home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

रिसर्च के अनुसार ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं भी ले सकती हैं कोविड 19 वैक्सीन, लेकिन पहले डॉक्टर से जरूर करें कंसल्ट

रिसर्च के अनुसार ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं भी ले सकती हैं कोविड 19 वैक्सीन, लेकिन पहले डॉक्टर से जरूर करें कंसल्ट

कोरोना वायरस के घटते और बढ़ते मामले परेशान करती हैं, लेकिन इस बीच वैक्सिनेशन (Vaccination) से जुड़ी जानकारी लोगों के लिए सबसे बड़ी राहत की खबर है। हेल्थ एक्सपर्ट्स एवं भारत के स्वास्थ्य मत्रालय की ओर से वैक्सिनेशन के प्रति जागरूकता भी बढ़ाई जा रही है। हालांकि गर्भवती महिला एवं स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए वैक्सिनेशन पर भी अब ग्रीन सिग्नल मिल चुकी है, लेकिन वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) को लेकर अभी भी संशय बरकार है। इसीलिए आज इस आर्टिकल में रिसर्च पर आधारित वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) से जुड़े सवाल और जवाब दोनों ही शेयर करेंगे। इस आर्टिकल में वैक्सीन के फायदे भी जानेंगे।

और पढ़ें : पोस्टपार्टम वजायनल ड्रायनेस! सेल्फ केयर है सबसे ज्यादा जरूरी

नोट: गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं अगर पहले से वैक्सिनेशन बुकिंग (Vaccination booking) नहीं कर पाईं हैं, तो कई वैक्सिनेशन सेंटर प्रेग्नेंट लेडी (Pregnant lady) और ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) करवाने वाली लेडीज को ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन (On spot registration) की भी सुविधा भी दे रहें हैं। इसलिए इस अगर स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को वैक्सीन लेने या बुक करने में परेशानी हो रही है, तो ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी जरूर लें। अब आर्टिकल की शुरुआत करते हैं और वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) के सवालों और जवाबों को जानेंगे।

और पढ़ें : न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर व पेरेंटिंग हैक्स और बॉडी इमेज

वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग: क्या कहती है रिसर्च?

वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding)

दिसंबर 2020 से फरवरी 2021 में स्तनपान करवाने वाली महिलाओं पर कोविड 19 वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) दी गई। इस रिसर्च में 37 साल से कम उम्र की स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को कोविड 19 वैक्सीन दी गई। वैक्सिनेशन के 48 घंटे यानी दो दिन पहले के मिल्क सैम्पल लिए गए। मिल्क सैम्पल में किसी एमआरएनए (Messenger RNA [mRNA]) की जानकारी नहीं मिली, जो कोविड 19 वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) के साथ मिलकर कोई पॉसिटिव रिपोर्ट दे, जिससे यह ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली के लिए नुकसानदायक नहीं माना गया है। हालांकि इस रिसर्च में ज्यादा स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को शामिल नहीं किया गई है।

और पढ़ें : अपनी कुछ आदतें मां बनने के बाद न छोड़ें, नहीं तो पड़ सकता है पछताना

वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग: मां को वैक्‍सीन लगने से बच्‍चे को भी संक्रमण से सुरक्षा म‍िलती है?

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार मां का दूध शिशु का लिए पोषण से भरपूर्ण होता है। मां के दूध से शिशु के शरीर में एंटीबॉडीज (Antibodies) का निर्माण होता ही, जिससे बच्चे की इम्यून पावर स्ट्रॉन्ग (Strong immunity) होती है। ठीक वैसे ही कोविड 19 वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग का भी आपस में तालमेल है। कोविड 19 वैक्सिनेशन (Covid 19 Vaccination) से बॉडी में एंटीबॉडीज का निर्माण होता है, जो कोरोना वायरस से लड़ने में सहायत है। इसलिए ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं के इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को कम करने के लिए कोविड 19 वैक्सीन लेना अनिवार्य बताया जा रहा है।

वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग: क्या वैक्सिनेशन के बाद शिशु को स्तनपान नहीं करवाना चाहिए?

कोविड 19 वैक्सीन के बाद शिशु को स्तनपान (Breastfeeding) करवाया जा सकता है। स्तनपान से शिशु को परेशानी नहीं हो सकती है। 19 मई को जारी की गई भारत सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) दोनों मां और शिशु के लिए लाभकारी है।

वैक्सिनेशन के बाद दूध की आपूर्ति पर कोई असर पड़ता है?

कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सिनेशन सबसे बड़ा कदम है और इस वैक्सिनेशन के बाद दूध की आपूर्ति (Milk production) पर कोई असर नहीं पड़ता है। आप बच्चे को आसानी से स्तनपान (Breastfeeding) करवा सकती हैं।

बेबी डिलीवरी के बाद कोविड 19 वैक्सीन ली जा सकती है?

रिसर्च रिपोर्ट्स एवं स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार वैक्सिनेशन (Vaccination) कभी भी ली जा सकती है, लेकिन डिलीवरी (Delivery) के तुरंत बाद डॉक्टर्स की टीम महिला के हेल्थ कंडिशन (Health condition) को भी मॉनिटर करते रहते हैं और उनके निर्णय के अनुसार कोविड 19 वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) लेना मां और नवजात शिशु दोनों के लिए लाभकारी होता है। इसलिए बेबी डिलीवरी (Baby delivery) के तुरंत बाद वैक्सीन लेने से पहले डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

और पढ़ें : डिलिवरी के बाद अपना स्वास्थ्य और फिटनेस कैसे सुधारें

वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग : वैक्सिनेशन के बाद क्या कोई शारीरिक परेशानी हो सकती है? (Side effects after COVID-19 Vaccination)

मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर, गवर्मेंट ऑफ इंडिया (Ministry of Health and Family Welfare, Government of India) के अनुसार COVID-19 वैक्सीन लेने के बाद आपको निम्नलिखित शारीरिक परेशानी महसूस हो सकती है। जैसे:

  • इंजेक्शन वाली जगह पर सूजन (Swelling) आना।
  • इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द (Pain) होना।
  • हल्का सिरदर्द (Mild Headache) होना।
  • हल्का बुखार (Mild Fever) आना।
  • चिड़चिड़ापन (Irritation) महसूस होना।

COVID-19 वैक्सिनेशन के बाद अगर आपको ये ऊपर बताये गए लक्षण महसूस हो रहें हैं, तो घबराएं नहीं। ये लक्षण अपने आप ही 1 से 2 दिनों में ठीक हो जाएंगे। ऐसे में वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) दोनों ही सुरक्षित हैं।

मुंबई के घाटकोपर में राजावाड़ी हॉस्पिटल (Rajawadi Hospital Municipal Hospital Ghatkopar, Mumbai) की सुप्रीडेंटेंड डॉ. विद्या ठाकुर से हमने वैक्सीन के बारे में जानकारी ली, तो उनका कहना है वैक्सीन (Vaccine) लेने के बाद अगर फीवर (Fever) या बॉडी पेन (Body pain) महसूस होना सामान्य है, इससे घबराएं नहीं। वैक्सीन लेने से दरें नहीं।

नोट : अगर कोविड 19 वैक्सिनेशन के बाद साइड इफेक्ट्स (Covid 19 Vaccine side effects) ज्यादा दिनों तक रहने पर डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें : मां की परेशानी होगी दूर, क्योंकि ये ब्रेस्ट मिल्क बूस्टर सप्लिमेंट्स करेंगे मदद

ब्रेस्टफीडिंग के दौरन महिलाओं को अपना विशेष ख्याल रखना चाहिए। नीचे दिए इस क्विज में छिपे हैं कई महत्वपूर्ण सवाल और इनके जवाब।

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

powered by Typeform

और पढ़ें : डिलिवरी के बाद जल्दी होना चाहती हैं फिट? इन बातों का रखें ख्याल

नोट: कोरोना वायरस के दस्त देने के साथ-साथ स्तनपान के तरीकों में बदलाव लाने के सुझाव दिए जा रहें हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार महामारी के दौरान स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को मास्क (Mask) लगाकर ही शिशु को स्तनपान करवाना चाहिए। अगर मां को बुखार (Fever) या सांस (Breathing) से जुड़ी कोई महसूस हो रही है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से जल्द से जल्द कंसल्ट करें। वहीं स्तनपान से पहले हाथों को सैनेटाइज करें या साबुन से धोकर ही बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) करवाएं।

बेबी डिलीवरी (Baby delivery) के बाद डॉक्टर मां और बच्चे को समय-समय पर कंसल्टेशन की सलाह देते हैं। अगर आपने अभी तक वैक्सीन नहीं ली है, तो इस बारे में डॉक्टर से बात करें और फिर वैक्सीन लें। अगर आप वैक्सीन और ब्रेस्टफीडिंग (Vaccines and Breastfeeding) से जुड़े किसी अपने किसी सवालों का जवाब जानना चाहती हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हैलो स्वास्थ्य के हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जल्द से जल्द जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

नोट: अगर आप ऊपर बताये लक्षण महसूस कर चुके हैं और इस कारण दूसरा डोज नहीं लेना चाहते हैं, तो ऐसी गलती ना करें। वैक्सीन का दूसरा डोज अवश्य लें। MoHFW के अनुसार डॉक्टर आपको मना करने के बाद भी आप वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं ले सकते हैं।

और पढ़ें : Pentavac vaccine: जानिए पेंटावेक वैक्सीन क्यों है बच्चों के लिए 5 इन 1 वैक्सीन

बेबी डिलीवरी से पहले गर्भवती महिलाएं अपना ध्यान तो रखती हैं, लेकिन शिशु के जन्म के बाद सेहत के प्रति लापरवाही आपकी समस्या को बढ़ा सकती है। इसलिए ऐसा ना करें और नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और हेल्थ एक्सपर्ट से जानिए महिलाओं को अपना ख्याल कैसे रखना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x