backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स के बारे में जानने के लिए ये आर्टिकल पढ़ना है जरूरी!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Sayali Chaudhari · फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/01/2022

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स के बारे में जानने के लिए ये आर्टिकल पढ़ना है जरूरी!

हमारा हार्ट (Heart) हर दिन कुछ अमेजिंग काम करता है। हार्ट का मुख्य कार्य पूरे शरीर में ऑक्सिजन युक्त ब्लड को सर्कुलेट करना है। वास्तव में, आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि यह आपको जिंदा रखने के लिए कितनी मेहनत करता है। जैसे आपका दिल प्रति दिन 100,000 से अधिक बार धड़कता है। हार्ट का राइट पार्ट आपके लंग्स में ब्लड पंप करता है और लेफ्ट पार्ट शरीर से ब्लड को वापस पंप करता है। ऐसे ही और भी हैं हार्ट से जुड़े फैक्ट्स। आप अपने दिल के बारे में इतना नहीं सोचते होंगे, लेकिन यहां हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) बताए जा रहे हैं जिन्हें आपको मिस नहीं करना चाहिए। चलिए तो शुरू करते हैं..

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) : मेल हार्ट अटैक के लक्षण, फीमेल हार्ट अटैक के लक्षण से होते हैं अलग

जब दिल की बात आती है, तो पुरुषों और महिलाओं के हार्ट का वेट अलग-अलग होने के साथ ही उनके हार्ट अटैक (Heart attack) के लक्षण भी अलग होते हैं। पुरुष के हार्ट का वजन लगभग 233- 383 ग्राम होता है, जबकि एक महिला के दिल का वजन लगभग 148-296 ग्राम हो सकता है।

एक महिला का दिल न केवल पुरुषों की तुलना में छोटा होता है, बल्कि उनमें हार्ट अटैक (Heart attack) के लक्षण बहुत कम स्पष्ट होते हैं। जब महिलाओं को दिल का दौरा पड़ता है तो उन्हें सीने में दर्द (Chest pain) के बजाय मतली, अपच और कंधे में दर्द (Shoulder Pain) होने की अधिक संभावना होती है।

और पढ़ें: कंस्ट्रिक्टिव पेरिकार्डिटिस: क्या है हार्ट से जुडी यह समस्या और कैसे संभव है इसका उपचार?

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) : हंसना, दिल की है अच्छी दवा

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) में एक यह है कि एक्सपर्ट्स हंसी को दिल के लिए एक अच्छी मेडिसिन मानते हैं। एक जोरदार हंसी आपके पूरे शरीर में 20% अधिक ब्लड फ्लो (Blood Flow) कर सकती है। एक रिसर्च में पाया गया कि जब लोगों ने कोई कॉमेडी मूवी देखी तो उनके ब्लड फ्लो में वृद्धि हुई। इसलिए हंसी स्ट्रेस के लिए एकदम एंटीडोट (antidote) हो सकती है। जब आप हंसते हैं, तो आपकी ब्लड वेसल्स (Blood vessels) की दीवारों की लाइनिंग रिलैक्स करती हैं और एक्सपैंड होती हैं। इसलिए, हंसना आपके दिल की सेहत के लिए मददगार साबित हो सकता है।

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स : बैठे रहना हृदय रोग (Heart disease) के लिए एक इंडिपेंडेंट रिस्क फैक्टर है

यदि आप नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं, फिर भी दिन भर में आपके सिटिंग आवर्स को कम करना हार्ट हेल्थ (Heart Health) के लिए अच्छा हो सकता है। लंबे समय तक बैठे रहने को हार्ट डिजीज (Heart disease) से लिंक किया गया है। एक स्टडी में पाया गया कि जो पुरुष सप्ताह में 23 घंटे से अधिक टेलीविजन देखते हैं, उनमें हृदय रोग से मरने की संभावना 64 प्रतिशत अधिक उन पुरुषों की तुलना में होता है जो सप्ताह में केवल 11 घंटे टेलीविजन देखते हैं।

एक नए अध्ययन से पता चलता है कि जो लोग दिन में 10 या अधिक घंटे बैठते हैं, उन्हें हर दिन पांच या उससे कम घंटे बैठने वालों की तुलना में दिल का दौरा (Heart attack) या स्ट्रोक (Stroke) होने की संभावना अधिक होती है। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि जो लोग निष्क्रिय रहते हैं और लंबे समय तक बैठते हैं, उनमें दिल का दौरा या स्ट्रोक होने का रिस्क 147 प्रतिशत अधिक होता है।

और पढ़ें: कोरोनरी आर्टरी स्पाज्म : दिल से जुड़ी इस कंडिशन के बारे में जानते हैं आप?

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स(Facts about heart) : फिजिकली एक्टिव न रहना आपको धुम्रपान की तुलना में अधिक रिस्क में डालता है

 फिजिकली इनएक्टिव (Physically inactive) होने से आपकी आर्टरीज (Arteries) में फैटी मटेरियल (Fatty material) का निर्माण हो सकता है। यदि आपके हार्ट तक ब्लड ले जाने वाली धमनियां डैमेज और ब्लॉक हो जाती हैं, तो इससे दिल का दौरा (Heart attack) पड़ सकता है। यदि आपके मस्तिष्क में ब्लड ले जाने वाली आर्टरीज में ऐसा होता है तो यह स्ट्रोक का कारण बन सकता है। अच्छी खबर यह है कि ऐसा होने के जोखिम को कम करने का एक बेहतरीन तरीका है – एक्टिव रहें।

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart)

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) : स्ट्रेस, मंडे ब्लूज और दिल का दौरा (Heart attack)

सप्ताह के किसी भी दिन की तुलना में आपको सोमवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने की अधिक संभावना होती है। लंबे समय से डॉक्टर मानते हैं कि सुबह का समय हार्ट अटैक (Heart attack) का प्राइम टाइम होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कोर्टिसोल (Cortisol) नाम का स्ट्रेस हाॅर्मोन (Stress Hormone) का लेवल दिन के शुरुआती समय में पीक पर होता है। जब ऐसा होता है, तो आर्टरीज कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) प्लाक को तोड़कर हृदय में ब्लड फ्लो को ब्लॉक कर सकती है। वीकेंड के बाद वर्कप्लेस पर लौटने के स्ट्रेस से ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) में वृद्धि और बढ़ा हुआ हार्ट रेट मंडे की सुबह हार्ट अटैक (Heart attack) की संभावना को बढ़ा देता है।

और पढ़ें: Transposition of the great arteries: जन्मजात हृदय दोष से कैसे संबंधित है ये समस्या?

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स : 80 की उम्र पार, तो बढ़ जाता है हार्ट डिजीज (Heart disease) का खतरा

80 वर्ष की आयु तक, आपको हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) होने की संभावना 60 प्रतिशत होती है। यह हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) में से एक है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) स्ट्रोक (Stroke) और हार्ट डिजीज (Heart disease) का खतरा भी बढ़ सकता। समस्या यह है कि ज्यादातर लोगों को यह महसूस नहीं होता है कि उनका ब्लड प्रेशर बढ़ रहा है। यही कारण है कि बढ़ती उम्र के साथ आपको अपने ब्लड प्रेशर की मॉनिटरिंग करना जरूरी है।

 

हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) : सेक्स (Sex) करता है दिल की मदद

एक एक्टिव सेक्स लाइफ होने से एक आदमी के हार्ट डिजीज (Heart disease) से मरने का रिस्क आधा हो सकता है। एक ब्रिटिश स्टडी के अनुसार, सप्ताह में तीन या चार बार सेक्स करने से हार्ट अटैक या स्ट्रोक की संभावना कम हो सकती है।

सेक्स महिलाओं के हार्ट के लिए भी अच्छा काम करता है या नहीं, यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन एक हेल्दी सेक्स लाइफ (Healthy sex life) आपकी पूरी हेल्थ के लिए फायदेमंद साबित होती है। वहीं, यदि आपको सेक्स करने में कठिनाई होती है, तो यह एक बड़ा संकेत हो सकता है कि आपके हार्ट में कुछ गड़बड़ है। उदाहरण के लिए, कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि स्तंभन दोष (Erectile dysfunction) लगभग पांच साल एडवांस में ही हार्ट अटैक की चेतावनी दे सकता है।

 हार्ट फंक्शन (Heart function) कैसे करता है?

हर दिन, आपका दिल लगभग 100,000 बार धड़कता है, जिससे आपके शरीर में 2,000 गैलन ब्लड फ्लो (Blood flow) होता है। आपके हार्ट का दायां हिस्सा नसों से ऑक्सिजन रहित ब्लड रिसीव करता है और इसे लंग्स में पंप करता है, जहां यह ऑक्सिजन लेता है और कार्बन डाइऑक्साइड रिलीज करता है। आपके हार्ट का बायां हिस्सा फेफड़ों से ऑक्सिजन युक्त ब्लड रिसीव करता है और इसे आर्टरीज के माध्यम से शरीर के बाकी हिस्सों में पंप करता है। हार्ट या उसके वाल्वों (Valves) को कोई भी डैमेज उस पंपिंग पावर को कम कर सकती है, जिससे हार्ट को शरीर की ब्लड की मांग को पूरा करने के लिए ज्यादा मेहनत करने के लिए मजबूर होना पड़ता है।

और पढ़ें: हृदय और फेफड़ों में संबंध : थोड़ी सी लापरवाही, बन सकती है जान का खतरा, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

आपका दिल आपके शरीर के हर हिस्से को प्रभावित करता है। इसका मतलब यह भी है कि डायट (Diet), लाइफस्टाइल और इमोशनल वेल-बीइंग आपके हार्ट को प्रभावित कर सकता है। हार्ट को हेल्दी बनाए रखने के लिए इमोशनल और फिजिकल हेल्थ दोनों महत्वपूर्ण हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको हार्ट से जुड़े फैक्ट्स (Facts about heart) के बारे में संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Sayali Chaudhari

फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/01/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement