home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में जानें यहां

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में जानें यहां

अनहेल्दी फूड हेबिट्स कई बीमारियों को दावत देने में सक्षम होती है। ऐसी ही एक बीमारी है हाय कोलेस्ट्रॉल। कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने की वजह से दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार भारत में हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है। अगर स्टेटिस्टिक्स की बात करें तो भारत के शहरी इलाकों में 25 से 30 प्रतिशत एवं ग्रामीण इलाकों में 20 प्रतिशत लोगों में हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या हाल ही में डायग्नोस की गई है। हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल को बैलेंस रखना कठिन नहीं है। इसलिए आज इस आर्टिकल में हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for High cholesterol) से जुड़ी खास जानकारी आपके साथ शेयर करेंगे। आर्टिकल की शुरुआत करेंगे-

  • हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या क्या है?
  • बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल लेवल के लक्षण क्या हैं?
  • हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन कौन-कौन सी हैं?
  • हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के अलावा नैचुरल फूड भी है लाभकारी
  • हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के साथ-साथ किन-किन बातों का रखें ध्यान?

चलिए अब एक-एक कर हाय कोलेस्ट्रॉल से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

और पढ़ें : हाय कोलेस्ट्रॉल का आयुर्वेद उपाय : अपनाएंगे, तभी तो जान पाएंगे!

हाय कोलेस्ट्रॉल (High cholesterol) की समस्या क्या है?

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for High cholesterol)

कोलेस्ट्रॉल ह्यूमन बॉडी में मौजूद एक आवश्यक तत्व है। कोलेस्ट्रॉल का निर्माण लिवर में होता है। शरीर की कोशिकाओं के निर्माण, हॉर्मोन्स एवं विटामिन डी के निर्माण में कोलेस्ट्रॉल की भूमिका किसी फिल्म के हीरो से कम नहीं है। हालांकि अगर किसी भी कारण से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाए, तो ऐसी स्थिति में हार्ट प्रॉब्लेम एवं किडनी से जुड़ी समस्या बढ़ सकती है। इसलिए कोलेस्ट्रॉल लेवल बैलेंस में रखने की सलाह दी जाती है। इसलिए हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for high cholesterol) के बारे में आर्टिकल में आगे जानेंगे, जिससे कोलेस्ट्रॉल लेवल को बैलेंस बनाये रखने में मदद मिल सकती है।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन से जुड़ी जानकारी शेयर करने से पहले कोलेस्ट्रॉल लेवल के बारे में जान लेते हैं।

और पढ़ें : एक्टोपिया कोर्डिस जब न्यूली बॉर्न बेबी का हार्ट हो जाता है डिस्लोकेट!

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) के अनुसार कोलेस्ट्रॉल लेवल निम्नलिखित होना चाहिए। जैसे:

20 या इससे ज्यादा उम्र के पुरुष में कोलेस्ट्रॉल लेवल (Male Cholesterol level)-

  • टोटल कोलेस्ट्रॉल: 125 से 200 mg/dL
  • नॉन एचडीएल: 130 mg/dL से कम
  • एलडीएल: 100 mg/dL से कम
  • एचडीएल: 40 mg/dL से ज्यादा

20 या इससे ज्यादा उम्र की महिला में कोलेस्ट्रॉल लेवल (Female Cholesterol level)-

  • टोटल कोलेस्ट्रॉल: 125 से 200 mg/dL
  • नॉन एचडीएल: 130 mg/dL से कम
  • एलडीएल: 100 mg/dL से कम
  • एचडीएल: 50 mg/dL से ज्यादा

ये है कोलेस्ट्रॉल लेवल से जुड़ी जानकारी अब आर्टिकल में आगे जानेंगे हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल के लक्षण के बारे में।

और पढ़ें : Acute Decompensated Heart Failure: जानिए एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज!

बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल लेवल के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of high cholesterol)

बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल लेवल के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • सीने में दर्द (Chest pain) होना।
  • बेचैनी (Restlessness) महसूस करना।
  • बॉडी वेट (Body weight) बढ़ना।
  • सांस लेने (Breathing problem) में तकलीफ होना।
  • सिरदर्द (Headache) की होना।

ये लक्षण सामान्य शारीरिक तकलीफ हो सकती है, लेकिन इन लक्षणों को इग्नोर ना करें और ऐसे में जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें : Diuretics in Cardiomyopathy: कार्डियोपैथी में डाइयुरेटिक्स के फायदे तो हैं, लेकिन इसके सीरियस साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं!

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for high cholesterol)

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for High cholesterol)

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन: कोलेस्ट्रॉल लैट (CHOLESTERINUM LATT)

होम्योपैथिक मेडिसिन कोलेस्ट्रॉल लैट (CHOLESTERINUM LATT) में मौजूद नैचुरल मिनिरल्स, हर्ब्स एवं एक्टिव केमिकल्स कोलेस्ट्रॉल लेवल को बैलेंस रखने में अत्यधिक सहायक माना जाता है। हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन की लिस्ट में शामिल कोलेस्ट्रॉल लैट (CHOLESTERINUM LATT) दवा के तौर पर होम्योपैथिक डॉक्टर ट्राईटुरेशन टेबलेट (Trituration tablet) प्रिस्क्राइब करते हैं।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन: लायकोपोडियम (Lycopodium)

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन की लिस्ट में शामिल है लायकोपोडियम (Lycopodium)। लायकोपोडियम के सेवन से हार्ट (Heart) एवं लिवर (Liver) में कोलेस्ट्रॉल लेवल बैलेंस रहता है। लायकोपोडियम (Lycopodium) भी होम्योपैथिक डॉक्टर द्वारा प्रिस्क्राइब की जाती है।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन: अवेना सतीवा (Avena Sativa)

हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित लोगों को अवेना सतीवा (Avena Sativa) प्रिस्क्राइब की जाती है। अवेना सतीवा (Avena Sativa) कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के साथ-साथ शुगर एब्सॉर्ब्शन में भी सहायक है, जिससे बॉडी में ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) बैलेंस रहता है।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन: अल्फाल्फा (Alfalfa)

होम्योपैथिक दवाओं में अल्फाल्फा (Alfalfa) मशहूर दवाओं की लिस्ट में शामिल है। हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या से निजात दिलाने में बेहद सहायक दवा मानी जाती है। दरअसल अल्फाल्फा (Alfalfa) में मौजूद विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन ई (Vitamin E) एवं विटामिन के (Vitamin K) कोलेस्ट्रॉल एब्सॉर्ब्शन को कम करने में सहायता प्रदान करता है।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन: कोलेस्टेरिनम (Cholesterinum)

हाय लेवल कोलेस्ट्रॉल को बैलेंस करने के लिए कोलेस्टेरिनम (Cholesterinum) प्रिस्क्राइब की जाती है। कोलेस्टेरिनम (Cholesterinum) के सेवन से आट्रियल वॉल को नुकसान होने से बचाने में खास भूमिका निभाता है।

ये हैं 5 अलग-अलग तरह की हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for high cholesterol) के नाम। इन दवाओं के अलावा हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक दवा प्रिस्क्राइब की जा सकती है।

नोट: अपनी मर्जी से हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक दवा का सेवन नाम करें, क्योंकि इन दवाओं के सेवन से साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए प्रिस्क्राइब्ड अनुसार ही होम्योपैथिक दवा का भी सेवन करें।

और पढ़ें : Heart Palpitations: कुछ मिनट या कुछ सेकेंड के हार्ट पल्पिटेशन को ना करें इग्नोर!

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के अलावा नैचुरल फूड (Natural foods) भी है लाभकारी-

हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या को कम करने के लिए निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन लाभकारी माना जाता है। जैसे:

  • ब्राउन राइस (Brown rice)- ब्राउन राइस अनसैचुरेटेड होता है और इसके सेवन से हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल को बैलेंस रखने में मदद मिल सकती है। इसलिए ब्राउन राइस का सेवन किया जा सकता है।
  • लहसुन (Garlic)- हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के अलावा नैचुरल फूड जैसे लहसुन का सेवन लाभकारी माना गया है। लहसुन के सेवन से गुड कोलेस्ट्रॉल बनाये रखने में मदद मिलती है।
  • हल्दी (Turmeric)- बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का राज छुपा है हल्दी में। हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट गुण कोलेस्ट्रॉल लेवल को बैलेंस बनाने में सहायक माना जाता है।

इन 3 नैचुरल खाद्य पदार्थों के अलावा अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है, जिससे हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल को इम्बैलेंस होने से बचाने में मदद मिल सकती है।

और पढ़ें : कैसे समझें कि आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है? जानिए कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for High cholesterol) के साथ-साथ किन-किन बातों का रखें ध्यान?

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन (Homeopathic medicine for High cholesterol)

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के सेवन के साथ-साथ निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • सब्जी बनाने के लिए सूरजमुखी या कुसुम के तेल का इस्तेमाल करें।
  • डीप फ्राय (Deep fry) किये हुए खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें।
  • खाने को ग्रिल या बॉइल कर सेवन किया जा सकता है।
  • पौष्टिक आहार (Healthy diet) का सेवन करें।
  • वजन संतुलित बनाये रखें, क्योंकि वजन बढ़ने से हाय कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) का खतरा बढ़ जाता है, जिससे हार्ट डिजीज की संभावना बढ़ जाती है।
  • ताजे फल (Fruits) एवं सब्जियों (Vegetables) का सेवन करें।
  • नट्स का सेवन भी हार्ट डिजीज (Heart disease) से बचाव में सहायक माना जाता है।
  • स्मोकिंग (Smoking) ना करें।

हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के सेवन के साथ-साथ इन ऊपर बताये बातों का ध्यान रखें।

अगर आप हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन जल्द से जल्द करें। ध्यान रखें कि कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की समस्या होने पर लापरवाही ना करें, क्योंकि आपकी छोटी सी लापरवाही आपको गंभीर बीमारियों का शिकार भी बना सकती हैं। इसलिए अगर आपको हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, तो डॉक्टर से समय-समय पर कंसल्टेशन करें, वॉक (Walk) करें, योग (Yoga) करें और पौष्टिक आहार (Healthy diet) का सेवन करें। हाय कोलेस्ट्रॉल की तकलीफ को कम करने के लिए होम होम्योपैथिक मेडिसिन का सहारा लिया जा सकता है, लेकिन डॉक्टर से कंसल्टेशन के बाद। अगर आप हाय कोलेस्ट्रॉल से जुड़े किसी सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

स्वस्थ्य रहने के लिए हेल्दी फूड का सेवन जरूरी माना जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं हेल्दी खाने के लिए टाइम टेबल मैनेज करना भी बेहद जरूरी है। इसलिए नीचे दिय इस वीडियो पर क्लिक करें और एक्सपर्ट से जानिए कब और क्या खाएं।

 

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Short Communication Open Access
Heart Health and Homeopathy/https://www.omicsonline.org/open-access/heart-health-and-homeopathy-2167-1206.1000135.php?aid=19126/Accessed on 22/09/2021

Cholesterol & Homeopathy/https://docs.bvsalud.org/biblioref/2021/03/1147744/3homeopathic-repertory-of-modern-drugs-volume-iii-completo-1-ed-2010.pdf/Accessed on 22/09/2021

Cholesterol/https://www.heart.org/en/health-topics/cholesterol/Accessed on 22/09/2021

Dietary Cholesterol and Cardiovascular Risk: A Science Advisory From the American Heart Association/https://www.ahajournals.org/doi/full/10.1161/CIR.0000000000000743/Accessed on 22/09/2021

Cholesterol Guidelines & Heart Health/https://my.clevelandclinic.org/health/articles/16866-cholesterol-guidelines–heart-health/Accessed on 22/09/2021

2018 Cholesterol Guidelines for Heart Health Announced/https://www.hopkinsmedicine.org/news/newsroom/news-releases/2018-cholesterol-guidelines-for-heart-health-announced/Accessed on 22/09/2021

Cholesterol and Heart Disease: Current Concepts in Pathogenesis and Treatment/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2571342/Accessed on 22/09/2021

High cholesterol facts/https://www.cdc.gov/cholesterol/facts.htm/Accessed on 22/09/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड