home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन, जरूर करें इसे फॉलो!

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन, जरूर करें इसे फॉलो!

35 वर्ष के विवेक श्रीवास्तव हैदराबाद में एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर हैं। वे हाल ही में पिता बने हैं। विवेक को बधाई देते हुए हैलो स्वास्थ्य ने उनसे जानना चाहा कि 9 महीने का ये सफर कैसा रहा? विवेक ने खुश होकर बताया कि,’ ये सफर काफी आनंद भरा था , लेकिन इन 9 महीनों में लोग मेरा ध्यान कम रखते थे और मेरी वाइफ का ज्यादा। बेटी के जन्म के बाद मैंने सबसे पहले उसे अपने हाथों में लिया। मैं अपनी ये फीलिंग बयां नहीं कर सकता हूं। विवेक आगे कहते हैं उन्होंने लेबर (डिलिवरी) से जुड़ी पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) फॉलो की। जैसे- लेबर के दौरान क्या होता है और अपनी लाइफपार्टनर को पूरा-पूरा सपोर्ट किया।’

जाहिर सी बात है किसी भी शिशु का पहला घर मां का गर्भाशय होता है और गर्भवती महिला को इस दौरान परिवार और दोस्तों का पूरा अटेंशन मिल जाता है लेकिन, गर्भावस्था के दौरान और लेबर पेन के वक्त परेशानियों से बचने के लिए पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) भी है। ये गाइडलाइन पुरुषों को जरूर फॉलो करना चाहिए।

और पढ़ें: नकली लेबर पेन और असली लेबर पेन, जानें दोनों में क्या है अंतर?

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guidelines for male)

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) में पहली टिप्स, पुरुष लें चाइल्ड बर्थ एज्युकेशन क्लास:

चाइल्ड बर्थ एज्युकेशन क्लास सिर्फ गर्भवती महिलाओं को ही नहीं बल्कि बनने वाले पिता को भी ज्वॉइन करना चाहिए। चाइल्ड बर्थ एज्युकेशन क्लास में पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) बताई जाती हैं। डिलिवरी या लेबर पेन से जुड़ी जानकारी दी जाती है। अगर चाइल्ड बर्थ एज्युकेशन क्लास या पेरेंटिंग क्लास को सीरियसली ज्वॉइन की जाए तो यह काफी सहायक होती है।

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन – शिशु के जन्म से जुड़े विकल्प पर विचार करें

आजकल शिशु के जन्म के अलग-अलग विकल्प मौजूद हैं। हस्बैंड को अपनी वाइफ से इस बारे में खुलकर बात करनी चाहिए क्योंकि हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि वॉटर बर्थ भी एक बेहतर विकल्प है क्योंकि इसमें लेबर पेन कम हो सकता है। हालांकि भारत में वॉटर बर्थ से बेबी डिलिवरी न के बराबर की जाती है। कपल को बेबी डिलिवरी प्रॉसेस अपने डॉक्टर से भी समझना चाहिए।

और पढ़ें: 5 फूड्स जो लेबर पेन को एक्साइट करने का काम करते हैं

डौला (doula) की मदद लें

डौला या किसी नर्स की मदद लेनी चाहिए। डौला या नर्स को गर्भावस्था और डिलिवरी के दौरान होने वाली परेशानी आसानी से समझ सकती है और आपको भी समझा सकती हैं। इसलिए गर्भावस्था या डिलिवरी के दौरान इनकी मदद जरूर लें।

हॉस्पिटल चेक लिस्ट बनाएं

बनने वाले पिता को डिलिवरी डेट से कुछ दिनों पहले ही एक चेक लिस्ट बनानी चाहिए कि उन्हें अस्पताल में क्या-क्या ले जाना चाहिए। इसकी जानकारी घर में महिला सदस्यों, डौला या नर्स से लेनी चाहिए। आपने लाइफ पार्टनर से ये जरूर जानना चाहिए कि उन्हें किसी खास या अलग चीजों की जरूरत भी पड़ सकती है। कुछ हेल्दी खाने-पीने की चीजें जैसे ड्राई फ्रूट्स आदि बैग में जरूर पैक करें और साथ में छोटी-छोटी चीजें जैसे हेयर होल्डर या क्लिप, मॉश्चराइजर और एक्स्ट्रा अंडर गारमेंट्स जरूर रखें।

डिलिवरी (delivery) के दौरान साथ रहें

पुरुषों को अपने बिजी शेड्यूल से वक्त निकाल कर डिलिवरी के समय अपनी लाइफपार्टनर के साथ रहना चाहिए। इस समय लेबर पेन की वजह से बनने वाली मां चिड़चिड़ी भी हो सकती हैं। इसलिए अगर वो पैनिक होती है तो उन्हें नॉर्मल करने की जिम्मेदारी आपकी होगी। ऐसा न करें कि आप भी अपनी वाइफ के साथ पैनिक हो जाएं।

33 साल के रमन त्रिपाठी 3 साल के बच्चे के पिता हैं। रमन ठाणे में रहते हैं और एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। हैलो स्वास्थय से बात करते हुए रमन कहते हैं कि, ‘उन्हें एक मित्र ने पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) के बारे में जानकारी दी थी और फिर उन्होंने ये समझने की कोशिश की कि आखिर वो लाइफ पार्टनर की कैसे मदद कर सकते हैं।’

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन – हॉस्पिटल खर्च समझें

वैसे तो घर संभालने वाली और बजट मैनेज करने वाली ज्यादातर वाइफ होती है, लेकिन ये एक मौका है जब आपको प्रेग्नेंसी के दौरान बजट समझना होगा और पैसे खर्च करने होंगे। कभी-कभी डिलिवरी के वक्त इमरजेंसी की भी स्थिति आ सकती है। इसलिए इन सभी बातों का ध्यान रखें।

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन डिलिवरी के दौरान काफी मददगार हो सकती है। हालांकि, इसके साथ ही शिशु के जन्म के बाद भी कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है।

शिशु के जन्म के तुरंत बाद पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन क्या हैं?

1. डिलिवरी के तुरंत बाद अपनी पार्टनर को इमोशनल सपोर्ट करें (Immediately support your partner after delivery)

लेबर पेन में परेशानी होने या न होने की स्थिति में भी शिशु के जन्म के बाद अपनी लाइफ पार्टनर को नवजात के बारे में बताएं और अपनी खुशी जाहिर करें।

और पढ़ें: नवजात शिशु को घर लाने से पहले इस तरह तैयार करें शिशु का घर

2. पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन: नवजात का ध्यान रखें (Take care of newborn)

जन्म के बाद शिशु की सेहत पर नजर बनाए रखें। मिडवाइफ या डॉक्टर से बच्चे की सेहत की जानकारी लेते रहें। आपकी लाइफ पार्टनर इस बारे में कुछ दिनों बाद पूछ सकती हैं या समझना चाह सकती हैं।

3. पार्टनर की मदद करें (Help your partner)

डिलिवरी के बाद घर पर हों या हॉस्पिटल में अपनी वाइफ की मदद करें। जैसे उनके खाने-पीने का ध्यान रखें और उनकी दवाइयों का ध्यान रखें। अगर उन्हें चलने में परेशानी महसूस हो रही है तो उनकी मदद करें। अगर सिजेरियन डिलिवरी से शिशु का जन्म हुआ है, तो अस्पताल में ज्यादा दिनों तक रुकना पड़ सकता है। इसलिए अगर डॉक्टर आपको हॉस्पिटल में रहने की सलाह देते हैं तो परेशान न हों।

4. पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन: न्यूली बेबी को ड्रेसअप करें (Dress up your new baby)

पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन

बेबी के जन्म के बाद ये बेहद ही खास मौका होता है जब आपको अपने बेबी को रेडी करने का मौका मिलेगा। हालांकि ये इतना आसान भी नहीं होता है क्योंकि इस समय आपको शिशु की नैपी भी बदलनी पड़ सकती है।

और पढ़ें: बेबी पूप कलर से जानें कि शिशु का स्वास्थ्य कैसा है

5. अपने बेबी को कडल करें (Cuddle your baby)

पिछले नौ महीने से आप सिर्फ अपने शिशु के अहसास के साथ संपर्क कर रहें थे, लेकिन अब आपका शिशु आपके पास है इसलिए इस मौके अपने बेबी को कडल कर अपनी खुशी का इजहार करें।

अगर आप पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) जिसे गर्भावस्था के साथ-साथ डिलिवरी के बाद भी फॉलो करने से जुड़े किसी सवाल का जबाव जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। आपको पुरुषों के लिए प्रेग्नेंसी गाइडलाइन (Pregnancy guide for men) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Indian Parenting Time Guidelines: https://www.in.gov/judiciary/rules/parenting/parenting.pdf Accessed August 08, 2020

New dads: 10 tips for making a great start to fatherhood: https://www.education.gov.in/sites/upload_files/mhrd/files/MoE_Home_Learning_Guidelines.pdf Accessed August 08, 2020

Preconception health for men: https://www.pregnancybirthbaby.org.au/preconception-health-for-men Accessed August 08, 2020

The First Trimester: https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/the-first-trimester Accessed August 08, 2020

Information for Men: https://www.cdc.gov/preconception/men.html Accessed August 08, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/10/2021 को
और Bhawana Awasthi द्वारा फैक्ट चेक्ड