home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: हाय कोलेस्ट्रॉल क्यों दावत दे सकता है हार्ट डिजीज को?

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: हाय कोलेस्ट्रॉल क्यों दावत दे सकता है हार्ट डिजीज को?

हेल्दी हार्ट के लिए हेल्दी फूड हैबिट होना जरूरी है, क्योंकि खान-पान बिगड़ने से सेहत पर और आपके दिल पर इसका सीधा असर होता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार हाय कोलेस्ट्रॉल के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज (Cholesterol and Heart Disease) से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी आपसे शेयर करेंगे, लेकिन सबसे पहले हाय कोलेस्ट्रॉल की वजह दिल की बीमारियों का खतरा आखिर क्यों बढ़ जाता है, जानते हैं आगे।

और पढ़ें : हाय कोलेस्ट्रॉल का आयुर्वेद उपाय : अपनाएंगे, तभी तो जान पाएंगे!

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज (Cholesterol and heart disease) का क्या है आपस में तालमेल?

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने से ब्लड वेसेल्स में यह जमा होने लगता है। ऐसी स्थिति में ब्लॉकेज की स्थिति शुरू हो सकती है। वहीं ब्लड फ्लो (Blood flow) पर भी निगेटिव असर पड़ता है। जब शरीर में हाय कोलेस्ट्रॉल (High cholesterol) की स्थिति शुरू हो जाती है, तो इसका सबसे पहले नकारात्मक असर दिल (Heart) पर पड़ता है और फिर किडनी (Kidney) एवं शरीर के निचले हिस्से (Lower body organ) पर पड़ता है। हालांकि ऐसा नहीं है कि हाय कोलेस्ट्रॉल (High cholesterol) को बैलेंस में रखा नहीं जा सकता, इसके लिए खानपान और शारीरिक श्रम की आवश्यक मानी जाती है।

और पढ़ें : Acute Decompensated Heart Failure: जानिए एक्यूट डीकंपनसेटेड हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज!

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) के अनुसार कोलेस्ट्रॉल लेवल निम्नलिखित होना चाहिए। जैसे:

20 या इससे ज्यादा उम्र के पुरुष में कोलेस्ट्रॉल लेवल (Male Cholesterol level)-

  • टोटल कोलेस्ट्रॉल: 125 से 200 mg/dL
  • नॉन एचडीएल: 130 mg/dL से कम
  • एलडीएल: 100 mg/dL से कम
  • एचडीएल: 40 mg/dL से ज्यादा

20 या इससे ज्यादा उम्र की महिला में कोलेस्ट्रॉल लेवल (Female Cholesterol level)-

  • टोटल कोलेस्ट्रॉल: 125 से 200 mg/dL
  • नॉन एचडीएल: 130 mg/dL से कम
  • एलडीएल: 100 mg/dL से कम
  • एचडीएल: 50 mg/dL से ज्यादा

और पढ़ें : एरिथमिया और डिसरिथमिया जानिए दिल से जुड़ी इस बीमारी को

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: कैसे रखें कोलेस्ट्रॉल बैलेंस, जिससे दिल रहेगा स्वस्थ? (How to keep your heart healthy)

कोलेस्ट्रॉल की समस्या ना हो, इसलिए निम्नलिखित चीजों का सेवन नियमित और संतुलित मात्रा में करें। जैसे:

  • ओट्स (Oats)
  • जौ (Barley) या अन्य साबुत अनाज
  • बीन्स (Beans)
  • अखरोट (Walnut), मूंगफली (Peanut) और बादाम (Almonds)
  • खट्टे फल जैसे स्ट्रॉबेरी (Strawberry) और अंगूर (Grapes)
  • भिंडी (Okra) और बैंगन (Eggplant)
  • सोयाबीन (Soyabean)
  • वसायुक्त मछली (Fatty Fish) जैसे सार्डिन, मैकेरल और सैल्मन
  • जतुन का तेल (Olive oil)

इन खाद्य पदार्थों को अपने आहार में नियमित सेवन करें।

और पढ़ें : हाय कोलेस्ट्रॉल के लिए होम रेमेडीज में शामिल कर सकते हैं ये 7 चीजें

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: किन कारणों से बढ़ सकता है हाय कोलेस्ट्रॉल का खतरा? (Cause of high cholesterol)

अनहेल्दी खाने-पीने की आदतों की वजह से बॉडी में बैड कोलेस्ट्रॉल बनने का खतरा तो बनता ही है, लेकिन कुछ शारीरिक बीमारियां भी हाय कोलेस्ट्रॉल के खतरे को बढ़ा देती है। अगर इग्नोर किया गया, तो हृदय रोग का भी खतरा बढ़ जाता है। इन बीमारियों में शामिल है:

  • हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) की समस्या।
  • डायबिटीज (Diabetes) या प्रीडायबिटीज (Prediabetes) की समस्या।
  • परिवार में हार्ट डिजीज (Heart disease) के पेशेंट का होना।
  • गर्भावस्था के दौरान प्रीक्लेम्पसिया (Preeclampsia during a pregnancy) की समस्या।
  • शरीर का वजन (Overweight) अत्यधिक बढ़ना।
  • फिजिकली एक्टिव (Physical inactivity) नहीं होना।
  • स्मोकिंग (Smoking) की आदत
  • एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन करना।

ये सभी हाय कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ाते हैं। इसलिए अगर आप किसी हेल्थ कंडिशन से पीड़ित हैं, तो बीमारी के प्रति लापरवाही किसी गंभीर स्थिति को पैदा करने में देरी नहीं कर सकती है। इसलिए समय-समय पर डॉक्टर से कंसल्टेशन करें।

और पढ़ें : Acute Heart Failure: जानिए एक्यूट हार्ट फेलियर के लक्षण, कारण और इलाज

हाय कोलेस्ट्रॉल के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of high cholesterol)

हाय कोलेस्ट्रॉल के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • सीने में दर्द (Chest pain) या बेचैनी (Restlessness) महसूस होना।
  • शरीर का वजन (Body weight) बढ़ना।
  • सांस लेने (Breathing problem) में परेशानी महसूस होना।
  • सिरदर्द (Headache) की समस्या होना।

ऐसे लक्षण आपको सामान्य लग सकते हैं, लेकिन ये हाय कोलेस्ट्रॉल के लक्षण की ओर इशारा करते हैं। इसलिए लापरवाही ना करें।

और पढ़ें : Diuretics in Cardiomyopathy: कार्डियोपैथी में डाइयुरेटिक्स के फायदे तो हैं, लेकिन इसके सीरियस साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं!

स्वस्थ्य रहने के लिए हेल्दी फूड का सेवन जरूरी माना जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं हेल्दी खाने के लिए टाइम टेबल मैनेज करना भी बेहद जरूरी है। इसलिए नीचे दिय इस वीडियो पर क्लिक करें और एक्सपर्ट से जानिए कब और क्या खाएं।

और पढ़ें : अपनी दिल की धड़कन जानने के लिए ट्राई करें हार्ट रेट कैलक्युलेटर

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: हेल्दी इटिंग के साथ-साथ हेल्दी कुकिंग भी है जरूरी (Healthy eating and healthy cooking is important)

कोलेस्ट्रॉल की समस्या ना हो इसलिए हेल्दी कुकिंग भी है बेहद जरूरी। इसलिए खाना बनाते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • सब्जी बनाने के लिए सूरजमुखी या कुसुम के तेल का प्रयोग करें।
  • डीप फ्राय (Deep fry) करने से बचें।
  • खाने को ग्रिल, बॉइल या स्टेम करें।
  • पौष्टिक आहार का सेवन करें।

और पढ़ें : Heart Palpitations: कुछ मिनट या कुछ सेकेंड के हार्ट पल्पिटेशन को ना करें इग्नोर!

कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज: हार्ट डिजीज के खतरे को कम कैसे करें? (Tips for preventing heart disease)

हार्ट डिजीज (Heart disease) के खतरे को कम करने के लिए निम्नलिखित टिप्स अपनाएं। जैसे:

  • वजन संतुलित बनाये रखें। दरअसल वजन बढ़ने से हाय कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) का खतरा बढ़ जाता है, जिससे हार्ट डिजीज की संभावना बढ़ जाती है।
  • ताजे फल (Fruits) एवं सब्जियों (Vegetables) का सेवन करें।
  • नट्स का सेवन भी हार्ट डिजीज (Heart disease) से बचाव में सहायक माना जाता है।
  • स्मोकिंग (Smoking) ना करें।

इनसबके साथ-साथ बॉडी चेकअप (Body checkup) समय-समय पर करवाते रहें और स्वस्थ्य रहें।

अगर आप हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन जल्द से जल्द करें। ध्यान रखें कि कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की समस्या होने पर लापरवाही ना बरतें। आपकी छोटी सी लापरवाही आपको गंभीर बीमारियों का शिकार भी बना सकती हैं। इसलिए अगर आपको कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज (Cholesterol and Heart Disease) की समस्या है, तो डॉक्टर से समय-समय पर कंसल्टेशन करें, वॉक (Walk) करें, योग (Yoga) करें और पौष्टिक आहार (Healthy diet) का सेवन करें। हाय कोलेस्ट्रॉल की तकलीफ को कम करने के लिए होम रेमेडीज का सहारा लिया जा सकता है, लेकिन डॉक्टर से कंसल्टेशन के बाद। अगर आप कोलेस्ट्रॉल या हार्ट डिजीज (Cholesterol and Heart Disease) से जुड़े किसी सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

आप दिल के बारे में कितनी जानकारी रखते हैं सही? अपना स्कोर जानने के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलिए।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Cholesterol/https://www.heart.org/en/health-topics/cholesterol/Accessed on 10/08/2021

Dietary Cholesterol and Cardiovascular Risk: A Science Advisory From the American Heart Association/https://www.ahajournals.org/doi/full/10.1161/CIR.0000000000000743/Accessed on 10/08/2021

Cholesterol Guidelines & Heart Health/https://my.clevelandclinic.org/health/articles/16866-cholesterol-guidelines–heart-health/Accessed on 10/08/2021

2018 Cholesterol Guidelines for Heart Health Announced/https://www.hopkinsmedicine.org/news/newsroom/news-releases/2018-cholesterol-guidelines-for-heart-health-announced/Accessed on 10/08/2021

Cholesterol and Heart Disease: Current Concepts in Pathogenesis and Treatment/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2571342/Accessed on 10/08/2021

High cholesterol facts/https://www.cdc.gov/cholesterol/facts.htm/Accessed on 10/08/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x