भूल जाते हैं बच्चे बातें तो ऐसे बढ़ाएं बच्चों में याददाश्त

    भूल जाते हैं बच्चे बातें तो ऐसे बढ़ाएं बच्चों में याददाश्त

    क्या आपके बच्चे की यादाश्त कमजोर है या वो चीजों को जल्दी भूल जाता है ? इसका सीधा असर उसकी पढ़ाई पर पड़ रहा है? आपको बता दें कि बच्चों में कमजोर याददाश्त की समस्या होना एक आम बात होती है। लेकिन यदि आपका शिशु कुछ घंटों में ही बातों को भूल जाता है तो यह कमजोर याददाश्त की स्थिति हो सकती है। कई ऐसे बच्चे होते हैं जो चीजों को तुरंत याद कर लेते हैं फिर चाहे वह स्कूल में पढ़ाया गया पाठ हो या माता-पिता द्वारा दी गई कोई सीख। कुछ बच्चों की मेमोरी बेहद तेज होती है। हालांकि, ऐसे भी कुछ बच्चे होते हैं जिन्हें कोई भी बात ज्यादा समय के लिए याद रखने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय (Ways to increase memory in children) की मदद उनमें मेमोरी लॉस या जल्दी भूल जाने की बीमारी को ठीक किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको बच्चों की याददाश्त बढ़ाने के कुछ ऐसे उपाय और फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो मस्तिष्क के लिए बहुत बेहतर माने जाते हैं।

    और पढ़ें – बच्चों में क्रैनबेरी के फायदे जानकर आप रह जाएंगे हैरान

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय (Ways to increase memory in children)

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय

    हम जो भी खाते हैं उससे मस्तिष्क सबसे पहले पोषण खींच लेता है। जंक फूड खाने का असर मस्तिष्क पर भी पड़ता है। इसकी वजह से मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के कई सारे ऐसे उपाय हैं जिनकी मदद से उन्हें जंक फूड की बजाए स्वस्थ और स्वादिष्ट आहार खाने की सलाह दी जाती है। बढ़ते हुए शरीर को कई तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है और आज हम आपको कुछ ऐसे सुपरफूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो स्कूल जाने वाले बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। यदि आप बच्चे की याददाश्त बढ़ाने के उपाय और मेमोरी बढ़ाने के तरीके के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख में याददाश्त तेज करने के उपाय (Ways to increase memory in children) के साथ याददाश्त बढ़ाने का उपाय, याददाश्त तेज करने का तरीका और याददाश्त शक्ति बढ़ाने का उपाय बताया गया है। बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय मस्तिष्क के विकास में मदद करते हैं और साथ ही मस्तिष्क के कार्य में भी सुधार लाते हैं एवं याददाश्त और ध्यान लगाने की क्षमता को भी बढ़ाते हैं।

    ओट्स/दलिया है बच्चों में याददाश्त बढ़ाने का घरेलू उपाय

    ओट्स बच्चों की याददाश्त के लिए सबसे बेहतरीन सुपरफूड है। इससे बच्चों के दिमाग को एनर्जी मिलती है। सुबह नाश्ते में फाइबर से युक्त ओट्स खाने से बच्चों का दिमाग दिनभर ऊर्जावान रहता है। ओट्स विटामिन ई, विटामिन बी, जिंक और पोटाशियम का अच्छा स्रोत होता है। इससे मस्तिष्क और शरीर को बहुत ऊर्जा मिलती है।

    रंग-बिरंगी सब्जियां से करें अपने बच्चे का दिमाग तेज

    बच्चों की याददाश्त बढ़ाने के उपाय में टमाटर, शकरकंद, कद्दू, गाजर, पालक जैसी सब्जियां शामिल हैं जो एंटीऑक्‍सीडेंट से युक्‍त होती हैं। यह बच्चों के मस्तिष्‍क की कोशिकाओं को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाते हैं। बच्‍चों की डाइट में रंग-बिरंगी सब्जियों को शामिल करें और उनके मस्तिष्‍क के साथ-साथ शरीर को भी स्‍वस्‍थ बनाएं।

    और पढ़ें – बच्चों के लिए नुकसानदायक फूड, जो भूल कर भी उन्हें न दे

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने का उपाय है सैल्मन

    फैटी फिश जैसी सैल्मन ओमेगा-3 फैटी एसिड डीएचए और ईपीए का उत्तम स्त्रोत होती है। ये दोनों ही मस्तिष्क के विकास और कार्य के लिए जरूरी होते हैं। यहां तक कि हाल ही में हुई रिसर्च में भी सामने आया है कि जो लोग अपने आहार में ये फैटी एसिड लेते हैं उनका दिमाग तेज होता है और वो दिमाग से जुड़े काम बेहतर तरीके से कर पाते हैं। टूना मछली ओमेगा-३ से तो प्रचुर होती है लेकिन सैल्मन से कम पोषण होता है।

    बच्चों में मेमोरी बूस्ट का इलाज है पीनट बटर

    मूंगफली और पीनट बटर विटामिन ई अच्छा स्रोत है। विटामिन ई एक ऐसा एंटीऑक्सीडेंट है जो नसों की झिल्लियों को सुरक्षा प्रदान करता है। इसके साथ ही पीनट बटर में थायमिन भी होता है जो मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र को एनर्जी के लिए ग्लूकोज इस्तेमाल करने में मदद करता है।

    और पढ़ें – बेबी रैशेज: शिशु को रैशेज की समस्या से कैसे बचायें?

    [mc4wp_form id=”183492″]

    साबुत अनाज से बनाएं अपने शिशु का दिमाग तेज

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय में साबुत अनाज बेहद महत्वपूर्ण होता है। बच्चों के मस्तिष्क को लगातार ग्लूकोज की जरूरत होती है और साबुत अनाज इसकी पूर्ति करते हैं। इनमें मौजूद फाइबर शरीर में ग्लूकोज सके रिलीज को नियंत्रित करता है। साबुत अनाज में विटामिन बी भी होता है जो तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ बनता है।

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने का उपाय है दूध और दही

    दूध से बनी चीजें प्रोटीन और विटामिन बी से युक्‍त होती है जो की बच्चे का दिमाग तेज बनाने में मदद करती हैं। ये दोनों पोषक तत्‍व मस्तिष्‍क के ऊतकों, न्‍यूरोट्रांसमीटर और एंजाइम्‍स के लिए जरूरी होते हैं। दूध और दही प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भी युक्‍त होती है जो कि मस्तिष्‍क को ऊर्जा प्रदान करते हैं। हाल ही में हुई एक रिसर्च के अनुसार बच्‍चों और किशोंरो की याददाश्त बढ़ाने के लिए विटामिन डी की अधिक जरूरत होती है। ये विटामिन न्‍यूरोमस्‍कुलर सिस्‍टम को लाभ पहुंचाता है और कोशिकाओं की उम्र बढ़ाता है। अगर बच्‍चों को सादा दूध पीना पसंद नहीं है तो आप उन्‍हें शेक के रूप में दूध पिला सकते हैं। वहीं दही का स्‍वाद को बहुत अच्‍छा होता है और बच्‍चे रायते या अन्‍य कई तरह से दही का सेवन कर सकते हैं। तो यदि आप अपने बच्चे की मेमोरी बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं तो उसे रोजाना एक गिलास दूध या 1 कटोरी दही जरूर खिलाएं।

    और पढ़ें : कई महीनों और हफ्तों तक सही से दूध पीने वाला बच्चा आखिर क्यों अचानक से करता है स्तनपान से इंकार

    बैरीज से करें बच्चों में कमजोर याददाश्त का इलाज

    स्ट्रॉबेरी, चैरी, ब्लूबैरी और ब्लैकबेरी पोषक तत्वों से युक्त होती हैं। इनमें एंटीऑक्सीडेंट्स खासतौर पर विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है जो कैंसर से बचाने में मदद करता है। कई अध्ययनों में भी सामने आया है कि ब्लूबैरी और स्ट्रॉबेरी के रस से याद्दाश्त में सुधार आता है। इनके बीजों में ओमेगा-3 फैटी एसिड प्रचुरता में होता है।

    मीट से करें बच्चे का दिमाग तेज

    स्‍कूल में बच्‍चों के दिमाग को ऊर्जा देने के लिए आयरन आवश्‍यक खनिज पदार्थ में से एक है। मीट में जिंक मौजूद होता है जो कि याद्दाश्‍त बढ़ाने में मदद करता है। वहीं शाकाहारी लोग मांस की जगह ब्‍लैक बीन या सोयाबीन का सेवन कर सकते हैं। बींस में नॉन-हेम आयरन प्रचुरता में होता है। इस प्रकार का आयरन विटामिन सी को अवशोषित करने के लिए जरूरी होता है। आप टमाटर, लाल शिमला मिर्च, संतरे का जूस, स्‍ट्रॉबेरी आदि खा सकते हैं।

    और पढ़ें – अगर बच्चे का रात में रोना बन गया है आपका सिरदर्द, तो पढ़ें ये आर्टिकल

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने का उपाय है अंडे

    अंडे प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होते हैं लेकिन अंडे के पीले भाग में कोलाइन भी होता है जो कि याद्दाश्त बढ़ाने में मदद करता है। स्कूल जाने से पहले अपने बच्चे को नाश्ते में उबला हुआ अंडा खिलाएं।

    बच्चों में याददाश्त बढ़ाने के उपाय हैं बीन्स

    प्रोटीन और कॉम्प्लेक्स कार्ब से युक्त होने के कारण बीन्स एनर्जी से भरपूर होते हैं। इनमें विटामिन और मिनरल के साथ-साथ फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये दिमाग के लिए बेहतरीन फूड होता है।

    अगर आप अपने बच्‍चे की याद्दाश्‍त बढ़ाना चाहते हैं या उसके दिमाग को तेज करना चाहते हैं तो उसके आहार में ऊपर बताई गई चीजों को जरूर शामिल करें। वहीं होशियार बच्‍चों को भी ये ब्रेन फूड्स खिलाना फायदेमंद होगा। इन सुपरफूड्स को आप बड़ी आसानी से अपने बच्‍चे के आहार में शामिल कर सकते हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Foods linked to better brainpower/https://www.health.harvard.edu/mind-and-mood/foods-linked-to-better-brainpower/accessed on 12/04/2020

    https://magazine.medlineplus.gov/article/diets-rich-in-fish-and-vegetables-may-boost-your-brain-poweraccessed on 12/04/2020

    Brain foods: the effects of nutrients on brain function/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2805706/accessed on 12/04/2020

    11 Best Foods to Boost Your Brain and Memoryhttps://www.eatright.org/health/wellness/healthy-aging/4-types-of-foods-to-support-memory/accessed on 12/04/2020

    लेखक की तस्वीर badge
    Shivam Rohatgi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/03/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड