home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) सप्लिमेंट्स का उपयोग कितना प्रभावी है?

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) सप्लिमेंट्स का उपयोग कितना प्रभावी है?

अगर आप अनप्लांड प्रेग्नेंसी (Unplanned Pregnancy) को खुद से हेंडल करना चाहते हैं, तो आपको अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) टेक्निक के बारे में जरूर पता चला होगा। इसमें विटामिन सी सप्लिमेंट्स (Vitamin C Supplements) के ज्यादा डोज का उपयोग कई दिनों तक किया जाता है जो बाद में अबॉर्शन (Abortion) का कारण बनता है। सुनने में यह बहुत आसान ऑप्शन या होम रेमेडी लग सकती है, क्योंकि विटामिन सी सप्लिमेंट्स आसानी से उपलब्ध होते हैं, लेकिन अबॉर्शन के लिए विटामिन सी प्रभावी है इसके बारे में कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं। कई प्रेग्नेंट महिलाएं रेगुलर डायट में विटामिन सी (Vitamin C) लेती हैं और उसका उनका कोई बुरा प्रभाव नहीं होता। इस आर्टिकल में अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) का उपयोग कितना प्रभावी है इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion)

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) प्रभावी है इसको लेकर कोई भी क्रेडिबल साइंटिफिक रिसर्च मौजूद नहीं है। ना ही इंप्लांटेशन (Implantation) या पीरियड्स (Periods) पर इसके प्रभाव को दर्शाया गया है। हालांकि, एनसीबीआई (NCBI) में छपी एक स्टडी के अनुसार 50 महिलाओं को जिनका स्पोंटेनियस अबॉर्शन (Spontenious abortion) हुआ था उनकी तुलना जिन महिलाओं की प्रेग्नेंसी असामान्य रूप से समाप्त हुई थी उनसे की गई। बायोकैमिकल पैरामीटर्स (Biochemical perameters) का अध्ययन किया गया और विटामिन सी और ई के लेवल पर विशेष ध्यान दिया गया।

दोनों समूहों में विटामिन सी फ्रिक्वेंसी ड्रिस्ट्रीब्यूशन में कोई महत्वपूर्ण अंतर नहीं था। हालांकि, पहली तिमाही (First trimester) में गर्भपात का शिकार होने वाली महिलाओं में विटामिन सी की वैल्यू अधिक थी, लेकिन इसे एविडेंस के रूप में इंटरप्रेट नहीं किया जा सकता। वहीं 2016 में की गई एक स्टडी में पाया गया कि विटामिन सी लेने से किसी का स्पोंटेनियस मिसकैरिज के जोखिम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

और पढ़ें: महिलाओं में सेक्स हॉर्मोन्स कौन से हैं, यह मासिक धर्म, गर्भावस्था और अन्य कार्यों को कैसे प्रभावित करते हैं?

गर्भपात के लिए विटामिन सी हो सकता है रिस्की (Vitamin C can be risky for abortion)

विटामिन सी का कोई नुकसान नहीं है। यहां तक कि अधिक मात्रा में लेने पर भी, लेकिन बहुत अधिक विटामिन सी का उपयोग डायरिया और पेट में दर्द (diarrhea and abdominal pain) का कारण बन सकता है। यहां तक कि इस बात पर भी डिबेट जारी है कि यह किडनी स्टोन (Kidney stone) का भी कारण बन सकता है। विटामिन सी सप्लिमेंट्स को हर दिन 2000 मिलीग्राम से अधिक लेने की सलाह नहीं दी जाती है। अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) का उपयोग रिस्की हो सकता है क्योंकि हो सकता है कि आप विटामिन सी लेते रहे और इसका कोई प्रभाव ना हो और बाद में आपको सर्जिकल अबॉर्शन करना पड़े। अर्ली प्रेग्नेंसी में अबॉर्शन कराना आसान होता है। अगर आप पहले कम प्रभावी रेमेडीज को ट्राय करते हैं जो असर नहीं करती तो बाद में कॉम्प्लिकेशन भी हो सकते हैं।

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion)

अबॉर्शन के लिए उपयोग की जाने वाली होम रेमेडीज के रिस्क क्या हैं? (Abortion home remedies risk)

अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) ट्राय करें या किसी दूसरी होम रेमेडी जैसे कि किसी प्रकार की चाय का उपयोग करें, इसके कुछ रिस्क हो सकते हैं। किसी भी प्रकार की हर्ब (Herb) का अत्यधिक मात्रा में रोज सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के अनुसार हर साल अनसेफ अबॉर्शन (Unsafe abortion) के चलते हजारों महिलाओं की मृत्यू होती है। डब्ल्यूएचओ का कहना है इनसे बचने के लिए महिलाओं की पहुंच तक सेफ अबॉर्शन के ऑप्शन, सेक्स एजुकेशन (Sex education) और फैमिली प्लानिंग जरूरी है। अबॉर्शन के लिए विटामिन सी या अन्य होम रेमेडीज के रिस्क निम्न हैं।

इनकंप्लीट अबॉर्शन (Incomplete abortion)

इनकंप्लीट अबॉर्शन उसे कहा जाता है जब अबॉर्शन पूरी तरह नहीं होता है। ऐसा तब होता है जब प्रेग्नेंसी तो खत्म हो जाती है, लेकिन कुछ फेटल टिशूज (Fetal tissues) बॉडी में रह जाते हैं। ऐसा होने पर मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत होती है ताकि सीवियर इंफेक्शन, ब्लड लॉस (Blood loss) और डेथ से बचा जा सके। हालांकि महिलाओं को इनकंप्लीट अबॉर्शन की जानकारी तब तक नहीं होती जब तक कि गंभीर लक्षण दिखाई ना दें जैसे कि ब्लीडिंग।

टॉक्सिसिटी (Toxicity)

अप्रतिष्ठित ऑनलाइन वेबसाइट से खरीदे गए हर्बल प्रोडक्ट्स (Herbal products) या गर्भपात की गोलियां (Contraceptive pills) लेने से गंभीर परिणाम हो सकते हैं। यहां तक ​​कि नैचुरल रेमेडीज भी जहरीली हो सकती हैं, खासकर जब लोग ज्यादा मात्रा में इनका सेवन करते हैं। जब लोग किसी टॉक्सिक चीज को खाते हैं, तो शरीर से विषाक्त पदार्थों को छानने के लिए लिवर पर दबाव पड़ता है। गंभीर मामलों में, इसका परिणाम लिवर डैमेज या लिवर फेलियर हो सकता है।

कुछ वेबसाइट गर्भपात की गोलियां ऑनलाइन बेचने का दावा करती हैं, लेकिन इनमें से कई गोलियां असली नहीं हैं। कुछ मामलों में, वे हानिकारक हो सकती हैं। खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) या अन्य प्राधिकरण इन उत्पादों की निगरानी नहीं करते हैं, जिसका अर्थ है कि ये जनता के लिए सुरक्षित नहीं है।

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं गर्भावस्था के दौरान शहद का इस्तेमाल कितना लाभदायक है?

हेमरेजिंग (Hemorrhaging)

हेमरेजिंग का मतलब अधिक मात्रा में ब्लड लॉस होना। हालांकि मेडिसिन से होने वाले अबॉर्शन में इसका रिस्क रहता है, लेकिन किसी अनसर्टिफाइड या होम रेमेडी का उपयोग करने से इसका रिस्क बढ़ सकता है।

इंफेक्शन और स्कारिंग (Infection and scarring)

सर्जिकल अबॉर्शन के साथ भी इंफेक्शन (Infection) का खतरा होता है, लेकिन यह जोखिम घर पर सर्जिकल गर्भपात के साथ नाटकीय रूप से बढ़ जाता है। गर्भाशय ग्रीवा (Uterine cervix) के माध्यम से गर्भाशय में कुछ भी डालना बेहद खतरनाक है, क्योंकि इससे संक्रमण और घाव हो सकते हैं। इन दोनों परिणामों से इनफर्टिलिटी (Infertility) की समस्या हो सकती है। गंभीर संक्रमण जीवन के लिए खतरा बन सकते हैं।

होम रेमेडीज के अलावा अबॉर्शन (Abortion) के दूसरे ऑप्शन

अगर आपने अनप्लांड प्रेग्नेंसी या किसी अन्य कारण के चलते अबॉर्शन करवाने का निणर्य ले लिया है, तो निम्न ऑप्शन को ट्राय कर सकते हैं। ये अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) से कई बेहतर हैं। अबॉर्शन के दो टाइप हैं।

और पढ़ें: गर्भावस्था के लिए आवश्यक हैं गोनाडोट्रॉपिन्स, जानिए इनके प्रकार के बारे में

मेडिकल अबॉर्शन (Medical abortion)

मेडिकल अबॉर्शन में ओरल मेडिसिन (Oral medicine) को लिया जाता है या दवा को वजायना में डाला जाता है। इसके बाद ब्लीडिंग शुरू हो जाती है और अबॉर्शन हो जाता है। इस प्रक्रिया को घर पर किया जा सकता है, लेकिन इसमें उपयोग की जाने वाली दवा का उपयोग डॉक्टर की सलाह के बिना ना करें। मेडिकल अबॉर्शन का सहारा उस स्थिति में लिया जाता है जब प्रेग्नेंसी 10 हफ्ते या इससे कम समय की हो। समय अधिक होने पर मेडिकल अबॉर्शन कई बार कारगर नहीं होता है।

सर्जिकल अबॉर्शन (Surgical abortion)

सर्जिकल अबॉर्शन एक मेडिकल प्रॉसीजर है जिसमें सक्शन का यूज किया जाता है। इसे डॉक्टर के द्वारा हॉस्पिटल में किया जाता है। प्रॉसेस के बाद महिलाएं उसी दिन घर जा सकती हैं। ध्यान रखें कि कई ऐसे कानून हैं जो आपके सर्जिकल गर्भपात को प्रतिबंधित करते हैं। अधिकांश डॉक्टर 20 से 24 सप्ताह के बाद या दूसरी तिमाही के अंत के बाद सर्जिकल गर्भपात की अनुमति नहीं देते हैं। यदि गर्भावस्था एक गंभीर स्वास्थ्य जोखिम पैदा करती है, तो ही २०-२५ सप्ताह के बाद गर्भपात की अनुमति मिल सकती है।

और पढ़ें: मूड स्विंग्स केवल गर्भावस्था ही नहीं, बल्कि टाइप 1 डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है

उम्मीद करते हैं कि आपको अबॉर्शन के लिए विटामिन सी (Vitamin C for abortion) का उपयोग और अबॉर्शन से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Vitamin supplementation for preventing miscarriage/https://www.cochranelibrary.com/cdsr/doi/10.1002/14651858.CD004073.pub4/full/ Accessed on 11th October 2021

Vitamins C and E in spontaneous abortion/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/988001/Accessed on 11th October 2021

Mayo Clinic Staff. (2016). Dilation and curettage/mayoclinic.org/tests-procedures/dilation-and-curettage/about/pac-20384910/Accessed on 11th October 2021

Mayo Clinic Staff. (2018). Medical abortion/mayoclinic.org/tests-procedures/medical-abortion/about/pac-20394687/Accessed on 11th October 2021

Safe abortion/apps.who.int/iris/bitstream/handle/10665/70914/9789241548434_eng.pdf;jsessionid=DD63BE9AF299395022D40EC42AF433FD?sequence=1/Accessed on 11th October 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ दिन पहले को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड