कोविड-19 से मौतः जानिए दुनियाभर में कोरोना किस तरह से लोगों को बना रहा शिकार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

दुनिया भर में कोविड-19 से अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस मरीजों की संख्या भी 21 लाख पहुंचने को है। छोटा देश हो या अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश, सभी कोरोना वायरस के आगे पंगु साबित हो रहे हैं। चीन, ईरान, स्पेन, इटली, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन जैसे देशों कोविड-19 महामारी के कारण रोज सैकड़ों से हजारों लोगों की जान जा रही है और अभी तक कोविड-19 का इलाज नहीं ढूंढ़ा जा सका है। इस लेख के जरिए हम आपको कोविड-19 से मौत की भयावह आंकड़ों की जानकारी देंगे। आपको बताएंगे कि दुनिया भर में कोविड-19 महामारी के कारण कितने लोगों की मौत हुई है। इन मौतों में बच्चे, बुजुर्ग या महिला और पुरुषों की संख्या क्या है। 

दुनिया भर में कोविड-19 से मौत का आंकड़ा

कोविड-19 से मौत के बारे में भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े

भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में जितने लोगों की कोविड-19 महामारी के कारण मौत हुई है, उनके आंकड़े ये हैं-

कोविड-19 महामारी के कारण हुई मौत (60 वर्ष से अधिक)19% 
कोविड-19 महामारी के कारण हुई मौत (40-60 के बीच)30%
कोविड-19 महामारी के कारण हुई मौत (40 वर्ष से कम)7%
कोविड-19 महामारी के कारण हुई मौत (डायबिटीज, हाइपरटेंशन, ह्रदय या किडनी रोग)86% 

ये भी पढ़ेंः कोरोना लॉकडाउन : खेलें क्विज और जानिए कि आप हैं कितने जिम्मेदार नागरिक ?

कोविड-19 से मौत के मामले में महिलाओं से अधिक पुरुषों की मृत्यु दर 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 महामारी के कारण महिलाओं की तुलना में पुरुषों की अधिक मृत्यु हो रही है। अब तक की रिपोर्ट के अनुसार, पूरे भारत में जितने लोगों की कोविड-19 से मौत हुई है, उनमें पुरुषों की संख्या 76% है, जबकि महिलाओं की संख्या 24% है।

ये भी पढ़ेंः डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी किए ये दिशानिर्देश

कोविड-19 से मौत के मामले में विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े

विश्व स्वास्थ्य संगठन और चाइना ज्वाइंट मिशन ने भी अपनी रिपोर्ट में कोविड-19 से संक्रमण और मौत के आंकड़े को विस्तार से बताया है। रिपोर्ट पढ़ने के बाद आपको पता चलेगा कि दुनिया भर में किस-किस उम्र के कितने लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। इनमें महिला और पुरुषों की संख्या कितनी है। यह रिपोर्ट 55924 कोरोना वायरस मरीजों की संख्या के आधार पर तैयार की गई है।

उम्रकोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस की पुष्टि वाले मामले)  कोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस के लक्षण वाले मामले और ऐसे मामले, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा)
80+ उम्र वाले21.9%14.8%
70-79 उम्र वाले8.0%
60-69 उम्र वाले3.6%
50-59 उम्र वाले1.3%
40-49 उम्र वाले0.4%
30-39 उम्र वाले0.2%
20-29 उम्र वाले0.2%
10-19 उम्र वाले0.2%
0-9 उम्र वाले बच्चेनहीं

कोविड-19 की ताजा जानकारी
देश: भारत
आंकड़े

1,435,453

कंफर्म केस

917,568

स्वस्थ हुए

32,771

मौत
मैप

कोविड-19 से मौत से संबंधित महिला और पुरुषों के आंकड़े

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, विश्व भर में कोविड-19 महामारी के कारण होने वाली मृत्यु का प्रतिशत ये है-

लिंगकोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस की पुष्टि वाले मामले)  कोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस के लक्षण वाले मामले और ऐसे मामले, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा हो)
पुरुष4.7%2.8%
महिला2.8%1.7%

ये भी पढ़ेंः कोरोना के पेशेंट को क्यों पड़ती है वेंटिलेटर की जरूरत, जानते हैं तो खेलें क्विज

कोविड-19 से मौतःपुरानी बीमारी वाले मरीजों के आंकड़े

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, पुरानी बीमारी के कारण इतने प्रतिशत लोगों की जान गई है-


पुरानी बीमारी वाले मरीज कोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस की पुष्टि वाले मामले)  कोविड-19 से मौत (कोरोना वायरस के लक्षण वाले मामले और ऐसे मामले, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा हो)
कार्डियोवैस्कुलर रोग 13.2%10.5%
डायबिटीज9.2%7.3%
क्रोनिक रेस्पिरेटरी रोग8.0%6.3%
हाइपरटेंशन8.4%6.0%
कैंसर7.6%5.6%
जिनको कोई बीमारी नहीं थी0.9%

ये भी पढ़ेंः इन बीमारियों के दौरान कोरोना से संबंधित प्रश्न आपको कर सकते हैं परेशान, इस क्विज से जानें पूरी बात

कोरोना वायरस से मौत के बारे में चीन के शुरुआती आंकड़े 

कोरोना वायरस ने शुरुआती चरण में जब चीन में कहर बरपाया और इस महामारी से 24 लोगों की मौत हुई, तो चीन ने अनुमान लगाया कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद करीब 18.8 दिनों में रोगी की मौत हो जाती है। चीन में 95% लोगों की मौत के बाद यह आंकड़ा तैयार किया गया था। हालांकि यह शोध चीन में महामारी फैलने की शुरुआत में किया गया था और बाद में चीन ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर नियंत्रण पा लिया, लेकिन अध्ययन यह बताता है कि किसी रोगी के संक्रमित होने के बाद 17·8 दिनों में मौत हो सकती है। चीन ने कोविड-19 से संबंधित आंकड़ों को लैंसेट के इस ग्राफ के जरिए अच्छे से समझा जा सकता है।

 

कोविड-19 से मौत- Death from coronavirus disease
कोविड-19 से मौत- Death from coronavirus disease

ये भी पढ़ेंः सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज करने से भुगतना पड़ेगा खतरनाक अंजाम

कोविड-19 से मौत को लेकर चीन का अनुमान 

कोविड-19 महामारी के कारण होने वाली मौत पर चीन ने ये अनुमान लगाया-

कोविड-19 से मौत की संख्यालैबोरेटरी से पुष्टि हुए रोगी*गंभीरता का अनुपात 
सभी आंकड़े102344 6722·29% (2·15–2·43)
मरीजों की उम्र या वर्ग
0–904160·000% (0·000–0·883)
10–1915490·182% (0·00461–1·01)
20–29736190·193% (0·0778–0·398)
30–391876000·237% (0·140–0·374)
40–493885710·443% (0·314–0·608)
50–59 1·30% 13010 008(1·09–1·54)
60–69 3·60% (3·22–4·02)3098583
70–79 7·96% 3123918(7·13–8·86)
≥80 208 1408 14·8% (13·0–16·7)
आयु वर्ग (बायनरी) 
<60 19430 7630·631% (0·545–0·726)

ये भी पढ़ेंः नोवल कोरोना वायरस संक्रमणः बीते 100 दिनों में बदल गई पूरी दुनिया

उम्र के आधार पर मरीजों की मृत्यु का अनुमान (चीन पर आधारित)

लैंसेट के इस रिपोर्ट में चीन के वुहान में कोरोना वायरस के फैलने और मरीजों की मौत के बारे में बताया गया है। इससे यह समझने में आसानी होगी कि कोविड-19 महामारी के कारण किस उम्र के लोगों पर कितना गंभीर प्रभाव डालता है।

कोविड-19 से मौत- Death from coronavirus disease
कोविड-19 से मौत- Death from coronavirus disease

कोविड-19 से मौत के बारे में ब्रिटिश शोधकर्ताओं का रिपोर्ट

कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने भी शोध किया। यह शोध उन लोगों पर किया गया, जो संक्रमित तो हुए थे, लेकिन उनमें कोरोना वायरस के लक्षण गंभीर नहीं हुए थे। ऐसे मरीज अपने आप स्वस्थ हो गए। अध्ययन में पाया गया कि कोविड-19 के संक्रमण की पुष्टि या संदिग्ध, दोनों मामलों में मरीजों की मृत्यु दर 0.66 प्रतिशत थी, जबकि कोरोना वायरस के लक्षण की पुष्टि वाले मामलों में मृत्यु दर 1.38 प्रतिशत थी। 

शोधकर्ताओं ने इसका अनुमान लगाने के लिए चीन में वुहान में दर्ज किए गए हजारों कोरोना वायरस मरीजों की संख्या की जांच की। इससे यह पता चला कि मरीजों की उम्र के आधार पर भी कोविड-19 की गंभीरता का पता चलता है। जांच में यह जानकारी मिली कि संक्रमण के बाद केवल 20% लोगों को ही हॉस्पिटल में भर्ती होने की जरूरत पड़ी, जबकि 80% लोग अपने आप ठीक हो गए। इसमें भी 30 से कम उम्र वाले कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 1% थी।

ये भी पढ़ेंः  इस सदी का सबसे खतरनाक वायरस है कोरोना, कोविड-19 की A से Z जानकारी पढ़ें यहां

कोविड-19 से मौत- Death from coronavirus disease

भारत में कोविड-19 से मौत और संक्रमित मरीजों के आंकड़े

भारत में भी रोजाना कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस आंकड़ें से आप जानेंगे कि भारत में कोरोना वायरस के लक्षण सामने आने के बाद अब तक की स्थिति क्या है-

Coronavirus death in india

ये भी पढ़ेंः  विश्व के किन देशों को कोरोना वायरस ने नहीं किया प्रभावित? क्या हैं इन देशों के कोविड-19 से बचने के उपाय?

कोरोना वारयस संक्रमण के फेज 2 और फेज 3 के बीच खड़ा भारत

भारत के बारे में वैज्ञानिक यह अनुमान लगा रहे हैं कि भारत अभी कोरोना वारयस संक्रमण के फेज 2 और फेज 3 के बीच खड़ा है। आने वाले दिनों में अगर भारत कोरोना फेज 3 के लेवल पर पहुंच गया, तो दूसरे देशों की तरह भारत में भी कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ अधिक लोगों की मौत भी हो सकती है। 

कोरोना वायरस के बारे में ये आंकड़े बहुत डराने वाले हैं। इसलिए आप सभी को सचेत होने की जरूरत है। भारत में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या न बढ़े, इसके लिए भारत के हर नागरिक को अपनी ओर से कोशिश करनी होगी। भारत की जनसंख्या दूसरे अमेरिका, इटली, स्पेन आदि देशों से काफी अधिक है। अगर भारत कोरोना वायरस संक्रमण के फेज3 पर पहुंच गया, तो अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है कि भारत में कितने लोगों की कोरोना से मृत्यु हो सकती है। 

कोविड-19 महामारीःभारत की कोशिशों पर डब्ल्यूएचओ ने जताई प्रशंसा

भारत में लॉकडाउन लागू होने के कारण दूसरे देशों की तुलना में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या जरूर कम है, लेकिन जिस तरह से अब भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़ रही है, वह चिंताजनक है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डब्ल्यूएचओ हेंक सीकेडम ने भारत के बारे में कहा, “भारत कोविड-19 महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई के एक महत्वपूर्ण मोड़ पर है। भारत सरकार ने कोरोना को हराने के लिए साहसिक और निर्णायक कदम उठाए हैं। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए सरकार ने आक्रामक तरीके अपनाए हैं। डब्ल्यूएचओ सरकार की इस कोशिश का समर्थन करता है और उम्मीद करता है कि भारत जल्द ही मजबूत इच्छाशक्ति से कोरोना वायरस मरीजों की संख्या को रोकने में कामयाब हो पाएगा।”

covid-19 se maut- कोविड-19 से मौत

ये भी पढ़ेंः  कोरोना वायरस की ग्लोसरी: आपने पहली बार सुने होंगे ऐसे-ऐसे शब्द

कोरोना वायरस से बचने के लिए अवेयरनेस बहुत जरूरी है। भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या को घटाने और महामारी पर नियंत्रण पाने के लिए सरकार के निर्देशों का पालन करना जरूरी है। इसलिए आप सामाजिक दूरी का पालन करेंलॉकडाउन के नियमों को मानें। घर से बाहर न निकलें। नियमित तौर पर अपने हाथों को साफ रखें। ऐसी चीजों को न छुएं, जिनके संक्रमित होने की आशंका हो। इन नियमों का पालन करके ही आप कोरोना वायरस पर नियंत्रण पा सकते हैं और अपना, अपने परिवार के साथ समाज की सुरक्षा कर सकते हैं। कोरोना के लक्षण दिखें कि अनदेखा न करें। कोरोना से सावधानी के लिए सरकार की ओर से जारी की गई गाइडलाइन पर ध्यान दें।

 हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ेंः

कोरोना से बचाने में मददगार साबित होंगे ये आयुर्वेदिक उपाय, मोदी ने किए शेयर

कोरोना वायरस : किन व्यक्तियोंं को होती है जांच की जरूरत, अगर है जानकारी तो खेलें क्विज

सावधान ! क्या आप कोरोना वायरस के इन लक्षणों के बारे में भी जानते हैं? स्टडी में सामने आई ये बातें

कोरोना वायरस के बारे में सोशल मीडिया में फैल रही इन 10 बातों पर न करें यकिन

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोरोना का वैक्‍सीनेशन (COVID-19 vaccine), सरकार ने दिया ग्रीन सिग्नल

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोविड-19 वैक्सीन प्रोग्राम। गवर्मेंट ने दी ग्रीन सिग्नल। UK has become the first country in the world to approve the Pfizer/BioNTech coronavirus vaccine

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कोविड 19 की रोकथाम, कोविड-19 दिसम्बर 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 और सीजर्स या दौरे पड़ने का क्या है संबंध, जानिए यहां

कोविड-19 और सीजर्स का संबंध: कोविड-19 के पेशेंट में दौरे के लक्षण देखने को मिले हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस दिमाग पर अटैक कर रहा है, जिस कारण सीजर्स के लक्षण देखने को मिल रहे हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
कोरोना वायरस, कोविड-19 नवम्बर 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

इस दिवाली घर में जलाएं अरोमा कैंडल्स, जगमगाहट के साथ आपको मिलेंगे इसके हेल्थ बेनिफिट्स भी

इस दिवाली में अरोमा कैंडल से घर को करें रोशन करें। ऐसा करने से अच्छी खुशबू के साथ ही आपको रिलेक्स भी महसूस होगा। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए अरोमा कैंडल के फायदे।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

जो लोग नियमित हाथों की सफाई रखते हैं उन्हें कोल्ड और फ्लू की समस्या कम होती है। जानिए हाथों की सफाई क्यों है जरूरी। HAND WASH

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

कोरोना वायरस वैक्सीनेशन गाइडलाइन्स

सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए इन लोगों को अभी करना होगा इंतजार!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ जनवरी 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस वैक्सीनेशन (Coronavirus Vaccination)

क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जनवरी 11, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 वैक्सीनेशन

अधिकतर भारतीय कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए हैं तैयार, लेकिन कुछ लोग अभी भी करना चाहते हैं इंतजार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ जनवरी 8, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
यूके में मिला कोरोना वायरस-Coronavirus new variant found in United Kingdom

यूके में मिला कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, जो है और भी खतरनाक! 

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें