home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्लोमिड ड्रग इनफर्टिलिटी को दूर करने में करता है मदद, जानिए इससे जुड़ी सावधानियां!

क्लोमिड ड्रग इनफर्टिलिटी को दूर करने में करता है मदद, जानिए इससे जुड़ी सावधानियां!

अगर महिला बच्चे की चाह रख रही है और किसी कारण से महिला कंसीव नहीं कर पा रही है, तो यकीनन ये परेशान करने वाली बात होती है। ऐसे में डॉक्टर से जांच कराना और इनफर्टिलिटी (Infertility) का कारण पता करना बहुत जरूरी हो जाता है। इनफर्टिलिटी के एक नहीं बल्कि बहुत से कारण हो सकते हैं। इनफर्टिलिटी या बांझपन की समस्या को दूर किया जा सकता है लेकिन इसके कारण के बारे में पता चलना भी बहुत जरूरी है। अगर महिलाएं इनफर्टिलिटी की समस्या (Infertility problem) से जूझ रही हैं, तो ऐसे में महिलाओं को डॉक्टर कुछ दवाएं लेने की सलाह दे सकते हैं। क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) को क्लोमीफीन साइट्रेट (Clomiphene citrate) के नाम से भी जाना जाता है। ये ओरल मेडिकेशन होता है, जो कुछ प्रकार के फीमेल इनफर्टिलिटी को दूर करने का काम करते हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) के बारे में जानकारी देंगे और साथ ही इससे जुड़ी अहम जानकारी भी साझा करेंगे।

और पढ़ें: इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट क्या हैं? जानिए कैसे होता है बांझपन का इलाज

क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) क्या है?

क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) का सेवन करने से बांझपन की समस्या दूर हो सकती है । ये दवा एग रिलीज की प्रोसेस में अहम भूमिका निभाती है। क्लोमिड ड्रग्स शरीर में पहुंचने के बाद पिट्युटरी ग्लैंड (Pituitary gland) को एफएसएच (Follicle stimulating hormone) और ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (Luteinizing hormone) को प्रोड्यूस करने के लिए फोर्स करता है। एफएसएच ओवरी को एग फॉलिकल प्रोड्यूस करने के लिए स्टिमुलेट करता है। जिन महिलाओं को कंसीव करने में समस्या हो रही होती है, डॉक्टर जांच के बाद उन्हें क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) लेने की सलाह दे सकते हैं। क्लोमिड ड्रग का सेवन सभी महिलाएं नहीं कर सकती हैं। इस दवा का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। जानिए किन महिलाओं को क्लोमिड ड्रग का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें: लो स्पर्म काउंट ही नहीं, इनफर्टिलिटी की वजह हो सकती है स्पर्म की ये कमी भी!

क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) का कौन कर सकता है सेवन?

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि इनफर्टिलिटी की समस्या के एक नहीं बल्कि कई कारण हो सकते हैं। जिन महिलाओं को पॉलिसिस्टिक ओवर सिंड्रोम (Polycystic ovary syndrome) या पीसीओएस की समस्या होती है, उन्हें क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) दिया जाता है। पॉलिसिस्टिक ओवर सिंड्रोम के कारण अनियमित ओव्युलेशन की समस्या हो जाती है, जो इनफर्टिलिटी की समस्या हो जाती है। ऐसा जरूरी नहीं है कि क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drug) का सेवन सभी महिलाओं पर असर करेगा। जिन महिलाओं को ओवेरियन इंसफिसिएंसी या अर्ली मेनोपॉज (Early monopause) की समस्या होती है या फिर ऑव्युलेशन (Ovulation) में परेशानी होने के कारण भी कंसीव करने में समस्या होती है। ऐसे में डॉक्टर क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drugs) लेने की सलाह दे सकते हैं। इंफर्टिलिटी ट्रीटमेंट के लिए क्या करना चाहिए, इस बारे में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

ओव्युलेशन की प्रोसेस में ओवरी से हर महीने अनफर्टिलाइज्ड एग रिलीज होते हैं। ये मेंट्रुअल सायकल के 14वें दिन रिलीज होता है। ये प्रोसेस हॉर्मोनल सायकिल के कारण होती है। फिर एग फैलोपियन ट्यूब से ट्रेवल करता है और या तो स्पर्म से फर्टिलाइज हो जाता है या फिर नहीं हो पाता है। अगर एग फर्टिलाइज नहीं हो पाता है, तो ये यूटेराइन कैविटी में पहुंच जाता है और फिर महिला को पीरियड्स शुरू हो जाते हैं। अगर एग का फर्टिलाइजेशन शुरू हो जाता है, तो महिला प्रेग्नेंट हो जाती है।

और पढ़ें: फाइब्रॉएड क्या है, इसका इनफर्टिलिटी से क्या संबंध है?

क्लोमिड ड्रग्स का डोज (Clomid drugs dose)

क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drug) का डोज डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही लेना चाहिए। क्लोमिड पिल 50 मिलीग्राम की पिल होती है, जो मेंस्ट्रुअल सायकल के शुरुआत में पांच दिन तक ली जाने की सलाह दी जाती है। डॉक्टर दवा को लेने के बाद उसके रिस्पॉन्स के बारे में जांच करते हैं और फिर उसी के अनुसार दवा की डोज तय करते हैं। डॉक्टर कम डोज से लेकर जरूरत के अनुसार दवा का डोज बढ़ा भी सकते हैं। ओवेरियन फोलिकल्स की जांच के लिए डॉक्टर अल्ट्रासाउंड की करवा सकते हैं। ऐसे में डॉक्टर महिला को जानकारी दे सकते हैं कि कब इंटरकोर्स करने से कंसीव करने के चांसेज बढ़ जाते हैं। जिन लोगों को आईयूआई (Intrauterine insemination) की जरूरत होती है, उनके लिए भी कंसीव करने के लिए ये समय सही माना जाता है। डॉक्टर लंबे समय तक आपको इस दवा का सेवन करने की सलाह नहीं देंगे वरना ये प्रेग्नेंसी रेट को कम करने का काम भी कर सकती है। आपको इस संबंध में डॉक्टर से अधिक जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

और पढ़ें: इनफर्टिलिटी से बचने के लिए इन फूड्स से कर लें तौबा

क्लोमिड ड्रग्स के साइड इफेक्ट्स (Side Effects of Clomid Drugs)

क्लोमिड ड्रग्स का सेवन करने से जहां एक ओर इनफर्टिलिटी का ट्रीटमेंट संभव हो जाता है वहीं ये मेडिसिन अन्य इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट से सस्ता भी होता है। इस ट्रीटमेंट से महिला को किसी दर्द से नहीं गुजरना पड़ता है लेकिन दवा का सेवन करने से कुछ दुष्प्रभाव जरूर हो सकते हैं। जानिए क्लोमिड ड्रग्स के साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं।

  • शरीर का गर्म महसूस होना
  • सिर दर्द की समस्या
  • ब्लोटिंग (Bloating)
  • जी मिचलाना
  • मूड में बदलाव (Mood changes)
  • ब्रेस्ट टेंडरनेस (breast Tenderness)
  • धुंधलापन (blurring and double vision)

ये जरूरी नहीं है कि दवा का सेवन करने के बाद सभी महिलाओं के दिए गए लक्षण नजर आएं। ये लक्षण कुछ महिलाओं में नजर आ सकते हैं। अगर आपको ऐसे लक्षण दिखें, तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

और पढ़ें: कैसे स्ट्रेस लेना बन सकता है इनफर्टिलिटी की वजह?

क्लोमिड ड्रग्स लेने से क्या हो सकता है मल्टिपल प्रेग्नेंसी का खतरा?

ये बात सच है कि क्लोमिड ड्रग्स लेने से मल्टिपल प्रेग्नेंसी यानी एक से अधिक प्रेग्नेंसी का खतरा बढ़ जाता है। ये करीब सात प्रतिशत तक रहता है। अगर आपको इस बारे में अधिक जानकारी चाहिए, तो डॉक्टर से जरूर बात करें। अगर आप जुड़वा बच्चे नहीं चाहते हैं, तो इस बारे में डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

क्लोमिड ड्रग्स लेने से एस्ट्रोजन लेवल पर प्रभाव पड़ता है, इस कारण से यूटेराइन लाइनिंग पतली हो जाती है। ये सर्विकल म्यूकस की क्वालिटी को भी प्रभावित करता है। अगर आप दवा का सेवन करना चाहते हैं, तो डॉक्टर से इस दवा के दुष्प्रभावों के बारे में जरूर जानकारी लें।

इनफर्टिलिटी की समस्या होने पर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। बांझपन का इलाज संभव है लेकिन आपको डॉक्टर से ट्रीटमेंट कराना चाहिए और किसी अन्य विकल्प को नहीं चुनना चाहिए। अगर दवा का सेवन करने के बाद भी आप कंसीव नहीं कर पा रही हैं, तो आपको फर्टिलिटी एक्सपर्ट से इस बारे में जानकारी लेनी चाहिए। कई बार पार्टनर से संबंधित समस्या भी कंसीव न कर पाने का कारण बन सकती है। डॉक्टर जानकारी प्राप्त करने के लिए कुछ टेस्ट की सलाह भी दे सकते हैं।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता है। इस आर्टिकल में हमने आपको क्लोमिड ड्रग्स (Clomid drug) या बांझपन की समस्या में ली जाने वाली दवा के फायदों के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Accessed on 17/9/2021

23 interesting clomid multiples statistics.
healthresearchfunding.org/23-interesting-clomid-multiples-statistics/

Clomid:
https://www.accessdata.fda.gov/drugsatfda_docs/label/2012/016131s026lbl.pdf

Impicciatore, G. G., & Tiboni, G. M. (2011, September 1). Ovulation inducing agents and cancer risk: review of literature. Current Drug Safety
ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/22129320

https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a682704.html

infertility

https://www.cdc.gov/reproductivehealth/infertility/index.htm

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड