home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

फूड पॉइजनिंग से राहत पाने के घरेलू उपाय क्या हैं?

फूड पॉइजनिंग से राहत पाने के घरेलू उपाय क्या हैं?

फूड पॉइजनिंग के लक्षण पहले ज्यादा समझ में नहीं आते हैं, फिर अचानक से शरीर में कई तरह के परिवर्तन होने लगते हैं। फूड पॉइजनिंग के लक्षण कीटाणुओं (बैक्टीरिया, वायरस और पैरासाइट) पर डिपेंड करते हैं, जो दूषित खाने के साथ ही शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। जर्म्स खाने को टॉक्सिक बनाते हैं। फूड प्वाइजनिंग अक्सर दूषित खाना खाने के कारण ही होता है। खाना विभिन्न कारणों से दूषित हो सकता है। खाने में उपस्थित जर्म्स शरीर में चले जाते हैं और परेशानी खड़ी कर देते हैं। फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय से आप बिना दवा खाए राहत पा सकते हैं।

और पढ़ें: इस प्रॉसेस से स्किन टाइप के हिसाब से घर पर ही बनाएं अपना हैंड वॉश

फूड पॉइजनिंग क्या है? (What is food poisoning)

इस स्थिति में आपको उल्टी, पेट दर्द या फिर डायरिया हो सकता है। साथ ही कमजोरी और घबराहट का एहसास भी हो सकती है। बैक्टीरिया या वायरस से संक्रमित खाना खाने से आपको फूड पॉइजनिंग की परेशानी आ सकती है। संक्रमण की संभावना खाना बनाते समय या फिर हैंडलिंग के दौरान हो सकती है। खाना बनाने के हर लेवल पर सफाई का ध्यान रखने से आप फूड पॉइजनिंग से बच सकते हैं। अगर आप संक्रमित खाना खाते हैं तो आपको फूड पॉइजनिंग हो सकती है।

फूड पॉइजनिंग के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of food poisoning)

इसके लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं।

ऊपर बताए गए लक्षणों के अतिरिक्त कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। यदि आपको इनमें से कोई लक्षण नजर आता है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: कार्बोहाइड्रेट से परहेज करना, शरीर में इन समस्याओं को देता है दावत

खाना दूषित कैसे हो जाता है (How does food get contaminated?)

पैथोजन उन सभी फूड में पाया जाता है, जो इंसान खाता है। जब खाने को पकाया जाता है तो हीट के कारण पैथोजन मर जाते हैं। जब खाना कुकिंग प्रोसेस से होकर नहीं जाता है तो फूड प्वाइजनिंग की संभावना बढ़ जाती है। अगर खाना बनाने वाला व्यक्ति हाथ को सही से नहीं धुलता है तो भी खाना ऑर्गेनिज्म के कॉन्टैक्ट में आ जाता है। इस कारण से भी खाना दूषित हो जाता है और व्यक्ति में फूड प्वाइजनिंग के लक्षण पैदा करता है। मांस, अंडे और डेयरी उत्पाद अक्सर दूषित होते हैं। पानी भी कई कारणों से दूषित हो जाता है और उसमें उपस्थित ऑर्गेनिज्म शरीर में पहुंचकर बीमारी पैदा करते हैं।

और पढ़ें: पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत पाने के घरेलू उपाय, आज ही से आजमाएं

फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय क्या हैं? (Home Remedies of Food poisoning)

भागती हुई जिंदगी में अधिकतर कामकाजी लोग बाहर का खाना खाने की वजह से या फिर साफ खाना न खाने से फूड पॉइजनिंग की परेशानी आ सकती है।

फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय को अपना कर आप इस समस्या से राहत पा सकते हैं :

  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में सबसे पहले खाने से परहेज करें। अगर बहुत ज्यादा उल्टी हो रही है तो शुरुआती कुछ घंटों में कुछ भी खाने से परहेज करें। इस स्थिति में आपका पेट कुछ भी पचाने की क्षमता खो चुका होता है। इस स्थिति में कुछ भी खाना समस्या को और अधिक बढ़ा सकता है।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में इसकी स्थिति में आपके शरीर में पानी की कमी आ सकती है। इसलिए शरीर में आयन और मिनरल की मात्रा बनाए रखने के लिए इलेक्ट्रोलाइट और पानी पिएं। इलेक्ट्रोलाइट आमतौर पर सोडियम और पोटैशियम का घोल होता है जो शरीर में पानी की मात्रा के साथ ही हृदय की गति को भी नियंत्रित रखता है। इन मिनरल्स की कमी होने पर शरीर सही ढंग से काम करना बंद कर देगा। इसलिए आप फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में पानी को जरूर शामिल करें।

और पढ़ेंः महुआ के फायदे : इन रोगों से निजात दिलाने में असरदार हैं इसके फूल

  • एक बार पेट के स्थिर हो जाने पर कोशिश करें की एकदम से भारी तला, भुना खाना न खाएं। धीरे -धीरे आसानी से पच जाने वाले खाने से शुरुआत करें। फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में भूख लगने पर आप खिचड़ी, दलिया या फिर ओट्स खा सकते हैं। साथ ही जूस और फलों का सेवन भी सही रहेगा।
  • आराम करें क्योंकि शरीर डीहाइड्रेट हो सकता है। लगातार मोशन और उल्टी की वजह से शरीर कमजोर हो जाता है। फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में इसलिए आराम शामिल है, जितना हो सके आराम करें और कोई भी शारीरिक परिश्रम वाला काम न करें।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में कार्बोनेटेड पेय पदार्थों से बचें। एल्कोहॉल, सॉफ्ट ड्रिंक, बहुत अधिक मसालेदार खाना और मोटापा बढ़ाने वाला खाना न खाएं। इससे स्थिति अधिक खराब हो सकती है।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में आप नींबू का सेवन कर सकते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटी इन्फलामेटरी और एंटीवायरल प्रॉपर्टीज होती हैं। ये फूड पॉइजनिंग के बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद करता है। खाली पेट नींबू पानी पीने से आपको आराम मिलेगा। आप चाहे तो गुनगुने पानी में नींबू मिलाकर ले सकते हैं।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय डेरी प्रोडक्ट यानी दूध से बनी हुई चीजों का सेवन न करें। ये भारी होती हैं और इन्हें पचाने में अधिक समय लगता है। साथ ही इस स्थिति में ये संक्रमण को भी बढ़ावा दे सकती हैं।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में फ्रूट जूस और कोकोनट वॉटर शरीर में कार्बोहाइड्रेट को रिस्टोर करते हैं और थकान की समस्या को भी दूर करते हैं।
  • ऐसे में कैफीन युक्त पदार्थ को लेने से बचना चाहिए। कैमोमाइल, पिपरमेंट आदि से युक्त चाय लेने से पेट में जलन की समस्या से राहत मिलती है। इमोडियम (Imodium ) और पेप्टो-बिस्मोल (Pepto-Bismol) जैसी ओवर-द-काउंटर मेडिसिन लेने से लूज मोशन की समस्या में राहत मिल सकती है।
  • खाने में दही को जरूर शामिल करें। दही में एंटीबायोटिक्स होते हैं, जो फूड पॉइजनिंग से निजात दिलाने में मदद करते हैं।
  • फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय में तुलसी का सेवन किया जा सकता है। तुलसी को एक कोटरी दही में, नमक और काली मिर्च के साथ लें। आपको बहुत जल्दी आराम मिलेगा।
  • फूड पॉइजनिंग से राहत पाने के लिए एप्पल साइडर विनेगर भी ले सकते हैं। इसमें कई ऐसे तत्व होते हैं, जो शरीर के मेटाबाॅलिज्म रेट को बढ़ाते हैं। खाली पेट इसका सेवन करने से शरीर में मौजूद बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं।
  • डायट में लहसुन को शामिल करें। सुबह खाली पेट लहसुन की कच्ची कलियों को पानी के साथ लें। इससे आपको फूड पॉइजनिंग से आराम मिल सकता है।

और पढ़ें : आंखों में खुजली/जलन (Eye Irritation) कम करने के घरेलू उपाय

कई बार फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय कारगर नहीं होते। इसलिए बॉडी के अनुसार सटीक इलाज के लिए डॉक्टर से सलाह लेना उचित रहेगा। डॉक्टर आपकी स्थिति के हिसाब से आपको दवाइयां देंगे जिससे आपको जल्द ही राहत मिल जाएगी। फूड पॉइजनिंग के ठीक होने में लगभग तीन से चार दिनों का समय लगता है। ये इस पर भी निर्भर करेगा कि आपने कैसा खाना खाया है और उससे आपको कितनी हानि हुई है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/08/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x