home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Acute Decompensated Heart Failure: जानिए एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज!

Acute Decompensated Heart Failure: जानिए एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज!  

छोटे से दिल का ख्याल अगर ठीक से ना रखा जाए, तो कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और बढ़ जाती है दिल की मुसीबतें। ऐसी ही दिल से जुड़ी एक बीमारी का नाम है एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure), जिसपर बहुत ज्यादा रिसर्च फिलहाल नहीं है, लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण अगर महसूस हों, तो लापरवाही करना बड़ी मुसीबत में डाल सकता है। इसलिए आज इस आर्टिकल में हार्ट फेलियर से जुड़े एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के बारे में कंप्लीट इन्फॉर्मेशन शेयर करेंगे।

और पढ़ें : हार्ट डिजीज ही नहीं बल्कि उससे जुड़ी गंभीर समस्याओं के बारे में भी आपको होनी चाहिए जानकारी!

  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर क्या है?
  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण क्या हैं?
  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के कारण क्या हैं?
  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर का निदान कैसे किया जाता है?
  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर का इलाज कैसे किया जाता है?
  • एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर का बचाव कैसे करें?

चलिए अब एक-एक कर एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure) क्या है?

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure)

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार यूनाइटेड स्टेट्स (United States) में एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर की समस्या सबसे ज्यादा देखी जा रही है। एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर की समस्या होने पर हार्ट कंडिशन तेजी से बिगड़ने लगती हैं और मरीज की स्थिति भी गंभीर होने लगती है। ऐसे में सबसे पहले एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण को समझने की कोशिश करेंगे।

और पढ़ें : Heart Palpitations: कुछ मिनट या कुछ सेकेंड के हार्ट पल्पिटेशन को ना करें इग्नोर!

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • सांस लेने में तकलीफ (Breathing problem) होना।
  • काम करने के दौरान सांस फूलना।
  • आराम करने के दौरान सांस फूलना (Orthopnea)।
  • बार-बार नींद (Sleep gasping) से जागना।
  • एक्यूट पल्मोनरी एडेमा (Acute pulmonary edema) की समस्या।
  • चेस्ट पेन (Chest pain) होना।
  • पल्पिटेशन (Palpitations) की समस्या होना।
  • भूख (Appetite loss) नहीं लगना
  • जी मिचलाना (Nausea)।
  • शरीर का वजन सामान्य से कम (Weight loss) होना।
  • पेट फूलने (Bloating) की समस्या।
  • थकान (Fatigue) महसूस होना।
  • यूरिनेशन कम (Low urine output) होना।
  • कन्फयूजन (Confusion) में रहना।

ये एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण हो सकते हैं। अगर आप ऐसी किसी भी परेशानियों या लक्षणों से गुजर रहें हैं, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें : एरिथमिया और डिसरिथमिया जानिए दिल से जुड़ी इस बीमारी को

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के कारण क्या हैं? (Cause of Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • हाय ब्लड प्रेशर (High Blood pressure) की समस्या होना।
  • डायबिटीज (Diabetes) की समस्या होना।
  • फॉल्टी हार्ट वॉल्वस (Faulty heart valves) होना।
  • कोरोनरी आर्टरी डिजीज (Coronary artery disease) की समस्या होना।
  • इनहेरिटेड हार्ट डिजीज (Inherited heart defects) होना।
  • हार्ट में किसी भी कारण डैमेज (Damaged) होना।
  • हार्ट में सूजन (Inflamed heart) होना।
  • इंफेक्शन (Infections) होना।
  • एलर्जिक रिएक्शन allergic reactions होना।
  • लंग्स में ब्लड क्लॉट (Blood clot) होना।
  • कार्डियोपल्मोनरी बायपास सर्जरी (Cardiopulmonary bypass surgery) होना।
  • दिल की धड़कन अनियमित (Irregular heartbeats) रहना।
  • हार्ट अटैक (Heart attack) होना।

अगर आप ऊपर बताये बीमारियों से पीड़ित हैं, तो ऐसे में एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए कारणों को समझें और लक्षणों पर गौर करना सबसे ज्यादा जरूरी है। क्योंकि आप अपनी शारीरिक तकलीफों की जानकारी जितनी जल्दी डॉक्टर को देंगे, उतनी ही जल्दी ट्रीटमेंट शुरू की जा सकेगी। हेल्थकेर प्रफ़ेशनल्स भी सबसे पहले एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure) की डायग्नोसिस करते हैं और फिर इलाज शुरू करते हैं।

और पढ़ें : एब्नॉर्मल हार्ट रिदम: किन कारणों से दिल की धड़कन अपने धड़कने के स्टाइल में ला सकती है बदलाव?

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के निदान के लिए सबसे पहले डॉक्टर पेशेंट की हेल्थ कंडिशन को मॉनिटर करते हैं। मेडिकल हिस्ट्री जानने की कोशिश करते हैं और फिर टेस्ट प्रिस्क्राइब करते हैं। एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के निदान के लिए निम्नलिखित टेस्ट किये जाते हैं। जैसे:

इन अलग-अलग टेस्ट्स को डॉक्टर पेशेंट की हार्ट हेल्थ को ध्यान में रखकर करते हैं।

और पढ़ें: Chronic heart failure: सीने में दर्द और तेज दिल धड़कन क्रोनिक हार्ट फेलियर के लक्षण तो नहीं?

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के इलाज के दौरान डॉक्टर्स की टीम पेशेंट की हेल्थ कंडिशन एवं एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर की गंभीरता को ध्यान में रखकर शुरू करते हैं। एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के इलाज के लिए बीटा ब्लॉकर्स (Beta-blockers), कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers), ब्लड थिनर्स (Blood thinners) जैसी दवाएं प्रिस्क्राइब की जाती हैं। वहीं अगर पेशेंट की स्थिति ज्यादा गंभीर है, तो ऐसे में सर्जरी का विकल्प अपनाया जा सकता है। सर्जरी के बाद डॉक्टर पेशेंट को दवा भी प्रिस्क्राइब करते हैं।

नोट: ऊपर बताई गई दवाओं का सेवन अपनी मर्जी से ना करें। डॉक्टर द्वारा बताये गए डोज के अनुसार ही करें।

और पढ़ें: Anti-arrhythmics: हार्ट एरिथमिया की हो जाए समस्या, तो इन दवाओं का किया जाता है इस्तेमाल

कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम की स्थिति को नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक कर आसानी से समझा जा सकता है।

और पढ़ें : सिस्टोलिक हार्ट फेलियर : लाइफस्टाइल में हेल्दी बदलाव से सुधर सकती है दिल की यह कंडिशन!

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर से बचाव कैसे करें? (Prevention of Acute Decompensated Heart Failure)

एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर या दिल (Heart) से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करने लिए निम्नलिखित विकल्प अपनाये जा सकते हैं। जैसे:

  • बॉडी वेट बैलेंस (Body weight) रखें।
  • ज्यादा नमक (Salt) का सेवन ना करें।
  • स्मोकिंग (Smoking) ना करें और स्मोकिंग जोन से दूर रहें।
  • एल्कोहॉल (Alcohol) के सेवन बचें।
  • हरी सब्जियों (Green vegetables) एवं मौसमी फलों का सेवन करें।
  • नॉन वेजिटेरियन हैं, तो लीन मीट (Lean meat) के साथ-साथ हेल्दी डायट (Healthy diet) मेंटेन रखें।
  • प्रतिदिन वॉक (Walk) पर जाएं।
  • अपने दिनचर्या में योग (Yoga) शामिल करें।
  • तनाव (Tension) से बचें।
  • रोजाना 7 से 9 घंटे की नींद (Sleep) लें।

ये टिप्स हार्ट पेशेंट्स के साथ-साथ उन लोगों के लिए भी लाभकारी हो सकते हैं, जिन्हें हार्ट संबंधी प्रॉब्लम नहीं है। हार्ट को हेल्दी रखने के लिए इन उपायों को सिर्फ एक दिन दो दिन नही, बल्कि इसे रोजाना करें। रोजाना करने से ही लाभ मिल सकता है।

और पढ़ें : Diuretics in Cardiomyopathy: कार्डियोपैथी में डाइयुरेटिक्स के फायदे तो हैं, लेकिन इसके सीरियस साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं!

अगर आप एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure) की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन और उनके दिए गए सलाह का ठीक तरह से पालन करें। ऐसा करने से बीमारी को जल्द से जल्द कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर (Acute Decompensated Heart Failure) से जुड़े किसी तरह के सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हैलो स्वास्थ्य के हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों का जवाब देने की जल्द से जल्द कोशिश करेंगे।

स्वस्थ रहने के लिए नियमित योग (Yoga) करें। योग आपके मन और तन दोनों को स्वस्थ रखने में सहायक है। योग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी और योग करने का सही तरीका जानिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक में।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Acute Heart Failure Syndromes/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20069075/Accessed on 04/08/2021

Acute decompensated heart failure: contemporary medical management/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20069075/Accessed on 04/08/2021

Acute Decompensated Heart Failure/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2801958/Accessed on 04/08/2021

2013 ACCF/AHA Guideline for the Management of Heart Failure/https://www.ahajournals.org/doi/10.1161/cir.0b013e31829e8776/Accessed on 04/08/2021

Registry for Acute Decompensated Heart Failure Patients/https://www.clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00366639/Accessed on 04/08/2021

Angiotensin–Neprilysin Inhibition in Acute Decompensated Heart Failure/https://www.nejm.org/doi/full/10.1056/nejmoa1812851/Accessed on 04/08/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x