk consumption) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में हाय कोलेस्ट्रॉल में दूध के सेवन से संबंधित अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Control your cholesterol/
heart.org/en/health-topics/cholesterol/about-cholesterol/ Accessed on 11th November 2021

Cooking for lower cholesterol/
heart.org/en/health-topics/cholesterol/prevention-and-treatment-of-high-cholesterol-hyperlipidemia/cooking-to-lower-cholesterol/Accessed on 11th November 2021

 High cholesterol/
mayoclinic.org/diseases-conditions/high-blood-cholesterol/diagnosis-treatment/drc-20350806/Accessed on 11th November 2021

Cholesterol – healthy eating tips/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/cholesterol-healthy-eating-tips/Accessed on 11th November 2021

Preventing High Cholesterol/
https://www.cdc.gov/cholesterol/prevention.htm/Accessed on 11th November 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड