home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

क्या होता है स्टिलबर्थ? इन लक्षणों से की जा सकती है पहचान

क्या होता है स्टिलबर्थ? इन लक्षणों से की जा सकती है पहचान

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के अनुसार भारत में साल 2015 में 592000 बच्चे मरे हुए (स्टिलबर्थ) पैदा हुए। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन एंड सेव द चाइल्ड (world health organization and save the child) की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि विश्वभर में रोजाना 7300 शिशु स्टिलबर्थ का शिकार होते हैं। क्या है स्टिलबर्थ और क्या हैं इसके कारण? जानते हैं।

स्टिलबर्थ क्या है? (What is stillbirth)

गर्भवस्था के दौरान 20वें हफ्ते में शिशु की मौत को स्टिलबर्थ (Stillbirth) कहते हैं या प्रेग्नेंसी के 20वें हफ्ते में डिलिवरी होने दौरान भी शिशु की मौत हो सकती है। 160 बच्चों में से 1 बच्चा स्टीलबर्थ का शिकार होता है।

स्टिलबर्थ

स्टिलबर्थ के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of stillbirth)

गर्भावस्था के दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। इनमें शामिल हैं।

इन लक्षणों के साथ-साथ कोई और परेशानी महसूस होने पर स्टिलबर्थ की संभावना हो सकती है।

और पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान बच्चे के वजन को बढ़ाने में कौन-से खाद्य पदार्थ हैं फायदेमंद?

स्टिलबर्थ का क्या कारण है? (Causes of stillbirth)

गर्भावस्था और लेबर कॉम्प्लिकेशन (Pregnancy and Labor Complication)

गर्भधारण की समस्या के कारण तीन कैजुअल्टी में से एक स्टिलबर्थ की वजह से होता है। इन जटिलताओं में प्रीटर्म लेबर, जुड़वां या ट्रिपल के साथ गर्भावस्था, और गर्भ से प्लेसेंटा को अलग करना (जिसे “प्लेसेंटल एब्स्ट्रक्शन” भी कहा जाता है। प्लेसेंटा भ्रूण को पोषक तत्व और ऑक्सीजन प्रदान करता है)। 24 सप्ताह से पहले गर्भधारण और प्रसव संबंधी जटिलताओं के सामान्य कारण होते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

अंबिलिकल कॉर्ड के साथ समस्याएं (Problems with umbilical cord)

अंबिलिकल कॉर्ड के साथ समस्याओं की वजह से लगभग चार स्टिलबर्थ में से एक होने की संभावना थी। प्लेसेंटा समस्या का एक उदाहरण जो स्टिलबर्थ का कारण बनता है वह प्लेसेंटा के लिए अपर्याप्त रक्त प्रवाह है। एससीआरएन अध्ययन में जन्म से पहले होने वाले स्टिलबर्थ का प्रमुख कारण प्लेसेंटल समस्याएं थीं और ये मौतें गर्भावस्था के 24 सप्ताह के बाद हुईं।

बर्थ डिफेक्ट (Birth defect)

प्रत्येक 10 स्टिलबर्थ में से 1 से अधिक में भ्रूण में एक आनुवंशिक या संरचनात्मक जन्म दोष था जो संभवतः या संभवतः मृत्यु का कारण बना।

संक्रमण (Infection)

प्रत्येक 10 स्टिलबर्थ में से 1 से अधिक की मृत्यु, भ्रूण में या नाल में संक्रमण के कारण या माँ में गंभीर संक्रमण के कारण हुई। 24 की तुलना में सप्ताह के पहले स्टिलबर्थ में संक्रमण मृत्यु का एक अधिक सामान्य कारण था।

गर्भनाल के साथ समस्याएं (Problem with Umbilical cord)

गर्भनाल के साथ समस्याओं को 10 स्टिलबर्थ में लगभग 1 में संभावित या संभावित कारण माना जाता था। उदाहरण के लिए, कई बार गर्भनाल भ्रूण के गले में फंस जाती है और भ्रूण के गल में फंदा सा बन जाता है। स्टिलबर्थ का यह कारण गर्भावस्था के अंत की ओर अधिक होता है।

उच्च रक्तचाप के विकार (High blood pressure disorder)

मां में उच्च रक्तचाप – चाहे क्रोनिक उच्च रक्तचाप के कारण हो या प्रीक्लेम्पसिया- स्टिलबर्थ में भी योगदान दिया हो। गर्भावस्था के अन्य भागों की तुलना में इस तरह के स्टिलबर्थ दूसरी तिमाही के अंत और तीसरे की शुरुआत में अधिक आम थे।

मां में दूसरी परेशानियां (Other problems in mother)

और पढ़ें: स्टिलबर्थ का खतरा कैसे करें कम?

मां की स्वास्थ्य के साथ समस्याएं – जैसे मधुमेह – एक संभावित या संभावित कारण माना जाता था, जो कि 10 में से किसी एक रोगी में पाया जाता है।

इसके अलावा स्टिलबर्थ के निम्नलिखित मुख्य कारण हो सकते हैं। इन कारणों में शामिल हैं।

1. प्लेसेंटा या अंबिकल कॉर्ड से जुड़ी समस्या। प्लेसेंटा से ही शिशु को ब्लड, ऑक्सिजन और पोषक तत्व मिलते हैं अगर इसमें कोई खराबी आ जाती है तो शिशु तक पोषक तत्व नहीं पहुंच पाते और उसकी मौत हो जाती है।

2. गर्भवती महिला किसी पुरानी गंभीर बीमारी जैसे हाय ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, दिल की बीमारी, थायरॉइड या बैक्टीरियल इंफेक्शन से पीड़ित हो तो यह भी स्टिलबर्थ का कारण बन सकता है।

3. गर्भवती महिला के प्रेग्नेंसी के पहले से ही स्मोकिंग, ड्रिंकिंग (एल्कोहॉल) या ड्रग्स के सेवन करने के कारण शिशु की मौत समय से काफी पहले हो सकती है।

4. 35 वर्ष की आयु या और ज्यादा बढ़ते हुए उम्र में गर्भवती होना।

5. गर्भावस्था के दौरान पारिवारिक हिंसा।

6. प्रेग्नेंसी के दौरान जरूरत से ज्यादा सोना।

और पढ़ें: क्या गर्भावस्था में धूम्रपान बन सकता है स्टिलबर्थ का कारण?

स्टिलबर्थ का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment of stillbirth)

गर्भावस्था के शुरुआत से ही लक्षणों को समझना चाहिए। डॉक्टर जो सलाह दें उसका पालन करना चाहिए और परेशानी महसूस होने पर इसकी जानकारी डॉक्टर को जरूर देनी चाहिए, जिससे स्टिलबर्थ से बचा जा सकता है।

क्या स्टिलबर्थ के बाद दूसरा बच्चा होना सुरक्षित है?

कुछ परिवार तय करते हैं कि वे भविष्य में एक और बच्चे के कठिन अनुभव के बावजूद एक और बच्चा पैदा करना चाहते हैं। ज्यादातर महिलाएं जो स्टिलबर्थ के बाद गर्भवती हो जाती हैं स्वस्थ बच्चों को जन्म देती हैं।

किसी भी जोखिम और चिंताओं को समझने के लिए आप अपने डॉक्टर के साथ स्थिति पर चर्चा करना सबसे अच्छा है। यदि कोई परिवार दूसरा बच्चा पैदा करने की कोशिश करने का फैसला करता है, तो डॉक्टर की देखरेख में जोखिम को कम करने में मदद करने के लिए कुछ सावधानियां बरत सकता है।

और पढ़ें: गर्भावस्था में ओरल केयर न की गई तो शिशु को हो सकता है नुकसान

स्टीलबर्थ से कैसे बचा जा सकता है? (How can stillbirth be avoided)

इससे बचना बेहद आसान है। सिर्फ निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान और बाद में देखभाल करें, लेकिन कोई भी शारीरिक समस्या महसूस होने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में स्टिलबर्थ (Stillbirth) से जुड़ी जानकारी दी गई है। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो आप उसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

विभिन्न प्रभाव प्रक्रिया को समझने के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/08/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड