आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या डायजेस्टिव एंजाइम्स IBS के उपचार में मदद कर सकते हैं?

    क्या डायजेस्टिव एंजाइम्स IBS के उपचार में मदद कर सकते हैं?

    डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) उन प्रोटीन्स को कहा जाता है, जो शरीर के उन केमिकल रिएक्शंस को रेगुलेट करने में मदद करते हैं, जिनका इस्तेमाल फूड को डायजेस्ट करने में होता है। यह एंजाइम्स फूड को तब तक न्यूट्रिएंट के टुकड़ों में ब्रेक-डाउन करते हैं, जब तक वो ब्लडस्ट्रीम में एब्जॉर्ब होने और पूरे शरीर में ले जाने के लिए पर्याप्त रूप से छोटे नहीं हो जाते। क्योंकि, डायजेस्टिव एंजाइम्स शरीर को फैट्स, कार्बोहायड्रेट्स और प्रोटीन्स को ब्रेक डाउन करने में मदद करते हैं। तो इन एंजाइमों की शरीर में सप्लाई करने से हेल्दी डायजेशन को बढ़ावा मिलता है और इर्रिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable bowel syndrome) यानी IBS के लक्षणों से राहत भी मिलती है। आज हम बात करने वाले हैं डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के कनेक्शन के बारे में और जानेंगे कि क्या डायजेस्टिव एंजाइम्स IBS के उपचार में मदद कर सकते हैं? आइए जानें डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के बारे में विस्तार से।

    डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

    ऐसा पाया गया है कि IBS यानी इर्रिटेबल बॉवेल सिड्रोम (Irritable bowel syndrome) की स्थिति में अधिकतर लोगों के लगातार मेडिकेशन से हमेशा आराम नहीं मिलता है। इसलिए, डॉक्टर रोगी को पहले उपचार के रूप में जीवनशैली में बदलाव की सलाह देते हैं। जैसे नियमित व्यायाम करना, स्ट्रेस से बचना, हेल्दी डायट का सेवन करना आदि यही नहीं, इसके लक्षणों जैसे डायरिया, कब्ज और पेट दर्द के उपचार लिए दवाइयों की सलाह दी जा सकती है। कई बार यह ऑप्शंस काम नहीं करते हैं। ऐसे में डॉक्टर अन्य विकल्पों के लिए कह सकते हैं। एंजाइम्स को विभिन्न श्रेणियों में बांटा जा सकता है। इन्हें इसके इस्तेमाल की गयी केमिकल प्रोसेसेज के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।

    जैसे सभी डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) को हाइड्रोलिसिस (Hydrolases) माना जाता है। क्योंकि, वो फूड को इसके बेसिक बिल्डिंग ब्लॉक्स में ब्रेक करने के लिए वॉटर मोलेक्युल्स का इस्तेमाल करते हैं। डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के बारे में जानने से पहले डायजेस्टिव एंजाइम्स सप्लीमेंट्स (Digestive enzyme supplements) के बारे में जान लेते हैं।

    और पढ़ें: टॉप डायजेस्टिव एंजाइम्स : यह एंजाइम्स निभाएं पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका

    डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) कौन से हैं?

    जैसा की पहले ही बताया गया है कि डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) वो काम्प्लेक्स प्रोटीन है, जिसे हमारा शरीर फूड को स्मॉल मोलेक्युल्स में ब्रेक डाउन करने में मदद करने के लिए बनाता है। अधिकतर डायजेस्टिव एंजाइम्स को अग्न्याशय बनाती है। हालांकि कुछ हमारे मुंह, पेट और स्मॉल इंस्टेस्टाइन द्वारा भी बनाए जाते हैं। डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) के उदाहरण इस प्रकार हैं:

    • एमाइलेस (Amylase) : यह एंजाइम काम्प्लेक्स शुगर को स्मॉल मोलेक्युल्स जैसे माल्टोस में ब्रेक कर देता है।
    • लैक्टेज (Lactase): लैक्टेज लैक्टोज नाम की मिल्क शुगर को ब्रेक डाउन करता है।
    • लाइपेज (Lipase): लाइपेज काम्प्लेक्स फैट्स को स्मॉल फैटी एसिड्स और ग्लिसरॉल में ब्रेक डाउन करता है।
    • पेप्सिन (Pepsin):पेप्सिन मांस, अंडे और डेयरी उत्पादों जैसे खाद्य पदार्थों में प्रोटीन को छोटे पेप्टाइड्स में तोड़ देता है।
    • ट्रिप्सिन (Trypsin) : ट्रिप्सिन प्रोटीन को ब्रेक डाउन करता है, इसलिए इसे अमीनो एसिड में बनाया जा सकता है। डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) से पहले डायजेस्टिव एंजाइम्स सप्लीमेंट्स (Digestive Enzymes Supplements) के बारे में जानकारी होना भी जरूरी है। आइए जानें इनके बारे में।

    और पढ़ें: Digestive Health Basics: कैसे काम करता है हमारा डायजेस्टिव सिस्टम?

    डायजेस्टिव एंजाइम्स सप्लीमेंट्स (Digestive enzyme supplements): पाएं इनके बारे में जानकारी

    यदि आपको इर्रिटेबल बॉवेल सिड्रोम (Irritable bowel syndrome) समस्या है, तो आपको इसके सप्लीमेंट्स और उपचार के लिए पहले ही डॉक्टर से बात करनी चाहिए ताकि लक्षणों से जल्दी से जल्दी राहत मिल सके। पेट की परेशानियों को कम करने के लिए डायजेस्टिव एंजाइम्स सप्लीमेंट्स (Digestive enzyme supplements) कई कथित उपचारों में से एक है। लेकिन क्या यह सच में काम करते हैं? डायजेस्टिव एंजाइम्स सप्लीमेंट्स (Digestive enzyme supplements) पिल या च्यूएबल टेबलेट फॉर्म में होते हैं।

    इनमें एक या मल्टीप्ल डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) का कॉम्बिनेशन होता है। कुछ प्रोबायोटिक्स के संयोजन में बेचे जाते हैं। इन्हें आसानी से ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। ये सप्लीमेंट्स ओरिजनली पैंक्रिएटिक इन्सफिशएंसी (Pancreatic insufficiency) वाले लोगों के लिए बनाए गए हैं, जो एक ऐसी स्थिति है जिसमें पैंक्रियाज भोजन को पचाने के लिए पर्याप्त एंजाइम का उत्पादन नहीं कर पाता है। अब जानिए डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के बारे में।

    और पढ़ें: इजी डायजेस्टिव फूड के बारे में जाने यहां और अपने पाचन को दे आराम…

    डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS): क्या डायजेस्टिव एंजाइम्स IBS के उपचार में मदद कर सकते हैं?

    डायजेस्टिव एंजाइम के सप्लीमेंट्स के कई प्रकार मौजूद हैं। इन्हें अधिकतर सुरक्षित माना जाता है। इसके फायदे इस प्रकार हैं:

    • हेल्दी डायजेशन को सपोर्ट करते हैं।
    • फैट्स, कार्बोहायड्रेट्स और प्रोटीन के ब्रेकडाउन को ऑप्टिमाइज करते हैं।
    • ऑप्टीमल न्यूट्रिएंट एब्जॉर्प्शन को प्रोमोट करते हैं।
    • गैस, ब्लोटिंग, अपच और कब्ज को कम करते है।
    • आपके शरीर को मुश्किल से पचने वाले खाद्य पदार्थों को प्रोसेस करने में मदद करते हैं।
    • कोलन हेल्थ को सपोर्ट करने में मददगार है।

    डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS, Digestive Enzymes and IBS

    और पढ़ें: डायजेस्टिव हेल्थ से हैं परेशान, तो अपनाएं इस लो FODMAP डायट को

    IBS का आमतौर पर लक्षणों के आधार पर और अन्य स्थितियों को रूल आउट करके निदान किया जाता है। इस समय, IBS का कारण ज्ञात नहीं है, इसलिए उपचार का उद्देश्य लक्षणों को कम करना है, जैसे:

    यानी, डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के बीच में लिंक यह है कि डायजेस्टिव एंजाइम, IBS के उपचार में मददगार साबित हो सकते हैं। अब जानते हैं कि डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) में क्या डायजेस्टिव एंजाइम के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं या नहीं?

    और पढ़ें: जी हां! डायजेस्टिव सिस्टम रहेगा सही, तो आप रहेंगे हेल्दी

    डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS): डायजेस्टिव एंजाइम के साइड इफेक्ट्स

    IBS सिम्पटम्स में डायजेस्टिव एंजाइम के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए, इनका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। यह साइड इफेक्ट्स दुर्लभ और गंभीर से लेकर अधिक सामान्य और कम गंभीर तक हो सकते हैं। यह सामान्य साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

    • गैस (Gas)
    • ब्लोटिंग (Bloating)
    • लूज स्टूल्स या डायरिया (Loose stools or diarrhea)
    • कब्ज (Constipation)
    • जी मिचलाना (Nausea)
    • स्टमक डिस्कम्फर्ट (Stomach discomfort)
    • ग्रीसी स्टूल्स (Greasy stools)
    • सिरदर्द (Headache)
    • वजन का कम होना (Losing weight)

    और पढ़ें: Chemical Digestion: क्यों महत्वपूर्ण है डायजेस्टिव सिस्टम की यह प्रोसेस, जानिए?

    इसके अधिक गंभीर लक्षण इस प्रकार हैं:

    • एलर्जिक रिएक्शंस (Allergic reactions): एलर्जिक रिएक्शंस में हाइव्स, सांस लेने में समस्या, चेहरे पर सूजन आदि शामिल है, जिसमें तुरंत उपचार की जरूरत होती है। इसलिए, एलर्जिक रिएक्शन की स्थिति में तुरंत मेडिकल हेल्प लें।
    • गंभीर पेट में दर्द (Severe stomach pain): अगर इस स्थिति में किसी को गंभीर पेट में दर्द की समस्या हो, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

    और पढ़ें: Antidepressants for pediatric IBS: पेडिएट्रिक आईबीएस के लिए एंटीडिप्रेसेंट का इस्तेमाल क्या पहुंचाता है फायदा?

    यह तो थी डायजेस्टिव एंजाइम्स और IBS (Digestive Enzymes and IBS) के बारे में पूरी जानकारी। IBS के सभी मामले एक जैसे नहीं होते हैं। इसके लक्षण, गंभीरता और उपचार हर व्यक्ति के लिए अलग हो सकते हैं। अभी इर्रिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable bowel syndrome) यानी IBS की स्थिति में डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive Enzymes) के सपोर्ट के बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसके बारे में और अधिक रिसर्च की जानी जरूरी है। अगर इसके बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है, तो अपने डॉक्टर से इस बारे में अवश्य जानें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Enzyme therapy for functional bowel disease.https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6910206/ .Accessed on 20/4/22

    Irritable bowel syndrome. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/irritable-bowel-syndrome/diagnosis-treatment/drc-20360064 .Accessed on 20/4/22

    Digestive Enzymes 101: Why They’re Important. https://health.clevelandclinic.org/digestive-enzymes-101-why-theyre-important/ .Accessed on 20/4/22

    Digestive Enzymes and Digestive Enzyme Supplements. https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/digestive-enzymes-and-digestive-enzyme-supplements .Accessed on 20/4/22

    Irritable Bowel Syndrome (IBS). https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/irritable-bowel-syndrome .Accessed on 20/4/22

    Irritable bowel syndrome. https://www.mountsinai.org/health-library/diseases-conditions/irritable-bowel-syndrome

    .Accessed on 20/4/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: