backup og meta

Resveratrol: रेसवेरट्रोल क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 26/05/2020

Resveratrol: रेसवेरट्रोल क्या है?

उपयोग

रेसवेरट्रोल का (Resveratrol) इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) एक प्रकार का कैमिकल होता है, जो रेड वाइन, लाल अंगूर की स्किन, बैंगनी अंगूर के जूस, शहतूत और मूंग फलियों में कम मात्रा में पाया जाता है। रेसवेरट्रोल का इस्तेमाल दवा के रूप में किया जाता है। आमतौर पर रेसवेरट्रोल धमनियों के अकड़न, हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या को कम करने (LDL), अच्छे कोलेस्ट्रोल (HDL) का स्तर बढ़ाने, कैंसर की रोकथाम और अन्य स्थितियों के उपचार में लाभकारी होता है।

पशु अध्ययनों के मुताबिक, यह कैंसर के रोकथाम और उसके उपचार के लिए पूरी तरह से लाभकारी होता है। हालांकि, मनुष्यों पर इसका कितना प्रभाव हो सकता है इस दिशा में अभी भी उचित अध्ययन करने की आवश्कयता है।

और पढ़ेंः आंखों में खुजली या जलन (Eye Irritation) कम करने के घरेलू उपाय

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) यह कैसे कार्य करता है?

रेसवेरट्रोल कैसे काम करता है, इसको लेकर पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि, रेसवेरट्रोल रक्त वाहिकाओं को फैला देता है और खून के थक्के जमने में होने वाली एक्टिविटी को कम कर देता है। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि रेसवेरट्रोल एस्ट्रोजन (महिला हार्मोन) को कमजोर कर देता है। यह दर्द और सूजन को भी कम कर सकता है।

बढ़ती उम्र के निशान को रोकेंः कुछ शोधों में इसका दावा किया गया है कि रेस्वेराट्रोल उम्र को नहीं बढ़ा सकता है, हालांकि यह बढ़ती उम्र के लिए जिम्मेदार कारकों के विकास को धीमा कर सकता है। साल 2014 में प्रकाशित एक अध्ययन में, साल 1998 से 2009 तक 65 साल और उससे अधिक उम्र के 783 पुरुषों और महिलाओं पर रेसवेरट्रोल का परीक्षण किया गया। जिसमें पाया गया कि अच्छी मात्रा में रेड वाइन का सेवन करने वाले लोगों में हृदय रोग का खतरा या कैंसर के जोखिम की संभावना काफी कम पाई।

और पढ़ें: Eucalyptus: नीलगिरी क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

यदि आपको निम्नलिखित समस्याएं हैं, तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें:

  • गर्भवती होने या ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं, क्योंकि इन दोनों अवस्था में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवाइयां ली जा सकती हैं।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रहे हैं। इसमें वह दवाइयां भी शामिल हैं, जो आप बिना डॉक्टर की सलाह के ले रहे हैं।
  • यदि आपको रेसवेरट्रोल या किसी अन्य दवा या हर्बल मेडिसिन से एलर्जी हो।
  • यदि आपको कोई अन्य बीमारी, डिसऑर्डर या मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको किसी अन्य प्रकार की एलर्जी जैसे फूड, डाई, प्रिजरवेटिव्स या जानवरों से एलर्जी हो।
  • ब्लीडिंग डिसऑर्डर्स होने पर। रेसवेरट्रोल खून के थक्के बनने को धीमा कर सकता है। सैद्धांतिक रूप से ब्लीडिंग डिसऑर्डर्स लोगों में रेसवरेट्रोल ब्लीडिंग के खतरे को और बढ़ा सकता है।
  • हार्मोन की संवेदनशीलता की स्थिति जैसे ब्रेस्ट कैंसर, यूट्रीन कैंसर, ओवरियन कैंसर, एंडोमैट्रिओसिस एंडोमेट्रिओसिस या यूट्रीन फाइब्रॉयड्स में रेसवेरट्रोल एक एस्ट्रोजन की तरह कार्य कर सकता है। यदि एस्ट्रोजन के संपर्क में आने से आपको गंभीर दुष्परिणाम होते हैं, तो इसका रेसवेरट्रोल का इस्तेमाल न करें।
  • सर्जरी होने पर।
  • रेसवरेट्रोल सर्जरी और सर्जरी के बाद ब्लीडिंग के खतरे को बढ़ा सकता है। सर्जरी के तय शिड्यूल से दो हफ्ते पहले रेसवरेट्रोल का इस्तेमाल बंद कर दें।

अन्य दवा के मुकाबले रेसवेरट्रोल सप्लिमेंट्स को लेकर नियम ज्यादा सख्त नहीं है। इसकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। इस औषधि के लाभ को लेने से पहले इसके जोखिमों का आंकलन करना जरूरी है। इसकी ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) को लेवल में रखने के लिए इस डायट को कर सकते हैं फॉलो

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) कितना सुरक्षित है?

फूड में पाई जाने वाली मात्रा के बराबर यदि रेसवेरट्रोल को लिया जाए तो यह सुरक्षित है। तीन महीनों तक 250mg प्रतिदिन रेसवेरट्रोल की खुराक लेना भी सुरक्षित है। 900mg तक की ऊंची खुराक को दो दिनों तक लिया जा चुका है। रेसवेरट्रोल को 30 दिन तक सुरक्षित रूप से स्किन पर लगाया जा सकता है।

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) को कैसे स्टोर करें?

रेसवेरट्रोल (Resveratrol) औषधि को हमेशा कमरे के तापमान पर ही स्टोर करें। इसके सीधे धूप या नमी के प्रभाव में न रखें और न बाथरूम या फ्रीज में इसे स्टोर करें। इस्तेमाल की आवश्यकता न होने पर या रेसवेरट्रोल एक्सपायर होने की स्थिति में रेसवेरट्रोल का सेवन न करें और न ही इसे सीधे कूड़ेदान में फेंके। इस औषधि के सुरक्षित निपटारे के लिए इसके पैक पर लिए गए दिशा-निर्देशों को सावधानी पूर्वक पढ़ें और अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें।

और पढ़ें: Cranberries : क्रैनबेरी क्या है?

साइड इफेक्ट्स

मुझे रेसवरेट्रोल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

यदि आप रेसवरेट्रोल के साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

रिएक्शन

रेसवरेट्रोल (Resveratrol) से मुझे क्या रिएक्शंस हो सकते हैं?

रेसवरेट्रोल आपकी मौजूदा दवाइयों या मेडिकल कंडिशन के साथ परस्पर क्रिया करके रिएक्शन कर सकती है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बालिस्ट से सलाह अवश्य लें।

निम्नलिखित प्रोडक्ट्स रेसवरेट्रोल के साथ रिएक्शन कर सकते हैं:

  • लिवर द्वारा बदल जाने वाली दवाइयां (साइटोक्रोम P450 3A4 (CYP3A4) सबस्ट्रेट्स)
  • कुछ दवाइयां जिन्हें लिवर बदल देता है या तोड़ देता है।
  • रेसवरेट्रोल लिवर की दवाइयों को तेजी से तोड़ने की क्षमता को कम कर सकता है। जिन दवाइयों को लिवर तोड़ देता है, उनके साथ रेसवेरट्रोल को लेने से गंभीर साइड इफेक्ट्स के खतरे बढ़ जाते हैं। यदि आप ऐसी कोई भी दवा ले रहे हैं, जिन्हें लिवर बदल देता है, तो रेसवेरट्रो का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह अवश्य लें।
  • लोवास्टेटिन (मेवाकोर), कीटोकोनाजोल (निजोरल), इट्राकोनेजोल (स्पोरानोक्स), फेक्सोफेनाडाइन (एलेज्रा), ट्राइजोलम (हालकोइन) और अन्य दवाइयां, जिन्हें लिवर बदल देता है।
  • वह दवाइयां, जो खून के थक्के बनने को धीमा करती हैं (एंटीकोग्युलेंट/एंटीप्लेटिलेट ड्रग्स)।
  • रेसवरेट्रोल खून के थक्के बनने को धीमा कर सकता है। खून के थक्के बनने को धीमा करने वाली दवाइयों के साथ रेसवरेट्रोल का सेवन करने से ब्रसिंग और ब्लीडिंग की संभावना बढ़ जाती है।
  • एस्पिरिन, क्लोपाइडोग्रेल (प्लेविक्स), डाइक्लोफेनिक (वोल्टरेन, कैटाफ्लेम और अन्य) ब्रूफेन (एडविल, मोट्रिन और अन्य), नेप्रोक्सेन (एनाप्रोक्स, नाप्रोसिन और अन्य), डेल्टापेरिन (फ्रेगमिन), एनोक्सपेरिन (लोवेनोक्स), हेपारिन, वारफेरिन (क्युमाइडिन) जैसी कुछ दवाइयां ब्लड क्लॉटिंग को धीमा करती हैं।

और पढ़ें: Doxinate : डॉक्सिनेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

ऊपर बताई गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती है। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बालिस्ट से सलाह लें।

रेसवरेट्रोल (Resveratrol) का सामान्य डोज क्या होता है?

हर मरीज के मामले में रेसवरेट्रोल का डोज अलग होता है। जो डोज आप लेते हैं, वो आपकी उम्र, हेल्थ और अन्य हेल्थ कंडिशन पर निर्भर करता है। सप्लिमेंट्स हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसके उचित डोज के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

रेसवरेट्रोल (Resveratrol) किस रूप में आती है?

रेसवरेट्रोल निम्नलिखित रूप में आता है:

  • कैप्सूल्स

[mc4wp_form id=’183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 26/05/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement