home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स : हाय ब्लड प्रेशर को कम करने का काम करती हैं यह दवाएं!

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स : हाय ब्लड प्रेशर को कम करने का काम करती हैं यह दवाएं!

अगर किसी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर बहुत अधिक है, तो इससे उस व्यक्ति की ब्लड वेसल्स गंभीर रूप से डैमेज हो सकती हैं। यह डैमेज कई जटिलताओं का कारण भी बन सकता है, जिनमें से कुछ जानलेवा हो सकती हैं। इनमें हार्ट फेलियर, विजन लॉस, किडनी डिजीज और अन्य हेल्थ प्रॉब्लम्स शामिल हैं। हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) दवाओं के इस्तेमाल को प्रभावी माना गया है। यू.एस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (U.S. Food & Drug Administration) के अनुसार हाय ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को मैनेज करने के कई तरीके हैं: दवाइयां और लाइफस्टाइल में बदलाव। इन्हीं दवाइयों में शामिल हैं कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स।आइए जानते हैं हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स के बारे में। सबसे पहले जानें क्या हैं कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers)?

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स क्या हैं? (Calcium channel blockers)

यह तो आप जान गए हैं कि कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers) का प्रयोग हाय ब्लड प्रेशर यानी हायपरटेंशन के उपचार के लिए किया जाता है। यह मेडिसिन्स कैल्शियम को हार्ट और आर्टरीज के सेल्स में एंटर करने से रोकती हैं, जिससे ब्लड प्रेशर को कम होने में मदद मिलती है। क्योंकि, कैल्शियम हार्ट और आर्टरीज के सिकुड़ने का कारण बन सकता है। कैल्शियम को ब्लॉक कर के कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स ब्लड वेसल्स को रिलेक्स और ओपन रहने में मदद करती हैं। ब्लड प्रेशर को लो रखने के साथ ही यह दवाइयां और भी कई समस्याओं के उपचार में प्रयोग की जाती हैं जैसे:

  • छाती में दर्द या एंजाइना (Chest pain or Angina)
  • कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary Heart Disease)
  • असामान्य हार्टबीट या एरिथमिया (Irregular Heartbeat or Arrhythmia)
  • माइग्रेन (Migraine)

बुजुर्गों में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स अन्य ब्लड प्रेशर की दवाइयों की तुलना में अच्छा काम करती हैं जैसे बीटा ब्लॉकर्स (Beta Blockers), ACE इन्हिबिटर्स (ACE inhibitors) आदि। इस दवा की कितनी डोज रोगी को लेनी है, यह बात उसकी हेल्थ और मेडिकल हिस्ट्री पर निर्भर करती है। अब जानते हैं हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के उदाहरणों के बारे में। यानी कौन सी कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers) हाय ब्लड प्रेशर की समस्या के लिए बेहतरीन मानी जाती हैं।

और पढ़ें : Hypertension : हायपरटेंशन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension)

इस समय कई कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers) दवाइयां बाजार में उपलब्ध हैं। रोगी के स्वास्थ्य के लिए कौन सी बेहतर है। यह बात कई अन्य चीजों पर भी निर्भर करती है जैसे रोगी की सेहत और किस बीमारी के उपचार के लिए इसका प्रयोग किया जा रहा है? इसके कुछ उदाहरण इस प्रकार हैं :

एम्लोडीपिन (Amlodipine)

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का प्रयोग हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के रूप में किया जा सकता है इसका ब्रांड नाम नॉरवेस्क (Norvasc) है। डॉक्टर रोगी को एम्लोडीपिन (Amlodipine) की सलाह हाय ब्लड प्रेशर के उपचार के लिए इस्तेमाल होने वाली अन्य दवाइयों के साथ लेने की भी दे सकते हैं। ब्लड प्रेशर के कम होने से स्ट्रोक, हार्ट अटैक और किडनी की समस्याओं से भी बचा जा सकता है। यह दवा ब्लड वेसेल्स को रिलेक्स करने का काम करती है, ताकि ब्लड आसानी से बह सके। एंजाइना (angina) के उपचार में भी इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस दवा को तभी लेना चाहिए, अगर आपको डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। इसके साथ ही अगर आपको जन्मजात हार्ट फेलियर या कोई लिवर डिजीज हैं, तो पहले ही डॉक्टर को इसके बारे में बता दें। इस दवा को लेने से रोगी कई साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं जैसे चक्कर आना, थकावट, पेट में दर्द, जी मचलना आदि। एम्लोडीपिन (Amlodipine) की 10 टेबलेट्स आपको लगभग 25 रुपये में मिलेंगी।

और पढ़ें : अपने करीबी की हायपरटेंशन कम करने में मदद कैसे करेंगे?

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स: फेलोडीपीन (Felodipine)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) में अगली दवा यानी फेलोडीपीन (Felodipine) को ब्रांड नेम प्लेंडल (Plendil) से भी जाना जाता है। फेलोडीपीन (Felodipine) का प्रयोग हायपरटेंशन के साथ ही अन्य कई समस्याओं के उपचार में भी किया जाता है। यह ड्रग कैल्शियम को ब्लॉक करती हैं, ताकि ब्लड वेसल रिलेक्स व चौड़े हो सकें और खून को बहने में आसानी हो। डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवा को नहीं लेना चाहिए। अगर डॉक्टर ने आपको इस दवा को लेने की सलाह दी है, तो इसका नियमित रूप से सेवन करें ताकि आपका इनका पूरा लाभ आपको मिल सके। फेलोडीपीन (Felodipine) की 10 टेबलेट्स 85 रुपये में ऑनलाइन उपलब्ध है।

इस ड्रग को लेते हुए ग्रेपफ्रूट या ग्रेपफ्रूट जूस को न लेने की सलाह भी दी जाती है। ऐसा माना जाता है कि इस दवा को लेते हुए अगर कोई ग्रेपफ्रूट का सेवन करता है, तो उसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इस दवा को लेने से होने वाले सामान्य दुष्प्रभावों में बाजू, हाथ, टांगों या पैरों में सूजन होना, सिरदर्द, छाती में दर्द, सांस लेने में समस्या आदि शामिल है

और पढ़ें : हाय ब्लड प्रेशर के कारण हो सकती है ये हेल्थ कंडीशन, इन बातों का रखें ध्यान

इजरेडपिन (Isradipine)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) में इजरेडपिन (Isradipine) भी शामिल है। जिसे डायनासर्क (Dynacirc) या डायनासर्क सीआर (Dynacirc CR) जैसे ब्रांड नेम्स से जाना जाता है। इस दवा को भी अन्य हाय ब्लड प्रेशर के उपचार में प्रयोग होने वाली दवाइयों के साथ प्रयोग किया जा सकता है। हायपरटेंशन में इस दवा का प्रयोग करने से ब्लड प्रेशर लो हो जाता है जिससे मरीज कई गंभीर स्थितियों से बच सकता है जैसे स्ट्रोक और हार्ट अटैक। इस दवा की मदद से ब्लड वेसल्स को रिलैक्स किया जा सकता है, ताकि खून अधिक आसानी से फ्लो कर सके। लेकिन, कभी भी अपनी मर्जी से इस दवा को न लें क्योंकि इसे लेने से आप कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव भी कर सकते हैं जैसे हार्टबीट के तेज होना,थकावट, सिरदर्द, सूजन, पेट का ख़राब होना आदि।

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension)

और पढ़ें : हायपरटेंशन के लिए डैश डायट लेकर करें बीमारी को दूर

निकार्डिपिन (Nicardipine)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) में से एक निकार्डिपिन (Nicardipine) बाजार में कई ब्रांड नेम्स से उपलब्ध है जैसे कार्डिन IV (Cardene IV), कार्डिन SR (Cardene SR) या कार्डिन (Cardene)। यह वो कैल्शियम चैनल ब्लॉकर मेडिसिन है जो ब्लड वेसल को आराम पहुंचाने का काम करती है। ताकि ब्लड आराम से फ़्लो कर सके। इससे ब्लड प्रेशर को लो होने में मदद मिलती है और मरीज को कई हार्ट समस्याओं से भी राहत मिल सकती है। रोजाना इस दवाइयों का सेवन करना बेहद प्रभावी सिद्ध हो सकता है। लेकिन, कुछ लोग इन दवाइयों के कारण दुष्प्रभावों का अनुभव भी कर सकते हैं चक्कर आना, हार्टबीट का तेज होना, गंभीर छाती में दर्द, सिरदर्द, पैरों में सूजन, जी मचलना आदि। निकार्डिपिन (Nicardipine) 10 टेबलेट्स 15 रुपये में ऑनलाइन उपलब्ध है।

और पढ़ें : हायपरटेंशन की दवा के फायदे और साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

नायजोल्डपिन (Nisoldipine)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के अगली ड्रग है नायजोल्डपिन (Nisoldipine), जिसका ब्रांड नेम सलार (Sular) है। वयस्कों में हायपरटेंशन यानी हाय ब्लड प्रेशर के उपचार के लिए इस मेडिसिन का प्रयोग किया जाता है। अगर आपको कोई गंभीर बीमारी है, आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं या आपको एलर्जी है, तो इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर को इन सब चीजों के बारे में बता दें। अगर आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं, तब भी डॉक्टर से इस बारे में बात करना जरूरी है। बिना डॉक्टर की सलाह के इस दवा को लेने से बचें। ऐसे में यह दवा आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है। इसके साइड इफेक्ट्स में सिरदर्द, सूजन, चक्कर आना, हार्टबीट का तेज होना आदि शामिल है। नायजोल्डपिन (Nisoldipine) की 10 टेबलेट्स आपको लगभग 155 रुपये में मिलेंगी।

और पढ़ें : पोर्टल हायपरटेंशन : कहीं इस हाय ब्लड प्रेशर का कारण लिवर की समस्याएं तो नहीं?

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स: डिल्टियाजम (Diltiazem)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) में डिल्टियाजम (Diltiazem) का प्रयोग हार्ट और ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करने के लिए किया जाता है। यह दवा हार्ट रेट को कम रखने में भी मददगार है। इस इफेक्ट्स के कारण हार्ट को कम काम करना पड़ता है और ब्लड प्रेशर लो रहता है, यानी हायपरटेंशन के उपचार के लिए इसकी सलाह दी जाती है। यही नहीं, इस दवा का इस्तेमाल एंजाइना(Angina) और खास हार्ट रिदम डिसऑर्डर्स (Heart Rhythm Disorders) के उपचार के लिए भी किया जाता है। इसका ब्रांड नेम कार्डिज़ेम (Cardizem) है। इस दवा को तभी लें जब डॉक्टर ने इसे लेने की सलाह दी हो। डिल्टियाजम (Diltiazem) की 30 mg स्ट्रेंथ की 10 टेबलेट्स लगभग 30 रुपये में उपलब्ध है। यही नहीं, अपनी मर्जी से इसकी डोज को बढ़ाना या कम करना भी आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इस ड्रग के साइड इफेक्ट्स सूजन, कमजोरी, जी मचलना, सिरदर्द, रैशेज, हार्टबीट का कम होना आदि हैं।

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) को कभी भी बिना डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन के न लें। ऐसा करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक और कई बार जानलेवा भी हो सकता है। कुछ लोग इन ड्रग्स को लेने के बाद साइड-इफेक्ट्स का अनुभव भी करते हैं। यह साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हो सकते हैं?

और पढ़ें : ये लक्षण आपमें हो सकते हैं मैलिग्नेंट हायपरटेंशन के, संकट से बचने के लिए इसे न करें अनदेखा…

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Calcium channel blockers)

हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के इस्तेमाल करें या किसी अन्य कंडिशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers) के कारण कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जैसे थकावट, पेट, पैरों और टांगों में दर्द आदि। इसके अलावा कुछ लोग अन्य साइड इफेक्ट्स का अनुभव कर सकते हैं। हालांकि, ऐसा जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति जो इस दवा का सेवन करता है उसे यह समस्याएं हो। इसके कुछ दुष्प्रभाव इस प्रकार हैं:

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स को लेने से कुछ दुर्लभ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं, जैसे:

और पढ़ें : हायपरटेंशन बन सकता है कंजेस्टिव हार्ट फेलियर की वजह, आज से ही शुरू कर दें इस पर नजर रखना

हाय ब्लड प्रेशर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे दिय इस क्विज को खेलिए।

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

अगर आप इनमे से कोई भी साइड इफ़ेक्ट का अनुभव करते हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। अगर इन ड्रग्स के कारण गंभीर समस्याएं हो रही हों, तो डॉक्टर इन दवाइयों की डोज में परिवर्तन कर सकते हैं। यह तो थी हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के बारे में पूरी जानकारी। इस बात को भी ध्यान में रखें कि यह दवाइयां केवल उपचार का एक हिस्सा हैं। इन दवाइयों के साथ-साथ आपको अपनी डायट व व्यायाम आदि पर भी ध्यान देना चाहिए। इसके साथ ही नियमित रूप से चेकअप कराना भी बेहद आवश्यक है। हायपरटेंशन में कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers in Hypertension) के यूज के बारे में अन्य जानकारी डॉक्टर से लें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/09/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड