backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

बच्चे के लिए घर कैसे बनाएं सुरक्षित? जानें आसान उपाय


Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित · अपडेटेड 30/09/2021

बच्चे के लिए घर कैसे बनाएं सुरक्षित? जानें आसान उपाय

अगर आपके घर में कोई नया मेहमान आने वाला है तो जाहिर सी बात है कि आपका उत्साह चरम पर होगा। निश्चित तौर पर आपने उसके आराम और स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर बहुत सी तैयारियां कर ली होंगी। लेकिन क्या आपके बच्चे के लिए घर वैसा ही तैयार किया है, जैसा उसे चाहिए। अक्सर बड़ी-बड़ी चीज़ों का ध्यान रखने में छोटी-छोटी पर जरूरी बातें ध्यान से उतर जाती हैं। जैसे आपने अपने नाजुक बच्चे के स्वास्थ्य के हिसाब से घर का वातावरण तो सेट किया पर क्या आपने इस बात का ध्यान दिया कि कहीं घर में ऐसी कोई वस्तु या समान तो नहीं जिससे बच्चे को चोट लग सकती है? ऐसी ही कुछ जरूरी बातें हम आपको बताने जा रहे हैं जिससे आप बच्चे के लिए घर बेहतर रूप से तैयार कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : पेरेंट्स का बच्चों के साथ सोना बढाता है उनकी इम्यूनिटी

बच्चे के लिए घर में किन बातों का रखें ध्यान

बेडरूम में ना रखें चोट लगने वाले सामान

अगर आप नए माता-पिता हैं तो निश्चित रूप से आपका और आपके शिशु का ज्यादा से ज्यादा समय आपके बेडरूम में बीतेगा। ऐसे में आपको इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि कहीं आपके बेडरूम में ऐसी कोई भी चीज़ ना हो जिससे आपके बच्चे को कोई नुकसान पहुंचे। पूरे बेडरूम को बहुत ही ऑर्गनाईज तरीके से रखें और समय-समय पर अपने कमरे को री-ऑर्गनाईज भी करते रहें। बच्चे के लिए घर में बिजली के सभी सॉकेट को बच्चों की पहुंच से दूर रखें अथवा उन्हें डक्ट-टेप से ढक दें। आप अपने शिशु के लिए एक मजबूत और आरामदायक साइड-बेड भी खरीद सकते हैं। सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण अपने बच्चे की पहुंच से दूर रखें। अपने शिशु के बिस्तर के पास ही उसकी सारी दवाइयां, कपड़े, पैड्स, और अन्य ज़रूरी सामान रखें।   

यह भी पढ़ें : बच्चों को व्यस्त रखना है, तो आज ही लाएं कलरिंग बुक

अपनी कार को बनाए बेबी फ्रेंडली  

बच्चे के लिए घर के बाहर भी आपको उसके अनुसार चीजों को व्यवस्थित करना होगा। अपनी कार में बगैर भूले एक अच्छी बेबी फिटिंग सीट लगाए। ऐसा करने से आप कभी भी शिशु को बाहर घूमाने ले जा सकते हैं। इस बात का भी ध्यान दें कि आपकी कार में हानिकारक केमिकल क्लीनर का प्रयोग ना हुआ हो। साथ ही साथ अपनी कार में किसी भी ऐल्कोहल स्प्रे का प्रयोग ना करें। घूमने के कुछ दिनों पहले ही कार की पूरी सफ़ाई करवाए और ए.सी डक्ट को अच्छी तरह से रिपेयर करवा लें। अगर आप इन बातों का ध्यान देते हैं तो आपके शिशु को कभी भी कार में सांस लेने में कोई समस्या नहीं होगी।

यह भी पढ़ें : बच्चों के लिए सेंसरी एक्टिविटीज हैं जरूरी, सीखते हैं प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल

बच्चे के लिए घर की सफाई का बनाए ऐक्शन प्लान 

बच्चे के लिए घर की सफाई नियमित रूप से करें और हानिकारक फ्लोर क्लीनर के प्रयोग से बचें। आपका शिशु कुछ समय बाद फर्श पर ही घूमेगा इसलिए फर्श को ऑर्गैनिक और पेस्ट-फ्री क्लीनर से ही साफ करें। फर्श पर बिछी पुरानी और मैली कालीन को साफ कर दें, जिससे उनमें रह रहे बैक्टीरीया और कीटाणु नष्ट हो जाए।

पालतू पशु के साथ कैसे रखें शिशु का ख्याल

अगर आपने अपने घर में पहले से ही किसी पशु को पाल रखा है जैसे कि, कुत्ता, बिल्ली, खरगोश या कोई चिड़िया तो उनका उचित टीकाकरण कराए। अगर कभी दुर्भाग्य से वो शिशु को काट लेते हैं तब भी टीकाकरण होने की वजह से शिशु को कोई नुकसान नहीं होगा। अपने पालतू पशु के लिए अलग से घर या जगह का निर्माण करें। शुरुआत में अपने शिशु को बच्चों से दूर रखें। 

यह भी पढ़ें : 2020 में पेरेंट्स के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है एडीएचडी बीमारी, जानें इससे बचने के उपाय

बच्चे के लिए घर के साथ किचन में भी करें सुरक्षा के इंतजाम 

किचन में ऐसी कई चीजें होती है जिससे बच्चा जख्मी हो सकता है। पहली बात तो बच्चे को किचन से दूर रखें। अगर बच्चा किचन में आ भी जाएं तो आप उसकी सुरक्षा के लिए पहले से कमर कसे रहें।

  • किचन में मौजूद सभी धारदार चीजें बच्चे की पहुंच से दूर रख दें।
  • अगर किचन में किसी तरह का फ्लोर क्लीनर या कैमिकल रखा है तो उसे हटा दें। 
  • किचन में कॉफी मेकर और टोस्टर के प्लग को इलेक्ट्रिक बोर्ड से निकाल दें। इससे कोई भी अनचाहा हादसा हो सकता है।
  • बच्चे को खाना देते समय विशेष ध्यान रखें। खास कर तब जब खाना माइक्रोवेव में पका हो। क्योंकि, माइक्रोवेव में पका खाना बाहर से ठंडा हो जाता है, लेकिन अंदर से काफी गर्म होता है। इसलिए बच्चे को जब भी कुछ खाने को दें तो आप भी उसके साथ बैठें।
  • अगर आप गैस स्टोव पर कुछ पका रहे हैं तो उसकी हैंडल हमेशा पीछे की तरफ कर के रखें। ताकि, बच्चा कभी भी गलती से भी ना हैंडल तक पहुंच पाए।

बाथरूम में भी है कई खतरें

  • बाथरूम का दरवाजा हमेशा बंद रखें। अगर बच्चे को वॉशरूम जाना है तो साथ में जाएं।
  • बाथटब या बाल्टी में पानी कत्तई ना भर कर रखें। बच्चा उसमें गिर सकता है।
  • बाथरूम क्लीनर और एयर फ्रेशनर को हमेशा बच्चे के पहुंच से दूर रखें।
  • बच्चे के लिए घर में रहें हमेशा सजग

    • बच्चे को कभी भी ऊंची जगहों पर न बैठाएं। अपनी गैरमौजूदगी में बच्चे को ऊंची कुर्सी या टेबल पर न बैठाएं। ऐसा करने से बच्चा गिर कर घायल हो सकता है।
    • बच्चे के लिए घर में कोई भी ऐसा विद्युत उपकरण ना रखें जिससे बच्चे के लिए खतरा हो।
    • बड़े-बुजुर्ग अक्सर अपनी दवाइयां सामने ही रखते हैं, ताकि उन्हें याद रहे कि दवाइयां कब लेनी है। लेकिन, बच्चा घर में है को दवाएं खुले में न रखें। बच्चों की हर चीज को मुंह में डालने की आदत होती है। ऐसे में अगर वह दवा मुंह में डाल ले तो कोई भी अप्रिय घटना घट सकती है।
    • बच्चे के लिए घर में कहीं भी अगर पानी गिर गया है तो इसे तुरंत साफ कर दें। वरना बच्चा फिसल कर गिर सकता है।

    बच्चे हमारे सोचने-विचारने की गति से कहीं तेज बढ़ते हैं। इसलिए उनके विकास के दिनों को चोट और नुकसान से दूर रखें और सावधानी से उनकी सुरक्षा पर विचार करें। हैप्पी पेरेंटिंग!

    हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

    और पढ़ें:

    भागदौड़ भरी जिंदगी ने उड़ा दी रातों की नींद? जानें इंसोम्निया का आसान इलाज

    कैसे स्ट्रेस लेना बन सकता है इनफर्टिलिटी की वजह?

    डिप्रेशन का हैं शिकार तो ऐसे ढूंढ़ें डेटिंग पार्टनर

    ये 6 सुपर फूड्स निकाल सकते हैं डिप्रेशन से बाहर

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।


    Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित · अपडेटेड 30/09/2021

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement