home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित व्यक्ति की सहायता कैसे करें?

मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित व्यक्ति की सहायता कैसे करें?

लगातार बदलती लाइफस्टाइल से लोगों के शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ रहा है। यही कारण है कि मेंटल प्रॉब्लम से जूझ रहे लोगों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है और मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित रोगियों को पहचानना जितना कठिन है उससे भी कहीं ज्यादा बड़ी समस्या है इनकी मदद करना।

हो सकता है कि मानसिक रोगियों की मदद करते समय आपको यह समझ नहीं आए कि क्या करना है और क्या नहीं? इसलिए अगर आपका कोई दोस्त, परिवार या प्रियजन मेंटल प्रॉब्लम से गुजर रहा है तो उसे सपोर्ट करने के तरीके के बारे में जरूर जान लें।

यहां हम आपको बता रहे हैं कि मेंटल प्रॉब्लम से ग्रस्त व्यक्ति की मदद किस तरह करनी चाहिए।

कैसे पहचानें मेंटल प्रॉब्लम के रोगी को?

मेंटल प्रॉब्लम वाले रोगी की मदद करने से पहले उसको पहचानना बेहद जरूरी है। इस बात में कोई शक नहीं है कि अधिकतर मानसिक रोगों के लक्षण लगभग समान ही होते हैं, जैसे कि –

  • लोगों से अलग-थलग रहना
  • अकेले रहना
  • विशेष रूप से स्कूल या ऑफिस के कामों में मन ना लगना
  • खेल या किसी भी गतिविधि में अरुचि दिखाना
  • एकाग्रता में समस्या आना
  • याददाश्त कमजोर होना या कुछ समझने में मुश्किल होना
  • उदास रहना
  • हमेशा नर्वस महसूस करना
  • अजीबो-गरीब व्यवहार करना
  • भावनाओं या व्यवहार में तेजी से बदलाव आना

और पढ़ें : World Senior Citizen day : जानें बुजुर्ग कैसे रख रहे हैं महामारी के समय अपना ध्यान

ऐसे करें मेंटल प्रॉब्लम से जूझते रोगी की मदद

आजकल की तनाव भरी जिंदगी में लोग मानसिक समस्या से जूझ रहे हैं लेकिन इसके बारे में किसी से बात नहीं करते।मानसिक बीमारी का सामना कर रहें लोगों को डॉक्टर को दिखाने के साथ-साथ और भी कई तरीकों से मदद कर सकते हैं।

इमोशनल सपोर्ट (भावनात्मक सहायता)

यदि कोई मेंटल प्रॉब्लम से परेशान है तो आप भावनात्मक रूप से उसकी सहायता कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी विशेष ट्रेनिंग की जरूरत नहीं है। कभी-कभी किसी के लिए सिर्फ वहां मौजूद रहना ही वास्तव में काफी मददगार साबित हो सकता है। इसके कुछ उदाहरण इस प्रकार हैं –

मानसिक समस्या के रोगी की बात सुनें

अगर मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित व्यक्ति आप से कोई बात करता है या अपनी फीलिंग के बारे में बताता है, तो उसको ध्यान से सुनें। वो कैसा महसूस करता है? उनकी बात सुनना वास्तव में कारगर साबित हो सकता है। उन्हें फील कराएं कि उन्हें जब भी आपकी जरूरत महसूस होगी, आप उनके साथ ही रहेंगे।

मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित व्यक्ति को आश्वासन दें

यदि आप वाकई में उस व्यक्ति की मदद करना चाहते हैं, तो सबसे पहले आप पीड़ित को यह विश्वास दिलाएं कि वह बिल्कुल भी अकेले नहीं हैं।

आप उनकी मदद के लिए हमेशा तैयार हैं और उनकी भावनाओं की कद्र करें। आपके इस प्रयास से वह आपके ऊपर विश्वास करने लगेंगें। इसके बाद आप आसानी से उनकी सहायता कर सकते हैं।

और पढ़ें : बच्चे हो या बुजुर्ग करें मुंह की देखभाल, नहीं हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियां

मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित को प्यार दें

मेंटल प्रॉब्लम से जूझ रहे रोगियों को अधिक देखभाल और सहानुभूति की जरूरत होती है, लेकिन होता हमेशा इसका उल्टा है। लोग मेंटल हेल्थ से परेशान व्यक्ति को घृणा की दृष्टि से देखते हैं, इसलिए बीमार व्यक्ति से प्यार से बात करें। इस तरह वह अपनी समस्या के बारे में आपसे खुलकर बात कर सकते हैं।

मेंटल प्रॉब्लम सुलझाने के लिए शांत रहें

मेंटल प्रॉब्लम का सामना कर रहे इंसान के व्यवहार से आप कभी-कभी परेशान होकर रिएक्ट कर सकते हैं लेकिन, ऐसी स्थिति में शांत रहने की कोशिश करें।

इससे मेंटल हेल्थ की परेशानी से ग्रसित दोस्त या परिवार के सदस्य को थोड़ी शांति मिलती है और उन्हें लगता है कि वे आपसे खुलकर बात कर सकते हैं।

धैर्य रखें

हो सकता है कि आप मानसिक समस्या के रोगी को तुरंत सहायता देने के लिए उसके विचारों और भावनाओं को और ज्यादा जानना चाहते हों लेकिन इस स्थिति में थोड़ा धैर्य रखें। उनके साथ किसी भी तरह की जल्दबाजी न करें। जब तक वो खुद बातें बताने के लिए तैयार न हों तब तक उन पर दबाव ना बनाएं।

और पढ़ें : बुजुर्गों को क्यों है क्रिएटिव माइंड की जरूरत? जानें रचनात्मकता को कैसे सुधारें

मेंटल प्रॉब्लम से पीड़ित के प्रति पहले से कोई धारणा न बनाएं

आप पीड़ित मित्र या परिवार के सदस्य के बारे में क्या सोचते हैं या क्या नजरिया रखते हैं? यह बात उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकती है। पहले से ऐसी कोई धारणा न बनाएं कि उनकी भावनाओं के पीछे क्या कारण हो सकता है या उनके लिए क्या मददगार होगा?

सोशल कॉन्टेक्ट बनाए रखें

आपके द्वारा दिए जाने वाला इमोशनल सपोर्ट रोगी को सामान्य रखने के लिए काफी मददगार साबित हो सकते हैं। इसलिए दोस्तों या परिवार के अन्य लोगों को भी इसके अंतर्गत शामिल करें। जितना ज्यादा मेंटल प्रॉब्लम से जूझ रहा रोगी लोगों से मिलेगा, बात करेगा, उसका मानसिक स्वास्थ्य उतना बेहतर होगा।

दिखावा न करें

जब हम केवल दिखावे के रूप में किसी की देखभाल करके उस व्यक्ति का अटेंशन पाना चाहते हैं, तो वह व्यक्ति हमसे पूरी तरह खुद को जोड़ नहीं पाता है। यदि आप वास्तव में किसी की फिक्र करते हैं, तो वह आपके इमोशन को धीरे-धीरे समझने भी लगते हैं।

मेंटल प्रॉबल्म से पीड़ित की व्यावहारिक मदद

मानसकि समस्या से परेशान व्यक्ति की मदद करने के और भी कई तरीके हैं। मेंटल प्रॉब्लम को झेल रहे व्यक्ति के लिए आप बहुत सारी चीजें कर सकते हैं। अगर वह आपकी मदद लेने के लिए तैयार हैं तो निम्न तरीकों से आप उनकी हेल्प कर सकते हैं :

मेंटल प्रॉब्लम की जानकारी इकट्ठा करें

मानसिक समस्या से लड़ रहे रोगी की सहायता करने के लिए पहले उसकी बीमारी के बारे में अच्छे से जान लें। जानकारी के लिए आप ब्लॉग्स, वीडियोज या इंटरनेट का सहारा लें सकते हैं। आप समान अनुभव वाले अन्य लोगों से भी बात करके उनसे पूछ सकते हैं कि उन्हें ट्रीटमेंट के दौरान क्या लाभदायक लगा या किस तरह वो इस बीमारी से बाहर निकले।

लिस्ट बनाएं

अक्सर पीड़ित व्यक्ति कुछ न कुछ सवाल पूछता रहता है, आप उन प्रश्नों की लिस्ट बनाएं और डॉक्टर से पूछें। कोशिश करें कि आप मरीज के सामने उनकी किसी गंभीर समस्या के बारे में बात न करें। यह बात उनको मानसिक रूप से और ज्यादा प्रभावित कर सकती है।

और पढ़ें : जानें एल्डर एब्यूज को कैसे पहचानें और कैसे इसे रोका जा सकता है

मेंटल प्रॉब्लम के इलाज के लिए डॉक्टर के पास लेकर जाएं

जो लोग मेंटल प्रॉब्लम से परेशान होते हैं, जब भी उन्हें डॉक्टर को दिखाने जाना हो, तो आप उन्हें अकेले न जाने दें। लेकिन आपको यह भी ध्यान में रखना है कि उनके साथ जाने के लिए किसी प्रकार का दबाव न डालें।

उन्हें प्यार से मनाकर और समझाकर उनके साथ जाने की बात करें क्योंकि ऐसे लोगों को बहुत प्यार से हैंडल करने की आवश्यकता होती है। उन्हें एक छोटे बच्चे की तरह बहुत प्यार से ट्रीट करें।

मानसिक समस्या के शिकार व्यक्ति से मदद के लिए पूछें

मेंटल प्रॉब्लम से ग्रसित व्यक्ति से पूछें कि क्या उन्हें घर के काम को संभालने के लिए आपकी मदद की आवश्यकता है? घर के छोटे-मोटे कामों में आप उनकी सहायता कर सकते हैं।

जानें,योगा की मदद से आप शरीर के किसी भी दर्द को कैसे नियंत्रित कर सकते हैं।

समस्या को जानें

व्यक्ति किस तरह की समस्याओं का सामना कर रहा है? यह जानने की कोशिश करें कि आखिर वो क्या परेशानी है जो उस व्यक्ति को इस मानसिक उलझन में घसीट रहा है।

यदि आपके सीधे-सीधे पूछने पर रोगी आपको जवाब नहीं दे रहा है, तो आप उनसे घुमा-फिरा कर बातों-बातों में उनकी समस्या को जान सकते हैं। मानसिक समस्या से परेशान व्यक्ति को केवल प्यार और सपोर्ट देकर ही हैंडल किया जा सकता है।

और पढ़ें : 4-7-8 ब्रीदिंग तकनीक, तनाव और चिंता दूर करेंगी ये एक्सरसाइज

जब बीमार व्यक्ति आपकी मदद न लेना चाहता हो तो क्या करें?

अगर आपके आस-पास ऐसा कोई ऐसा इंसान है, जो मेंटल प्रॉब्लम की वजह से काफी संघर्ष कर रहा है लेकिन वह आपकी मदद नहीं लेना चाहता है या आपके द्वारा दी जाने वाली किसी भी तरह की सहायता को वो स्वीकार नहीं कर रहा है, तो परेशान न हों। किसी और व्यक्ति की मदद से आप उसकी सहायता कर सकते हैं।

अधिकांश मानसिक बीमारियां दिमाग में आए कुछ बदलावों या रासायनिक असंतुलन के कारण होती हैं। ऐसे किसी भी रोग से निजात पाना उतना आसान नहीं होता, जितना यह लगता है। इसलिए डॉक्टरी मदद के साथ-साथ परिवार और दोस्तों के साथ की जरूरत होती है।

मेंटल प्रॉब्लम की समस्या से ग्रसित व्यक्ति की हेल्प करते समय खुद को भी मेंटली स्ट्रांग रखना जरूरी होता है, क्योंकि बीमार व्यक्ति को ठीक करने के लिए बहुत संयम और सहनशीलता की जरूरत होती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How to support someone with a mental health problem https://www.mentalhealth.org.uk/publications/supporting-someone-mental-health-problem Accessed on 09 September 2020

Tips For How to Help a Person with Mental Illness https://www.nami.org/Get-Involved/NAMI-FaithNet/Tips-For-How-to-Help-a-Person-with-Mental-Illness Accessed on 09 September 2020

Helping someone else https://www.mind.org.uk/information-support/helping-someone-else/Accessed on 09 September 2020

For Friends and Family Members https://www.mentalhealth.gov/talk/friends-family-membersAccessed on 09 September 2020

Helping someone else https://www.blackdoginstitute.org.au/emergency-help/helping-someone-else/Accessed on 09 September 2020

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/04/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x