home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में इन 7 तरीकों को अपनाएं, मिलेगी स्ट्रेस से राहत

प्रेग्नेंसी में इन 7 तरीकों को अपनाएं, मिलेगी स्ट्रेस से राहत

प्रेग्नेंसी के समय को एंजॉय करने के लिए प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत पाना बहुत जरूरी होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में होने वाले बदलाव नॉर्मल होते हैं, लेकिन इस वजह से तनाव का अनुभव हो सकता है। थोड़ा बहुत स्ट्रेस होना नॉर्मल है , लेकिन जरूरत से ज्यादा परेशान होना आपके साथ ही होने वाले बच्चे पर भी बुरा प्रभाव डाल सकता है। ऐसे समय में आपको कोशिश करनी चाहिए कि तनाव को अपने से दूर रखें। प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत पाने के लिए ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है। आप घर पर रहकर ही कुछ आसान से तरीके अपनाकर प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत पा सकती।

और पढ़ें : अनचाही प्रेग्नेंसी (Pregnancy) से कैसे डील करें?

प्रेग्नेंसी में ऐसा क्यों होता है?

जब हम स्ट्रेस में होते हैं तो बॉडी से एड्रेनालाइन (Adrenaline) और कोर्टिसोल ( cortisol ) हाॅर्मोन निकलता है। ये हाॅर्मोन आपको परिस्थिति से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। कुछ समय बाद सब कुछ नॉर्मल हो जाता है। प्रेग्नेंसी के समय हाॅर्मोन का लेवल बिगड़ जाता है तो ये आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव डालता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कोशिश करें कि अपने आपको तनाव मुक्त रखेंसकारात्मक सोच के साथ सभी काम करें। इस आर्टिकल के माध्यम से आप जान सकते हैं कि किन तरीकों को अपनाकर आप प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत पा सकती हैं।

और पढ़ें : क्या प्रेग्नेंसी कैलक्युलेटर की गणना हो सकती है गलत?

1. गर्भावस्था में तनाव से राहत: प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए ब्रीथिंग पर लगाएं ध्यान

ज्यादा तनाव का असर आपके सांस लेने की क्रिया पर पड़ सकता है। इस दौरान आप कम ऑक्सिजन ले पाते हैं। जब शरीर में कम ऑक्सिजन पहुंचती है तो शरीर अलग तरह से प्रतिक्रिया करता है। आपको जब भी समय मिले, लेटकर या बैठकर अपनी आंखे बंद कर लें। कम से कम पांच बार गहरी सांस लें। आप नाक और मुंह दोनों के माध्यम से सांस ले सकती हैं। ऐसा करने से स्ट्रेस लेवल कम होगा और पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन भी शरीर में जाएगी।

और पढ़ें : वर्किंग मदर्स की परेशानियां होंगी कम अपनाएं ये Tips

2. प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए स्ट्रेचिंग है जरूरी


स्ट्रेस के दौरान जो हाॅर्मोन शरीर से निकलते हैं, उनसे मांसपेशियों में जकड़न या टेंशन हो सकती है। प्रेग्नेंसी में इससे निजात पाने का तरीका है स्ट्रेचिंग। स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के लिए कुछ समय निकालिए। गर्दन, पीठ, बांह और पैरों को फैलाएं। अपने सिर को झुकाकर गर्दन को स्ट्रेच करिए। इस स्थिति में 20 सेकेंड तक रहे। आपको खुद ही खिचांव महसूस होगा। 20 सेकेंड बाद धीरे-धीरे अपने शरीर को सामान्य स्थिति में ले जाएं।

3. प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए आराम पर दें ध्यान

स्ट्रेस से राहत के लिए आराम

जब आप अच्छी तरह से नींद नहीं लेती हैं तो दिमाग जल्दी थक जाता है। नींद पूरी न होने की वजह से दिमाग में नकारात्मक विचार आते हैं। ये भी तनाव का कारण हो सकता है। अगर रात में नींद नहीं आ रही है तो दिन में 20 मिनट की झपकी ली जा सकती है। कुछ पल के लिए ली गई झपकी आपके शरीर को बहुत आराम देगी और प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत दिलाएंगी।

4. गर्भावस्था में तनाव से राहत: प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए पिपरमेंट टी का करें इस्तेमाल

पिपरमेंट टी

प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए पिपरमेंट टी का उपयोग किया जा सकता है। पिपरमेंट की पत्तियों में मेन्थॉल होता है जो मांसपेशियों को आराम देता है। साथ ही आप पुदीना भी यूज कर सकती हैं। पुदीना आपके पेट से गैस को हटाने और मतली और उल्टी जैसे पेट की समस्याओं को हल करने में भी मदद करता है। अपने पर्स में पिपरमिंट टी बैग रखें ताकि आप जहां भी हों, तनाव और परेशानी से लड़ सकें। पिपरमेंट की चाय कैफीन मुक्त होती है। आप दिन में जब भी मन करें, इसे ले सकती हैं। अगर आपकी हेल्थ कंडिशन अलग है तो इस चाय का सेवन करने से पहले डॉक्टर से जरूर राय लें। प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी चीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर से कंसल्ट करना सही होता है।

5. गर्भावस्था में तनाव से राहत: प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत के लिए मसाज का लें सहारा

गर्भावस्था में तनाव से राहत
स्ट्रेचिंग की तरह मालिश भी आपकी मांसपेशियों को आराम देने का काम करती है। प्रेग्नेंसी के दौरान तनाव से राहत पाने के लिए ये एक शानदार तरीका है। अगर आपको मसाज करने का मन है तो आप खुद भी मसाज कर सकती हैं। आप मस्टेला स्ट्रेच मार्क्स प्रिवेंशन ऑयल का भी यूज कर सकती हैं। हाथ में थोड़ा सा तेल लें और फिर मांसपेशियों में इसे लगाएं। साथ ही सांस को आराम से लें और फिर छोड़े। आपको बहुत राहत महसूस होगी और स्ट्रेस भी भाग जाएगा।

6. गर्भावस्था में तनाव से राहत: प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत चाहते हैं तो खुद से भी करें बातें

दिमाग में बहुत कुछ चल रहा है तो एक बार खुद भी बात करके देख लीजिए। ये तनाव से छुटकारा पाना का एक तरह का मंत्र है। ऐसा करने से आपका ध्यान केंद्रित होगा और नकारात्मक विचार भी कम होंगे। कुछ विचार जैसे, मैं खुश हूं, आराम महसूस कर रही हूं, आने वाले बेबी के लिए 100 % तैयार हूं आदि। आपको अपने बारे में जो अच्छा लगता है, उस बारे में सोचें। बस आंखें बंद करें और फिर अपने बारे में अच्छी बातें सोचना शुरू कर दें। ऐसे करने से सकारात्मकता आती है और प्रेग्नेंसी स्ट्रेस से राहत मिलती है।

और पढ़ें : तो इस वजह से पैदा होते हैं, जुड़वां बच्चे

7. प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत मिलेगी करीबी से शेयर करें परेशानी

मन में बहुत सारी समस्याएं चल रही हैं तो परेशान न होइए, अपने करीबी से बातें शेयर करें। ऐसा करने से आपका मन हल्का हो जाएगा और स्ट्रेस भी कम होगा। आप चाहे तो अपने पति, दोस्त या करीबी को चुन सकती हैं। यकीन मानिए ऐसा करने के बाद आप बेहतर महसूस करेंगी। प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत पाने का यह आसान तरीका है। इसे कोई भी अपना सकता है।

हम उम्मीद करते हैं प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस से राहत दिलाने वाले ये तरीके आपको पसंद आए हाेंगे। अगर आप गर्भावस्था में हैं या आपका कोई अपना तो इन टिप्स को अपनाया जा सकता है। गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जब महिला कई तरह के शारीरिक और मानसिक परिवर्तनों से गुजर रही होती है। ऐसे में तनाव होना स्वाभाविक है। इस समय महिला को करीबियों के सपोर्ट की जरूरत होती है। अगर कोई उसकी बात सुन लें थोड़ी केयर और सपोर्ट कर दे तो तनाव को दूर भागने में समय नहीं लगता

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आप भी गर्भावस्था के दौरान तनाव का अनुभव कर रही हैं तो ऊपर बताए गए टिप्स को फॉलो कर सकती हैं। इनको अपनाने के बाद भी स्ट्रेस कम नहीं हो रहा है तो एक बाद डॉक्टर से मिले और अपनी परेशानी को शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Can Your Stress Affect Your Fetus?/cdc.gov/pregnancy/meds/treatingfortwo/features/ssrisandbirthdefects.html(Accessed on 31st December)

Perinatal generalized anxiety disorder ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4589308/(Accessed on 31st December)

Physical activity reduces stress. (n.d.).
adaa.org/understanding-anxiety/related-illnesses/other-related-conditions/stress/physical-activity-reduces-st (Accessed on 31st December)

Journaling for mental health. (n.d.).
urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?ContentTypeID=1&ContentID=4552(Accessed on 31st December)

Stress and pregnancy. (2019).marchofdimes.org/complications/stress-and-pregnancy.aspx (Accessed on 31st December)

लेखक की तस्वीर
31/12/2019 पर Bhawana Awasthi के द्वारा लिखा
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
x