backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में किस प्रकार मदद करती है मेटामुसिल?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Sayali Chaudhari · फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 29/09/2021

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में किस प्रकार मदद करती है मेटामुसिल?

अगर आप अपने कोलेस्ट्रॉल लेवल (Cholesterol) के बारे में चिंतित हैं। इसे ठीक करने के लिए एक्सरसाइज करना और हेल्दी डायट लेना शुरू कर दिया है, तो आपको बता दें कि एक और चीज है जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। वह है मेटामुसिल (Metamucil)। मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) का क्या है कनेक्शन और यह कैसे कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में मददगार है। इस आर्टिकल में बताया जा रहा है। दरअसल मेटामुसिल सिलियम (Psyllium) से बना एक बल्क-फॉर्मिंग फायबर लैक्सेटिव (Bulk-forming fiber laxative) है। सिलियम कई ओवर-द-काउंटर लैक्सेटिव में मुख्य इंग्रीडेंट होता है, जैसे मेटामुसिल (Metamucil), फाइबरसॉल (Fibersol) और अन्य सप्लिमेंट्स।

यह हानिकारक लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (LDL) को 5% से 10% तक कम कर सकता है। यहां तक कि मेटामुसिल आपके ब्लड शुगर (Blood Sugar) लेवल को भी मेंटेन करने में मददगार होता है, तो आइए  जानते हैं कि मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल के बारे में रिसर्च क्या कहती है, मेटामुसिल क्या है, इसके क्या बेनेफिट्स और साइड इफेक्ट्स हैं?

मेटामुसिल (Metamucil) क्या है?

मेटामुसिल सिलियम (Psyllium) से बनता है। सिलियम एक फायबर है जो प्लांटागो ओवाटा (Plantago ovata) पौधे के बीज के ऊपर मौजूद भूसी से बनता है। मेटामुसिल में पाउडर्ड सिलियम हस्क (Powdered psyllium husks) होता है, जो सोलुएबल फायबर का एक अच्छा सोर्स है। यह इंटेस्टाइन में लिक्विड को एब्सॉर्ब करता है और फूल जाता है। इसका सेवन स्टूल पास करने की प्रक्रिया में सुधार करता है। अब आप सोच रहे होंगे कि मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल का आखिर क्या संबंध है। ये भी जान लीजिए।

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में जानें यहां

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) का क्या संबंध है?

सिलियम एक नैचुरल प्रोडक्ट है। यह टोटल कोलेस्ट्रॉल और लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (Low-density lipoprotein) को कम कर सकता है। एलडीएल, जिसे “बैड” कोलेस्ट्रॉल के रूप में भी जाना जाता है। यह आर्टरीज के ब्लॉकेज का कारण बनता है जिससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक (Heart attack) आ सकता है। माना जाता है कि सिलियम, वेस्ट (Waste), बाइल एसिड (Bile acid) और कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को एब्सॉर्ब करने में मदद करता है, जो स्टूल पास करने के दौरान बॉडी से हटा दिए जाते हैं। ऐसा सिलियम के फूलने और थिक जेल बनाने की क्षमता के कारण हो सकता है।

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol)

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) के बारे में क्या कहती हैं रिसर्च?

एनसीबीआई की 1990 की एक रिसर्च से पता चलता है कि सिलियम (Psyllium) कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकता है। इससे कोलेस्ट्रॉल पर सिलियम के प्रभावों को चेक करने के लिर एक्स्ट्रा रिसर्च हुई। 2000 में, अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन (AJCN) में एक मेटा-एनालिसिस पब्लिश किया गया था। इसके अंतर्गत सिलियम के कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले लाभों पर आठ स्टडीज को देखा गया। शोधकर्ताओं ने निर्धारित किया कि सिलियम ने उन पार्टिसिपेंट्स में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को काफी कम कर दिया जो पहले से ही लो फैट डायट का सेवन कर रहे थे। पुरुषों और महिलाओं के बीच कोई महत्वपूर्ण अंतर नहीं देखा गया, लेकिन ओल्डर ऐज ग्रुप्स में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (LDD Cholesterol) में सबसे ज्यादा कमी आई।

और पढ़ें: थायरॉइड का कोलेस्ट्रॉल पर क्या हो सकता है असर, अगर तो क्या हो सकती हैं परेशानियां?

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) के बारे में हाल ही की रिपोर्ट 

यूरोपियन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन (EJCN) में प्रकाशित एक हालिया स्टडी के अनुसार, सिलियम टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) वाले लोगों में ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) को कम करने में मदद कर सकता है। स्टडी में टाइप 2 डायबिटीज वाले 40 लोगों को फॉलो किया गया। उनका इलाज एंटीडायबिटिक दवाओं और प्रिसक्राइब्ड, कंट्रोल्ड डायट के साथ किया गया था। स्टडी पार्टिसिपेंट्स को या तो प्रति दिन तीन बार सिलियम (Psyllium) दिया गया। वहीं दूसरे कंट्रोल ग्रुप को केवल कंट्रोल्ड आहार दिया गया। सिलियम के साथ इलाज करने वालों में ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) काफी कम था। कंट्रोल ग्रुप के लोगों ने कोई चेंज नहीं अनुभव किया।

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित 2011 की एक स्टडी में भी सिलियम और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) के बीच एक संबंध पाया गया। शोधकर्ताओं ने रिजल्ट निकाला कि सिलियम को नॉर्मल या हाय फाइबर वाले आहार में शामिल करने से एलडीएल और टोटल कोलेस्ट्रॉल (Total cholesterol) का लेवल कम हो गया।

मेटामुसिल (Metamucil) का उपयोग कैसे करें?

मेटामुसिल विभिन्न रूपों में उपलब्ध है, जिनमें शामिल हैं:

  • पाउडर (Powder)
  • वेफर (Wafer)
  • हेल्थ बार (Health bar)
  • कैप्सूल (Capsule)

वेफर्स और हेल्थ बार फायबर के अच्छे सोर्स हैं, लेकिन उन्हें कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए रिकमेंड नहीं किया जाता है। डॉक्टरी सलाह से आप इनका सेवन कर सकते हैं।

और पढ़ें: VLDL नार्मल वैल्यू: जानिए कोलेस्ट्रॉल लेवल की इस वैल्यू के बारे में!

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) : मेटामुसिल के साइड इफेक्ट्स 

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल का संबंध जान लेने के बाद ये भी जान लीजिए कि इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं। हालांकि, अधिकांश लोगों में इसके सेवन से कोई समस्या नहीं होती है। साइड इफेक्ट्स में निम्न शामिल हैं।

सिलियम के उपयोग से कुछ लोगों को हल्की एलर्जी का अनुभव हो सकता है, जैसे कि हाइव्स, सूजी हुई पलकें और अस्थमा। मेटामुसिल दुर्लभ, गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाएं भी पैदा कर सकता है, जैसे: बहुत ज्यादा खुजली होना, सांस लेने में तकलीफ, गले में जकड़न, बेहोशी, फ्लशिंग आदि।

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol)

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) : उपयोग करते वक्त बरतनी चाहिए ये सावधानियां

  • डायबिटीज रोगी को सिलियम का सेवन करने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए। इससे सेवन से ब्लड शुगर लेवल कम (Hypoglycemia) हो सकता है)।
  • यदि आपकी हाल फिलहाल में कोई सर्जरी होने वाली है, तो आपको सर्जरी से दो सप्ताह पहले मेटामुसिल को लेना बंद कर देना चाहिए। यह ब्लड शुगर लेवल को काफी कम कर सकता है।
  • यदि आपको फेकल इम्पैक्शन (Fecal impaction) यानी वृहदान्त्र (कोलन) या मलाशय में हार्ड स्टूल का इकट्‍ठा हो जाने की समस्या है तो मेटामुसिल का सेवन आपको नहीं करना चाहिए।
  • यदि आप ऐसी हर्ब्स, दवाओं या सप्लिमेंट्स का उपयोग कर रहे हैं जो ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को कम करते हैं तो मेटामुसिल उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है या उनकी प्रभावशीलता को प्रभावित कर सकता है।
  • यदि आपको आंतों की समस्या है, तो आपको मेटामुसिल का सेवन नहीं करना चाहिए।

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल के बारे में अक्सर कुछ सवाल पूछे जाते हैं चलिए उनका जवाब जान लेते हैं।

1.मेटामुसिल एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (LDL Cholesterol) को कितना कम करता है?

8 अध्ययनों में से एक मेटा-एनालिसिस  में हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल वाले 384 लोग शामिल थे, जो कई हफ्तों से लो फैट डाट फॉलो कर रहे थे, सिलियम सप्लिमेंट्स को कंबाइन करने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल एडिशनल 7% कम हो गया।

2.मुझे मेटामुसिल (Metamucil) की कितनी खुराक लेनी चाहिए?

सामान्य तौर पर, प्रत्येक 5 से 10ग्राम सोलुएबल फायबर को डायट में शामिल करने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल लगभग 5-11 पॉइंट्स तक कम हो सकता। सही डोज के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

 और पढ़ें: हायप रलिपोप्रोटीनेमिया : हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल की इस कंडिशन के बारे में क्या यह सब जानते हैं आप?

3. मुझे मेटामुसिल (Metamucil) कब लेना चाहिए?

कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले लाभ प्राप्त करने के लिए, खाने से 15 से 30 मिनट पहले एक गिलास पानी के साथ 1 चम्मच शुगर-फ्री मेटामुसिल लिया जा सकता है। सेवन करने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

मेटामुसिल कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाओं का एक नैचुरल ऑप्शन हो सकता है। जब इसे एक हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज रूटीन के साथ कंबाइन किया जाता है, तो यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद कर सकता है या कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाओं की प्रभावशीलता को बढ़ा सकता है। फिर भी इसके सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूरी है। अपने कोलेस्ट्रॉल को कम करने के अन्य विकल्पों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें। वे यह निर्धारित करने में आपकी सहायता कर सकते हैं कि मेटामुसिल लेना आपके लिए सही है या नहीं। डॉक्टर से आप मेटामुसिल और कोलेस्ट्रॉल (Metamucil and Cholesterol) के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल कर सकते हैं।

अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Sayali Chaudhari

फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 29/09/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement